इतिहास में पहली बार जम्मू में हुई अमरनाथ यात्रा की प्रथम पूजा !    आदेश कुमार गुप्ता ने संभाला दिल्ली भाजपा प्रदेश अध्यक्ष का पदभार !    सिर्फ बातों से देश आत्मनिर्भर नहीं बनता, आगे की आर्थिक नीति बताएं पीएम : कांग्रेस !    हाईकोर्ट ने दिये सैनिक फार्म इलाके में ‘अनधिकृत निर्माण’ की जांच के आदेश !    कांग्रेस ने खड़गे को कर्नाटक से राज्यसभा उम्मीदवार किया घोषित !    तबादले के बाद धूमधाम से विदाई जलूस निकालने वाला दरोगा निलंबित, जांच के आदेश !    महंगी गाड़ी का लालच, 18 वर्षीय बेटे की शादी 25 साल की तलाकशुदा से कराने को तैयार हुआ पिता! !    पोस्ट शेयर करके बुरी फंसी अभिनेत्री सारा अली !    क्या कोविड-19 मरीजों से ‘आयुष्मान भारत’ की दर से पैसा लेंगे निजी अस्पताल : सुप्रीमकोर्ट !    अमेरिका में जन्मे अपने बच्चों के लिए वीजा मांग कर रहे एच-1बी धारक भारतीय! !    

लहरें › ›

खास खबर
परवरिश के अंधेरे

परवरिश के अंधेरे

संजय वर्मा तकनीक किस तरह समाजों को रच रही है और उसमें नए अंधेरे-उजाले भर रही है- कोरोना संक्रमण से पैदा हुए संकट ने इसे नए सिरे से पारिभाषित किया है। एक कामकाजी समाज के तौर पर देखें तो हमें यह स्वीकार करना होगा कि अगर इंटरनेट जैसा आविष्कार नहीं हुआ ...

Read More

व्रत-पर्व

व्रत-पर्व

18 मई : अपरा एकादशी व्रत, मेला भद्रकाली एकादशी (कपूरथला) पंजाब, जलक्रीड़ा एकादशी (उड़ीसा) 19 मई : बड़का मंगल व्रत, हनुमान पूजा (लखनऊ) 20 मई : प्रदोष व्रत, मास शिवरात्रि व्रत 21 मई : सावित्री चतुर्दशी, फलहारिणी कालिका पूजा (बंगाल), शबेकदर 22 मई : ज्येष्ठ अमावस, भावुका अमावस, शनैश्चर जयंती, वट सावित्री व्रत (अमावस ...

Read More

यहां वरदायक बन जाते हैं दंडनायक शनि

यहां वरदायक बन जाते हैं दंडनायक शनि

देशपाल सौरोत हरियाणा-उत्तर प्रदेश सीमा पर दिल्ली से लगभग 115 किमी की दूरी पर शनिदेव का एक विशेष धाम है। पलवल से करीब 55 किलोमीटर दूर उत्तर प्रदेश के कोसीकलां-नंदगांव के बीच स्थित कोकिलावन के बारे में मान्यता है कि यहां दर्शन व परिक्रमा करने से मनोकामनाएं पूरी हो जाती हैं। ...

Read More

कोरोना से जंग में अलर्ट करेगा आरोग्य सेतु

कोरोना से जंग में अलर्ट करेगा आरोग्य सेतु

योगेश कुमार गोयल कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए 2 अप्रैल को भारत में नीति आयोग द्वारा ‘आरोग्य सेतु एप’ लांच किया गया है, जो यूज़र्स को यह बताने में मदद करता है कि उसके आसपास कोई कोरोना संक्रमित व्यक्ति तो नहीं है। ‘नेशनल इन्फॉरमेटिक्स सेंटर’ द्वारा विकसित यह एप 11 ...

Read More

दूरसंचार टैरिफ कार्ड पर हो स्पष्टता

दूरसंचार टैरिफ कार्ड पर हो स्पष्टता

पुष्पा गिरिमाजी भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (ट्राई) ने ‘टैरिफ ऑफर प्रकाशन में पारदर्शिता’ सबंधी एक परामर्श जारी किया है जिसमें उन्होंने सही टैरिफ प्लान चुनने और विभिन्न समाधानों की पेशकश के संबंध में उपभोक्ताओं द्वारा पेश की जा रही समस्याओं को स्वीकार किया है। कुछ समाधानों, जिनमें वेबसाइटों, मोबाइल एप आदि ...

Read More

ओ मां

ओ मां

आज मदर्स डे ललित गर्ग ‘मां!’ इस लघु शब्द में प्रेम की विराटता, समग्रता निहित है। मां धरती पर जीवन के विकास का आधार है। मां ने ही अपने हाथों से इस दुनिया का ताना-बाना बुना है। सभ्यता के विकास क्रम में आदिमकाल से लेकर आधुनिककाल तक इंसानों के आकार-प्रकार, रहन-सहन, सोच-विचार, ...

Read More

सदा संतान पर ही ध्यान

सदा संतान पर ही ध्यान

ओशो बच्चा मां के पास जो बढ़ता है गति से, उसका कारण है मां का ध्यान। वह चाहे दूर हो, चाहे वह दूसरे कमरे में हो, लेकिन ध्यान उसका बच्चे की तरफ लगा है। वह चाहे सैकड़ों मील दूर चली गई हो, वह हजार काम में उलझी हो, लेकिन भीतर उसके ...

Read More


  • परवरिश के अंधेरे
     Posted On May - 31 - 2020
    तकनीक किस तरह समाजों को रच रही है और उसमें नए अंधेरे-उजाले भर रही है- कोरोना संक्रमण से पैदा हुए....
  • बनी रहे यह मोहक तस्वीर
     Posted On May - 24 - 2020
    लॉकडाउन के दौरान सोशल मीडिया पर एक वीडियो खूब वायरल हुआ। जिसमें दो नदियों के संगम को साफ़ देखा जा....
  • ऐसी प्रीति करहु मन मेरे…
     Posted On May - 24 - 2020
    विश्व के आध्यात्मिक इतिहास में 1500 से 1700 ईस्वी को स्वर्णिम युग कहा जा सकता है। इस काल में दस....
  • कम न हों ईद की खुशियां
     Posted On May - 24 - 2020
    इस वर्ष की ईद-उल-फितर बाकी वर्षों से अलग है। इस ईद की नमाज ईदगाह और मस्जिद के बजाय लोग घरों....

तेनाली राम के किस्से

Posted On May - 29 - 2011 Comments Off on तेनाली राम के किस्से
तेनाली की लोकप्रियता से अन्य दरबारी ईष्र्यालु हो गए थे। वजह थी राजा कृष्ण देव का तेनाली को विशेष दर्जा देना। एक बार सभी दरबारियों ने आपस में चर्चा की कि किसी तरह तेनाली को महाराजा की नजरों में नीचा दिखाया जाए। इसके लिए एक योजना बनाई गई। अगले दिन जब दरबार लगा तो सभी दरबारियों ने तेनाली के खिलाफ राजा के कान भरने शुरू कर दिए। एक मंत्री बोला—’महाराज! आजकल तेनाली आपकी कृपा का फायदा उठाकर 

विज्ञान के झरोखे से

Posted On May - 29 - 2011 Comments Off on विज्ञान के झरोखे से
बच्चो, विज्ञान से संबंधित कुछ रोचक प्रश्नोत्तर नीचे दिए जा रहे हैं जो तुम्हारे ज्ञान में वृद्धि करने में सहायक सिद्ध होंगे। 0 एसिडिटी क्यों होती है? —एसिडिटी का सरल शाब्दिक अर्थ होता है—अम्ल पित्त। इससे रोगी की छाती में प्राय: जलन होती है और खट्टी डकारें भी आती हैं। भोजन के साथ और भोजन के तत्काल बाद पानी पीने से इसकी उत्पत्ति होती देखी गयी है। इसका दूसरा बड़ा कारण खट्टïे पदार्थों 

तेनाली राम के किस्से

Posted On May - 22 - 2011 Comments Off on तेनाली राम के किस्से
मुफ्त के मजदूर एक बार विजयनगर में भयंकर सूखा पड़ा। वर्षा ऋतु तो आई मगर बिना बरसे ही निकल गई। नदी, तालाब, कुएं सब सूख गए। तेनाली राम का भी एक बाग था वो भी बिना सिंचाई के बर्बाद हो रहा था। एक दिन अपने बाग के कुएं पर खड़े होकर तेनाली कुएं का पानी देख रहा था। यद्यपि पानी तो कुएं में था मगर वो बिल्कुल गहराई में था। तेनाली जानता था कि यदि मजदूरों से सिंचाई कराने हेतु पानी निकलवाया गया तो इतना खर्च 

विज्ञान के झरोखे से

Posted On May - 22 - 2011 Comments Off on विज्ञान के झरोखे से
बच्चो, विज्ञान से संबंधित कुछ रोचक प्रश्नोत्तर नीचे दिए जा रहे हैं जो तुम्हारे ज्ञान में वृद्धि करने मेें सहायक सिद्ध होंगे। 0 पक्षी अपने पंख क्यों संवारते हैं? -तुमने पक्षियों को चोंच से पंखों  को संवारते हुए तो अवश्य ही देखा होगा। जानते हो वे ऐसा क्यों करते हैं? दरअसल, पक्षी दिनभर उड़ते रहते हैं जिससे उनकी शक्ति का ह्रास होता है। पंखों को संवारते रहने से पक्षियों की थकान दूर हो 

कबू में आती आबादी

Posted On May - 22 - 2011 Comments Off on कबू में आती आबादी
मीरा राय वर्ष 2011 में सम्पन्न 15वीं राष्ट्रीय जनगणना के जो प्रारम्भिक आंकड़े 31 मार्च, 2011 को देश के लिए जारी किये गए उन आंकड़ों को देखकर पता चलता है  कि लगभग सभी क्षेत्रों में हम सुधार की दिशा पर हैं यानी बेहतर उम्मीदों की तरफ बढ़ रहे हैं, भले इसकी दर धीमी हो। अगर 1911-1921 के दशक को छोड़ दिया जाए तो यह पहला ऐसा मौका है जब जनसंख्या में बढ़ोतरी की दर दशकीय कमी के साथ दर्ज की गयी है। परिवार 

क्वेश्चन क्लब

Posted On May - 22 - 2011 Comments Off on क्वेश्चन क्लब
नयनतारा दीदी के जवाब हाथी कहां पैदा हुआ? ”दीदी, हजारों साल पहले पूरी दुनिया में फैले जंगलों में बहुत बड़े-बड़े जानवर घूमते थे। उनका क्या हुआ?’ ”अपने बड़े आकार के बावजूद वह जीवन की कठिनाइयों को बर्दाश्त न कर सके जो बदलते मौसम और खत्म होते भोजन की वजह से कमी आयीं।’ ”उनमें से क्या कोई जानवर बचा है?’ ”हां, दो प्रजातियां हैं, एक अफ्रीकी हाथी और दूसरी एशियाई हाथी।’ ”तो 

जैसे को तैसा

Posted On May - 22 - 2011 Comments Off on जैसे को तैसा
बाल कहानी मदन राज एक था गांव। उसमें रहते थे दो दोस्त। नाम था शिव और शंभू। दोनों मेहनत-मजदूरी कर अपना पेट पालते थे। एक बार गांव में अकाल पड़ गया। गांव में खेती-बाड़ी के अलावा रोजी-रोटी कमाने का अन्य कोई साधन तो था नहीं, अत: दोनों दोस्त रोजी-रोटी की तलाश में नजदीक के शहर में चले गए। वहां उन्होंने दस महीनों तक काम किया और जब वर्षा ऋतु आई, तो दोनों वापस अपने गांव की ओर चल पड़े। चलते-चलते 

रौंदा फूल

Posted On May - 22 - 2011 Comments Off on रौंदा फूल
शकुंतला बृजमोहन लाहौर की वह अभागी शाम जब पाकिस्तान बनाने के लिए जिन्ना अड़ गये थे। जीत उन्हीं की हुई थी। वह खिलखिलाते चेहरे, वह रंगीन शामें सभी एक दिन में श्मशान की विभीषिकाओं में परिणत हो गये। एक भाई दूसरे भाई का गला काटने के लिए तत्पर हो गया। लाहौर में तांडव नृत्य शुरू हो गया। हिन्दू अपनी जान तथा माल की हिफाजत के लिए भागने लगे। पर भाग कर जाते कहां! बीच ही में उन्हें पकड़ कर काटने 

‘मोक्ष की कामना’ में भारतीय संस्कृति के रंग

Posted On May - 22 - 2011 Comments Off on ‘मोक्ष की कामना’ में भारतीय संस्कृति के रंग
प्रदीप सरदाना मनमोहन देसाई सरीखे फिल्मकारों की फिल्मों में कुंभ मेले को बच्चों के बिछुडऩे और मिलने की जगह के रूप में दिखाया जाता रहा है। जहां वे बचपन में बिछुड़ते हैं और जवानी में मिल जाते हैं। लेकिन कुंभ मेला दुनिया का सबसे बड़ा और सबसे प्राचीन मेला माना जाता है। कुंभ के गर्भ में इतना कुछ है जिसे देखने और समझने के लिए जितना गहराई में उतरा जाए उतने ही और रहस्य व कथाएं सामने आती 

वास्तु समाधान

Posted On May - 22 - 2011 Comments Off on वास्तु समाधान
पी. खुराना 0 मेरी जन्म तिथि 20-11-1970 है। मैं पिछले कई सालों से प्रापर्टी के केस में फंसा हूं। कृपया बताएं कि कब तक निबटारा होगा। -बलजीत, सिरसा -बलजीत जी, आपका शुभ समय 27 अगस्त, 2011 के बाद शुरू होगा। इस समय के दौरान आप निम्र उपाय करें। मुकदमे से संबंधित कागजात उत्तरी-पूर्वी दिशा में रखें तथा एक तराजू मंदिर या अन्य किसी भी धार्मिक स्थान में दान दें तथा कागजात नीली या हरे रंग की फाईल में रखें। 

उहा रोटी, उहा दाल

Posted On May - 22 - 2011 Comments Off on उहा रोटी, उहा दाल
पाणी दे रंग गोविंद राकेश कौन अखेंदे पाणी दा रंग कैनी होंदा? मेडे कोल पुछो मैं डसोदां पाणी कितने रंगे दा होंदे। बस शर्त ऐ हे कि पाणी होवणा चाहीदा हे। अज डि_ा वञे ता इहो पाणी ही  हे जैंदे पिच्छों भिरा भिरा नाल लड़दा पे, खेत किसान नाल लड़दा पे, किसान पंचायत नाल, पंचायत शहर नाल, शहर स्टेट नाल, स्टेट डूझी स्टेट नाल। नतीजा ऐ हे कि पूरे मुल्क विच अफरातफरी दा माहौल हे क्यूंकि असाडी आपणी अख दा 

गहरे पानी पैठ

Posted On May - 22 - 2011 Comments Off on गहरे पानी पैठ
डा. ज्ञानचंद्र शर्मा विकास की पागल दौड़ में मनुष्य ने प्राकृतिक संसाधनों के अंधाधुंध दोहन द्वारा पृथ्वी के समूचे पर्यावरण का संतुलन बिगाड़ कर रख दिया है। वनों का बेतहाशा कटान, नदियों में औद्योगिक और घरेलू कचरे की गंदगी, हवा में मिलों की चिमनियों और यातायात के वाहनों के धुएं का प्रदूषण, खेतों में अधिक फसल की  लालसा से हानिकारक रासायनिक उर्वरकों के प्रयोग से आदमी की जान सांसत 

‘प्रीस्ट’ पर लगी हैं निगाहें

Posted On May - 22 - 2011 Comments Off on ‘प्रीस्ट’ पर लगी हैं निगाहें
हॉलीवुड फिल्म संगीता सोनी पिक्चर्स की जल्द रिलीज होने वाली फिल्म ‘प्रीस्ट’ एक साइंस फिक्शन और एक्शन थ्रिलर  फिल्म है। उच्च तकनीक, स्पेशल इफेक्ट्स और 3डी में होने के कारण इस फिल्म का आकर्षण और बढ़ जाता है। फिल्म कोरिया के लेखक मिन-वू-ह्यूंग के लोकप्रिय कॉमिक ‘प्रीस्ट’ पर आधारित है। इस फिल्म का निर्माण माइकल डे ल्यूका, जोशूआ डोनेन और मिशेल पेक ने किया है। ये निर्माता इससे 

जनादेश का निहितार्थ समझना ज़रूरी

Posted On May - 17 - 2011 Comments Off on जनादेश का निहितार्थ समझना ज़रूरी
अवधेश कुमार विधानसभा चुनाव पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों में वोटिंग मशीनों ने जो परिणाम दिए हैं लगभग प्रत्याशित हैं। वस्तुत: इस चुनाव परिणाम में ज्यादातर पहलू ऐसे हैं जिन्हें हम अप्रत्याशित नहीं कह सकते। प$  बंगाल से लेकर असम,तमिलनाडु, केरल एवं पुड्डुचेरी तक मतदाताओं की लंबी कतारें एवं उनकी प्रतिक्रियाओं से निकलती प्रतिध्वनि लगभग ऐसे ही परिणामों का संकेत दे रही 

मॉल में बढ़ता शॉपिंग का क्रेज

Posted On May - 15 - 2011 Comments Off on मॉल में बढ़ता शॉपिंग का क्रेज
वीना सुखीजा कुछ समय पहले देश के 250 शॉपिंग मॉल्स में किये गये एक सर्वेक्षण के नतीजे चौंका देने वाले हैं। इस सर्वेक्षण के तहत यह सच्चाई सामने आयी है कि प्रति सप्ताह वीकेंड पर हर शॉपिंग मॉल में डेढ़ लाख से ज्यादा लोगों का आना होता है। इस सर्वेक्षण के आधार पर कहा जा सकता है कि आजकल के यंगस्टर हों या मध्य उम्र के लोग, सभी को घूमने फिरने के लिए मॉल से बेहतर जगह कोई और नहीं लगती। मिसेज मेहरा 

उहा रोटी, उहा दाल

Posted On May - 15 - 2011 Comments Off on उहा रोटी, उहा दाल
गोविंद राकेश वसुधैव कुटुम्बकम् ‘लादेन मारया ग्या।’ सवेले सवेले टीवी उत्ते ऐ खबर डेख के रोशनलाल चाह पींदा पींदा खिल प्या। रोशनलाल काफी डीहे वाद मेडे कोल सवेले दी सैल करेदे करेंदे आया हा, अत्ते रस्मीतौर ते ही सही, हूकूं चाह पिलावण मेडा फर्ज बणदा हा। मैं हैरान थी के हूंदे मुंह दी तरफ डिटठा, रोशनलाल मेकूं सीरियस डेख के आखण लगा—डेखो सईं! अज टीवी कू बी कुई खबर हथ नींह अई तां हिक शोशा