पायलट को हटाए जाने के बाद प्रियंका ने की सोनिया से मुलाकात !    सुप्रीमकोर्ट का उम्रकैद की सजा भुगत रहे बाबा रामपाल को पैरोल से इनकार !    खराब मौसम के कारण यूएई का पहला मंगल अभियान शुक्रवार तक स्थगित !    राष्ट्रीय शिक्षक पुरस्कार के लिये खुद को करें नामांकित : निशंक !    सत्य को परेशान किया जा सकता है पराजित नहीं : पायलट !    विधायक की मौत को लेकर उत्तरी बंगाल में भाजपा का बंद !    राजस्थान : सचिन पायलट से छीना उप-मुख्यमंत्री पद, 2 मंत्रियों की भी छुट्टी! !    एक अगस्त तक खाली कर दूंगी सरकारी आवास : प्रियंका !    विकास दुबे का सहयोगी शशिकांत गिरफ्तार, पुलिस से लूटी एके-47, इंसास राइफल बरामद !    भारत और चीन की कोर कमांडर-स्तरीय वार्ता का चौथा दौर शुरू !    

लहरें › ›

खास खबर
प्रकृति साधना का मौसम

प्रकृति साधना का मौसम

केवल तिवारी सावन-भादो या जुलाई-अगस्त। मिले-जुले मौसम के दो महीने। गर्मी भी, बारिश भी। तपिश भी, बौछारें भी। हवा चले तो ठंडी-ठंडी, रुक जाये तो पसीने से तर-बतर। यह समय है कुछ सीख देने वाला। कुछ त्यागने और कुछ अपनाने का समय। कुदरत को और करीब से समझने का मौसम। प्रकृति ...

Read More

संगमेश्वर महादेव शिव और शक्ति का अनूठा संगम

संगमेश्वर महादेव शिव और शक्ति का अनूठा संगम

मोहन मैत्रेय पिहोवा (पृथूदक) का संगमेश्वर महादेव अरुणाय एक विशिष्ट धार्मिक-सांस्कृतिक स्थल है। सरस्वती और दृष्दवती (घघ्घर) के मध्य स्थित क्षेत्र ‘ब्रह्मावर्त’ के रूप में विख्यात रहा है, जिसका प्रमुख तीर्थ कुरुक्षेत्र है। महाराजा वेन के पुत्र महाराजा पृथु द्वारा अपने पिता की अन्त्येष्टि जिस स्थल पर संपन्न की गयी, वह ...

Read More

खुशहाल गृहस्थी के लिए मंगला गौरी व्रत

खुशहाल गृहस्थी के लिए मंगला गौरी व्रत

मदन गुप्ता सपाटू सावन में शिव परिवार की पूजा का विशेष महत्व है। जिस प्रकार प्रत्येक सोमवार को भगवान शिव की विशेष पूजा होती है, वैसे ही प्रत्येक मंगलवार को मंगला गौरी व्रत होता है और मां गौरी की पूजा-अर्चना की जाती है। इस दिन महिलाएं अखंड सौभाग्य के आशीर्वाद के ...

Read More

पेंगोंग सरहद पर जादुई झील

पेंगोंग सरहद पर जादुई झील

लेह से करीब 225 किलोमीटर दूर समुद्र तल से 14272 फुट की ऊंचाई पर स्थित करिश्माई झील पेंगोंग त्सो की छटा देखते ही बनती है। इसकी खूबसूरती ने सदियों से जहां देश-विदेश के वैज्ञानिकों को अपनी ओर आकर्षित किया, वहीं फिल्मों में यहां की लोकेशन आते ही सैलानियों की आवाजाही ...

Read More

प्रभु से मिलाप का मार्ग प्रेम और श्रद्धा

प्रभु से मिलाप का मार्ग प्रेम और श्रद्धा

संत राजिन्दर सिंह जी महाराज प्रभु के प्रति प्रेम और श्रद्धा एक शब्दहीन अवस्था है। यह ऐसा अनुभव है जो आत्मा के स्तर पर ही किया जाता है। प्रभु के प्रति प्रेम और श्रद्धा, हमारी आत्मा के प्रभु से मिलाप का मार्ग है। जरूरत है इसे विकसित करने की। इसके लिए ...

Read More

झिरकेश्वर महादेव अरावली की गोद में पांडवकालीन तपोभूमि

झिरकेश्वर महादेव अरावली की गोद में पांडवकालीन तपोभूमि

देशपाल सौरोत प्राचीन झीरी वाला शिव मंदिर का अनूठा इतिहास है। हरियाणा-राजस्थान बार्डर पर फिरोजपुर झिरका में प्राकृतिक सौंदर्य से परिपूर्ण अरावली की वादियों की गोद में है यह मंदिर। मान्यता है कि पांडवों ने अज्ञातवास के दौरान इस रमणीक स्थल पर पूजा-अर्चना कर शिवलिंग की स्थापना की थी। तभी से ...

Read More

बांस का आशियाना

बांस का आशियाना

पर्यावरण को लेकर जताई जा रही चिंताओं में कंक्रीट के जंगलों का तेजी से बढ़ना और हरियाली का उजड़ना शामिल है। विशेषज्ञ कहते हैं कि निर्माण कार्य में अगर बांस का इस्तेमाल बढ़ाया जाये तो इसके दोहरे फायदे हैं। बांस तेजी से बढ़ता है और इसे काटने में कोई कानूनी ...

Read More


पर्स की वापसी

Posted On February - 27 - 2011 Comments Off on पर्स की वापसी
ओमप्रकाश गुप्ता विद्यालय का वार्षिकोत्सव बड़ी धूमधाम से मनाया जा रहा था। सभी विद्यार्थी और अध्यापक उत्साह का परिचय दे रहे थे। प्रत्येक के मन में एक ही भावना थी। सबको एक ही लगन थी। इस वर्ष का समारोह पहले वर्षों से अधिक प्रभावी होना चाहिए। हुआ भी यही। दोपहर में हुई खेलकूद प्रतियोगिता में प्रत्येक स्तर पर नए कीर्तिमान स्थापित हुए। भाग लेने वाले विद्यार्थियों की संख्या भी पहले 

जीव-जन्तुओं की अनोखी दुनिया

Posted On February - 27 - 2011 Comments Off on जीव-जन्तुओं की अनोखी दुनिया
कैसे-कैसे पक्षी और कैसे-कैसे घोंसले! ‘बतासी’ नामक चिडिय़ा अपना घोंसला बनाने के लिए अपनी लार का इस्तेमाल करती है। घोंसला बनाने में यह अपनी लार के साथ तिनकों, पंखों तथा काई का उपयोग भी करती है और इसे घोंसला बनाने में 35-40 दिन तक का समय लगता है। ‘सनबर्ड’ नामक चिडिय़ा ऐसा घोंसला बनाती है, जिसमें  छेदनुमा एक छोटा सा दरवाजा भी होता है। यह चिडिय़ा अपना घोंसला प्राय: अप्रैल से अक्तूबर माह के 

तेनाली राम के किस्से

Posted On February - 27 - 2011 Comments Off on तेनाली राम के किस्से
हरा हंस कृष्णदेव को अलग-अलग रूप- रंगों के पक्षी अपने राजकीय बाग में रखने का शौक था। इसी बात का फायदा कई बार चतुर लोग उठाया करते थे। वे छोटी-मोटी दुर्लभ पक्षियों की प्रजातियां राजा को भेंट करते और भारी- भरकम राशि इनाम में ले लेते। एक बार एक आदमी दरबार में हरे रंग के हंस के साथ पेश हुआ। उसने राजा को कहा- ‘महाराज आप जानते हैं हंस  हमेशा सफेद रंग के होते हैं। मगर मेरे  सेवकों ने बड़ी दूर जंगलों 

गांवों में हत्यारे परिजनों के बीच अकेली हैं बेटियां!

Posted On February - 27 - 2011 Comments Off on गांवों में हत्यारे परिजनों के बीच अकेली हैं बेटियां!
कृष्ण प्रताप सिंह हमारे संस्कृतिबहुल देश में महानगरीय जीवन की विडम्बनाएं भी ग्रामीण जीवन की विडम्बनाओं से अलग हैं। शायद दोनों की धड़कनों, चेतनाओं व सोच के अलग-अलग दायरों व संस्कारों के कारण। और शायद इसीलिए हमारे महानगर लोहे के चने की तरह तो गांव अंदर से घुने हुए की तरह रिएक्ट करते हैं। महानगरों के भागमभाग वाले माहौल में भूमण्डलीकरण के साथ आई बाजारू संास्कृतिक चेतना आजकल कुछ 

देखो मैंने देखा इक सपना

Posted On February - 27 - 2011 Comments Off on देखो मैंने देखा इक सपना
रेखा गणेश आचार्य की फिल्म ‘एंजल’ के साथ एक और नए चेहरे ने हिंदी फिल्मों में दस्तक दी है। ये हैं मदालसा शर्मा, जो साउथ की कुछ फिल्मों में छोटे-मोटे रोल कर चुकी हैं। ‘एंजल’ में उन्होंने सोनल नाम की एक ऐसी लड़की का रोल किया है, जो पैरेलिसिस से पीडि़त है। अपने किरदार की चर्चा करते हुए मदालसा कहती हैं, ‘सोनल न ठीक से बोल पाती है और न हाथ-पांव हिला पाती है। लेकिन उसके अपने सपने हैं, 

उहा रोटी, उहा दाल

Posted On February - 27 - 2011 Comments Off on उहा रोटी, उहा दाल
टोपी दे रंग गोविन्द राकेश हाली हिक महीना मसें ही थ्या होसे जै वेले हर आदमी दे सिर ते कुई न कुई टोपी होंदी हई। ऐ टोपी या मफलर या सिर कूं ठड तों लुकावण दा हिक जरिया हई। हुण टोपी तुआडे रुत्बे दी हिक निशानी हे। टोपी पावण दा रिवाज किथों शुरू थ्या, मेकूं पता कैनी, पर इतना पता जरूर हे कि ऐ पटके (पगड़ी) दी छोटी धी हे, पटके दी हमशक्ल अते हंूदा छोटा रूप हे। बहरहाल इंसान अते इंसानियत नाल टोपी दा 

वास्तु समाधान

Posted On February - 27 - 2011 Comments Off on वास्तु समाधान
पी. खुराना मेरी जन्म तिथि 11-8-1977 है। मैं घर खरीदना चाहता हूं, परंतु सफलता नहीं मिल रही। कृपया बताएं कि कब तक योग बनता है। -शर्मा, पेहवा शर्मा जी, आपके भाग्य में जमीन-जायदाद खरीदने का योग सितंबर, 2011 के पश्चात ही बनता है।  इस समय के दौरान आप निम्र उपाय करें: प्रत्येक शनिवार पीपल पर कच्चा दूध पूर्व की ओर मुख कर  चढ़ाएं।  जब भी प्लाट या मकान खरीदें तो ध्यान रहे पश्चिमुखी हो तो ज्यादा 

हम तो अनुचर ठहरे

Posted On February - 27 - 2011 Comments Off on हम तो अनुचर ठहरे
गहरे पानी पैठ पिछले दिनों ‘वैलेंटाइन डे’ का बड़ा शोर था। अखबार में, बाजार में इसके चर्चे थे। ये न उठाएं तो बेचारा वैलेंटाइन फिर से बेमौत मारा जाए। ये ही उसे जीवित रखे हुए हैं। लगभग हर सामचार पत्र ने इस पर विशेष लेख प्रकाशित किए। विज्ञापन इतने कि पाठ्य सामग्री खोजे न मिले। भलाई की भलाई, कमाई की कमाई साथ में मलाई। बाजार प्रेमोपहारों से अटा पड़ा था। मोल की चिंता किसे है? एक के चार भी वसूल 

रिश्ता क्या है

Posted On February - 27 - 2011 Comments Off on रिश्ता क्या है
कहानी इंद्रनाथ चावला शीला में न जाने कौनसा ऐसा गुण है जो मैं लगातार इसकी ओर आकर्षित होती चली जा रही हूं। देर से घर लौटती है तो मैं इसकी इंतजार में राह ताकती  खड़ी रहती हूं। कभी ड्राइव-वे में तो कभी गेट की तरफ झांकती हूं। ज़रा सी आहट भी होती है तो खिड़की का परदा हटाकर देखती हूं। लगता है कि वही है। कभी किसी अजनबी लड़के के साथ ज़रा-सी बात करते या दो कदम चलते देख लेती हूं तो कई प्रश्न पूछती 

होश छीनता रोष

Posted On February - 27 - 2011 Comments Off on होश छीनता रोष
लोकमित्र हम इस कदर क्यों उबल रहे हैं? इस तमाम गुस्से का कारण है हमारी लाइफस्टाइल में बढ़ती व्यस्तता, तनाव, निराशा, उम्मीदों से कम होती सफलता की दर और क्षमताओं से कहीं ज्यादा तय किये गये टारगेट। ये सब मिलकर हमें तोड़ रहे हैं। अंडे की रेहड़ी पर आमलेट खा रहा एक युवक अपने मोबाइल के स्पीकर को फुल वॉल्यूम में खोलकर गाना सुन रहा था। पास खड़े कुछ दूसरे युवकों ने उसे आवाज धीमी कर लेने या 

श्रीमुख से

Posted On February - 26 - 2011 Comments Off on श्रीमुख से
कंपनियों के लिए लॉङ्क्षबग करने वाली नीरा राडिया के साथ मेरी बातचीत के टेप लीक होने की जांच मामले में मैं सरकार के रवैये से संतुष्ट नहीं हूं। -टाटा समूह के प्रमुख, रतन टाटा, नयी दिल्ली में। फिल्म ‘तनु वेड्स मनु’ में छोटे शहर की मुंहफट लड़की की भूमिका करने की प्रेरणा मुझे मधुबाला से मिली है। यह चरित्र भी मधुबाला से मिलता-जुलता है। -फिल्म अभिनेत्री, कंगना राणावत, नयी दिल्ली में। मैं एक 

वर्ल्ड-कप आला रे

Posted On February - 20 - 2011 Comments Off on वर्ल्ड-कप आला रे
संजय वर्ल्ड कप का रोमांच फिर हावी होने वाला है। क्रिकेट की हवाएं बहने वाली हैं। वसंत और क्रिकेट की बयार जब साथ-साथ बहेगी तो समा ही निराला होगा। क्रिकेट के दीवाने भारतीय उपमहाद्वीप में सच कहें तो ये क्रिकेटमेनिया का अवसर है यानी सोते-जागते-खाते-पीते, हर समय केवल क्रिकेट। गलियां, चौराहे क्रिकेट की चर्चाओं से सराबोर होंगे। जब वर्ल्ड कप फुटबाल होता है तो लातीन अमेरिकी देश अपनी चाल 

तैयार हैं धोनी के धुरंधर

Posted On February - 20 - 2011 Comments Off on तैयार हैं धोनी के धुरंधर
वर्ल्ड कप के लिए महेंद्र सिंह धोनी की सेना के उन 15 जांबाजों के नाम घोषित हो चुके हैं, कहना चाहिए कि ये एक ऐसी टीम है, जिसके जरिेए हम भारतवासी वर्ल्ड कप फिर जीतने का सपना देख सकते हैं। टीम में सात बल्लेबाज, सात गेंदबाज और एक आलराउंडर शामिल हैं। बल्लेबाजी में सारे नाम अपेक्षित हैं, अलबत्ता बहस का विषय ये जरूर हो सकता है कि पार्थिव पटेल और रोहित शर्मा को टीम में होना चाहिये या नहीं, उसी तरह 

वास्तु समाधान

Posted On February - 20 - 2011 Comments Off on वास्तु समाधान
पी. खुराना मेरी  जन्म तिथि 18-9-1978 है, मेरी न तो शादी का योग बन रहा है और न ही नौकरी का योग बन रहा है। —रानी, कुरुक्षेत्र —रानी जी, आप  21 शुक्रवार कच्चा दूध शिवलिंग पर चढ़ाएं, 21वें शुक्रवार को निम्र मंत्र का जाप करें : हे गौरि शंकराद्र्धांगिनी यथा त्वम् शंकरप्रिया तथा मां कुरु कल्याणि, कान्ता कान्त सुदर्लधाम्!! जब भी शादी के लिए कोई बात करें तो रविवार या सोमवार को ही करें। नौकरी 

…तो होगा नीरस मैच पुराण

Posted On February - 20 - 2011 Comments Off on …तो होगा नीरस मैच पुराण
राज ऋषि विश्व कप क्रिकेट की रणभेरी बज उठी है और चौदह देश अपने-अपने उम्दा लड़ाकों को लेकर युद्धभूमि में उतरना शुरू हो चुके हैं। अपने-अपने देश में किसी तपस्वी की तरह सर्द एवं गर्म हवाओं को झेलकर तपकर कुन्दन बने ये योद्धा अपनी ‘महक’ फैलाकर क्रिकेट प्रेमियों को ‘शैदायी’ करने के लिए तैयार बैठे हैं—शायद इनके सामने इस बार ऋतुराज वसंत की सुगन्ध भी मंद पड़ जाएगी। अवश्य ही इन रणबांकुरों 

रोचक कीर्तिमानों के आईने में विश्वकप

Posted On February - 20 - 2011 Comments Off on रोचक कीर्तिमानों के आईने में विश्वकप
धर्मवीर दुग्गल विश्वकप क्रिकेट के 9 संस्करणों में बने रोचक कीर्तिमानों व रोचक जानकारियों की यादों को एक बार फिर से ता$जा कर रहे हैं :- पहला विश्वकप क्रिकेट मैच 7 जून, 1975 को भारत व इंगलैंड के बीच लंदन के मशहूर लाड्ïर्स के मैदान पर खेला गया। पहला ओवर भारत के मध्यम तेज गति के गेंदबाज मदनलाल ने फेंका। सबसे पहली गेंद का सामना किया इंगलैंड के सलामी बल्लेबाज जेए जेमसन ने। पहला विकेट लेने 
Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.