इतिहास में पहली बार जम्मू में हुई अमरनाथ यात्रा की प्रथम पूजा !    आदेश कुमार गुप्ता ने संभाला दिल्ली भाजपा प्रदेश अध्यक्ष का पदभार !    सिर्फ बातों से देश आत्मनिर्भर नहीं बनता, आगे की आर्थिक नीति बताएं पीएम : कांग्रेस !    हाईकोर्ट ने दिये सैनिक फार्म इलाके में ‘अनधिकृत निर्माण’ की जांच के आदेश !    कांग्रेस ने खड़गे को कर्नाटक से राज्यसभा उम्मीदवार किया घोषित !    तबादले के बाद धूमधाम से विदाई जलूस निकालने वाला दरोगा निलंबित, जांच के आदेश !    महंगी गाड़ी का लालच, 18 वर्षीय बेटे की शादी 25 साल की तलाकशुदा से कराने को तैयार हुआ पिता! !    पोस्ट शेयर करके बुरी फंसी अभिनेत्री सारा अली !    क्या कोविड-19 मरीजों से ‘आयुष्मान भारत’ की दर से पैसा लेंगे निजी अस्पताल : सुप्रीमकोर्ट !    अमेरिका में जन्मे अपने बच्चों के लिए वीजा मांग कर रहे एच-1बी धारक भारतीय! !    

लहरें › ›

खास खबर
परवरिश के अंधेरे

परवरिश के अंधेरे

संजय वर्मा तकनीक किस तरह समाजों को रच रही है और उसमें नए अंधेरे-उजाले भर रही है- कोरोना संक्रमण से पैदा हुए संकट ने इसे नए सिरे से पारिभाषित किया है। एक कामकाजी समाज के तौर पर देखें तो हमें यह स्वीकार करना होगा कि अगर इंटरनेट जैसा आविष्कार नहीं हुआ ...

Read More

व्रत-पर्व

व्रत-पर्व

18 मई : अपरा एकादशी व्रत, मेला भद्रकाली एकादशी (कपूरथला) पंजाब, जलक्रीड़ा एकादशी (उड़ीसा) 19 मई : बड़का मंगल व्रत, हनुमान पूजा (लखनऊ) 20 मई : प्रदोष व्रत, मास शिवरात्रि व्रत 21 मई : सावित्री चतुर्दशी, फलहारिणी कालिका पूजा (बंगाल), शबेकदर 22 मई : ज्येष्ठ अमावस, भावुका अमावस, शनैश्चर जयंती, वट सावित्री व्रत (अमावस ...

Read More

यहां वरदायक बन जाते हैं दंडनायक शनि

यहां वरदायक बन जाते हैं दंडनायक शनि

देशपाल सौरोत हरियाणा-उत्तर प्रदेश सीमा पर दिल्ली से लगभग 115 किमी की दूरी पर शनिदेव का एक विशेष धाम है। पलवल से करीब 55 किलोमीटर दूर उत्तर प्रदेश के कोसीकलां-नंदगांव के बीच स्थित कोकिलावन के बारे में मान्यता है कि यहां दर्शन व परिक्रमा करने से मनोकामनाएं पूरी हो जाती हैं। ...

Read More

कोरोना से जंग में अलर्ट करेगा आरोग्य सेतु

कोरोना से जंग में अलर्ट करेगा आरोग्य सेतु

योगेश कुमार गोयल कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए 2 अप्रैल को भारत में नीति आयोग द्वारा ‘आरोग्य सेतु एप’ लांच किया गया है, जो यूज़र्स को यह बताने में मदद करता है कि उसके आसपास कोई कोरोना संक्रमित व्यक्ति तो नहीं है। ‘नेशनल इन्फॉरमेटिक्स सेंटर’ द्वारा विकसित यह एप 11 ...

Read More

दूरसंचार टैरिफ कार्ड पर हो स्पष्टता

दूरसंचार टैरिफ कार्ड पर हो स्पष्टता

पुष्पा गिरिमाजी भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (ट्राई) ने ‘टैरिफ ऑफर प्रकाशन में पारदर्शिता’ सबंधी एक परामर्श जारी किया है जिसमें उन्होंने सही टैरिफ प्लान चुनने और विभिन्न समाधानों की पेशकश के संबंध में उपभोक्ताओं द्वारा पेश की जा रही समस्याओं को स्वीकार किया है। कुछ समाधानों, जिनमें वेबसाइटों, मोबाइल एप आदि ...

Read More

ओ मां

ओ मां

आज मदर्स डे ललित गर्ग ‘मां!’ इस लघु शब्द में प्रेम की विराटता, समग्रता निहित है। मां धरती पर जीवन के विकास का आधार है। मां ने ही अपने हाथों से इस दुनिया का ताना-बाना बुना है। सभ्यता के विकास क्रम में आदिमकाल से लेकर आधुनिककाल तक इंसानों के आकार-प्रकार, रहन-सहन, सोच-विचार, ...

Read More

सदा संतान पर ही ध्यान

सदा संतान पर ही ध्यान

ओशो बच्चा मां के पास जो बढ़ता है गति से, उसका कारण है मां का ध्यान। वह चाहे दूर हो, चाहे वह दूसरे कमरे में हो, लेकिन ध्यान उसका बच्चे की तरफ लगा है। वह चाहे सैकड़ों मील दूर चली गई हो, वह हजार काम में उलझी हो, लेकिन भीतर उसके ...

Read More


  • परवरिश के अंधेरे
     Posted On May - 31 - 2020
    तकनीक किस तरह समाजों को रच रही है और उसमें नए अंधेरे-उजाले भर रही है- कोरोना संक्रमण से पैदा हुए....
  • बनी रहे यह मोहक तस्वीर
     Posted On May - 24 - 2020
    लॉकडाउन के दौरान सोशल मीडिया पर एक वीडियो खूब वायरल हुआ। जिसमें दो नदियों के संगम को साफ़ देखा जा....
  • ऐसी प्रीति करहु मन मेरे…
     Posted On May - 24 - 2020
    विश्व के आध्यात्मिक इतिहास में 1500 से 1700 ईस्वी को स्वर्णिम युग कहा जा सकता है। इस काल में दस....
  • कम न हों ईद की खुशियां
     Posted On May - 24 - 2020
    इस वर्ष की ईद-उल-फितर बाकी वर्षों से अलग है। इस ईद की नमाज ईदगाह और मस्जिद के बजाय लोग घरों....

खेल-खेल में विज्ञान की बड़ी बातें

Posted On May - 15 - 2011 Comments Off on खेल-खेल में विज्ञान की बड़ी बातें
अरुण नैथानी यह इस देश की सबसे बड़ी विडंबना रही है कि देश में विज्ञान से जुड़ी तमाम बातें अंग्रेजी में होती है और सबसे बड़ी समस्या यह है कि विज्ञान को इतना जटिल-बोझिल बना दिया गया है कि आम विद्यार्थी विज्ञान से कतराते हैं। उनके विज्ञान पाठ्यक्रम उन्हें एक कक्षा से दूसरी कक्षा तक पहुंचने के लिए एक बोझ सरीखा लगता है। बहुआयामी व्यक्तित्व के धनी और विज्ञान से जुड़े विषयों पर सरल ढंग 

पक्षियों का प्रेम ही बना उसकी मृत्यु का कारण

Posted On May - 15 - 2011 Comments Off on पक्षियों का प्रेम ही बना उसकी मृत्यु का कारण
अमन कहते हैं रचनात्मकता की भावना विकसित करने के लिए मन में पवित्र विचारों का होना अत्यंत आवश्यक है। जब मन में पवित्र विचार आएंगे तो किसी भी प्रकार का सृजन कार्य उत्तम ही होगा। कलाकार उत्तम कलाकृति का निर्माण करेगा। कवि उत्तम रचना का सृजन करेगा। इस समय ऐसी रचनाकार की बात हो रही है जिसने बचपन से ही सदा लोकहित के बारे में सोचा। कोमल भावनाओं के कारण उसका मन रूपी समुद्र प्रकृति के 

विद्वान नौकर

Posted On May - 15 - 2011 Comments Off on विद्वान नौकर
सरोज गुप्ता किसी देश में एक बादशाह राज करता था। उस देश में इस्लामी राज था। एक बार एक काजी बादशाह के पास आया और निवेदन किया कि बादशाह उसे अपने दरबार में काजी नियुक्त कर लें। बादशाह ने उसकी बात सुनकर कहा, ‘इसके लिए पहले तुम्हें परीक्षा देनी होगी। उत्तीर्ण होने पर ही तुम्हें काजी का पद मिल पाएगा।’ ‘जी मुझे मंजूर है।’ काजी ने आत्मविश्वासपूर्ण स्वर में कहा। बादशाह ने कहा, ‘ठीक 

जीव-जंतुओं की अनोखी दुनिया

Posted On May - 15 - 2011 Comments Off on जीव-जंतुओं की अनोखी दुनिया
कुछ खतरनाक जीव-जंतु ‘लैम्प्रे’ नामक एक जलचर प्राणी अपना पेट भरने के लिए अपने बिना जबड़े वाले चुसनी जैसे मुंह की मदद से किसी भी मछली के शरीर से जा चिपकता है और फिर अपनी बहुत खुरदरी जीभ से मछली के शरीर में ही छेद कर डालता है। उसके बाद उस घाव से निकलने वाले खून को मजे से पीता है। यह ‘ईल’ मछली से मिलता-जुलता, शल्क रहित और चिपचिपा जलचर प्राणी है लेकिन इसे मछलियों की श्रेणी में नहीं 

प्रकृति की मूर्तियां

Posted On May - 15 - 2011 Comments Off on प्रकृति की मूर्तियां
तेनाली राम के किस्से वर्षा ऋतु आरंभ हो चुकी थी। महाराज कृष्ण देव ने घोषणा करवा दी कि इस बार वर्षा ऋतु उत्सव में कलाकारों में से सर्वश्रेष्ठï कलाकार को पुरस्कार दिया जाएगा। तेनाली ने कहा- ‘महाराज! अच्छा होगा अगर सर्वश्रेष्ठï सच्चे कलाकार को पारितोषिक दिया जाए।’ महाराज ने आश्चर्य से पूछा-‘सच्चा कलाकार कैसा होता है तेनाली’। ‘महाराज, जो कलाकार कला का प्रेमी हो, धन का नहीं।’ 

नाक

Posted On May - 15 - 2011 Comments Off on नाक
नज्म सुभाष उब चुकी थी वह इस शब्द से, अब तो उसे शादी शब्द ही गाली लगता था। दिन-रात अम्मा और बाबू को अपने लिए चिंतित और खटते देखकर उसके हृदय में टीस सी उठती। आखिर जब होना होगा हो जायेगी, और नहीं भी होगी तो कौन सा पहाड़ टूट पड़ेगा। क्या लड़कियां अविवाहित नहीं रह सकतीं। मगर नहीं… ये समाज… रहने कब देगा। यह तो लड़की वालों को दोनों तरफ से घेरता है। रिश्ता लेकर किसी के यहां जाओ तो दहेज की 

भाषाओं का घटता महत्व

Posted On May - 15 - 2011 Comments Off on भाषाओं का घटता महत्व
गहरे पानी पैठ रहीम का एक दोहा है— अति परिचय ते होत है परम अनादर भाये। मलयगिरी की भीलनी चन्दन देत जलाये॥ जो चीज़ सहज उपलब्ध हो हम उसकी $कद्र नहीं जानते। न होने पर उसके लिए चिल्लाते हैं। भाषा मानव को प्रकृति का अन्यतम वरदान है, जो उसके जन्म के साथ ही पनपती रहती है। इसकी जानकारी तो मनुष्य को परस्पर संपर्क से स्वत: प्राप्त हो जाती है परन्तु इसका विधिवत् ज्ञान सतत साधना और निरन्तर 

वास्तु समाधान

Posted On May - 15 - 2011 Comments Off on वास्तु समाधान
मेरी जन्मतिथि 15.8.1968 है। मैं बहुत मेहनत करता हूं पूरी ईमानदारी से, फिर भी घर में बरकत नहीं है। कर्जा भी चढ़ा हुआ है। कृपया बताएं कि मैं क्या करूं? -अशोक, अ ब स अशोक जी, आप चिन्ता न करें, आपका शुभ समय जुलाई, 2011 के बाद शुरू होने वाला है। आप निम्र बात पर ध्यान दें, परेशानियां धीरे-धीरे नियंत्रित हो जाएंगी। आप जिस स्थान पर अपना पैसा रखते हैं वहां पर लक्ष्मी, गणेश जी की मूर्ति रखें तथा वह इस प्रकार 

सामाजिक मान्यता के लिए जूझती अकेली मांएं

Posted On May - 8 - 2011 Comments Off on सामाजिक मान्यता के लिए जूझती अकेली मांएं
मीरा राय रिपब्लिकन माइक हक्काबी जो कि व्हाइट हाउस की दौड़ में हैं, कुछ दिनों पहले ऑस्कर पुरस्कार विजेता नताली पोर्टमैन को बिन ब्याही मां बनने को प्रतिष्ठित करने पर आड़े हाथों लिया। उन्होंने अवैध गर्भ और बिन ब्याहे मातृत्व की आलोचना करते हुए अपशब्दों की बौछार कर दी। इससे अमेरिका में सिंगल मदरहुड पर बहस छिड़ गयी है। लेकिन क्या भारत में भी यह कोई मुद्दा है? सुजाता शंकर एक बहुराष्ट्रीय 

शौर्य की होशियारी

Posted On May - 8 - 2011 Comments Off on शौर्य की होशियारी
बाल कहानी योगेश ‘नवीन’ अखबार में पुलिस विभाग की ओर से दो व्यक्तियों के स्कैच छपवाए गये थे और लोगों से अपील की गई थी वे धन दुगना करने या सस्ते भावों से स्वर्ण-आभूषण खरीदने के लालच में नहीं आएं और ऐसे संदिग्ध व्यक्तियों के बारे में तुरंत पुलिस को सूचित करें। पिछले कई दिनों से अखबार में ठगी की खबरें छप रही थीं। कभी पीतल की ईंट को सोने की बताकर लोगों को लूट लिया जाता तो कभी महिलाओं 

यह चोपड़ा का दिल्ली प्रेम

Posted On May - 8 - 2011 Comments Off on यह चोपड़ा का दिल्ली प्रेम
प्रदीप सरदाना यश चोपड़ा को अपनी फिल्मों की शूटिंग के लिए अपने देश में यदि सबसे ज्यादा कोई जगह पसंद है तो वह दिल्ली है। वह फिल्म के निर्माता हों या निर्देशक अपनी फिल्म को दिल्ली की वादियों के साथ जोडऩा उन्हें बहुत अच्छा लगता है। अपनी फिल्मों में दिल्ली प्रेम की उनकी बानगी की मिसाल उनकी सन् 1976 में आई फिल्म ‘कभी कभी’ से लेकर उनकी पिछली फिल्म ‘बैंड बाजा बारात’ तक अनेक बार देखने 

उहा रोटी, उहा दाल

Posted On May - 8 - 2011 Comments Off on उहा रोटी, उहा दाल
....

वास्तु समाधान

Posted On May - 8 - 2011 Comments Off on वास्तु समाधान
पी. खुराना मेरी जन्मतिथि 23-2-1958 है। मैं अपने मकान को लेकर काफी चिंतित हूं। कृपया बतायें कि वह कब बनेगा। -अ ब स, कालका आपके भाग्य में मकान का योग अवश्य है। आप निरन्तर प्रयास करते रहें, आपको सफलता अवश्य मिलेगी। उपाय हेतु आप निम्र मंत्र का उच्चारण रोजाना 108 मोतियों वाली 10 बार माला का जाप कर करें। यह मंत्र लगातार 41 दिनों तक अवश्य करें। यदि ज्यादा कर सकें तो 90 दिनों तक भी कर सकते हैं। ऊं 

एक देवात्मा का महाप्रयाण

Posted On May - 8 - 2011 Comments Off on एक देवात्मा का महाप्रयाण
गहरे पानी पैठ डा. ज्ञानचंद्र शर्मा कोई बीस दिन बीमार रहने के पश्चात् गत चौबीस अप्रैल को श्री सत्य साईं बाबा का उनके आश्रम पुट्टापर्ति में निधन हो गया। लाखों-करोड़ों भक्तों, श्रद्धालुओं की प्रार्थनाएं और किसी चमत्कार की आशा की सीमा यहीं तक थी। यह प्रकृति का नियम है। इसका पालन तो सभी को करना होता है। भगवान श्री राम ने जल समाधि लेकर प्राण त्यागे तो श्रीकृष्ण आखेटक के तीर से बिंधकर 

विवादों, विरोधों के बीच रोल मॉडल भी

Posted On May - 8 - 2011 Comments Off on विवादों, विरोधों के बीच रोल मॉडल भी
सत्य साईं बाबा लोकमित्र वह कुछ लोगों की नजरों में भगवान थे। कुछ लोग उन्हें महान भारत-निर्माता समझते थे। कुछ लोगों की नजर में वह हाथ की सफाई दिखाते थे । कुछ लोग उनका विरोध करते थे।  मगर इतने विवादों, विरोधाभासों, समर्थकों और विरोधियों के बावजूद वह एक रोल मॉडल भी थे। भूल जाइये कि वह हाथ हिलाकर जो भभूत गिराते थे । भूल जाइये कि वह जिस तरह के चमत्कार दिखाते थे, उससे बेहतर चमत्कार पीसी 

तेनाली राम के किस्से

Posted On May - 8 - 2011 Comments Off on तेनाली राम के किस्से
मिट्टी की मूर्ति एक बार एक पाखंडी साधु ने विजयनगर में अपना ऐसा प्रभाव जमाया कि हर कोई उसका दीवाना हो गया। वह लोगों को खाने में ऐसी नशीली चीज़ देता कि कोई पागल हो जाता तो कोई मर ही जाता। तेनाली को पता चला तो वह भी उस साधु के पास पहुंचा। उसे बातों में लगाकर तेनाली उसे उस पागल के पास ले गया जिसे दवाई खिलाकर साधु ने ही पागल बनाया था। बातों-बातों में तेनाली ने साधु का हाथ पागल के हाथ में पकड़ा