बिहार में लू से अब तक 61 की मौत !    पंकज सांगवान की पार्थिव देह आज पहुंचने की उम्मीद !    टीचर का स्नेह भरा स्पर्श !    बाथरूम इस्तेमाल के तरीके !    मेरे पापा जी !    सुपरफूड सोया !    कार्यस्थल पर सुरक्षित माहौल !    काम का रैप ... !    पापा का प्यार !    कोने-कोने में टेक्नोलॉजी !    

लहरें › ›

खास खबर
टीचर का स्नेह भरा स्पर्श

टीचर का स्नेह भरा स्पर्श

सविता स्याल उम्र के इस पड़ाव पर, जब जीवन के खट्टे-मीठे अनुभव याद करती हूं तो नये विद्यालय में पहली कक्षा का प्रथम दिवस आज भी मेरे स्मृति पटल पर ऊभर आता है तथा मेरे चेहरे पर एक हल्की सी मुस्कुराहट दे जाता है । मुझे रात को ही मां ने ...

Read More

मेरे पापा जी

मेरे पापा जी

पापा जी मेरे पापा जी सबसे गहरा है नाता जी। बड़े लाड़ से हमको पालें हैं ये जीवन के रखवाले। कैसी भी हों हालात भले हर हाल में हमको संभाले। प्यार इनका ही लुभाता जी सबसे गहरा है नाता जी। मेहनत कर हमको पढ़ाते मंजिल तक सदा पहुंचाते। देकर अच्छे संस्कार हमें एक अच्छा इनसान बनाते। रखे छांव में बन छाता जी सबसे ...

Read More

कार्यस्थल पर सुरक्षित माहौल

कार्यस्थल पर सुरक्षित माहौल

मधु गोयल वैसे तो महिलाएं हर क्षेत्र में कामयाबी दर्ज करा रही हैं। बदलते वक्त के साथ उनकी भूमिकाएं भी बदली हैं। फिर भी काफी महिलाएं अपने अधिकारों के प्रति सचेत नहीं हैं। ज्यादा से ज्यादा महिलाएं सार्वजनिक क्षेत्रों में सक्रिय रूप से भाग ले पाएं इसके लिये वर्कप्लेस पर उनकी ...

Read More

सुपरफूड सोया

सुपरफूड सोया

सही मायनों में सुपरफूड है सोयाबीन। यह एक कंपलीट फूड है, जिसे हम दूध, दही और आटा के तौर पर अपने खान-पान में शामिल करते हैं। इसे दाल के रूप में पकाकर भी इसका भरपूर प्रोटीन प्राप्त किया जा सकता है। इतना ही नहीं सोयाबीन के बीज पीसकर इससे कुकिंग ...

Read More

काम का रैप ...

काम का रैप ...

दीप्ति अंगरीश परिवार की होम मिनिस्टर हैं तो काम में रैप करना आपको सभी सदस्यों को सिखाना होगा। आप चाहती हैं कि परिवार का हर सदस्य पर्सनल और प्रोफेशनल लाइफ में सफलता हासिल करे तो अपनाएं ये टिप्स... काम को आंकें परिवार को सिखाइए कि अपने पर्सनल व प्रोफेशनल काम को हर पहलू ...

Read More

कोने-कोने में टेक्नोलॉजी

कोने-कोने में टेक्नोलॉजी

कुमार गौरव अजीतेन्दु टेक्नोलॉजी के विस्तार ने न केवल इनसानों को हमेशा सहूलियत दी है बल्कि इससे उनकी आंतरिक क्षमताओं का भी विकास हुआ है। अगर आप किसी काम को मॉडर्न तरीके से करते हैं तो यह आपके समय के साथ चलने का परिचायक होता है। आज तकनीक ने घर के ...

Read More

जीवन को सम्बल देता प्यारा रिश्ता

जीवन को सम्बल देता प्यारा रिश्ता

रिश्ते/ फादर्स डे मोनिका शर्मा जिंदगी की अनगिनत उलझनों को जीते हुए पिता हमेशा संघर्षशील रहते हैं। रात-दिन तकलीफों का पहाड़ ढोते हैं। ताकी बच्चों के जीवन को सुकून और स्थायित्व मिल सके। भावी पीढ़ी की जिंदगी की बुनियाद को ठोस आधार देने के लिए अपना सुख- चैन भुला देते हैं। तेज़ी ...

Read More


  • आसां नहीं अब पेरेंटिंग
     Posted On June - 16 - 2019
    श्रुति एक बहुराष्ट्रीय कंपनी में काम करती है। सवेरे आठ बजे घर से निकल कर रात के नौ बजे घर....
  • कबिरा सोई पीर है जो जाने पर पीर…
     Posted On June - 16 - 2019
    महापुरुष एवं संत महात्मा युग-द्रष्टा होते हैं, तो युग स्रष्टा भी। वास्तव में युगीन परिस्िथतियां ही किसी महापुरुष के इस....
  • टीचर का स्नेह भरा स्पर्श
     Posted On June - 16 - 2019
    सविता स्याल उम्र के इस पड़ाव पर, जब जीवन के खट्टे-मीठे अनुभव याद करती हूं तो नये विद्यालय में पहली कक्षा का प्रथम 
  • जीवन को सम्बल देता प्यारा रिश्ता
     Posted On June - 16 - 2019
    रिश्ते/ फादर्स डे मोनिका शर्मा जिंदगी की अनगिनत उलझनों को जीते हुए पिता हमेशा संघर्षशील रहते हैं। रात-दिन 

टिफिन बनाना होगा आसान

Posted On May - 5 - 2019 Comments Off on टिफिन बनाना होगा आसान
बच्चों का टिफिन बॉक्स कैसा हो, आज हम आपकी इसी समस्या का समाधान ढूंढकर लाए हैं। इन टिप्स को अपनाकर आपकी काफी हद तक समस्या दूर हो सकती है। ....

याद है मास्टर जी का बैंत चलाना

Posted On May - 5 - 2019 Comments Off on याद है मास्टर जी का बैंत चलाना
स्कूल से मेरा पहला परिचय स्कूल जाने की उम्र से पहले बिना दाखिले के ही तब हुआ था, जब मैं अपने ननिहाल वर्तमान महेन्द्रगढ़ ज़िले के गांव खेड़ी तलवाना में अपने मामा जी के साथ यूं ही उनके स्कूल गया था। रास्ते में मामा जी और उनके दोस्तों द्वारा मुझे टाॅफियां दिलवाना और स्कूल पहुंचने पर बहुत-सारे बच्चों को खेलते-कूदते देख कर बहुत अच्छा लगा ....

मन के जीते जीत है

Posted On May - 5 - 2019 Comments Off on मन के जीते जीत है
अस्वस्थ होने के कारण अर्णव कई दिनों से स्कूल नहीं जा रहा था। स्कूल में नया सत्र शुरू होने के कारण पढ़ाई के साथ-साथ गतिविधियां भी शुरू हो चुकी थीं । पता लेने आए उसके दोस्तों ने बताया- 'आने वाली 15 तारीख को अन्तर्विद्यालय प्रतियोगिता रखी गई है। ....

डाइनिंग टेबल

Posted On May - 5 - 2019 Comments Off on डाइनिंग टेबल
खाना तो सभी खाते हैं। परंतु क्या आप जानते हैं कि डाइनिंग टेबल के भी कुछ खास मैनर्स होते हैं। हो सकता है अनजाने में आपसे खाते वक्त कुछ ऐसी गलतियां हो जातीं हों जिन पर आपका ध्यान नहीं जाता हो। पर आप अनजाने में ही सही हंसी के पात्र तो बन ही जाते हैं । ....

टेक्नोलॉजी की दुनिया का रोमांच

Posted On May - 5 - 2019 Comments Off on टेक्नोलॉजी की दुनिया का रोमांच
तुमने सड़क पर कई लोगों को मिलकर किसी खराब हुए ट्रक या बस को धक्का देते तो देखा ही होगा! इस तरह के सभी काम काफी थकाने वाले तो होते ही हैं, इसके अलावा जरा सी चूक होने पर दुर्घटना का खतरा भी बना रहता है। मगर अब चिन्ता किस बात की, जब आज लाइफ दिन-प्रतिदिन एडवांस होती जा रही है। ....

बाल कविता

Posted On May - 5 - 2019 Comments Off on बाल कविता
शिक्षा सच्चा गहना ‘अ’ से अनार और ‘आ’ से आम। करो मेहनत सुबह-शाम।। ‘इ’ से इमली और ‘ई’ से ईख। कभी न मांगो बच्चों भीख।। ‘ से ऊंगली और ‘ऊ’ से ऊन। का सबमें जगे जुनून।। ‘ए’ से एडी और ‘ऐ’ से ऐनक। शिक्षा लाये जीवन में रौनक।। ‘ से ओखली ‘औ’ से औरत। सदा रहो पढ़ने में रत।। ‘अं’ से अंगूर और ‘अ:’ से खाली। शिक्षा बिना बन जाओगे पाली।। बन बच्चों बनो महान। तुम से ही बढ़े 

समान वेतन

Posted On May - 5 - 2019 Comments Off on समान वेतन
पारिश्रमिक अधिनियम, 1976 समान कार्य के लिए पुरुष और महिला को समान भुगतान का प्रावधान करता है। यह भर्ती वार्सेवा शर्तों में महिलाओं के खिलाफ लिंग के आधार पर भेदभाव को रोकता है। अगर बात वेतन या मजदूरी की हो तो लिंग के आधार पर किसी के साथ भी भेदभाव नहीं किया जा सकता। ....

घरेलू हिंसा के खिलाफ अधिकार

Posted On April - 28 - 2019 Comments Off on घरेलू हिंसा के खिलाफ अधिकार
महिलाओं को अधिकारों की सुरक्षा को अंतर्राष्‍ट्रीय महिला दशक (1975-85) के दौरान एक पृथक पहचान मिली थी। सन् 1979 में संयुक्‍त राष्‍ट्र संघ में इसे अंतर्राष्‍ट्रीय कानून का रूप दिया गया था। विश्‍व के अधिकांश देशों में पुरूष प्रधान समाज है। पुरूष प्रधान समाज में सत्‍ता पुरूषों के हाथ में रहने के कारण सदैव ही उन्होंने महिलाओं को दोयम दर्जे का स्‍थान दिया है। ....

सेहत का सीक्रेट डीटाॅक्सीिफकेशन

Posted On April - 28 - 2019 Comments Off on सेहत का सीक्रेट डीटाॅक्सीिफकेशन
आप चाहते हैं कि बॉडी नेचुरल तरीके से ग्लो करे और हेल्दी रहे, तो इसके लिए सिर्फ बैलेंस्ड फूड, बढ़िया लाइफस्टाइल, योग और एक्सरसाइज़ ही काफी नहीं। महीने में 1 से 3 दिन बॉडी की अंदरूनी सफाई करें। तीन महीने में एक डीटॉक्स डाइट प्लान को फॉलो करने से सेहत साल भर दुरुस्त रहती है। इसमें व्यक्ति के सातों चक्रों को जागृत किया जाता है। ....

टाइमटेबल और रूटीन से करें काम

Posted On April - 28 - 2019 Comments Off on टाइमटेबल और रूटीन से करें काम
फैमिली मैनेज करना आप अकेली की ज़िम्मेदारी नहीं है, यह बात बाकी के सदस्यों तक सही तरी़के से पहुंचाना ज़रूरी है। यहां हम आपको बताने जा रहे हैं कुछ टिप्स, जिनकी मदद से आप इसे आसानी से कर पाएंगी। ....

गर्व की अनुभूति

Posted On April - 28 - 2019 Comments Off on गर्व की अनुभूति
समाज हो या परिवार महिलाओं से जुड़े हालातों में बदलाव लाने के लिए पुरुषों की भूमिका भी बहुत अहम है । ऐसे में संकुचित सोच से बाहर आ रहे पिता, पति, भाई, बेटे, सहकर्मी या दोस्त एक नई बुनियाद बनाने में मददगार बन रहे हैं । ....

आ गये हमारे कुछ नये रोबोट फ्रेंड्स

Posted On April - 28 - 2019 Comments Off on आ गये हमारे कुछ नये रोबोट फ्रेंड्स
बोस्टन डायनामिक्स द्वारा बनाया ये रोबोट कमाल का है। इसके पास बिल्कुल इंसानों की तरह सामान उठाने और उसे बताई गयी जगह पर पहुंचाने की क्षमता है। मजेदार बात ये कि अपने ऑन-बोर्ड विजन सिस्टम की मदद से यह बॉक्स को एक के ऊपर एक बहुत कुशलता से व्यवस्थित भी करता जाता है। इसे इंडस्ट्रियल एरिया के लिए बनाया गया है और किसी भी गोदाम ....

सौम्य की इच्छा

Posted On April - 28 - 2019 Comments Off on सौम्य की इच्छा
'बेटा कल जल्दी उठना है...।' सौम्य की मां सुमित्रा ने कहा। 'क्यों.. मम्मी?' सौम्य ने पूछा। सुमित्रा चिल्लाकर बोली,'कितनी बार बताया है कि गांव चलना है। तेरे स्कूल की भी चार-पांच दिन की छुट्टियां हैं।' 'अरे हां...गांव मतलब दादा -दादी के पास जाना है।' सौम्य ने खुश होते हुए कहा। सुबह की पहली बस से सौम्य के पापा सुमित, उसकी मम्मी व वह गांव के लाए ....

सयानी बिल्ली

Posted On April - 28 - 2019 Comments Off on सयानी बिल्ली
बिल्ली होती बड़ी सयानी कहते उसको सबकी नानी। ....

नींव का पत्थर

Posted On April - 28 - 2019 Comments Off on नींव का पत्थर
जब भी स्कूल में अपने पहले दिन के बारे में सोचता हूं तो कुछ धुंधली सी याद मस्तिष्क-पटल पर उभरती है। मुझे याद आ रहा है कि मुझे मेरे मामाजी श्री हरि सिंह सेवा-मुक्त मुख्याध्यापक मुझे एक बिल्डिंग में ले गये थे। ....

अस्पताल में हाल पूछने जाएं तो…

Posted On April - 28 - 2019 Comments Off on अस्पताल में हाल पूछने जाएं तो…
आज हम बात कर रहे हैं अस्पताल में शिष्टाचार की। एक ऐसा पहलू है जिस पर लोगों का ध्यान कम ही जाता है। जब आपका कोई फैमिली मेंबर दोस्त या कोई और अस्पताल में होता है और आप उससे मिलने जाते हैं तब उस समय आपको किन-किन शिष्टाचारी बातों का ध्यान रखना चाहिए आइए जानते हैं। ....
Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.