भाजपा ही करवा सकती है बिना भेदभाव के विकास !    कांग्रेसी अपनों पर ही उठा रहे सवाल : शाह नवाज !    रणधीर चौधरी ने छोड़ी बसपा, भाजपा में शामिल !    शिव सेना बाल ठाकरे ने बसपा उम्मीदवार को दिया समर्थन !    ‘युवा सेना के चक्रव्यूह में फंसा चौधरी परिवार’ !    जनता को बरगला रहे हुड्डा, भाजपा को मिल रहा है प्रचंड बहुमत !    सरकार ने पूरी ईमानदारी से किया विकास : राव इंद्रजीत !    श्रद्धालुओं से 20 डालर सेवा शुल्क ना वसूले पाक !    21 के मतदान तक एग्जिट पोल पर रोक !    आईसीसी के हालिया फैसलों को नहीं मानेगा बोर्ड : सीओए !    

लहरें › ›

खास खबर
पाप का अंत

पाप का अंत

बाल कविता दस शीश का दशानन ना एक शीश बचा पाया। राम ने जीत लंका सत्य का परचम फहराया। झूठ कभी जीते ना सामने कभी सच्चाई के। दुष्ट ही सदैव झुके सामने यहां अच्छाई के। जब-जब भी पाप बढ़ा लिया ईश्वर ने अवतार। राम और कृष्ण हुए मिटा दुष्टों का अत्याचार। बच्चों तुम जीवन में भगवान राम सरीखे बनो। राह अपनी नित्य ही सच पर चलने ...

Read More

स्वाद में सेहत वाला तड़का

स्वाद में सेहत वाला तड़का

दीप्ति त्योहारों का मौसम है। ऐसे में मीठा तो हर घर में बनता है। खासकर जब हलवे की बात हो तो इसके अलग-अलग ज़ायके हमारे मुंह में पानी भर देते हैं। घीया (लौकी) का हलवा सामग्री - लोकी-तीन कप (ग्रेटैड), मिल्क पाउडर-आधा कप, इलायची पाउडर - एक छोटा चम्मच, चीनी- दो बडे़ चम्मच, ...

Read More

हेल्थ और सिक्योरिटी के इनोवेटिव रास्ते

हेल्थ और सिक्योरिटी के इनोवेटिव रास्ते

कुमार गौरव अजीतेन्दु दिल की बीमारियां हमेशा खतरनाक होती हैं, इसलिए अब इनसे लड़ने के लिए भी टेक्नोलॉजी ने अपने कदम आगे बढ़ा दिए हैं जो भविष्य में होने वाले हार्ट अटैक की जानकारी दे रही है। थी-डी प्रिंटिंग हार्ट से ट्रांसप्लांट के लिए लगी कतार को कम करने की कोशिश ...

Read More

नानी से बचत की सीख

नानी से बचत की सीख

याद रही जो सीख विकास बिश्नोई जब मैं स्कूल में पढ़ा करता था तो लगभग हर तीन से चार महीने के बाद मैं और भाई मां के साथ नानी के पास जाया करते थे। नानी हमें बहुत प्यार करती थी। वहां जाते ही हम खूब खेलते थे और हर रोज शाम को ...

Read More

अविस्मरणीय यादें

अविस्मरणीय यादें

स्कूल में पहला दिन शोभा गोयल जीवन की अविस्मरणीय यादों में एक होती है स्कूल में पहले दिन की याद। उस जमाने में 5-6 साल के बच्चे को प्रथम कक्षा में एडमिशन मिलता था। पहले दिन मेरी मम्मी मुझे स्कूल छोड़ कर चली गयी। पहला दिन और अजनबी स्कूल में अजनबी बच्चे। ...

Read More

पड़ोसी के बच्चे से न करें तुलना

पड़ोसी के बच्चे से न करें तुलना

पेरेंटिंग सुभाष चन्द्र सौम्या आज सहमी-सहमी है अपने घर में। शाम को पिताजी भी घर आए। लेकिन, उनसे भी बात नहीं कर रही है। आखिर क्या हुआ उसे? पिता जी ने एक बार पूछा। कोई जवाब नहीं दिया सौम्या ने। खाने की टेबल पर भी गुमसुम। वैसे, गुमसुम रहना सौम्या की आदत नहीं। ...

Read More

मतभेद हों, मनभेद नहीं

मतभेद हों, मनभेद नहीं

रिश्ते मोनिका शर्मा रिश्तों में टकराव की स्थिति जब बनती है तो मतभेद हो ही जाते हैं। फिर चाहे वह सहकर्मी से हों, किसी रिश्तेदार से या परिवार से, मतभेद को समझदारी से सुलझाना ज़रूरी है। ऐसा नहीं किया तो पुरानी बातें कब गांठ बनकर मनभेद में बदल जाएं, पता ही नहीं ...

Read More


बाल कविता

Posted On September - 1 - 2019 Comments Off on बाल कविता
तराश के देखो गुण सभी शिक्षक मेरे सभी महान ....

भाईचारे का पाठ

Posted On September - 1 - 2019 Comments Off on भाईचारे का पाठ
देश के विभाजन से पहले की बात है जब मुझे सन‍् 1946 में क़स्बे के स्कूल में पढ़ने के लिये भेजा गया । हम तब ज़िला डेरा ग़ाज़ी खान के अर्ध पहाड़ी क़स्बे तौंसा शरीफ़ (अब पाकिस्तान) में रहते थे । हमारे पड़ोस में एक मुस्लिम मास्टर जी भी रहते थे जो उस मिडिल स्कूल में पढ़ाते थे। ....

बच्चों को समझाएं रिश्तों के मायने

Posted On September - 1 - 2019 Comments Off on बच्चों को समझाएं रिश्तों के मायने
माता-पिता को चाहिये कि सबसे पहले वे बच्चों को रिश्तों का महत्व बताएं। यह समझाएं कि आपसी संबंधों के इस ताने-बाने की क्या अहमियत है? इस विषय में नियमित बातचीत करें कि क्यों जरूरी हैं रिश्ते? ....

ससुराल में दिखाएं समझदारी

Posted On September - 1 - 2019 Comments Off on ससुराल में दिखाएं समझदारी
शिष्टाचार की बात करते हैं तो हम परिवार को कैसे भूल सकते हैं। जैसे जीवन के हर क्षेत्र में शिष्टाचार की जरूरत है, उसी प्रकार परिवार में रहते हुए सभी बड़े और छोटे सदस्यों को भी शिष्टाचार बरतने की आवश्यकता होती है। आज हम बात करेंगे ससुराल में शिष्टाचार की। ....

चाय के चटपटे साथी

Posted On September - 1 - 2019 Comments Off on चाय के चटपटे साथी
आलू-2, पापड़-5, नमक-स्वादानुसार, मिर्च-आधा चम्मच, अमचूर-आधा चम्मच, चाट मसाला-आधा चम्मच, गर्म मसाला-एक चौथाई चम्मच, बारीक कटी हरी मिर्च  व हरा धनिया-1 बड़ा चम्मच, तेल- तलने के लिए। ....

बदली जिन्होंने गणित की दुनिया

Posted On September - 1 - 2019 Comments Off on बदली जिन्होंने गणित की दुनिया
भारत में असाधारण शिक्षकों और विद्वानों की लंबी विरासत रही है, जिन्हें गणित और खगोल विज्ञान के बारे में बहुत ज्ञान था। भारतीय प्रतिभाओं ने गणित की दुनिया में कई परिवर्तन किए हैं और आज दुनिया में प्रगति और विशेषज्ञता बनाई है। ....

हरितालिका तीज

Posted On September - 1 - 2019 Comments Off on हरितालिका तीज
भविष्योत्तर पुराण के अनुसार भाद्रपद शुक्ल तृतीया को ‘हरितालिका’ का व्रत किया जाता है। स्त्रियां यह व्रत पति, पुत्र-संतति या पौत्र सुखों के लिए करती हैं। इस व्रत को कुमारी एवं सधवा, विधवा सभी रख सकती हैं। यह व्रत निराहार और निर्जला किया जाता है। ....

ऊर्जा के स्रोत विघ्नहर्ता

Posted On September - 1 - 2019 Comments Off on ऊर्जा के स्रोत विघ्नहर्ता
गणेश जी को हमारी संस्कृति में ज्ञान, समृद्धि और सौभाग्य के प्रथम पूजनीय देवता माना जाता है। जैसे पश्चिम बंगाल में दुर्गा पूजा होती है, उसी प्रकार से महाराष्ट्र, कर्नाटक, गुजरात, मध्यप्रदेश आदि राज्यों में गणेश चतुर्थी विशाल स्तर पर मनाई जाती है। ....

श्रीगणेश शुभ मंगलकारी

Posted On September - 1 - 2019 Comments Off on श्रीगणेश शुभ मंगलकारी
कलौ चण्डीविनायकौ। यानी कलियुग में मां काली और गणेश तत्काल फल प्रदान करते हैं। लेकिन, गणेश भक्त इसमें भी संशोधन करते हैं। कहते हैं कि मां तभी खुश होती हैं, जब संतान प्रसन्न हो। यह सच भी है। इसलिए मां काली से पहले गणेश जी को प्रसन्न किया जाता है। ....

यहां परिवार के साथ विराजमान हैं त्रिनेत्र गणेश

Posted On September - 1 - 2019 Comments Off on यहां परिवार के साथ विराजमान हैं त्रिनेत्र गणेश
त्रिनेत्र गणेश मंदिर का महत्व न केवल राजस्थानवासियों के लिये है, बल्कि यह पूरे देश में लोकप्रिय है। भगवान गणेश का यह प्राचीन मंदिर सवाई माधोपुर जिला मुख्यालय से 13 किलोमीटर दूर रणथम्भौर राष्ट्रीय उद्यान के भीतर विश्व ऐतिहासिक विरासत में शामिल रणथम्भौर दुर्ग में स्थित है। ....

थकावट हुई छूमंतर

Posted On September - 1 - 2019 Comments Off on थकावट हुई छूमंतर
उस वक्त मेरी उम्र चौदह-पंद्रह साल की थी। मैं आठवीं कक्षा में पढ़ता था। उस समय मेरे सहपाठी अपनी सामर्थ्य अनुसार घर के कामों में मां-बाप का हाथ बंटाया करते थे। स्कूल जाने से पहले, स्कूल से आने के बाद तथा रविवार व छुट्टी वाले दिन भी यह क्रम चलता रहता था। ....

लद्दाख फेस्टिवल

Posted On September - 1 - 2019 Comments Off on लद्दाख फेस्टिवल
लद्दाख फेस्टिवल की तारीखें ज़ेहन में हों और लेह के कुशाक बाकुला एयरपोर्ट पहुंचाने वाली यात्रा का टिकट जेब में, तो साल के बड़े ट्रिप की तैयारी पूरी समझो। बेशक, लद्दाख जाने का सही समय शुरू होता है अब। आप पूछेंगे क्यों? वो यों कि गर्मियों की छुटि्टयों में लेह पहुंचने वाले सैलानियों की रुख़्सती कभी की हो चुकी है और बचे-खुचे पर्यटक भी अपना ....

मधुर संबंध बनाएं पड़ोसियों से

Posted On September - 1 - 2019 Comments Off on मधुर संबंध बनाएं पड़ोसियों से
कहते हैं एक अच्छा पड़ोसी किस्मत वाले को ही मिलता है। बात सही भी है। अगर आपकी आपके पड़ोसी से बनती है तो आपको आपके आसपड़ोस का माहौल स्वर्ग सा लगने लगता है। परिवार की छोटी-बड़ी खुशियों से लेकर तीज-त्याहारों तक, हर जश्न को मिल बांट कर मनाने से जिंदगी का मज़ा दुगना हो जाता है। ....

ऐसे याद हुआ पहाड़ा

Posted On September - 1 - 2019 Comments Off on ऐसे याद हुआ पहाड़ा
आज शिवम जब स्कूल से घर आया तो बहुत उदास था। आज उसे फिर से 5 का पहाड़ा न याद करके लाने पर डांट पड़ी थी। वह पहाड़ा याद करने की बहुत कोशिश करता लेकिन पहाड़ा था, कि मानो कह रहा हो-तुम कितनी भी कोशिश करो बच्चू, मैं तुम्हारे दिमाग में नहीं घुसूंगा। ....

मौसम गीला-गीला, चलो बनाएं चीला

Posted On August - 25 - 2019 Comments Off on मौसम गीला-गीला, चलो बनाएं चीला
तो आइए, आपको मीठा और नमकीन चीला बनाने की विधि बतलाते हैं। ....

असफलता  अंत नहीं

Posted On August - 25 - 2019 Comments Off on असफलता  अंत नहीं
बात तब की है जब मैं मेडिकल प्रवेश परीक्षा की तैयारी कर रही थी। मैंने खूब मेहनत की। मैं पूरा दिन पढ़ती रहती। इस पढ़ाई के चक्कर में मैंने घूमना-फिरना बंद कर दिया था। यहां तक कि मैं अपने मम्मी-पापा से कम बात करती। मेरा एक ही उद्देश्य था कि मुझे एमबीबीएस में हर हाल में प्रवेश लेना है। ....
Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.