पायलट को हटाए जाने के बाद प्रियंका ने की सोनिया से मुलाकात !    सुप्रीमकोर्ट का उम्रकैद की सजा भुगत रहे बाबा रामपाल को पैरोल से इनकार !    खराब मौसम के कारण यूएई का पहला मंगल अभियान शुक्रवार तक स्थगित !    राष्ट्रीय शिक्षक पुरस्कार के लिये खुद को करें नामांकित : निशंक !    सत्य को परेशान किया जा सकता है पराजित नहीं : पायलट !    विधायक की मौत को लेकर उत्तरी बंगाल में भाजपा का बंद !    राजस्थान : सचिन पायलट से छीना उप-मुख्यमंत्री पद, 2 मंत्रियों की भी छुट्टी! !    एक अगस्त तक खाली कर दूंगी सरकारी आवास : प्रियंका !    विकास दुबे का सहयोगी शशिकांत गिरफ्तार, पुलिस से लूटी एके-47, इंसास राइफल बरामद !    भारत और चीन की कोर कमांडर-स्तरीय वार्ता का चौथा दौर शुरू !    

लहरें › ›

खास खबर
प्रकृति साधना का मौसम

प्रकृति साधना का मौसम

केवल तिवारी सावन-भादो या जुलाई-अगस्त। मिले-जुले मौसम के दो महीने। गर्मी भी, बारिश भी। तपिश भी, बौछारें भी। हवा चले तो ठंडी-ठंडी, रुक जाये तो पसीने से तर-बतर। यह समय है कुछ सीख देने वाला। कुछ त्यागने और कुछ अपनाने का समय। कुदरत को और करीब से समझने का मौसम। प्रकृति ...

Read More

संगमेश्वर महादेव शिव और शक्ति का अनूठा संगम

संगमेश्वर महादेव शिव और शक्ति का अनूठा संगम

मोहन मैत्रेय पिहोवा (पृथूदक) का संगमेश्वर महादेव अरुणाय एक विशिष्ट धार्मिक-सांस्कृतिक स्थल है। सरस्वती और दृष्दवती (घघ्घर) के मध्य स्थित क्षेत्र ‘ब्रह्मावर्त’ के रूप में विख्यात रहा है, जिसका प्रमुख तीर्थ कुरुक्षेत्र है। महाराजा वेन के पुत्र महाराजा पृथु द्वारा अपने पिता की अन्त्येष्टि जिस स्थल पर संपन्न की गयी, वह ...

Read More

खुशहाल गृहस्थी के लिए मंगला गौरी व्रत

खुशहाल गृहस्थी के लिए मंगला गौरी व्रत

मदन गुप्ता सपाटू सावन में शिव परिवार की पूजा का विशेष महत्व है। जिस प्रकार प्रत्येक सोमवार को भगवान शिव की विशेष पूजा होती है, वैसे ही प्रत्येक मंगलवार को मंगला गौरी व्रत होता है और मां गौरी की पूजा-अर्चना की जाती है। इस दिन महिलाएं अखंड सौभाग्य के आशीर्वाद के ...

Read More

पेंगोंग सरहद पर जादुई झील

पेंगोंग सरहद पर जादुई झील

लेह से करीब 225 किलोमीटर दूर समुद्र तल से 14272 फुट की ऊंचाई पर स्थित करिश्माई झील पेंगोंग त्सो की छटा देखते ही बनती है। इसकी खूबसूरती ने सदियों से जहां देश-विदेश के वैज्ञानिकों को अपनी ओर आकर्षित किया, वहीं फिल्मों में यहां की लोकेशन आते ही सैलानियों की आवाजाही ...

Read More

प्रभु से मिलाप का मार्ग प्रेम और श्रद्धा

प्रभु से मिलाप का मार्ग प्रेम और श्रद्धा

संत राजिन्दर सिंह जी महाराज प्रभु के प्रति प्रेम और श्रद्धा एक शब्दहीन अवस्था है। यह ऐसा अनुभव है जो आत्मा के स्तर पर ही किया जाता है। प्रभु के प्रति प्रेम और श्रद्धा, हमारी आत्मा के प्रभु से मिलाप का मार्ग है। जरूरत है इसे विकसित करने की। इसके लिए ...

Read More

झिरकेश्वर महादेव अरावली की गोद में पांडवकालीन तपोभूमि

झिरकेश्वर महादेव अरावली की गोद में पांडवकालीन तपोभूमि

देशपाल सौरोत प्राचीन झीरी वाला शिव मंदिर का अनूठा इतिहास है। हरियाणा-राजस्थान बार्डर पर फिरोजपुर झिरका में प्राकृतिक सौंदर्य से परिपूर्ण अरावली की वादियों की गोद में है यह मंदिर। मान्यता है कि पांडवों ने अज्ञातवास के दौरान इस रमणीक स्थल पर पूजा-अर्चना कर शिवलिंग की स्थापना की थी। तभी से ...

Read More

बांस का आशियाना

बांस का आशियाना

पर्यावरण को लेकर जताई जा रही चिंताओं में कंक्रीट के जंगलों का तेजी से बढ़ना और हरियाली का उजड़ना शामिल है। विशेषज्ञ कहते हैं कि निर्माण कार्य में अगर बांस का इस्तेमाल बढ़ाया जाये तो इसके दोहरे फायदे हैं। बांस तेजी से बढ़ता है और इसे काटने में कोई कानूनी ...

Read More


विज्ञान के झरोखे से

Posted On January - 30 - 2011 Comments Off on विज्ञान के झरोखे से
बच्चो, विज्ञान से संबंधित कुछ रोचक प्रश्नोत्तर नीचे दिए जा रहे हैं जो तुम्हारे ज्ञान में वृद्धि करने में सहायक सिद्ध होंगे। मीठी नींद तनाव और अवसाद को दूर क्यों कर देती है? —मीठी नींद शरीर को मानसिक तौर पर तो स्वस्थ रखती ही है, शारीरिक थकान से भी छुटकारा दिलाती है। एक शोध में कहा गया है कि यह याद्दाश्त को बेहतर बनाने में मददगार है तथा भूख को प्रभावित व नियंत्रित करने वाले हारमोन्स 

लुहार की देशभक्ति

Posted On January - 30 - 2011 Comments Off on लुहार की देशभक्ति
बाल कहानी दीपांशु जैन अम्बरपुर के महाराज शेरसिंह बड़े प्रतापी राजा थे। उन्होंने अपनी सभा में एक-से-एक गुणी व्यक्ति रख छोड़े थे। कोई घोड़ों का पारखी था, कोई हाथियों का। उनमें पहलवान भी थे और बहादुर भी और वे भी ऐसे कि शेरों से खाली हाथों लड़ जायें। राजा शिकार के भी बहुत शौकीन थे, इसलिए अच्छी तलवारें और अन्य शस्त्र भी रखते थे। सुंदर तलवारों का उनके पास अच्छा संग्रह हो गया था। तलवारें 

गहरे पानी पैठ

Posted On January - 30 - 2011 Comments Off on गहरे पानी पैठ
डा. ज्ञानचंद्र शर्मा नीलामी का माल दुनिया भर के क्रिकेट खिलाड़ी नीलामघर में हाजिर हुए। उनकी बोली जो लगने वाली थी। मन में शायद ‘मजरूह’ सुल्तानपुरी के शे’र :— ‘हम हैं मता’ए कूचाओ बाजार की तरह उठती है हर नज़र खरीददार की तरह। जैसे भाव होंगे। या उस शर्मीली लड़की के से जिसे लड़के वाले देखने के लिए आने वाले हों। पशु मेले में तो जाने का शायद  आपको कभी अवसर न मिला हो जहां गाय, 

वास्तु समाधान

Posted On January - 30 - 2011 Comments Off on वास्तु समाधान
पी. खुराना मेरी जन्म तिथि 22.6.1967 है। मैंने साझेदारी में प्रापर्टी का व्यवसाय शुरू किया था परन्तु मुझे कुछ खास फायदा नहीं हुआ। मैं जानना चाहता हूं कि क्या मुझे यही व्यवसाय करना चाहिए या कुछ और करूं। -अ ब स —आप पर आसपास के माहौल का जल्दी असर हो जाता है। आप काम से पहले सोचते नहीं हैं। काम करने की जल्दबाजी रहती है। इसलिए आपको सुझाव है कि आप कोई भी काम करें, काम करने से पहले अच्छी तरह 

तपती सांझ

Posted On January - 30 - 2011 Comments Off on तपती सांझ
कहानी ओमीश परुथी पिछली गली में नीम के बड़े पेड़ के नीचे दोपहर बाद ताश के शौकीन आ बैठते हैं। शाम गहराने तक वे दीन-दुनिया से बेखबर वहीं डटे रहते हैं। कभी जी न भरे तो अंधेरा पडऩे पर भी नहीं उठते, बस दरी को लैम्प पोस्ट के पास खिसका लेते हैं। बरसों से यहां पर जीवन की जिम्मेदारियों से मुक्त हो चुके अथवा जिन्होंने जीवन की कोई जिम्मेदारी कभी समझी ही नहीं, ऐसे प्राणी कागजी पत्तों की धार से 

खाली थाली

Posted On January - 30 - 2011 Comments Off on खाली थाली
तेनाली राम के किस्से राजा कृष्णदेव के यहां उत्सव मनाया जा रहा था। दरबारियों ने उत्सव के अवसर पर खास उपहार की मांग की। राजा ने कहा कि सभी सभासदों को पुरस्कार अवश्य दिया जाएगा। अगली सुबह सभी दरबारी राजमहल पहुंचे तो उन्होंने सभाकक्ष में एक बड़े से पलंग पर कीमती उपहार देखे। महाराज सभा में आए और सभी दरबारियों को एक-एक पुरस्कार अपनी इच्छा से लेने को कहा। सभी दरबारी पलंग से कीमती-कीमती तोहफे 

जीव-जन्तुओं की अनोखी दुनिया

Posted On January - 23 - 2011 Comments Off on जीव-जन्तुओं की अनोखी दुनिया
14 घंटे सोती है बॉक्स जैलीफिश -योगेश कुमार गोयल प्राय: यही माना जाता रहा है कि समुद्री जीव बहुत कम समय तक सोते हैं और जैलीफिश के बारे में तो यही धारणा रही है कि यह तो दूसरे समुद्री जीवों से भी बहुत कम सोती है बल्कि कुछ समुद्री जीव विशेषज्ञ तो यह भी मानते रहे हैं कि जैलीफिश सोती ही नहीं किन्तु शोधकर्ता कुछ वर्ष पूर्व एक ऐसी विशेष प्रकार की जैलीफिश का पता लगाने में सफल रहे, जो सिर्फ 2-4 

क्वेश्चन क्लब/नयनतारा दीदी के जवाब

Posted On January - 23 - 2011 Comments Off on क्वेश्चन क्लब/नयनतारा दीदी के जवाब
शहद का सबसे पहले इस्तेमाल कब हुआ? ”दीदी, क्या शहद को गर्म पानी में मिलाकर पीने से वजन कम हो जाता है?’ ”दादी मां का नुस्खा तो यही है लेकिन विज्ञान इस बारे में कुछ खास नहीं बताता। अलबत्ता इस बारे में कोई दो राय नहीं हैं कि शहद बहुत फायदेमंद है।’ ”वैसे सबसे पहले शहद किसने इस्तेमाल किया होगा?’ ”मधुमक्खियों ने।’ ”नहीं, मेरा मतलब इंसानों में।’ ”शहद प्रकृति का अद्भुत 

उर्दू का दर्द

Posted On January - 23 - 2011 Comments Off on उर्दू का दर्द
गहरे पानी पैठ डा. ज्ञानचंद्र शर्मा भारत सरकार  के दिल में एक बार फिर से उर्दू का दर्द उठा है। मानव संसाधन मंत्रालय के अल्पसंख्यक एजेंडा के अनुरूप उर्दू भाषा-भाषियों के लिए नौकरियों के ज्यादा अवसर जुटाने और इस भाषा के साथ जुड़े हुए कला एवं शिल्प के संरक्षण के अतिरिक्त इसे स्कूली पढ़ाई के त्रिभाषा सूत्र के अंतर्गत लाए जाने की संभावनाओं को तलाशने के लिए विशेषज्ञों की एक समिति का 

पुछल्ला

Posted On January - 23 - 2011 Comments Off on पुछल्ला
....

रमन

Posted On January - 23 - 2011 Comments Off on रमन
 

अपराध बोध

Posted On January - 23 - 2011 Comments Off on अपराध बोध
कहानी सुरेखा शर्मा दोपहर का सारा काम निपटाने के पश्चात थोड़ा सुस्ताने को अभी लेटी ही थी कि फोन की घंटी बज उठी। फोन उठाकर अभी पूछती कि दूसरी ओर से बिना एक पल गवाएं पूछा गया, ‘क्या आप श्रीमती चंद्रन जी बोल रही हैं?’ बोलने वाले की आवाज में कंपन था। घबराते हुए कहा, हां—हां, मैं ही बोल रही हूं।  क्या बात है, आप कौन बोल रहे हैं?’ ‘आप जल्दी से पारस अस्पताल आ जाइए। आपके पति की कार दुर्घटनाग्रस्त 

गज़लें

Posted On January - 23 - 2011 Comments Off on गज़लें
....

समाज सेवी महात्मा

Posted On January - 23 - 2011 Comments Off on समाज सेवी महात्मा
बाल कहानी शुभम श्रीवास्तव पूरे शहर में महात्मा जी की चर्चा थी। दूर-दूर से लोग उनके दर्शन करने  आ रहे थे। शहर के कोतवाल ने भी सोचा कि चलकर इस चर्चित महात्मा के दर्शन किए जाएं। कोतवाल घोड़े पर सवार होकर, सज-धज कर अपने रौब में नगर की ओर बढ़ा। शहर कोतवाल  होने के नाते उसका स्वभाव शंकाशील बन गया था, साथ ही उसे अपने पद का घमंड भी था। उसकी आदत बन गयी थी कि छोटी-छोटी सी बात पर वह रौब दिखाता, लोगों 

विज्ञान के झरोखे से

Posted On January - 23 - 2011 Comments Off on विज्ञान के झरोखे से
बच्चो, विज्ञान से संबंधित कुछ रोचक प्रश्नोत्तर नीचे दिए जा रहे हैं जो तुम्हारे ज्ञान में वृद्धि करने में सहायक सिद्ध होंगे। 0 मूंगफली को पौष्टिकता की दृष्टि से उत्तम क्यों माना जाता है? – गरीबों का मेवा अथवा देशी काजू के नाम से पुकारी जाने वाली मूंगफली वास्तव में पौष्टिकता की दृष्टि से एक उत्तम खाद्य पदार्थ है। प्रति सौ ग्राम मूंगफली से साढ़े पांच सौ कैलोरी ऊर्जा प्राप्त होती 

तेनाली राम के किस्से

Posted On January - 23 - 2011 Comments Off on तेनाली राम के किस्से
उपहार में चूहे तेनाली राम के घर में चूहों की भारी-भरकम फौज जमा हो गयी। तेनाली की पत्नी इससे बड़ी परेशान थी। घर में चूहों के कारण खाने-पीने और ओढऩे-पहनने के सभी सामान खराब होने लगे। चूहों के काटने का नुकसान सहने के कारण तेनाली को बड़ा क्रोध आया। उसने चूहों को खत्म करने की सोची मगर बड़े उपाय करने पर भी चूहे काबू नहीं आए। किसी ने तेनाली को कहा कि बिल्ली चूहों की सबसे बड़ी शत्रु होती है। तेनाली 
Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.