अभी नहीं बताया-परिवार से कब मिलेंगे अंतिम बार !    भाजपा को सत्ता से बाहर चाहते थे अल्पसंख्यक : पवार !    सीएए समर्थक जुलूस पर पथराव, हिंसा !    टेरर फंडिंग : पाक के प्रयासों को चीन ने सराहा !    177 हथियारों के साथ 644 उग्रवादियों का आत्मसमर्पण !    चुनाव को कपिल मिश्र ने बताया भारत-पाक मुकाबला !    रोहिंग्या का जनसंहार रोके म्यांमार : आईसीजे !    डेमोक्रेट्स ने राष्ट्रपति ट्रम्प के खिलाफ रखा पक्ष !    आईएस से जुड़े होने के आरोप में 3 गिरफ्तार !    आग बुझाने में जुटा विमान क्रैश, 3 की मौत !    

विचार › ›

खास खबर
संकल्प से सफलता की मिसाल सानिया

संकल्प से सफलता की मिसाल सानिया

चर्चित चेहरा रोहित अवस्थी खेल की दुनिया में महिला खिलाड़ी का नाम कमाना और फिर कॅरिअर की ऊंचाइयों पर होते हुए विवाह के बाद गुमनामी के अंधेरों में खो जाना, ऐसे किस्से अक्सर सुनने को मिल जाते हैं। कुछ ने वापसी की कोशिश भी की पर वह सुखद नहीं रही। मगर उन ...

Read More

सुलेमानी की हत्या के बाद हालात गंभीर

सुलेमानी की हत्या के बाद हालात गंभीर

ईरान-अमेरिका के बीच चल रहा मौजूदा तनाव हिंद महासागर के पश्चिमी छोर वाले हमारे पड़ोसी देशों से रिश्तों को असंतुलित करने में सबसे बड़ा कारण बन सकता है। हालांकि ऐसा वक्फा भी था कि ईरान-अमेरिका के संबंध कुछ सुधरे थे, जब पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने वैश्विक सहमति में ...

Read More

ताकि बची रहे लोकतंत्र की गरिमा

ताकि बची रहे लोकतंत्र की गरिमा

दलबदल पर तय सीमा में निष्पक्ष निर्णय जरूरी देश की सर्वोच्च अदालत ने संसद का ध्यान अत्यंत आवश्यक एवं गंभीर विषय की ओर आकर्षित किया है। मणिपुर में दलबदल संबंधी एक याचिका पर सुनवाई करते हुए न्यायमूर्ति रोहिंग्टन एफ नरीमन की अध्यक्षता वाली पीठ ने संसद से कहा है कि वह ...

Read More

नेताजी के सपनों को साकार करने का समय

नेताजी के सपनों को साकार करने का समय

जयंती विशेष लक्ष्मीकांता चावला युगों-युगों से हमारी चली आ रही परिपाटी है—खून दिया है मगर नहीं दी कभी देश की माटी। इसी परंपरा को आगे बढ़ाने के लिए 23 जनवरी 1897 को भारत में एक विलक्षण बालक ने जन्म लिया और उसे नाम मिला सुभाष। इस भारत रत्न की जननी थी प्रभावती ...

Read More

उन चुनावी वायदों का क्या हुआ?

उन चुनावी वायदों का क्या हुआ?

वर्ष 2014 में देश के राजनीतिक परिदृश्य में नाटकीय परिवर्तन हुआ था जब ‘दिग्विजय’ नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भाजपा ने केंद्र में भारी बहुमत से सरकार बनाई थी। इससे पहले देशभर में किए अपने तूफानी दौरों में मोदी ने सम्मोहक भाषणों की झड़ी लगा दी थी। जैसी कि उम्मीद ...

Read More

राजग में असंतोष

राजग में असंतोष

भाजपा से मित्रों की बढ़ती नाराजगी भारतीय जनता पार्टी के नेतृत्व वाले गठबंधन (राजग) से जुड़े दलों में एक के बाद एक असंतोष स्पष्ट उभरकर सामने आ रहा है। राजग मोर्चे से जुड़े दल किसी न किसी मुद्दे पर छिटकते से नजर आ रहे हैं। क्या भाजपा नीत राजग सरकार के ...

Read More

कुप्रबंधन की भेंट चढ़ती भूजल योजनाएं

कुप्रबंधन की भेंट चढ़ती भूजल योजनाएं

पंकज चतुर्वेदी पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के जन्मदिन पर शुरू ‘अटल भूजल योजना’ में छह हजार करोड़ से छह राज्यों के हर गांव-घर तक पानी पहुंचाने की चुनौती बेहद जटिल है। यह समझना होगा कि भूजल प्यास बुझाने का जरिया नहीं हो सकता। आज 16 करोड़ से अधिक भारतीयों के ...

Read More


  • सुलेमानी की हत्या के बाद हालात गंभीर
     Posted On January - 24 - 2020
    ईरान-अमेरिका के बीच चल रहा मौजूदा तनाव हिंद महासागर के पश्चिमी छोर वाले हमारे पड़ोसी देशों से रिश्तों को असंतुलित....
  • संकल्प से सफलता की मिसाल सानिया
     Posted On January - 24 - 2020
    खेल की दुनिया में महिला खिलाड़ी का नाम कमाना और फिर कॅरिअर की ऊंचाइयों पर होते हुए विवाह के बाद....
  •  Posted On January - 24 - 2020
    देश की राजधानी में आजकल सरकार की स्वादिष्ट एवं उपजाऊ फसल रोपने का मौसम चल रहा है, तभी तो नकली....
  •  Posted On January - 24 - 2020
    22 जनवरी के दैनिक ट्रिब्यून में राजकुमार सिंह का ‘चुनौतियों के बीच नड्डा की ताजपोशी’ लेख जेपी नड्डा को भाजपा....

बदहाली में जीवनयापन की मजबूरी

Posted On December - 28 - 2019 Comments Off on बदहाली में जीवनयापन की मजबूरी
यह दीवार पर लिखी इबारत की तरह सीधा संकेत था उस गहरे कृषि संकट की तरफ जो दशकों से चला आ रहा है। वर्ष 2017-18 के लिए नेशनल सैंपल सर्वे ऑफिस (एनएसएसओ) द्वारा राष्ट्रीय उपभोग व्यय की पेश की जाने वाली रिपोर्ट प्रस्तुत होने से पहले ही ‘लीक’ हो गई है और अब सरकार ने इसे जारी न करने का फैसला किया है। ....

अवांछित बोल

Posted On December - 28 - 2019 Comments Off on अवांछित बोल
थल सेनाध्यक्ष बिपिन रावत द्वारा दिया गया हालिया बयान विवाद का सबब बन गया है। नागरिकता संशोधन कानून के विरोध के मुद्दे में छात्रों की भूमिका को लेकर दिए गये उनके बयान को लेकर राजनीतिक दल हमलावर हुए हैं। दरअसल, जनरल रावत ने एक आयोजन में कहा था, ‘प्रगति की राह पर ले जाने वाले नेतृत्व को ही सार्थक कहा जा सकता है। ....

आपकी राय

Posted On December - 27 - 2019 Comments Off on आपकी राय
हि.प्र. सरकार की मुख्यमंत्री गृहिणी योजना के लिए मुफ्त रसोई गैस कनेक्शन लेने वालों में कुछ फर्जी आवेदन वाले भी पाये गये। अगर केंद्र और राज्य सरकारें मुफ्त दी जा रही सेवाओं की निष्पक्ष और उचित जांच करे तो और फर्जीवाड़े सामने आ सकते हैं। ....

एकदा

Posted On December - 27 - 2019 Comments Off on एकदा
संत बसवेश्वर अपने घुमंतू स्वभाव के अनुसार गांव-गांव भ्रमण कर रहे थे। एक बार सेठ के निमंत्रण पर वे उसके घर गए। सेठ ने संत का उचित आदर-सत्कार करते हुए शीतल जल पीने को दिया। तभी कुछ लोग सेठ से मिलने आए। भीषण गर्मी में वे सब आंगन में खड़े थे। सेठ ने उन्हें देखा और कहा—आप लोग बाद में आइएगा। ....

रपटीली राहों में नेता-अभिनेता

Posted On December - 27 - 2019 Comments Off on रपटीली राहों में नेता-अभिनेता
आखिर अमिताभ बच्चन के लाख समझाने के बावजूद दक्षिण भारत के सुपरस्टार रजनीकांत ने विधानसभा चुनाव लड़ने की घोषणा कर ही दी। ऐसा लगता है कि सुपरस्टार रजनीकांत महानायक अमिताभ बच्चन के राजनीतिक जीवन से कोई सबक लेना ही नहीं चाहते! ....

हेमंत ऋतु में आया सोरेन का वसंत

Posted On December - 27 - 2019 Comments Off on हेमंत ऋतु में आया सोरेन का वसंत
नि:संदेह झारखंड की पथरीली जमीन पर शिबू सोरेन ने राजनीतिक पहचान की इमारत खड़ी की थी, उसी पर बेटे हेमंत सोरेन ने विजय पताका फहरायी है। हेमंत ने राजनीति विरासत में पायी है और उसे सजाया-संवारा है। कहना अतिशयोक्ति होगी कि वे कोई करिश्माई नेता हैं मगर उनमें झारखंड के आदिवासी समाज को उम्मीद दिखती है। ....

चीनी साइबर लुटेरों से सांसत में सरकारें

Posted On December - 27 - 2019 Comments Off on चीनी साइबर लुटेरों से सांसत में सरकारें
चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग 12 अक्तूबर, 2019 को काठमांडो आये थे। उस समय पूरी कोशिश हुई थी कि नेपाल, चीन द्वारा प्रस्तावित प्रत्यर्पण संधि पर हस्ताक्षर कर दे। इस संधि का साइड इफेक्ट प्रत्यक्ष दिख रहा था, क्योंकि तिब्बती शरणार्थी इसकी ज़द में आते। इसे रोकने को लेकर अपरोक्ष दबाव अमेरिकी दूतावास का था। ....

सुधार की धार

Posted On December - 27 - 2019 Comments Off on सुधार की धार
हाल ही में संसद में पेश की गई कैग की रिपोर्ट में रेलवे की जो खस्ता हालत तस्वीर उभरी है, उसने देशवासियों को चिंतित ही किया है। संभवत: उसी आलोक में केंद्र सरकार ने रेलवे के प्रबंधन में आमूलचूल परिवर्तन का मन बनाया है। कहा जा रहा है कि इस परिवर्तन से विभिन्न विभागों में टकराव के कारण रेलवे की जो गति मंथर हो रही ....

आपकी राय

Posted On December - 26 - 2019 Comments Off on आपकी राय
नेशनल सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल द्वारा हाल ही में जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार डेंगू के मरीज़ों की संख्या लगातार बढ़ रही है। दिल्ली, उत्तर प्रदेश और हरियाणा में स्थिति काफी चिंताजनक है। डेंगू के मरीजों की संख्या में इज़ाफा होना दर्शाता है कि लोगों में साफ-सफाई के प्रति जागरूकता की कमी है। ....

एकदा

Posted On December - 26 - 2019 Comments Off on एकदा
ऋषि अंगिरा के शिष्यों में एक था उदयन। वह काफी प्रतिभाशाली था पर उसमें विनम्रता की कमी थी। वह हर समय अपने गुणों का बखान करता और अपने सहपाठियों का मजाक उड़ाता रहता था। ऋषि ने सोचा कि समय रहते इसे न समझाया गया तो यह लक्ष्य से भटक जाएगा। ....

नये साल में कुछ हो नया

Posted On December - 26 - 2019 Comments Off on नये साल में कुछ हो नया
साल 2019 देखते-देखते चला गया और 2020 समझो आ ही गया। ज्यादा नहीं, बस 19-20 का ही फर्क है। इस ज़रा से फर्क में पूरे तीन सौ पैंसठ दिनों का इतिहास दर्ज है, असंख्य गाथायें और उतार-चढ़ाव। साल बदलने का सबसे ज्यादा फर्क पड़ता है दीवार पर। चुपचाप एक दिन सुबह पुराना कैलेंडर उतर जायेगा और नया लटक जायेगा। जैसे झारखंड में एक सरकार उतर ....

कर्जजाल के बीच बढ़ता बीआरआई का विरोध

Posted On December - 26 - 2019 Comments Off on कर्जजाल के बीच बढ़ता बीआरआई का विरोध
श्रीलंका के ‘हंबनटोटा’ बंदरगाह पर कब्जे को पुनः याद करवाते हुए, चीन केन्या के अत्यंत लाभकारी ‘मुंबासा’ बंदरगाह पर भी काबिज होने जा रहा है। चीन जल्द ही अपने ऋण की अदायगी न होने के कारण यह कार्यवाही करने जा रहा है। यही नहीं, नैरोबी स्थित अंतर्देशीय कंटेनर डिपो भी चीन द्वारा अधिग्रहण के खतरे में है। ....

नागरिकता संशोधन कानून पर सतर्कता जरूरी

Posted On December - 26 - 2019 Comments Off on नागरिकता संशोधन कानून पर सतर्कता जरूरी
कोई हैरानी नहीं कि 11 दिसम्बर को संसद में पारित हुए नागरिकता संशोधन कानून के बाद देश और विदेश में बवाल खड़ा हो गया। इस कानून के तहत खासतौर पर तीन पड़ोसी मुस्लिम देशों यानी पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश से आए अल्पसंख्यकों जैसे कि हिंदू-सिख-बौद्ध-जैन-पारसी और ईसाई शरणागतों को नागरिकता प्रदान करने की राह खुल गई है। ....

एनपीआर की जरूरत

Posted On December - 26 - 2019 Comments Off on एनपीआर की जरूरत
केंद्र सरकार ने जनगणना-2021 की प्रक्रिया शुरू करने के साथ ही राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (एनपीआर) को अपडेट करने की मंजूरी दे दी है। जनगणना पूरे देश की होगी, जबकि एनपीआर में असम को छोड़कर देश की बाकी आबादी को शामिल गया है। असम को इस प्रक्रिया से इसलिए बाहर रखा गया है, क्योंकि वहां एनआरसी हो चुका है। ....

आपकी राय

Posted On December - 25 - 2019 Comments Off on आपकी राय
23 दिसंबर के दैनिक ट्रिब्यून में सुरेश सेठ का ‘जीवन की सांझ के गहरे होते अंधेरे’ लेख देश के लगभग 11 करोड़ वृद्धजनों की जीवन की अंतिम वेला में तिरस्कार का विश्लेषण करने वाला था। आजकल शहरों तथा गांवों में संयुक्त परिवारों के बदले में एकल परिवार की प्रथा शुरू हो गई है। ....

एकदा

Posted On December - 25 - 2019 Comments Off on एकदा
एक ज्योतिषी वन से गुजर रहा था। जिस राह पर वह जा रहा था, उस पर उसने मिट्टी पर उभरे पदचिन्ह देखे। अपने ज्योतिष ज्ञान से वह जान गया कि यह पदचिन्ह तो किसी चक्रवर्ती सम्राट के हैं। ज्योतिषी गहरी सोच में डूब गया, एक सम्राट और वह भी नंगे पैर इस वन में। वह पदचिन्हों का पीछा करते हुए एक चट्टान तक जा पहुंचा, ....
Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.