भगौड़े को पकड़ने गयी पुलिस पर हमला, 3 कर्मी घायल !    एटीएम को गैस कटर से काट उड़ाये 12.61 लाख !    कुल्लू में चरस के साथ 2 गिरफ्तार !    बारहवीं की छात्रा ने घर में लगाया फंदा !    नेपाल को 56 अरब नेपाली रुपये की मदद देगा चीन !    इस बार अब तक कम जली पराली !    पीएम की भतीजी का पर्स चुरा सोनीपत छिप गया, गिरफ्तार !    फरसा पड़ा महंगा, जयहिंद को आयोग का नोटिस !    महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में प्रचार करेंगी मायावती !    ‘गांधीजी ने आत्महत्या कैसे की?’ !    

विचार › ›

खास खबर
जन संसद

जन संसद

प्याज संकट के सबक स्थाई समाधान हो देश में प्याज की मांग बारह माह रहती है। लेकिन बारिश के कारण फसल नष्ट हो जाने से अचानक प्याज की कीमतें आसमान छूने लग जाती हैं। ऐसी स्थिति होने पर तत्काल प्याज के निर्यात पर रोक लगाने, कीमतों पर अंकुश लगाने व इसके भंडारण ...

Read More

दूसरी धरती की तलाश के लिए जद्दोजहद

दूसरी धरती की तलाश के लिए जद्दोजहद

भौतिकी का नोबेल अभिषेक कुमार सिंह इस साल के लिए भौतिकी में नोबेल पुरस्कार हासिल करने वाले तीनों साइंटिस्टों कनाडाई मूल के अमेरिकी जेम्स पीबल्स और स्विट‍्ज़रलैंड के माइकल मेयर व डिडियर क्वेलोज की खोजें, असल में इस कायनात में इंसानियत की जगह की खोज पर केंद्रित हैं। जहां पीबल्स एक ओर ...

Read More

बाढ़ झेल सकने वाली फसल की खोज

बाढ़ झेल सकने वाली फसल की खोज

बाढ़ और अतिवृष्टि से फसलें बर्बाद हो जाती हैं। प्रमुख फसलों में सिर्फ धान की ही फसल बाढ़ को झेल पाती है। लेकिन एक नई रिसर्च से यह स्थिति बदल सकती है। यह दुनिया के लिए एक अच्छी खबर है कि जहां कई जगह वर्षा की अवधि और तीव्रता में ...

Read More

फिर भी दोस्ती

फिर भी दोस्ती

मतभेदों के बावजूद साथ चलने की कवायद आखिरकार वुहान से शुरू हुआ अनौपचारिक वार्ताओं का सिलसिला तमिलनाडु के महाबलीपुरम तक सौहार्दपूर्ण वातावरण में पहुंचा। भारत ने चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग की आवभगत में कोई कमी नहीं रखी। यह जानते हुए भी कि हाल ही में इमरान खान की चीन यात्रा के ...

Read More

कानूनी तौर पर सिर्फ एक लाख सुरक्षित

कानूनी तौर पर सिर्फ एक लाख सुरक्षित

अर्थमंत्र आलोक पुराणिक बाजार में निवेश के कई मौके उपलब्ध हैं। पर देखने की बात यह है कि किसी को भी अपना सारा निवेश किसी एक माध्यम या किसी एक योजना में नहीं डालना चाहिए। जैसे बैंकों में पैसा लगाना बहुत लोकप्रिय माध्यम है। ऐसा आमतौर पर माना जाता है कि बैंक ...

Read More

साहसिक आर्थिक सुधारों का वक्त

साहसिक आर्थिक सुधारों का वक्त

हाल ही में 10 अक्तूबर को अंतर्राष्ट्रीय क्रेडिट रेटिंग एजेंसी मूडिज ने वर्ष 2019-20 के लिए भारत की विकास दर का अनुमान 6.20 से घटाकर 5.80 फीसदी कर दिया है। इसके पहले 4 अक्तूबर को रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने वर्ष 2019-20 के लिए विकास दर का अनुमान 6.9 फीसदी ...

Read More

निजीकरण की ओर

निजीकरण की ओर

गुणवत्ता हो मगर यात्री हितों की न हो अनदेखी लगता है लंबे अर्से से प्रतीक्षित रेलवे के निजीकरण की तरफ केंद्र सरकार ने कदम बढ़ा दिये हैं। लखनऊ से दिल्ली के बीच निजी प्रबंधन वाली तेजस ट्रेन की शुरुआत को इसी कड़ी के रूप में देखा जा रहा है, जिससे ...

Read More


  • बाढ़ झेल सकने वाली फसल की खोज
     Posted On October - 14 - 2019
    बाढ़ और अतिवृष्टि से फसलें बर्बाद हो जाती हैं। प्रमुख फसलों में सिर्फ धान की ही फसल बाढ़ को झेल....
  • दूसरी धरती की तलाश के लिए जद्दोजहद
     Posted On October - 14 - 2019
    इस साल के लिए भौतिकी में नोबेल पुरस्कार हासिल करने वाले तीनों साइंटिस्टों कनाडाई मूल के अमेरिकी जेम्स पीबल्स और....
  •  Posted On October - 14 - 2019
    देश साल में चार महीने सूखे की चपेट में रहता है तो चार महीने बाढ़ में डूबता है। हर बर्ष....
  • जन संसद
     Posted On October - 14 - 2019
    देश में प्याज की मांग बारह माह रहती है। लेकिन बारिश के कारण फसल नष्ट हो जाने से अचानक प्याज....

‘पेज 3’ की संस्कृति से कब मुक्त होगा देश

Posted On April - 29 - 2010 Comments Off on ‘पेज 3’ की संस्कृति से कब मुक्त होगा देश
डा. गौरीशंकर राजहंस काली दुनिया इन दिनों पूरे देश में आईपीएल क्रिकेट से संबंधित घोटालों की चर्चा है। हर जागरूक नागरिक हतप्रभ है कि आखिर इतना बड़ा घोटाला हुआ कैसे और सरकार पिछले तीन वर्षों से सोई कैसे रही? कुछ दिनों पहले जब पार्लियामेंट के सेंट्रल हॉल में आईपीएल घोटाले की चर्चा हो रही थी तो एक मित्र ने ठीक ही कहा कि यह सब कुछ ‘पेज-3 कल्चर’ की देन है। आम पाठक संभवत: ‘पेज-3 

कटौती प्रस्ताव का हासिल

Posted On April - 29 - 2010 Comments Off on कटौती प्रस्ताव का हासिल
मनमोहन सिंह सरकार के लिए इससे ज्यादा खुशी की बात और क्या हो सकती है कि इसी बजट सत्र में विपक्षी एकता का किला दूसरी बार ढह गया। दक्षिणपंथी भाजपा की अगुवाई वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन और वामपंथी दलों के तंबू तले इकठ्ठे हुए तेरह दलों द्वारा वित्त विधेयक पर कटौती प्रस्ताव लाने के ऐलान से कुछ ऐसा माहौल बना था मानो लगभग एक वर्ष पुरानी मनमोहन सरकार का स्थायित्व ही संकट में पड़ 

महंगाई के खिला$फ

Posted On April - 29 - 2010 Comments Off on महंगाई के खिला$फ
बीते मंगलवार महंगाई के विरुद्ध संसद से सड़क तक जो देशव्यापी प्रतिक्रिया हुई उससे साफ जाहिर है कि इससे त्रस्त जनमानस को यदि उचित मंच मिले तो वह तत्काल अपनी मंशा जता सकता है। ऐसे में वामपंथियों के गढ़ पश्चिम बंगाल और केरल में बंद की सफलता के कारक तो आसानी से तलाशे जा सकते हैं, लेकिन अन्य राज्यों के मुकाबले हरियाणा में बंद की सफलता की खबरें चौंकाती हैं। यूं तो महंगाई देशव्यापी है 

चिंताजनक है जनांदोलनों का अवसान

Posted On April - 29 - 2010 Comments Off on चिंताजनक है जनांदोलनों का अवसान
कृष्ण प्रताप सिंह आंदोलन बसपा व कांग्रेस की विशाल रैलियों व यात्राओं के बीच देश के सबसे ज्यादा जनसंख्या वाले उ.प्र. से एक बहुत बुरी खबर आयी है। वहां स्वत: स्फूर्त जनआंदोलनों की धार और धमक दोनों खत्म होकर रह गयी हैं। चूंकि दूसरे राज्यों में भी ऐसे आंदोलनों की स्थिति अच्छी नहीं है, इसलिए यह खबर देश के लिए भी उतनी ही बुरी है जितनी उत्तर प्रदेश के लिए। गृह मंत्रालय के अधीन कार्यरत 

हाय! महंगाई… महंगाई.. महंगाई

Posted On April - 29 - 2010 Comments Off on हाय! महंगाई… महंगाई.. महंगाई
सतीश मराठा गागर में सागर लगता है अपनी यह महंगाई भी बड़ी ऊंची चीज है। कमबख्त किसी को अगर दिखाई न दे तो थ्री-डी चश्मा लगाने के बाद भी छह-छह साल तक दिखाई न दे और जब दिखाई देने लगे तो निपट नंगी आंखों से ही छह-छह साल लगातार दिखाई देती रहे। यहां तक कि अपने भाजपाइयों के साथ भी यह बेगैरत लगभग यही खेल बरसों से खेलती चली आ रही है। तभी तो मुई भाई लोगों को अपने अटल बिहारी से पूरे छह साला शासनकाल 

आपके पत्र

Posted On April - 29 - 2010 Comments Off on आपके पत्र
विदेशों का मोहपाश तिलकराज गुप्ता, रादौर गत जनवरी माह में संयुक्त अरब अमीरात में शारजाह की पुलिस ने करीब 50 भारतीय नागरिकों को गिरफ्तार किया था। हिरासत में लिये गए इन सभी व्यक्तियों को बेहद क्रूरतापूर्वक यातनाएं दी गयीं। इन यातनाओं को सह जाने वाले 33 भारतीयों को तो बाद में रिहा कर दिया गया, पर यातनाएं न सह पाने वाले 17 भारतीयों को किसी पाकिस्तानी की हत्या का आरोपी बनाकर अदालत से मौत 

ब्रह्मïपुत्र नदी के जल-प्रवाह को रोकता चीन

Posted On April - 28 - 2010 Comments Off on ब्रह्मïपुत्र नदी के जल-प्रवाह को रोकता चीन
डॉ. एलएस यादव पिछले कई वर्षों से चीन इस बात से इनकार करता आ रहा था  कि वह ब्रह्मïपुत्र नदी पर कोई बांध बना रहा है जबकि इस बात के पुख्ता प्रमाण थे कि वह नदी पर बांध का निर्माण  कर रहा है। अब चीन ने इस बात को मान लिया है कि तिब्बत के पास सांगपो नदी पर पनबिजली उत्पादन के उद्देश्य से यहां बांध बनाया जा रहा है। विदेश मंत्री एसएम कृष्णा ने 22 अप्रैल, 2010 को राज्यसभा में चीन की तरफ से दिए 

मोदी क्यों बने बलि का बकरा?

Posted On April - 28 - 2010 Comments Off on मोदी क्यों बने बलि का बकरा?
विष्णुगुप्त आईपीएल के कमिश्नर ललित मोदी दोषी हैं या नहीं? उस स्थिति में जब ललित मोदी अपने बयानों में बार-बार दोहरा रहे हैं कि अब तक जितने फैसले हुए हैं वे सभी सामूहिक जिम्मेदारी के तहत ही लिये गये हैं और आईपीएल गवर्निंग बोर्ड की स्वीकृति उनके पास है। ललित मोदी कितना सच बोल रहे हैं और कितना झूठ बोल रहे हैं, इस पर तत्काल कुछ भी कहना संभव नहीं है। पर सच यह है कि ललित मोदी को जिस 

फिर से फेरबदल

Posted On April - 28 - 2010 Comments Off on फिर से फेरबदल
अशोक खन्ना कद्दूराम का एक बड़े प्रशासनिक फेरबदल के तहत इधर से उधर तबादला हो गया। प्रदेश में साल में चार ऐसे बड़े फेरबदल हो ही जाते हैं। कद्दूराम नानक के वचनों के अनुसार ‘वसदो रहोë  किस्म के प्राणी हैं। सरकार है कि उन्हें बार-बार उजाड़ देती है। तैनाती पाते हंै, वहा तबीयत से गोभी खोदते हैं। कई सरकारें आयीं और चली गयीं। ऐसे गोभी खोदुओं का बाल भी बांका नहीं कर सकीं। वे छब्बीस 

खेल के पीछे के खेल

Posted On April - 28 - 2010 Comments Off on खेल के पीछे के खेल
जिस आईपीएल-3 को लेकर पिछले लगभग दो महीने से देशभर में उन्माद का माहौल था, उसके फाइनल की सुर्खियां आयोजकों के ही घपलों-घोटालों के शोर में डूब कर रह गयीं। सचिन तेंदुलकर के नेतृत्व वाली मुंबई इंडियंस उम्मीद के मुताबिक फाइनल में थी तो किस्मत के सहारे सेमीफाइनल में पहुंची महेंद्र सिंह धोनी की चेन्नई सुपरकिंग्स उससे मुकाबिल थी। पूरे टूर्नांमेंट में प्रदर्शन के मद्देनजर सभी को मुंबई 

प्रदूषित होती सतलुज

Posted On April - 28 - 2010 Comments Off on प्रदूषित होती सतलुज
पंजाब की जीवनधारा सतलुज में हिमाचल की औद्योगिक इकाइयों द्वारा डाले जा रहे औद्योगिक कचरे का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। पंजाब सरकार ने कई स्थानों पर पानी के नमूने लेकर इसे मानव स्वास्थ्य के लिए खतरनाक बताकर केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड से मामले में हस्तक्षेप करने का आग्रह किया है। पंजाब प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड, स्वयंसेवी संगठन व सरकार लंबे समय से आरोप लगा रहे हैं कि हिमाचल 

आपके पत्र

Posted On April - 28 - 2010 Comments Off on आपके पत्र
मोबाइल संदेश मधुरदीप अंसल, गुडग़ांव मोबाइल फोनों पर आने वाले संदेशों के माध्यम से ‘लूट-खसोटë के धंधे पर सरकार को तुरंत ध्यान देने की ज़रूरत है। कुछ नंबरों पर बटन दबने मात्र से आपकी जेब कट जाती है। लाखों-करोड़ों लोग  हर मिनट ऐसे संदेशों से लुट रहे हैं। सरकार को बेकार के अनचाहे संदेशों के प्रसारण पर तुरंत प्रतिबंध लगाना चाहिए तथा इनको प्रसारित करने वाली मोबाइल कंपनियों की मिलीभगत 

मार्गदर्शक फैसला

Posted On April - 27 - 2010 Comments Off on मार्गदर्शक फैसला
खु ....

हरियाणा निकाय चुनाव

Posted On April - 27 - 2010 Comments Off on हरियाणा निकाय चुनाव
रियाणा में स्थानीय निकाय चुनाव कार्यक्रम की घोषणा के साथ ही ‘स्थानीय सरकार’ कही जाने वाली नगर निगम, परिषद तथा नगर पालिकाओं के लिए जोड़तोड़ की कवायद शुरू हो गई है। इस चुनाव में बीस लाख से अधिक मतदाता 39 स्थानीय निकायों के लिए अपने प्रतिनिधि चुनेंगे। हरियाणा के लिए महत्वपूर्ण बात यह है कि वह स्थानीय निकाय चुनावों में इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों का प्रयोग करने वाला पहला राज्य 

सुनियोजित विकास करेगा भूकंप से बचाव

Posted On April - 27 - 2010 Comments Off on सुनियोजित विकास करेगा भूकंप से बचाव
अजय पाराशर प्राकृतिक आपदा हले हैती में भूकंप तथा फिर ब्राजील में बाढ़। हाल ही में चीन के जलजले, भारत के कुछ राज्यों में आए तूफान तथा आईसलैंड में ज्वालामुखी फटने से ग्लेशियर पिघलने के बाद अब बाढ़ की आशंका। पिछले कुछ समय से पृथ्वी पर प्राकृतिक आपदाओं की संख्या में हो रही निरन्तर वृद्धि से लगता है कि प्राकृतिक शक्तियों ने धीरे-धीरे मानवीय सभ्यता को चुनौती देना आरंभ कर दिया 

और भी $गम हैं आईपीएल के सिवा

Posted On April - 27 - 2010 Comments Off on और भी $गम हैं आईपीएल के सिवा
तरसेम गुजराल क्रिकेट तमाशा आईपीएल के माध्यम से इस मुल्क के नव-धनाढ्ïय वर्ग के कुछ लोगों को बड़ी राहत मिली। वे अच्छी शराब की चुस्कियों के साथ घुड़दौड़ में पैसा फेंकते या सट्टïा लगाते तो शायद उतना थ्रिल और चर्चा नहीं मिलती जितनी आईपीएल में पैसा लगाने, टीम खरीदने में मिलती है। खरीदने के मामले वे नये नहीं हैं, उनके पीछे इतिहास है। पहले ग्लैडिएटर खरीदे जाते थे। वे अमीर वर्ग 
Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.