कांग्रेस के शासन से कई गुणा बेहतर खट्टर सरकार : भाटिया !    प्रियंका के राज्यसभा में जाने की ‘अटकल’ का जवाब देने से कांग्रेस ने किया परहेज !    जेएनयू छात्रों का जंतर मंतर पर प्रदर्शन !    बुर्किना फासो में चर्च के पास हमला, 24 की मौत !    पाकिस्तान में जहरीली गैस से 4 की मौत !    ट्रंप ने सीरिया में रूस के हस्तक्षेप पर उठाए सवाल !    कांग्रेस ने भी कहा- पहले नेताओं से प्रतिबंध हटायें !    इंजीनियरिंग छात्र फिर गिरफ्तार, न्यायिक हिरासत में !    एकदा !    नहीं रहे आजाद हिंद फौज के सिपाही छोटूराम !    

लहरें › ›

खास खबर
ॐ आकार के द्वीप पर विराजमान ओंकारेश्वर

ॐ आकार के द्वीप पर विराजमान ओंकारेश्वर

सुमन बाजपेयी इंदौर से 77 किलोमीटर दूर नर्मदा नदी के तट पर स्थित है भगवान शिव का ओंकारेश्वर ज्योतिर्लिंग। यह संपूर्ण भारत में स्थित 12 ज्योतिर्लिंगों में से एक है। इस स्थान पर नर्मदा नदी दो भागों में बंट कर मान्धाता द्वीप का निर्माण करती है, जिसका आकार ॐ के समान ...

Read More

महाशिवरात्रि : 117 साल बाद दुर्लभ संयोग

महाशिवरात्रि : 117 साल बाद दुर्लभ संयोग

मदन गुप्ता सपाटू इस बार महाशिवरात्रि पर 117 साल बाद ग्रहों का दुर्लभ संयोग बनेगा। शनि अपनी स्वराशि मकर में, शुक्र अपनी उच्च राशि मीन में, गुरु स्वराशि धनु में और राहु अपनी मूल त्रिकोण राशि मिथुन में विराजमान रहेंगे। ऐसा कम ही होता है जब अधिकांश ग्रह अपनी उच्चावस्था में ...

Read More

शहद रखे आपको फिट

शहद रखे आपको फिट

शिल्पा जैन सुराणा शहद का रोजाना प्रयोग आपको फिट बनाये रखेगा। वैसे भी शहद खाने के अनेक फायदे हैं। शहद हीमोग्लोबिन की कमी को दूर करने के साथ रक्त को भी शुद्ध रखता है और इससे एनीमिया भी दूर हो जाती है। इसमें विटामिन बी और विटामिन सी के साथ एंटीऑक्सीडेंट ...

Read More

मोर के पंख

मोर के पंख

बाल कविता सब पक्षियों का राजा मोर कुदरत ने सुंदर बनाया। पंख हैं इसके खूब सजीले, सिर पर ताज सजाया। जंगल, बागानों में रहता, ऊंची न उड़ान भरे। मस्ती में जब पंख फैलाता, खुशी का इज़हार करे। पढ़ने से जो जी चुराते, किताबों में मोर पंख रखते। मन में यही भ्रम हैं पालें, फेल नहीं हो सकते। बच्चों छोड़ो अंधविश्वास, बस इतना रखो ध्यान। मेहनत ...

Read More

वॉट्सएप में नहीं हो सकती हैकर्स की एंट्री

वॉट्सएप में नहीं हो सकती हैकर्स की एंट्री

कुमार गौरव अजीतेन्दु जब दुनिया की नामी हस्ती जेफ बेज़ोस का फोन, वॉट्सएप के जरिए हैक किया जा सकता है, तो ऐसा किसी के साथ भी संभव है लेकिन कुछ सावधानियां अपनाकर बचाव भी उतना ही सरल है, जितना सरल इसे हैक करना है। सिर्फ इन बातों का ध्यान रखो। वॉट्सएप ...

Read More

सृष्टि के विकास का सार अर्धनारीश्वर

सृष्टि के विकास का सार अर्धनारीश्वर

प्रमोद भार्गव पुराणों में भगवान शिव की कल्पना एक ऐसे विशिष्ट व्यक्ति के रूप में की गई है, जिसका आधा शरीर स्त्री का और आधा पुरुष का है। शिव का यह स्त्री व पुरुष मिश्रित शरीर अर्धनारीश्वर के नाम से जाना जाता है। शिव पुराण के अनुसार शिव को इस रूप-विधान ...

Read More

अनुशासन का पाठ

अनुशासन का पाठ

याद रही जो सीख सौरव भारद्वाज यातायात नियमों को तोड़ना आजकल एक फैशन सा हो गया है। खासकर स्कूल या कॉलेज जाने वाले लड़के ऐसी गलतियां बार-बार दोहराते हैं। कॉलेज के दिनों में मैं भी ट्रैफिक नियमों का पालन नहीं करता था, खासकर हेलमेट पहनना मुझे बिल्कुल भी पसंद नहीं था। मैं ...

Read More


खौफनाक होते मासूम

Posted On April - 3 - 2011 Comments Off on खौफनाक होते मासूम
एनके अरोड़ा दिल्ली से सटे साहिबाबाद में तीन मासूम बच्चों ने जिनकी उम्र क्रमश: 8, 6 और 7 साल थी, एक 6 साल की लड़की को पत्थरों से कुचलकर मार डाला और लाश को शातिर अपराधियों की तरह पूरी होशियारी से छिपा दिया। ह्नदिल्ली में एक 15 वर्षीय किशोरी ने अपनी मां को जलाकर मार डालने की कोशिश की, हालांकि वह कामयाब नहीं हुई। मां 50 फीसदी जल गयी और इस समय अस्पताल में भर्ती है। ह्नदिल्ली में एक बुजुर्ग की 

वास्तु समाधान

Posted On April - 3 - 2011 Comments Off on वास्तु समाधान
0 मेरी जन्मतिथि  27-12-1975 है। नौकरी हेतु कई टैस्ट व साक्षात्कार दे चुकी हूं  परन्तु कहीं पर भी बात नहींं बन रही है। कृपया बताएंं कि नौकरी का योग कब तक बनेगा। -सुनीता, क, ख, ग -सुनीता जी, चिंता न करें, आपका शुभ समय अप्रैल 2011 के बाद शुरू हो रहा है जो कि आने वाले 3 वर्ष तक चलेगा। इस बीच आपको सफलता अवश्य मिलेगी। उपाय के तौर पर जब भी आवेदन करें तो बृहस्पतिवार को करें तथा साक्षात्कार के समय हल्के पीले 

कुदरत का कहर या कुदरत का कायदा!

Posted On March - 27 - 2011 Comments Off on कुदरत का कहर या कुदरत का कायदा!
जापान की तबाही लोकमित्र हकीकत वाकई किसी भी कल्पना से कहीं ज्यादा भयावह होती है। भला 11 मार्च, 2011 के पहले जापान की चाकचौबंद सुरक्षा व्यवस्था पर कौन शक कर सकता था? दुनिया में सर्वाधिक तकनीकी कुशल देश कुदरत के सामने बेबस हो जायेगा, भला एक  पखवाड़े पहले तक किसने सोचा था? 2004 में जब सुनामी ने भारत सहित कई एशिया पैसफिक देशों में कहर बरपाया था तो यही माना जा रहा था कि जापान में अगर वह सुनामी 

रेडिएशन की ए.बी.सी.

Posted On March - 27 - 2011 Comments Off on रेडिएशन की ए.बी.सी.
देवेश प्रकाश भौतिकशास्त्र में विकिरण या रेडिएशन से आशय एक ऐसी प्रक्रिया से है जिसमें गतिशील कण या तरंगें किसी माध्यम अथवा स्पेस के जरिये आगे बढ़ते हैं। जापान में भूकंप और सुनामी के बाद सबसे बड़ा खतरा परमाणु विकिरण का पैदा हो गया है। वहां के फुकुशीमा परमाणु संस्थान में हुए दो विस्फोटों से स्थिति द्वितीय विश्वयुद्ध के दौरान हिरोशिमा और नागासाकी में अमरीका द्वारा परमाणु बम 

भूकंपरोधी घरों की बढ़ती ज़रूरत

Posted On March - 27 - 2011 Comments Off on भूकंपरोधी घरों की बढ़ती ज़रूरत
पारुल भार्गव जापान समेत दुनिया में पिछले एक दशक से भूकंपों का जिस तरह से सिलसिला चल रहा है उस परिप्रेक्ष्य में जरूरी हो जाता है कि भूकंप-पट्टी में भूकंपरोधी घर बनाए जाना जरूरी है। क्योंकि हाल ही में जापान में आए भूकंप और सुनामी के बावजूद वहां इंसानी तबाही उतनी नहीं हुई जितनी 2004 में आई सुनामी से भारत में हुई थी। हमारे यहां बड़ी संख्या में लोग इस सुनामी की भेंट चढ़ गए थे। हमने टीवी 

गेम : कौन जीतेगा बाजी!

Posted On March - 27 - 2011 Comments Off on गेम : कौन जीतेगा बाजी!
जयसिंह रघुवंशी अभिषेक बच्चन फिलहाल करिअर के बुरे दौर से गुजर रहे हैं। पिछले वर्ष उनकी प्रदर्शित हुई फिल्में रावण और खेलें हम जी जान से ने बॉक्स ऑफिस पर पानी तक नहीं मांगा। लेकिन जूनियर बच्चन उन लोगों में से नहीं हैं जो आसानी से हार मान ले। लिहाजा वे मैदान में डटे हुए हैं। अप्रैल महीना अभिषेक के लिए बेहद महत्वपूर्ण है। उनकी दो फिल्में गेम और दम मारो दम रिलीज होने वाली है। बॉलीवुड 

चल पड़ी चित्रांगदा की गाड़ी

Posted On March - 27 - 2011 Comments Off on चल पड़ी चित्रांगदा की गाड़ी
जयसिंह रघुवंशी सुधीर मिश्रा की फिल्म ये साली जि़दगी हिट हुई और फिल्म की नायिका चित्रांगदा सिंह की गाड़ी चल पड़ी। सवाल ये उठता है कि क्या चित्रांगदा कमर्शियल फिल्में करेंगी? अब तक तो वे हजारों ख्वाहिशें ऐसी जैसी फिल्में करती आई हैं जो कला फिल्मों के प्रेमियों को लुभाती रही हैं। आखिर कार इस बात का जवाब चित्रांगदा से बेहतर कौन दे सकता है। लिहाजा हमने उनके आगे ही ये सवाल रख दिया। 

तेनाली राम के किस्से

Posted On March - 27 - 2011 Comments Off on तेनाली राम के किस्से
पीतल की कढ़ाही एक बार राजा कृष्णदेव राज दरबार में बैठे थे तभी एक गरीब किसान व साहूकार  को लेकर सैनिक दरबार में हाजिर हुए। किसान ने राजा को बताया कि साहूकार ने उससे अपने खेतों में चलाने के लिए हल लिया था, अब वो उसे वापस नहीं कर रहा है जबकि साहूकार का कहना था—’महाराज! मैंने किसान से कोई हल नहीं लिया। ये असत्य बोल रहा है।’ राजा ने तेनाली को कहा कि इस मुकदमे का वो ही फैसला करे। तेनाली ने किसान 

क्वेश्चन क्लब

Posted On March - 27 - 2011 Comments Off on क्वेश्चन क्लब
नयनतारा दीदी के जवाब मैक्लाडगंज को छोटा तिब्बत क्यों कहते हैं? ”दीदी, मैक्लाडगंज को छोटा तिब्बत क्यों कहते हैं?’ ”हिमाचल प्रदेश के धर्मशाला जिले में स्थित मैक्लाडगंज वह स्थान है जहां गर्मियों में बौद्ध धर्म के प्रमुख दलाई लामा निवास करते हैं। मैक्लाडगंज तिब्बती शरणार्थियों का बसेरा है। यहां हर तरफ मॉन्क या जिसे अपभ्रंश में मैक्क कहते हैं, घूमते रहते हैं। पूरा परिवेश बौद्ध 

खजाने का रहस्य

Posted On March - 27 - 2011 Comments Off on खजाने का रहस्य
सेठ का अन्त करीब आ पहुंचा। उसने अपने  सभी बच्चों को बुलाया। बोला,   ‘देखो बच्चो सारी उम्र मैं तुम्हें मेहनत करने व अक्लमंदी  की बातें सीखने की सलाह देता रहा मगर तुम लोगों  ने आलस और आमोद-प्रमोद के चक्कर में मेरी एक न सुनी। तुमने हमेशा अपना सारा समय खेलकूद में गंवा दिया। अब मेरा अन्त समय पास आ गया है। अब शायद तुम्हारे होश ठिकाने आएं। मेरी इस अथाह दौलत के कारण कई चोर डाकू तुम्हारा जीना 

विज्ञान के झरोखे से

Posted On March - 27 - 2011 Comments Off on विज्ञान के झरोखे से
बच्चो, विज्ञान से संबंधित कुछ रोचक प्रश्नोत्तर नीचे दिये जा रहे हैं जो तुम्हारे ज्ञान में वृद्धि करने में सहायक सिद्ध होंगे। 0 अंगूर को दवा क्यों माना जाता है? —जिन बड़े-बड़े भयंकर एवं जटिल रोगों में किसी प्रकार का कोई पदार्थ खाने-पीने को नहीं दिया जाता है उसमें अंगूर का सेवन बताया जाता है। अंगूर कैंसर, टीवी, पायरिया, सूखा रोग, रक्त विकार, बार-बार मूत्र त्याग एवं दुर्बलता 

वास्तु समाधान

Posted On March - 27 - 2011 Comments Off on वास्तु समाधान
पी. खुराना मेरी जन्मतिथि 25.2.1979 है। मैंने कई डिग्रियां की हुई हैं, बावजूद इसके कहीं भी अच्छी नौकरी नहीं लग रही है। -मनोज, दिल्ली -मनोज जी, आपका शुभ समय निकल चुका है और उस समय के बीच आपको कई अवसर भी मिले होंगे परंतु आपने उनको ठुकराया, जिस वजह से आपको आज तक पछताना पड़ रहा है। परंतु चिंता न करें। आप निम्न उपाय करें। जब भी नौकरी के लिए आवेदन करें तो बृहस्पतिवार के दिन ही करें तथा साक्षात्कार 

एक ऑस्कर के लिए

Posted On March - 27 - 2011 Comments Off on एक ऑस्कर के लिए
....

श्रीमती पोपट

Posted On March - 27 - 2011 Comments Off on श्रीमती पोपट
कहानी महिंदर सिंह सरना धूप चढऩे पर जब श्रीमती पोपट ने आंख खोली तो वह कोई आंख खोलने का समय न था। मतलब यह कि अभी तो धूप चढ़ी ही थी और धूप चढऩे से दिन तो नहीं चढ़ जाता। सम्पन्न महिलाओं का दिन तो दोपहर को चढ़ता है। शनील की रज़ाई का छोर उसने अपने कंधों तले दोहरा कर लिया और टांगें फैला कर औंधे मुख लेट गयी। यह उसके सोने का मनपसंद ढंग था। इस प्रकार सोने से उसको एक अनोखा-सा शारीरिक सुख का अनुभव 

रमन

Posted On March - 27 - 2011 Comments Off on रमन
 

रंगों के धागों में बंधा हिंदुस्तान

Posted On March - 20 - 2011 Comments Off on रंगों के धागों में बंधा हिंदुस्तान
कैलाश सिंह भारत को कई चीजें जोड़ती हैं। हमारे धार्मिक विश्वास, आस्थाएं और होली जैसे त्योहार भी। होली वाकई उन गिने चुने त्योहारों में एक है जिसका चरित्र अखिल भारतीय है। नाम कुछ भी हो, तरीका कुछ भी हो लेकिन पूरे भारत में होली का मकसद एक ही है उमंग, उल्लास और मस्ती। वाकई होली एक ऐसा त्योहार है जो समूचे हिंदुस्तान को जोड़ता है। चाहे उत्तर हो या दक्षिण। पूरब हो या पश्चिम। होली हिंदुस्तान 
Manav Mangal Smart School
Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.