भाजपा ही करवा सकती है बिना भेदभाव के विकास !    कांग्रेसी अपनों पर ही उठा रहे सवाल : शाह नवाज !    रणधीर चौधरी ने छोड़ी बसपा, भाजपा में शामिल !    शिव सेना बाल ठाकरे ने बसपा उम्मीदवार को दिया समर्थन !    ‘युवा सेना के चक्रव्यूह में फंसा चौधरी परिवार’ !    जनता को बरगला रहे हुड्डा, भाजपा को मिल रहा है प्रचंड बहुमत !    सरकार ने पूरी ईमानदारी से किया विकास : राव इंद्रजीत !    श्रद्धालुओं से 20 डालर सेवा शुल्क ना वसूले पाक !    21 के मतदान तक एग्जिट पोल पर रोक !    आईसीसी के हालिया फैसलों को नहीं मानेगा बोर्ड : सीओए !    

लहरें › ›

खास खबर
पाप का अंत

पाप का अंत

बाल कविता दस शीश का दशानन ना एक शीश बचा पाया। राम ने जीत लंका सत्य का परचम फहराया। झूठ कभी जीते ना सामने कभी सच्चाई के। दुष्ट ही सदैव झुके सामने यहां अच्छाई के। जब-जब भी पाप बढ़ा लिया ईश्वर ने अवतार। राम और कृष्ण हुए मिटा दुष्टों का अत्याचार। बच्चों तुम जीवन में भगवान राम सरीखे बनो। राह अपनी नित्य ही सच पर चलने ...

Read More

स्वाद में सेहत वाला तड़का

स्वाद में सेहत वाला तड़का

दीप्ति त्योहारों का मौसम है। ऐसे में मीठा तो हर घर में बनता है। खासकर जब हलवे की बात हो तो इसके अलग-अलग ज़ायके हमारे मुंह में पानी भर देते हैं। घीया (लौकी) का हलवा सामग्री - लोकी-तीन कप (ग्रेटैड), मिल्क पाउडर-आधा कप, इलायची पाउडर - एक छोटा चम्मच, चीनी- दो बडे़ चम्मच, ...

Read More

हेल्थ और सिक्योरिटी के इनोवेटिव रास्ते

हेल्थ और सिक्योरिटी के इनोवेटिव रास्ते

कुमार गौरव अजीतेन्दु दिल की बीमारियां हमेशा खतरनाक होती हैं, इसलिए अब इनसे लड़ने के लिए भी टेक्नोलॉजी ने अपने कदम आगे बढ़ा दिए हैं जो भविष्य में होने वाले हार्ट अटैक की जानकारी दे रही है। थी-डी प्रिंटिंग हार्ट से ट्रांसप्लांट के लिए लगी कतार को कम करने की कोशिश ...

Read More

नानी से बचत की सीख

नानी से बचत की सीख

याद रही जो सीख विकास बिश्नोई जब मैं स्कूल में पढ़ा करता था तो लगभग हर तीन से चार महीने के बाद मैं और भाई मां के साथ नानी के पास जाया करते थे। नानी हमें बहुत प्यार करती थी। वहां जाते ही हम खूब खेलते थे और हर रोज शाम को ...

Read More

अविस्मरणीय यादें

अविस्मरणीय यादें

स्कूल में पहला दिन शोभा गोयल जीवन की अविस्मरणीय यादों में एक होती है स्कूल में पहले दिन की याद। उस जमाने में 5-6 साल के बच्चे को प्रथम कक्षा में एडमिशन मिलता था। पहले दिन मेरी मम्मी मुझे स्कूल छोड़ कर चली गयी। पहला दिन और अजनबी स्कूल में अजनबी बच्चे। ...

Read More

पड़ोसी के बच्चे से न करें तुलना

पड़ोसी के बच्चे से न करें तुलना

पेरेंटिंग सुभाष चन्द्र सौम्या आज सहमी-सहमी है अपने घर में। शाम को पिताजी भी घर आए। लेकिन, उनसे भी बात नहीं कर रही है। आखिर क्या हुआ उसे? पिता जी ने एक बार पूछा। कोई जवाब नहीं दिया सौम्या ने। खाने की टेबल पर भी गुमसुम। वैसे, गुमसुम रहना सौम्या की आदत नहीं। ...

Read More

मतभेद हों, मनभेद नहीं

मतभेद हों, मनभेद नहीं

रिश्ते मोनिका शर्मा रिश्तों में टकराव की स्थिति जब बनती है तो मतभेद हो ही जाते हैं। फिर चाहे वह सहकर्मी से हों, किसी रिश्तेदार से या परिवार से, मतभेद को समझदारी से सुलझाना ज़रूरी है। ऐसा नहीं किया तो पुरानी बातें कब गांठ बनकर मनभेद में बदल जाएं, पता ही नहीं ...

Read More


लोहागर्ल जहां पानी में गल गयी थी भीम की गदा

Posted On August - 11 - 2019 Comments Off on लोहागर्ल जहां पानी में गल गयी थी भीम की गदा
सुनील दीक्षित हरियाणा के साथ लगते राजस्थान में कई धार्मिक और ऐतिहासिक स्थान हैं, जहां श्रद्धालुओं व पर्यटकों का 12 माह आना-जाना लगा रहता है। ऐसा ही एक स्थान है लोहागर्ल। अब ‘लुहागरजी’ के नाम से प्रसिद्ध यह धार्मिक रमणीक स्थान झुंझुनू से 30 किलोमीटर की दूरी पर नवलगढ़ तहसील में पहाड़ों की कंदराओं में स्थित है। यहां पर प्राचीन काल में बना सूर्य मंदिर लोगों के आकर्षण का केंद्र है। 

तिरंगे व्यंजन

Posted On August - 11 - 2019 Comments Off on तिरंगे व्यंजन
स्वाति गुप्ता तिरंगा ढोकला सामग्री : 1 कप सूजी, 1 कप दही, 1 छोटा चम्मच अदरक पेस्ट, 2 बड़ा चम्मच तेल, नमक स्वादानुसार, 1 छोटा चम्मच ईनो, पानी जरूरत अनुसार, 1 कप पालक प्यूरी, आधा कप गाजर घिसी हुई, 2-3 हरी मिर्च, आधा छोटा चम्मच लाल मिर्च पाउडर, 1 छोटा चम्मच सरसों के दाने, 10-12 करी पत्ते, 2 छोटा चम्मच चीनी, 1 नीबू का रस विधि : सबसे पहले सूजी, दही, नमक, अदरक का पेस्ट और पानी मिलाकर गाढ़ा घोल तैयार कर लें। इस 

बाल कविता

Posted On August - 11 - 2019 Comments Off on बाल कविता
प्यारा बंधन कच्चे धागों का यह, है अनोखा त्योहार। रक्षाबंधन कहते जिसे, भाई-बहन का है प्यार॥ राखी नाम सुनते ही, खिलते दोनों के मन। रंगीन धागा प्रेम का, सबसे प्यारा बंधन॥ रक्षाबंधन पास आते ही, तरंग से भर जाता मन। कभी कष्ट न आने दूं, भाई दे बहन को वचन॥ दूरी न कर सके दूर, रिश्तों में आती गहराई। कहीं भी चाहे रहे बहन, आ जाता मिलने भाई॥ कभी भी इस बंधन को, न तोलें धन, उपहार से। परस्पर मुंह मीठा करके, मनाएं 

मीठे से मोह के पक्के धागे

Posted On August - 11 - 2019 Comments Off on मीठे से मोह के पक्के धागे
दीप्ति अंगरीश राखी बंधन है प्रेम का, प्यार का दुलार का और एक मीठे से मोह का। यहां हम बाज़ारीकरण की चमक-धमक से लबरेज़ धागों की किस्मों पर चर्चा नहीं कर रहे। बात हो रही है राखी में छिपे मोह की, जो अपनों के अलावा कभी-कभी परायों को भी अपना बना लेता है। भाई-बहन के प्रेम का यह धागा, सगे रिश्तों के अलावा कई बार अजनबी लोगों को भी प्रेम और मीठे से मोह के इस सूत्र में बांधता है। यानी जिससे दूर-दूर 

इस बार रक्षाबंधन पर भद्रा की नजर नहीं

Posted On August - 11 - 2019 Comments Off on इस बार रक्षाबंधन पर भद्रा की नजर नहीं
रक्षाबंधन के समय भद्रा यानी अशुभ समय नहीं होना चाहिए। संयोगवश इस बार 15 अगस्त को सुबह से शाम तक भद्रा रहित शुभ मुहूर्त रहेगा। बहनें इस दिन सूर्योदय से शाम 5:58 बजे तक राखी बांध सकती हैं। शास्त्रों के अनुसार भद्रा सूर्य देव की पुत्री और शनिदेव की बहन हैं। शनि की तरह ही भद्रा का स्वभाव भी उग्र माना गया है। इसी कारण ब्रह्माजी ने इन्हें पंचांग के एक प्रमुख अंग करण में स्थान दिया। पंचांग में इनका 

मुरझाए मन को दीजिए आशा भरी गगरिया

Posted On August - 11 - 2019 Comments Off on मुरझाए मन को दीजिए आशा भरी गगरिया
कृष्णलता यादव जिंदगी के दुरूह सफर में कभी-कभी निराशा के गह‍्वरों से सामना होता है। तब निराशावादी व्यक्ति भाग्य के हाथ का खिलौना बनकर हाथ पर हाथ धरकर बैठ जाता है। वह न घर का रहता है, न घाट का। ऐसे में आशा का मेरुदंड इन गह‍्वरों को पार करने का सम्बल प्रदान करता है। निराश मन को बार-बार समझाया जाता है– आशा के दामन को यूं ही तार-तार न होने दो, बंद हो गये जो दरवाजे, फिर से उनको खुलने दो। कुंठित 

आज से मार्गी होंगे बृहस्पति, सभी रािशयों पर असर

Posted On August - 11 - 2019 Comments Off on आज से मार्गी होंगे बृहस्पति, सभी रािशयों पर असर
मदन गुप्ता सपाटू ज्योतिष के अनुसार हमारे सौरमंडल में जब भी कोई बड़ा ग्रह राशि परिवर्तन करता है, वह वक्री या मार्गी होता है, उदय अथवा अस्त होता है या उसकी गति बदलती है, तो धरती के अलावा मानव जीवन पर विशेष प्रभाव पड़ते हैं। ज्योतिष में बृहस्पति ग्रह का महत्व व्यापक है। इन्हें समस्त देवताओं का गुरु माना जाता है। इसलिए गुरु यानी बृहस्पति का परिवर्तन ज्योतिष के नजरिये से व्यापक प्रभाव 

ऐसे बनाया गया था तिरंगा

Posted On August - 11 - 2019 Comments Off on ऐसे बनाया गया था तिरंगा
तिरंगा देश की शान है, आन है। बच्चों शायद आप नहीं जानते होंगे कि तिरंगा किसने डिज़ाइन किया था। हम आपको बता दें कि तिरंगे को पिंगली वेंकैया नामक शख्स ने डिजाइन किया था। पिंगली वेंकैया ब्रिटिश आर्मी में शामिल हुए थे और अफ्रीका में एंग्लो-बोअर जंग में हिस्सा लिया था, जहां उनकी मुलाकात महात्मा गांधी से हुई थी। गांधी से वे बहुत प्रभावित हुए। ....

दीपू की ख़ुशी

Posted On August - 4 - 2019 Comments Off on दीपू की ख़ुशी
‘दीपू की मां जरा देखो तो दीपू कहां गया हुआ है, ऐसे मौसम में?’ दीपू के पापा ने आवाज लगायी। दीपू की मां ने उसी अंदाज में रसोई से जवाब दिया। ‘वह अपने दोस्त सोनू के घर गया है होमवर्क पूरा करने... दो दिन से तेज बरसात के कारण वह स्कूल नहीं गया था इसलिए।’ ....

कशमकश में  उलझता बचपन

Posted On August - 4 - 2019 Comments Off on कशमकश में  उलझता बचपन
मेरे स्कूल का भी पहला दिन रोने-धोने के साथ बीता था। बात वर्ष 2001 की है जब मेरे घर का काम शुरू था। इस बीच मेरी शैतानियों से परेशान होकर मां मुझे स्लेट और सेलखड़ी के साथ गांव के भट्टरा स्कूल में दाखिला करने ले गई थीं। दरअसल, भट्टरा स्कूल एक छोटा-सा ट्यूशन सेंटर था, जिसे लक्ष्मण भट्ट नामक एक बारहवीं पास गुरुजी संचालित करते ....

मन को मिलता है सुकून

Posted On August - 4 - 2019 Comments Off on मन को मिलता है सुकून
बहुत पुरानी बात है। मैं उस समय छठी कक्षा में पढ़ती थी। उस समय प्राइवेट स्कूल की फीस भी दो-तीन रुपये हुआ करती थी। लेकिन इतनी राशि भी बहुत अधिक लगती थी। उस दिन फीस जमा कराने का दिन था। क्लास टीचर सभी से रोल नंबर अनुसार फीस लेने लगीं। हमारी छठी कक्षा की फीस ढाई रुपये थी। अपनी बारी आने पर मैंने अपनी फीस ....

इंटरनेट के भी शिष्टाचार

Posted On August - 4 - 2019 Comments Off on इंटरनेट के भी शिष्टाचार
मोनिका अग्रवाल वैसे तो इंटरनेट के कोई आधिकारिक नियम नहीं हैं, लेकिन कुछ नियम हैं जिन्हें जरूर फॉलो करना चाहिए जैसे बेसिक नेट शिष्टाचार, मेल भेजने का शिष्टाचार, मेल के जवाब का शिष्टाचार, मेल की गोपनीयता का शिष्टाचार। आइये, जानते हैं कुछ खास बातें। सबसे खास बात यह है कि आप जिस शख्स से संपर्क कर रहे हैं उसके पद का ध्यान रखें। अशिष्ट भाषा, शॉर्ट फॉर्म व इमोटिकन्स से बचने का प्रयास करें। 

मानसून के चटपटे नाश्ते

Posted On August - 4 - 2019 Comments Off on मानसून के चटपटे नाश्ते
रसाेई शोभा रानी गोयल मिक्स वेजीटेबल एंड कॉर्न पकौड़ा सामग्री : कॉर्न 2 कप (कद्दूकस किये हुए), प्याज़ 1, शिमला मिर्च 1, हरी मिर्च 3-4 नग, हरी मेथी 1 कप (बारीक़ कटा हुआ), हरा धनिया आधा कप (बारीक़ कटा हुआ), गाजर एक-चौथाई कप (कद्दूकस किया हुआ), काली मिर्च डेढ़ चम्मच (कुटी हुई), साबुत धनिया डेढ़ चम्मच (दरदरा पिसा हुआ), बेसन 2 कप, चावल का आटा आधा कप, चाट-मसाला व नमक स्वादानुसार, तलने के लिए 

इनोवेशंस से समृद्ध होती दुनिया

Posted On August - 4 - 2019 Comments Off on इनोवेशंस से समृद्ध होती दुनिया
एसी की सुविधा हर जगह मिले, ये सब लोग चाहते हैं। कमरे से लेकर कार तक एसी के अलावा भी अगर हम सब सदा एसी अपने साथ लेकर चल सकें तो कैसा रहेगा? है न बहुत रोचक ख्याल! लेकिन अब ये संभव है, क्योंकि जापान की इलेक्ट्रॉनिक्स कंपनी सोनी ने मोबाइल से भी छोटा एसी (एयर कंडीशनर) बनाया है। यह शर्ट और टीशर्ट में फिट ....

बाल कविता

Posted On August - 4 - 2019 Comments Off on बाल कविता
बादल पानी भर कर लाये बादल, फिरते हैं इतराए बादल। कितने हैं ये काले-काले, लगता नहीं नहाए बादल। बदल-बदल कर रंग रूप ये, हमको खूब डराएं बादल। बैठ गगन में पवन अश्व पर, कैसी दौड़ लगाएं बादल। गड़गड़ करके खूब गरजते, जब गुस्से में आएं बादल। दिन की रात करें ये पल में, जब सूरज पर छाएं बादल। दादुर झींगुर मोर सभी के, मन को हैं हर्षाएं बादल।                               राजपाल सिंह गुलिया  

बरकरार रहे दोस्ती

Posted On August - 4 - 2019 Comments Off on बरकरार रहे दोस्ती
फ्रेंडशिप-डे यानी दोस्तों के साथ मौज-मस्ती करने का दिन। उन्हें इस बात का अहसास दिलाने का दिन कि वह उनकी जि़ंदगी में काफी मायने रखते हैं और उनकी जि़ंदगी का महत्वपूर्ण हिस्सा हैं। लेकिन कई बार इस दोस्ती में किसी न किसी कारण से दरार पड़ जाती है और फिर उसे टूटने में ज़रा भी देरी नहीं लगती। कई बार शादी होने के बाद दोस्ती ....
Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.