बिहार में लू से अब तक 61 की मौत !    पंकज सांगवान की पार्थिव देह आज पहुंचने की उम्मीद !    टीचर का स्नेह भरा स्पर्श !    बाथरूम इस्तेमाल के तरीके !    मेरे पापा जी !    सुपरफूड सोया !    कार्यस्थल पर सुरक्षित माहौल !    काम का रैप ... !    पापा का प्यार !    कोने-कोने में टेक्नोलॉजी !    

लहरें › ›

खास खबर
टीचर का स्नेह भरा स्पर्श

टीचर का स्नेह भरा स्पर्श

सविता स्याल उम्र के इस पड़ाव पर, जब जीवन के खट्टे-मीठे अनुभव याद करती हूं तो नये विद्यालय में पहली कक्षा का प्रथम दिवस आज भी मेरे स्मृति पटल पर ऊभर आता है तथा मेरे चेहरे पर एक हल्की सी मुस्कुराहट दे जाता है । मुझे रात को ही मां ने ...

Read More

मेरे पापा जी

मेरे पापा जी

पापा जी मेरे पापा जी सबसे गहरा है नाता जी। बड़े लाड़ से हमको पालें हैं ये जीवन के रखवाले। कैसी भी हों हालात भले हर हाल में हमको संभाले। प्यार इनका ही लुभाता जी सबसे गहरा है नाता जी। मेहनत कर हमको पढ़ाते मंजिल तक सदा पहुंचाते। देकर अच्छे संस्कार हमें एक अच्छा इनसान बनाते। रखे छांव में बन छाता जी सबसे ...

Read More

कार्यस्थल पर सुरक्षित माहौल

कार्यस्थल पर सुरक्षित माहौल

मधु गोयल वैसे तो महिलाएं हर क्षेत्र में कामयाबी दर्ज करा रही हैं। बदलते वक्त के साथ उनकी भूमिकाएं भी बदली हैं। फिर भी काफी महिलाएं अपने अधिकारों के प्रति सचेत नहीं हैं। ज्यादा से ज्यादा महिलाएं सार्वजनिक क्षेत्रों में सक्रिय रूप से भाग ले पाएं इसके लिये वर्कप्लेस पर उनकी ...

Read More

सुपरफूड सोया

सुपरफूड सोया

सही मायनों में सुपरफूड है सोयाबीन। यह एक कंपलीट फूड है, जिसे हम दूध, दही और आटा के तौर पर अपने खान-पान में शामिल करते हैं। इसे दाल के रूप में पकाकर भी इसका भरपूर प्रोटीन प्राप्त किया जा सकता है। इतना ही नहीं सोयाबीन के बीज पीसकर इससे कुकिंग ...

Read More

काम का रैप ...

काम का रैप ...

दीप्ति अंगरीश परिवार की होम मिनिस्टर हैं तो काम में रैप करना आपको सभी सदस्यों को सिखाना होगा। आप चाहती हैं कि परिवार का हर सदस्य पर्सनल और प्रोफेशनल लाइफ में सफलता हासिल करे तो अपनाएं ये टिप्स... काम को आंकें परिवार को सिखाइए कि अपने पर्सनल व प्रोफेशनल काम को हर पहलू ...

Read More

कोने-कोने में टेक्नोलॉजी

कोने-कोने में टेक्नोलॉजी

कुमार गौरव अजीतेन्दु टेक्नोलॉजी के विस्तार ने न केवल इनसानों को हमेशा सहूलियत दी है बल्कि इससे उनकी आंतरिक क्षमताओं का भी विकास हुआ है। अगर आप किसी काम को मॉडर्न तरीके से करते हैं तो यह आपके समय के साथ चलने का परिचायक होता है। आज तकनीक ने घर के ...

Read More

जीवन को सम्बल देता प्यारा रिश्ता

जीवन को सम्बल देता प्यारा रिश्ता

रिश्ते/ फादर्स डे मोनिका शर्मा जिंदगी की अनगिनत उलझनों को जीते हुए पिता हमेशा संघर्षशील रहते हैं। रात-दिन तकलीफों का पहाड़ ढोते हैं। ताकी बच्चों के जीवन को सुकून और स्थायित्व मिल सके। भावी पीढ़ी की जिंदगी की बुनियाद को ठोस आधार देने के लिए अपना सुख- चैन भुला देते हैं। तेज़ी ...

Read More


  • आसां नहीं अब पेरेंटिंग
     Posted On June - 16 - 2019
    श्रुति एक बहुराष्ट्रीय कंपनी में काम करती है। सवेरे आठ बजे घर से निकल कर रात के नौ बजे घर....
  • कबिरा सोई पीर है जो जाने पर पीर…
     Posted On June - 16 - 2019
    महापुरुष एवं संत महात्मा युग-द्रष्टा होते हैं, तो युग स्रष्टा भी। वास्तव में युगीन परिस्िथतियां ही किसी महापुरुष के इस....
  • टीचर का स्नेह भरा स्पर्श
     Posted On June - 16 - 2019
    सविता स्याल उम्र के इस पड़ाव पर, जब जीवन के खट्टे-मीठे अनुभव याद करती हूं तो नये विद्यालय में पहली कक्षा का प्रथम 
  • जीवन को सम्बल देता प्यारा रिश्ता
     Posted On June - 16 - 2019
    रिश्ते/ फादर्स डे मोनिका शर्मा जिंदगी की अनगिनत उलझनों को जीते हुए पिता हमेशा संघर्षशील रहते हैं। रात-दिन 

मां के लिये

Posted On May - 12 - 2019 Comments Off on मां के लिये
संध्या के दोनों बच्चे बेहद उत्साहित हो रहे थे क्योंकि अगले इतवार को ही मदर्स-डे आ रहा था। चिंटू और प्रिया मिलकर आपस में योजना बना रहे थे कि इस दिन को कैसे मनाया जाए। अभी चार-पांच दिन का समय था। दोनों ने अपने हाथों से एक सुंदर-सा कार्ड बनाया और उसे छुपाकर रख दिया। ....

ऑफिस के शिष्टाचार

Posted On May - 12 - 2019 Comments Off on ऑफिस के शिष्टाचार
अच्छे प्रोफेशनल का व्यवहार भी खासे मायने रखता है। इसमें क्लीगस, ऑफिस के स्टाफ और कस्टमर से लेकर हर आने-जाने वाले के साथ आपका बातचीत का तरीका शामिल है। कुछ शिष्टाचार नियमों को अपनाकर आप अपने ऑफिस में अपनी अच्छी छवि को बनाए रखने में कामयाब हो सकते हैं। साथ ही आपकी अच्छी इमेज से आपके लिए सफलता की राह आसान होगी। ....

कलम और रोशनी की स्याही

Posted On May - 12 - 2019 Comments Off on कलम और रोशनी की स्याही
मेरा दाखिला 'गद्दी-खेड़ी गांव' के स्कूल में करवाया गया था। मां ने मुझे नहला-धुला कर तैयार किया और बाबूजी स्कूल छोड़ने गए। मेरी पहली कक्षा के मास्टर जुगती राम जी थे। बाबू जी मुझे कक्षा तक छोड़ कर चले गए। मैंने देखा कि मास्टर जी एक ऊंची-सी काठ की कुर्सी पर बैठे हुए थे और चाकू से सब बच्चों की बारी-बारी से ....

मोह, माया और भ्रम पर विजय की प्रतीक बगलामुखी

Posted On May - 12 - 2019 Comments Off on मोह, माया और भ्रम पर विजय की प्रतीक बगलामुखी
हरियाणा वैदिक धर्म एवं संस्कृति की धर्म-ध्वजा है। इसमें अनेक तीर्थ हैं। तीर्थ का प्रयोग प्राय: पुण्य स्थल के रूप में होता है। कथन है— ‘तरति पापादिक यस्मात‍् इति तीर्थम‍्’— जिससे पापादि से मुक्ित मिले, वह तीर्थ है। इन तीर्थों में प्रमुख है कुरुक्षेत्र। सरस्वती और दृषद‍्वती में मध्य स्थित ‘ब्रह‍्मावर्त’ क्षेत्र का यह तीर्थ पांच योजन क्षेत्र में विस्तृत है। ....

नये दौर में मां : ख़्वाबों के लिए आसमान को विस्तार

Posted On May - 12 - 2019 Comments Off on नये दौर में मां : ख़्वाबों के लिए आसमान को विस्तार
याद है आपको जून, 2018 का वह वाकया जब कनाडा की मंत्री केरीना गोल्डक का संसद में प्रश्नकाल के दौरान अपने तीन माह के शिशु को स्तनपान कराने वाला वीडियो वायरल हुआ था? पूरी दुनिया ने इस नई मां को सराहा था। इससे पहले, केरीना कनाडाई संसदीय इतिहास में मैटरनिटी लीव लेने वाली पहली मंत्री बनने का गौरव भी अपने खाते में रख चुकी हैं। ....

व्रत-पर्व

Posted On May - 12 - 2019 Comments Off on व्रत-पर्व
12 मई- श्री दुर्गाष्टमी, श्री बगलामुखी जयंती, श्री शीतलाष्टमी। 13 मई- जानकी (सीता) नवमी, मातृ-दिवस 15 मई- मोहिनी एकादशी व्रत, ज्येष्ठ संक्रांति (30 मुहूर्ति), लक्ष्मी नारायण-एकादशी (उड़ीसा), परशुराम द्वादशी, रुकमणि द्वादशी। 16 मई- प्रदोष व्रत। 17 मई- श्री नृसिंह जयंती, ओंकारेश्वर यात्रा। 18 मई- वैशाख पूर्णिमा, श्री बुद्ध जयंती, गोरखनाथ जयंती, वैशाख स्नान समाप्त, 

मुक्ति का मार्ग विपश्यना

Posted On May - 12 - 2019 Comments Off on मुक्ति का मार्ग विपश्यना
बौद्ध मत के अनुसार मुक्ति के लिए किसी ईश्वरीय अथवा दैवी अनुकंपा की आवश्यकता नहीं। बल्कि, वस्तुओं और स्थितियों को उनके यथार्थ रूप में देखने की योग्यता उत्पन्न होना ही मुक्ति अथवा मोक्ष है। गीता में वर्णित ‘समत्वं योग उच्यते’ की तरह स्वयं को और संसार की सारी वस्तुओं को मात्र देखना और उनके प्रति राग-द्वेष का भाव न रखते हुए आगे बढ़ जाने की ....

अंदर की तरफ खुलनी चाहिए घर की खिड़कियां

Posted On May - 12 - 2019 Comments Off on अंदर की तरफ खुलनी चाहिए घर की खिड़कियां
अकसर कई लोग कहते हैं कि घर में सुख-शांति नहीं रहती, पता ही नहीं चलता कि पैसा कहां जाता है। परिवार में सबके मुंह चढ़े रहते हैं। घर-परिवार की ऐसी कई दिक्कतें छोटे-छोटे उपायों से दूर हो सकती हैं। ....

चकाचक साफ-सफाई के 10 तरीके

Posted On May - 12 - 2019 Comments Off on चकाचक साफ-सफाई के 10 तरीके
आप रोजाना डस्टर और काॅलीन स्प्रे से फ्रिज, स्विच बोर्ड, माइक्रोवेव, दराजों की नाॅब, दरवाजों के हैंडल्स, पंखों, टीवी कैबिनेट को चमकाती हैं, फिर भी कुछ फीका-सा लगता है। ....

जहरीले बिच्छू भी शांत हैं यहां…

Posted On May - 5 - 2019 Comments Off on जहरीले बिच्छू भी शांत हैं यहां…
क्या यह संभव है कि जहरीले बिच्छू को आपने हाथ में पकड़ा हो और वह डंक न मारे! शायद नहीं। लेकिन, उत्तर प्रदेश के अमरोहा में एक ऐसी दरगाह है, जहां लोग बिना डर बिच्छुओं को हाथ में लेते हैं। लोगों का विश्वास है कि दरगाह परिसर में मौजूद जहरीले बिच्छू किसी को डंक नहीं मारते। यह दरगाह है सैयद शरफुद्दीन शाह विलायत की। ....

बिन पानी सब सून…

Posted On May - 5 - 2019 Comments Off on बिन पानी सब सून…
दिन लंबे होने के साथ-साथ तापमान बढ़ने लगा है। गर्म चाय और सूप की जगह ठंडे शर्बत और लस्सी ने ले ली है। लेकिन सूखे गले के लिए आज भी सबसे अच्छा समाधान एक गिलास ठंडा पानी ही है। ....

विरासत की सियासत

Posted On May - 5 - 2019 Comments Off on विरासत की सियासत
आज से लगभग पांच दशक पहले एक फिल्म आई थी- सगीना महतो! उसमें एक गाना था- 'भोले-भाले ललुआ खाए जा रोटी बासी, बड़ा होकर बनेगा साहेब का चपरासी!' इस गीत में गरीब बच्चे की नियति यही बताई गई है, कि बड़ा होकर वह भी बाप की तरह कोई मजदूर या चपरासी बनेगा। ....

सही राह पर चलने का पैगाम रमजान

Posted On May - 5 - 2019 Comments Off on सही राह पर चलने का पैगाम रमजान
रूह को पाक करके अल्लाह के करीब जाने का मौका देने वाला रमजान का मुक़द्दस महीना जिंदगी को सही राह पर लाने का पैगाम देता है। भूख-प्यास की तड़प के बीच जुबान से रूह तक पहुंचने वाली खुदा की इबादत हर मोमिन को उसका खास बना देती है। ....

अक्षय तृतीया 16 साल बाद विशेष योग

Posted On May - 5 - 2019 Comments Off on अक्षय तृतीया 16 साल बाद विशेष योग
चैत्र शुक्ल प्रतिपदा, अक्षय तृतीया, दशहरा और दिवाली। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार शुभ कार्यों की शुरुआत के लिए साल में ये 4 अबूझ और स्वयं सिद्ध मुहूर्त माने गये हैं। वैशाख शुक्ल पक्ष की तृतीया यानी अक्षय तृतीया (आखा तीज) 7 मई को मनाई जाएगी। माना जाता है कि इस तृतीया के दिन किए गये शुभ कार्यों का अक्षय फल मिलता है। ....

मेहमानों के सामने सहज रहें बच्चे

Posted On May - 5 - 2019 Comments Off on मेहमानों के सामने सहज रहें बच्चे
आजकल बच्चे काफी सजग और स्मार्ट हैं | लेकिन यह स्मार्टनेस अगर मासूमियत और बचपने के साथ हो तो ही अच्छी लगती है | कई बार बच्चे घर आये लोगों को अपने खिलौनों से भी उनकी कीमत बताते हुए मिलवाते हैं | इतना ही नहीं वे घर के दूसरे सामानों के मोल का ज़िक्र कर बैठते हैं | ....

सिंगल इनकम है तो अपनाएं ये टिप्स

Posted On May - 5 - 2019 Comments Off on सिंगल इनकम है तो अपनाएं ये टिप्स
पैसों के मामले में प्री प्लानिंग करना बहुत ज़रूरी है। इससे आपको हर महीने के बजट बिगड़ने की टेंशन नहीं होगी। आपका मूड भी नहीं बिगड़ेगा। आप शारीरिक और मानसिक तौर पर स्वस्थ रखेगी। ....
Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.