संविधान के 126वें संशोधन पर हरियाणा की मुहर, राज्य में रिजर्व रहेंगी 2 लोकसभा और 17 विधानसभा सीट !    गुस्साये डीएसपी ने पत्नी पर चलायी गोली !    गांवों में विकास कार्यों के एस्टीमेट बनाने में जुटे अधिकारी !    जो गलत करेगा परिणाम उसी को भुगतने पड़ेंगे : शिक्षा मंत्री !    आस्ट्रेलिया भेजने के नाम पर 9.50 लाख हड़पे !    लख्मीचंद पाठशाला से 2 बच्चे लापता !    वास्तविक खरीदार को ही मिलेगी रजिस्ट्री की अपाइंटमेंट !    वायरल वीडियो ने 48 साल बाद कराया मिलन !    ऊना में प्रसव के बाद महिला की मौत पर बवाल !    न्यूजीलैंड एकादश के खिलाफ शाॅ का शतक !    

विचार › ›

खास खबर
अस्पतालों में बच्चों की मौत

अस्पतालों में बच्चों की मौत

जन संसद सुविधाओं का संकट शिशुओं की बढ़ती मृत्यु दर शिशु चिकित्सा पर एक प्रश्नचिन्ह है। देश में जिलास्तर के अस्पतालों की दयनीय स्थिति के दृष्टिगत सामुदायिक और प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों की दुर्दशा स्वयं दृष्टिगोचर हो जाती है। नेता अपने वक्तव्यों में लोकलुभावन वादे करते हैं लेकिन बीमार अस्पतालों का इलाज करने ...

Read More

खुले हृदय से आसमानी सफलताएं

खुले हृदय से आसमानी सफलताएं

रेनू सैनी हृदय यानी आम बोलचाल की भाषा में दिल। वही दिल जो मनुष्य के सीने में बाईं ओर धड़कता है और यह सुनिश्चित करता है कि जीवन चल रहा है। दिल पर अनेक कवियों ने रचनाएं लिखी हैं। साहित्य एवं फिल्म जगत दिल के उदाहरणों से भरा पड़ा है। आपको ...

Read More

निस्तेज होती पीढ़ी को दीजिए नयी ऊर्जा

निस्तेज होती पीढ़ी को दीजिए नयी ऊर्जा

वेल्लोर मठ में बोलते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने स्वामी विवेकानंद को स्मरण किया और बताया कि स्वामी जी कहा करते थे—‘मुझे सौ प्रतिबद्ध और ऊर्जावान युवक दे दो, मैं इनके सहयोग से युग पलट दूंगा।’ निश्चय ही भारत एक युवा देश है। देश की उन्चास प्रतिशत जनसंख्या पैंतीस बरस तक ...

Read More

धुन के धोनी

धुन के धोनी

सम्मानजनक हो हर खिलाड़ी की विदाई भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड ने जब से खिलाड़ियों के सालाना करार का ऐलान किया है और उसमें दिग्गज क्रिकेटर महेंद्र सिंह धोनी को शामिल नहीं किया, उनको लेकर अटकलों का बाजार गर्म हो गया है। कयास लगाये जा रहे हैं कि महेंद्र सिंह धोनी संन्यास ...

Read More

आदर्श और यथार्थ का टकराव

आदर्श और यथार्थ का टकराव

पुस्तक समीक्षा कमलेश भारतीय सावित्री चौधरी का दूसरा कथा-संग्रह ‘रेशमी गुच्छी’ आदर्श और यथार्थ का टकराव प्रस्तुत करती कहानियों का संग्रह है। हिंदी कहानी शुरू से ही आदर्श और यथार्थ के बीच झूलती रही। शीर्षक कथा ‘रेशमी गुच्छी’ नारी के फैसले को लोकलाज, ममता और पत्नी होना कैसे बदल देता है, ...

Read More

विसंगतियों की तस्वीर

विसंगतियों की तस्वीर

पुस्तक समीक्षा सरस्वती रमेश हमारा समाज तरह-तरह की विडंबनाओं और त्रासदियों से भरा हुआ है। ये त्रासदियां जब तब हमारी आंखों से टकराती भी रहती हैं। लेकिन हमारी जिंदगी में ये इतनी आम हो चुकी हैं कि हम देखकर भी आंखें मूंद लेते हैं या फिर जरा सी आह निकाल भूल जाते ...

Read More

पौराणिक कथाओं के साहित्यिक विमर्श

पौराणिक कथाओं के साहित्यिक विमर्श

पुस्तक समीक्षा केवल तिवारी कवि, लेखक शेषेंद्र शर्मा दक्षिण भारत के बड़े साहित्यिक हस्ताक्षर रहे हैं। उनके नाम से गुंटूरू शेषेन्द्र शर्मा मेमोरियल ट्रस्ट बना है। हैदराबाद में स्थित इस ट्रस्ट के जरिये उनकी कई किताबें आज भी अनूदित होकर आ रही हैं। कुछ समय पहले उनकी एक किताब ‘मेरी धरती मेरे ...

Read More


  • निस्तेज होती पीढ़ी को दीजिए नयी ऊर्जा
     Posted On January - 20 - 2020
    वेल्लोर मठ में बोलते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने स्वामी विवेकानंद को स्मरण किया और बताया कि स्वामी जी कहा....
  •  Posted On January - 20 - 2020
    ज़िन्दगी से प्यार किसे नहीं होता, लेकिन हमने ही न जाने क्यों ज़िन्दगी से यह कहना छोड़ दिया कि लव....
  • खुले हृदय से आसमानी सफलताएं
     Posted On January - 20 - 2020
    हृदय यानी आम बोलचाल की भाषा में दिल। वही दिल जो मनुष्य के सीने में बाईं ओर धड़कता है और....
  • अस्पतालों में बच्चों की मौत
     Posted On January - 20 - 2020
    शिशुओं की बढ़ती मृत्यु दर शिशु चिकित्सा पर एक प्रश्नचिन्ह है। देश में जिलास्तर के अस्पतालों की दयनीय स्थिति के....

महाभियोग का शिकंजा

Posted On December - 21 - 2019 Comments Off on महाभियोग का शिकंजा
अमेरिकी संसद के निचले सदन प्रतिनिधि सभा द्वारा राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ महाभियोग के प्रस्ताव को मंजूरी देने के बावजूद कहना मुश्किल होगा कि उच्च सदन सीनेट में यह प्रस्ताव पारित हो पायेगा। दरअसल, सीनेट में महाभियोग को पारित करने लायक बहुमत डेमोक्रेट पार्टी के पास नहीं है। ऐसे में इसे भारतीय राजनीति के उस उपक्रम का विस्तार कहा जा सकता है, जिसमें संसद ....

आपकी राय

Posted On December - 20 - 2019 Comments Off on आपकी राय
आजकल नागरिकता संशोधन बिल पर राजनीति हो रही है। विरोधी दलों की तो आदत बन चुकी है सरकार के हर निर्णय की आलोचना करना। विचार करें तो देश के विश्वविद्यालयों में पढ़ने वाले विद्यार्थियों का ऐसे राजनीतिक विषयों व घटनाओं में संलिप्त होने का कोई औचित्य नहीं बनता। ....

एकदा

Posted On December - 20 - 2019 Comments Off on एकदा
काशी के संत सोमेश्वर नाथ अपना आश्रम बनाने के लिए धन एकत्र करने हेतु निकले हुए थे। एक बार वह सूफी संत राबिया की कुटिया तक जा पहुंचे। राबिया ने उनका स्वागत किया और भोजन कराया। रात को सोने के लिए तख्त पर एक मोटी दरी बिछा दी और स्वयं फर्श पर एक पतला टाट बिछा कर सो गई। आश्रम में मोटे गद्दों पर सोने ....

किल्लत के दौर में उपहार की फुहार

Posted On December - 20 - 2019 Comments Off on किल्लत के दौर में उपहार की फुहार
कल जब बाजार में प्याज के बदले एक-दूसरे को घूरते दोस्तों के बीच बच्चों के लिए क्रिसमस गिफ्ट खरीदने आए सांता क्लॉज मिले तो उन्होंने मेरे मुर्झाये झोला लटके कंधे पर हाथ धरते हंसते पूछा, ‘और दोस्त! क्या हाल है? सब खैरियत तो है न?’ तो मैंने उनके आगे हाथ जोड़ते कहा, ‘हे सांता क्लॉज! हंस लो आप भी हमारे हाल पर! मत पूछो प्याज ....

भारत हितैषी जॉनसन की ताजपोशी

Posted On December - 20 - 2019 Comments Off on भारत हितैषी जॉनसन की ताजपोशी
भले ही ब्रिटेन का परंपरागत मीडिया बोरिस जॉनसन को एक परिपक्व राजनेता के रूप में न देखता हो, लेकिन इस देश के सबसे बड़े दुविधा काल में उन्हें एक बड़ी जिम्मेदारी मिली है। हाल ही में कंजर्वेटिव पार्टी ने उनके नेतृत्व में पिछले चार दशक की सबसे बड़ी जीत हासिल कर बता दिया है कि उनमें ब्रिटिश जनमानस को पढ़ने की कूवत है। वहीं विपक्ष ....

राजनीतिक फंडिंग में कालेधन से बढ़ता भ्रष्टाचार

Posted On December - 20 - 2019 Comments Off on राजनीतिक फंडिंग में कालेधन से बढ़ता भ्रष्टाचार
इन दिनों दुनिया के ख्यातिप्राप्त आर्थिक-सामाजिक संगठनों द्वारा प्रस्तुत की जा रही भ्रष्टाचार से संबंधित वैश्विक रिपोर्टों में कहा जा रहा है कि भ्रष्टाचार भारत की सबसे बड़ी आर्थिक-सामाजिक बुराई बना हुआ है। देश के करोड़ों लोगों की खुशहाली, अर्थव्यवस्था को गतिशील करने तथा विकास के ऊंचे सपने को साकार करने की डगर पर भ्रष्टाचार सबसे बड़ी चुनौती बना हुआ है। स्थिति यह है कि ....

खाना और सेहत

Posted On December - 20 - 2019 Comments Off on खाना और सेहत
सुधरते जीवन स्तर का सबसे घातक पहलू यह है कि हम तुरत-फुरत उपलब्ध होने वाले खाने पर निर्भर होते चले गये। उसमें गुणवत्ता के बजाय स्वाद हमारी प्राथमिकता बनता चला गया। मगर यह नहीं सोचा गया कि बाजार द्वारा पेश किए जाने वाला भोजन बाजार के मुनाफे की जरूरतों के मुताबिक है, हमारी सेहत के अनुरूप नहीं। नि:संदेह गुणवत्ता का भोजन किसी समाज की सेहत ....

एकदा

Posted On December - 19 - 2019 Comments Off on एकदा
पंडित दीनदयाल उपाध्याय एक बार कार्यकर्ताओं को बता रहे थे—‘जब मैं दिल्ली में रहता हूं तो अजमेरी गेट से झंडेवाला जाने के लिए पहाड़गंज तांगे से जाता हूं। पहाड़गंज में एक मोची बैठता है जो जब भी मुझे देखता है चप्पलें पॉलिश कराने को कहता है। मैं हर बार उसे मना कर देता हूं। यह क्रम वर्षों से चल रहा है और वह मोची अच्छी ....

असरदार दागदार, लाचार व्यवस्था

Posted On December - 19 - 2019 Comments Off on असरदार दागदार, लाचार व्यवस्था
समय ऐसा आ गया है कि तीन फेल हुए विद्यार्थी मिलकर टाॅप कर जाते हैं और असली टाॅपर टुकुर-टुकुर देखता रहता है। यह या तो राजनीति में संभव है या आरक्षण नीति में। इतनी जल्दी तो बालक का लंगोट भी नहीं धुलता, जितनी जल्दी सिंहासनधारियों के खेमे में जाने वाले राजनेताओं के खोट धुल जाते हैं। और फिर इन्हें लोकतंत्र का गला घोट कर सत्ता ....

वतन से मोहब्बत के झिलमिलाते इंद्रधनुष

Posted On December - 19 - 2019 Comments Off on वतन से मोहब्बत के झिलमिलाते इंद्रधनुष
आजादी की लड़ाई के दौरान क्रांतिकारियों ने लड़ाई के लिए धन जुटाने के उद्देश्य से नौ अगस्त, 1925 की रात गोरी सरकार का ट्रेन से ले जाया जा रहा खजाना लूटने के लिए लखनऊ के पास जिस ऐतिहासिक काकोरी कांड को अंजाम दिया था, उसके अप्रतिम शहीद अशफाक उल्लाह खां को ऐसी सल्तनत भी कुबूल नहीं थी, जिसमें कमजोरों का हक, हक न समझा जाये। ....

आपकी राय

Posted On December - 19 - 2019 Comments Off on आपकी राय
17 दिसंबर के दैनिक ट्रिब्यून का संपादकीय ‘हिंसा नहीं स्वीकार्य’ नागरिकता संशोधन कानून के पास होने के बाद देश के कई भागों में आगजनी, पत्थरबाजी तथा तोड़फोड़ की घटनाओं का वर्णन करने वाला था। प्रधानमंत्री द्वारा आश्वासन दिए जाने के बावजूद प्रदर्शन जारी हैं। कुछ विपक्षी दलों का अपनी राजनीति चमकाने के लिए एक विशेष वर्ग का पक्ष लेते हुए दंगे, ....

मुशर्रफ को सज़ा पाक सेना के लिए सबक

Posted On December - 19 - 2019 Comments Off on मुशर्रफ को सज़ा पाक सेना के लिए सबक
पुरानी दिल्ली के दरियागंज में नाहर वाली हवेली 2001 में सुर्खियों में रही थी। वजह उन दिनों पाकिस्तान के राष्ट्रपति परवेज़ मुशर्रफ का वहां आना था, और अपने जन्म स्थान को निहारना था। पिछले 18 वर्षों में यह हवेली आठ टुकड़ों में बंट चुकी है। आधुनिक निर्माण की वजह से इसकी दरो-दीवार से मुशर्रफ के पुराने दिन भी विलुप्त से हो गये। ....

गुनाह का हिसाब

Posted On December - 19 - 2019 Comments Off on गुनाह का हिसाब
तेरह मई, 2008 को सिलसिलेवार बम धमाकों से राजस्थान की राजधानी जयपुर को दहला देने वाले चार दोषियों को जयपुर की स्पेशल कोर्ट ने दोषी माना है। जयपुर के परकोटे में किये गये आठ धमाकों में 71 लोग मारे गये थे और 185 लोग घायल हुए थे। हमले में 13 आतंकी शामिल थे, जिनमें से पांच पर मुकदमा चला, तीन अभी तक फरार हैं, ....

एकदा

Posted On December - 18 - 2019 Comments Off on एकदा
देश के राष्ट्रपति डॉ. राजेन्द्र बाबू को डायरी लिखने की आदत थी। एक बार सवेरे उठते ही जब वे अपनी डायरी में कुछ लिखने बैठे तो उन्होंने देखा कि उसके कुछ पन्ने फटे हुए हैं। उन्हें समझते देर न लगी कि यह उनके घर के बच्चों का काम है। उन्होंने सोचा कि क्यों न ऐसा कुछ किया जाये कि बच्चे स्वयं ही अपनी गलती मानें। ....

कोलाहल के समय में मौन

Posted On December - 18 - 2019 Comments Off on कोलाहल के समय में मौन
कहते हैं मौन रहने से बहुत-सी अनचाही मुसीबतों से छुटकारा मिल जाता है। इसलिए गुरुजी कहते थे, बोलो कम, लिखो उससे भी कम। ज्यादा बोलने में ज्यादा गलतियां होती हैं। अंदर का बहुत कुछ स्पाट पर रायते जैसा फैल जाता है। दिल के कई राज अनजाने में जमीन पर आ गिरते हैं। उसी प्रकार ज्यादा लिखने से भाषा की ज्यादा गलती होती हैं। ....

देश की सुरक्षा में चौकस दूसरी खुफिया आंख

Posted On December - 18 - 2019 Comments Off on देश की सुरक्षा में चौकस दूसरी खुफिया आंख
हाल ही में इसरो ने अंतरिक्ष में एक बार फिर इतिहास रचते हुए पीएसएलवी सी-48 रॉकेट से राडार इमेजिंग अर्थ ऑब्जर्वेशन सैटेलाइट रीसैट-2बीआर1 को प्रक्षेपित कर दिया। इसके साथ ही इसरो ने पीएसएलवी सी-48 रॉकेट से भेजे गए नौ विदेशी उपग्रहों को सफलतापूर्वक उनकी कक्षा में भेज दिया। ....
Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.