कांग्रेस के शासन से कई गुणा बेहतर खट्टर सरकार : भाटिया !    प्रियंका के राज्यसभा में जाने की ‘अटकल’ का जवाब देने से कांग्रेस ने किया परहेज !    जेएनयू छात्रों का जंतर मंतर पर प्रदर्शन !    बुर्किना फासो में चर्च के पास हमला, 24 की मौत !    पाकिस्तान में जहरीली गैस से 4 की मौत !    ट्रंप ने सीरिया में रूस के हस्तक्षेप पर उठाए सवाल !    कांग्रेस ने भी कहा- पहले नेताओं से प्रतिबंध हटायें !    इंजीनियरिंग छात्र फिर गिरफ्तार, न्यायिक हिरासत में !    एकदा !    नहीं रहे आजाद हिंद फौज के सिपाही छोटूराम !    

लहरें › ›

खास खबर
ॐ आकार के द्वीप पर विराजमान ओंकारेश्वर

ॐ आकार के द्वीप पर विराजमान ओंकारेश्वर

सुमन बाजपेयी इंदौर से 77 किलोमीटर दूर नर्मदा नदी के तट पर स्थित है भगवान शिव का ओंकारेश्वर ज्योतिर्लिंग। यह संपूर्ण भारत में स्थित 12 ज्योतिर्लिंगों में से एक है। इस स्थान पर नर्मदा नदी दो भागों में बंट कर मान्धाता द्वीप का निर्माण करती है, जिसका आकार ॐ के समान ...

Read More

महाशिवरात्रि : 117 साल बाद दुर्लभ संयोग

महाशिवरात्रि : 117 साल बाद दुर्लभ संयोग

मदन गुप्ता सपाटू इस बार महाशिवरात्रि पर 117 साल बाद ग्रहों का दुर्लभ संयोग बनेगा। शनि अपनी स्वराशि मकर में, शुक्र अपनी उच्च राशि मीन में, गुरु स्वराशि धनु में और राहु अपनी मूल त्रिकोण राशि मिथुन में विराजमान रहेंगे। ऐसा कम ही होता है जब अधिकांश ग्रह अपनी उच्चावस्था में ...

Read More

शहद रखे आपको फिट

शहद रखे आपको फिट

शिल्पा जैन सुराणा शहद का रोजाना प्रयोग आपको फिट बनाये रखेगा। वैसे भी शहद खाने के अनेक फायदे हैं। शहद हीमोग्लोबिन की कमी को दूर करने के साथ रक्त को भी शुद्ध रखता है और इससे एनीमिया भी दूर हो जाती है। इसमें विटामिन बी और विटामिन सी के साथ एंटीऑक्सीडेंट ...

Read More

मोर के पंख

मोर के पंख

बाल कविता सब पक्षियों का राजा मोर कुदरत ने सुंदर बनाया। पंख हैं इसके खूब सजीले, सिर पर ताज सजाया। जंगल, बागानों में रहता, ऊंची न उड़ान भरे। मस्ती में जब पंख फैलाता, खुशी का इज़हार करे। पढ़ने से जो जी चुराते, किताबों में मोर पंख रखते। मन में यही भ्रम हैं पालें, फेल नहीं हो सकते। बच्चों छोड़ो अंधविश्वास, बस इतना रखो ध्यान। मेहनत ...

Read More

वॉट्सएप में नहीं हो सकती हैकर्स की एंट्री

वॉट्सएप में नहीं हो सकती हैकर्स की एंट्री

कुमार गौरव अजीतेन्दु जब दुनिया की नामी हस्ती जेफ बेज़ोस का फोन, वॉट्सएप के जरिए हैक किया जा सकता है, तो ऐसा किसी के साथ भी संभव है लेकिन कुछ सावधानियां अपनाकर बचाव भी उतना ही सरल है, जितना सरल इसे हैक करना है। सिर्फ इन बातों का ध्यान रखो। वॉट्सएप ...

Read More

सृष्टि के विकास का सार अर्धनारीश्वर

सृष्टि के विकास का सार अर्धनारीश्वर

प्रमोद भार्गव पुराणों में भगवान शिव की कल्पना एक ऐसे विशिष्ट व्यक्ति के रूप में की गई है, जिसका आधा शरीर स्त्री का और आधा पुरुष का है। शिव का यह स्त्री व पुरुष मिश्रित शरीर अर्धनारीश्वर के नाम से जाना जाता है। शिव पुराण के अनुसार शिव को इस रूप-विधान ...

Read More

अनुशासन का पाठ

अनुशासन का पाठ

याद रही जो सीख सौरव भारद्वाज यातायात नियमों को तोड़ना आजकल एक फैशन सा हो गया है। खासकर स्कूल या कॉलेज जाने वाले लड़के ऐसी गलतियां बार-बार दोहराते हैं। कॉलेज के दिनों में मैं भी ट्रैफिक नियमों का पालन नहीं करता था, खासकर हेलमेट पहनना मुझे बिल्कुल भी पसंद नहीं था। मैं ...

Read More


मेहनत और लगन

Posted On April - 24 - 2011 Comments Off on मेहनत और लगन
बाल कहानी हरिन्द्र सिंह गोगना वार्षिक परीक्षाएं आरंभ हो चुकी  थीं। रवि कुछ परेशान था। उसके मन में पहली बार यह डर आ रहा था  यदि वह फेल हो गया तो? इम्तिहानों के उपरांत परीक्षाफल आया तो  रवि का डर सही साबित हुआ। वह कुछ अंकों के अंतर से फेल था। सबको आश्चर्य था यह कैसे हो गया? रवि मेधावी छात्र था और प्रत्येक वर्ष अपनी कक्षा में अच्छे अंकों से उत्तीर्ण होता था। दरअसल रवि जब दसवीं में हुआ 

तुम्हारा अभि…!

Posted On April - 24 - 2011 Comments Off on तुम्हारा अभि…!
अनुभव शर्मा ‘ऐनी’ आज दीपावली है ममा! दीप-मलिकाओं की इन अकेली-सी सजावट में तुम्हारी यादों के दीप ही ज्यादा हैं जो खुद-ब-खुद मेरे मन की मुंडेर पर आज फिर जल उठे हैं और आपको इन सबसे कितना अनजान रखा है मैंने ममा…। लोगों ने लक्ष्मी-पूजन किया है और मैंने एक दीप जलाया है तुम्हें याद कर। हॉस्टल के इस अंधेरे कमरे में अपने बिस्तर पर पड़ा आज फिर याद कर रहा हूं तुम्हें…तुम्हारी बातें। मम्मी, 

तेनाली राम के किस्से

Posted On April - 24 - 2011 Comments Off on तेनाली राम के किस्से
दिन का उजाला दीपावली पास थी। राजा कृष्ण देव चाहते थे कि इस बार की दीपावली कुछ विशेष हो। इसके लिए चर्चा ज़ोरों पर थी कि क्या किया जाए जो यादगार उत्सव बन जाए। राज पुरोहित ने कहा, ‘महाराज, विशाल धार्मिक कथा का आयोजन किया जाए।’ एक मंत्री ने कहा— महाराज, खेल उत्सव आयोजित करें। किसी ने कहा—जादूगरों का करतब रखा जाए। राजा ने तेनाली से पूछा तो वो बोला— महाराज, रात के दीपक की रोशनी से मन प्रसन्न 

क्या खोया, क्या पाया?

Posted On April - 24 - 2011 Comments Off on क्या खोया, क्या पाया?
डा. ज्ञानचंद्र शर्मा इतनी जल्दी क्रिकेट के बारे में फिर से लिखना मुझे भी अखर रहा है। परंतु परिस्थितियां ही कुछ ऐसी बन गयीं कि बिना लिखे रहा भी नहीं जा रहा। छह सप्ताह तक चलने वाले क्रिकेट के विश्वकप के मुकाबले का कारवां अपनी मंजिल तक पहुंच गया।  बहुत शोर रहा इन दिनों। गर्दो-गुबार भी खूब उठा। कभी आतंकवाद की खबरें तो कभी व्यवस्था की समस्याएं। विशेष अतिथियों को लेकर खासकर। आम आदमी 

चरित्रहीन

Posted On April - 17 - 2011 Comments Off on चरित्रहीन
कुमार शर्मा ‘अनिल’ रात के आठ बजते ही चंडीगढ़ की सड़कें तब सन्नाटे से घिर जाती थीं।  सीआरपी$, बीएसएफ और चंडीगढ़ पुलिस की टुकडिय़ां जहां-तहां बिखरी पड़ीं थीं।  आतंक के साये में जी रहा था, भारत का यह सुन्दरतम शहर। पच्चीस वर्षों के बाद लौटा हूं इस शहर में। काफी कुछ बदला-बदला सा लग रहा है। सुन्दरता पहले से अधिक निखर आयी है इस कमसिन शहर की।  रास्ते में काफी परेशान कर रखा था खांसी और दमे 

वास्तु समाधान

Posted On April - 17 - 2011 Comments Off on वास्तु समाधान
पी. खुराना मेरी जन्मतिथि 25.9.1977 है। मैं विदेश जाने के लिए निरंतर प्रयास कर रहा हूं, परंतु सफलता नहीं मिल रही है। कृपया कोई समाधान बताएं। -सुलेख, भिवानी —सुलेख जी, आप कोशिश करें कि आवेदन शुक्रवार के दिन करें तथा साक्षात्कार के समय जेब में लाल रुमाल रखें तथा घर से चलने से पहले एक चुटकी घर की मिट्टी  को जहां पर साक्षात्कार पर बैठें, उस जगह  पर छिड़क दें। उपाय के तौर पर गले में  21 इंच लाल रंग 

विज्ञान के झरोखे से

Posted On April - 17 - 2011 Comments Off on विज्ञान के झरोखे से
....

गगनचुम्बी इमारतें आवास की संस्कृति

Posted On April - 17 - 2011 Comments Off on गगनचुम्बी इमारतें आवास की संस्कृति
निनाद गौतम एक ज़माने में दिल्ली और उसके आसपास के उपनगरों में 8 मंजिला से ऊंचे आवासों को अजूबों की तरह देखा जाता था, वहीं आज यहां 30 मंजिला आवासों की अच्छी खासी संख्या विकसित हो रही है और कुछ आवासीय कम्पनियां अगले कुछ सालों में 50 से 80 मंजिल तक के आवासीय प्रोजेक्टों पर काम कर रही हैं। मुंबई में भी मकानों की आसमान की दिशा में रफ्तार लगातार बढ़ती ही जा रही है। लोढ़ा समूह यहां 

जिसका गीत जुबान पर चढ़ेगा, वो कवि याद रहेगा : नीरज

Posted On April - 17 - 2011 Comments Off on जिसका गीत जुबान पर चढ़ेगा, वो कवि याद रहेगा : नीरज
बीसवीं शताब्दी के सर्वाधिक लोकप्रिय कवि माने जाने वाले गोपाल दास नीरज ने हिंदी साहित्य को कालजयी रचनाएं दी हैं। यंू तो उन्होंने गीत, गज़ल, दोहे, मुक्तक, गद्यगीत से लेकर हाइकु तक साहित्य लिखा है, लेकिन दिल को छूने वाले उनके फिल्मी गीत आज भी भारतीयों की जुबान पर हैं। राष्ट्रीय नागरिक सम्मान पद्मभूषण समेत अनेक राष्ट्रीय पुरस्कार उनकी प्रतिष्ठा की बानगी पेश करते हैं। यह बात अलग है कि वे 

जेनेटिक कोड क्या होते हैं?

Posted On April - 17 - 2011 Comments Off on जेनेटिक कोड क्या होते हैं?
क्वेश्चन क्लब नयनतारा दीदी के जवाब ”दीदी, मैंने सुना है बच्चों में मां-बाप के गुण होते हैं?’ ”तुमने सही सुना है। प्रजनन के माध्यम से मां-बाप के विशेष गुण उनकी संतानों में विशेष प्रोटीन संरचनाओं द्वारा सुनिश्चित किये जाते हैं। हालांकि माता-पिता, विभिन्न गुण निर्धारित करने वाले इन प्रोटीनों को संतानों में नहीं भेजते। लेकिन उनके द्वारा प्रदत्त डीएनए का कूट संदेश या कोड जो 

तीन मीनार

Posted On April - 17 - 2011 Comments Off on तीन मीनार
....

तेनाली राम के किस्से

Posted On April - 17 - 2011 Comments Off on तेनाली राम के किस्से
घोड़े की कीमत एक बार तेनाली बहुत तीव्र ज्वर से पीडि़त हो गया। उसने दरबार से भी छुट्टी ले ली। जब राजगुरु और राजवैद्य को यह पता चला तो दोनों तेनाली के आवास पर पहुंचे। राजवैद्य ने तेनाली का निरीक्षण किया और उसे औषधियां देकर वहां से चले गये। राजगुरु ने कहा— तेनाली इन औषधियों से तुम ठीक नहीं होगे। तुम कुछ पूजा-पाठ करो तभी कल्याण होगा। इस पर केवल दो सौ स्वर्ण मुद्राएं खर्च होंगी।’ तेनाली 

जिसका मुझे है इंतजार….

Posted On April - 17 - 2011 Comments Off on जिसका मुझे है इंतजार….
.अपने करिअर की कछुआ चाल से आप खुश हैं? ‘विवाह’ की शर्मिली दुल्हन अमृता राव ने एक बार फिर राजश्री प्रोडक्शन की फिल्म ‘लव यू… मि. कलाकार’ में अपनी अदाकारी दिखाई है। हालांकि बॉलीवुड में अमृता का कॅरिअर धीमी गति के समाचारों की तरह आगे बढ़ रहा है, लेकिन अमृता को लगता है, इससे कोई शिकायत नहीं हैइंडस्ट्री में बिना गॉडफादर के मैंने अपनी जगह बनाई है। मैं खुद को बहुत भाग्यशाली समझती 

उहा रोटी, उहा दाल

Posted On April - 17 - 2011 Comments Off on उहा रोटी, उहा दाल
....

चाटुकारिता का प्रताप

Posted On April - 17 - 2011 Comments Off on चाटुकारिता का प्रताप
गहरे पानी पैठ डा. ज्ञानचंद्र शर्मा खुशामद बड़े आदमियों की बड़ी कमजोरी है। उनकी इच्छा रहती है कि कोई उनका गुणगान करता रहे, उनको बड़ा कहे ही नहीं, बड़ा माने भी। वे यदि किसी मंदिर में पचास रुपये का पत्थर लगवायेंगे तो उस पर यह लिखवाने के लिए कि  यह पत्थर अमुक दानवीर ने अपनी पूज्य माता जी के स्मृति में लगवाया। हर ऐसा काम करने के बाद वे अपेक्षा करेंगे कि लोग उनकी वाहवाही करें। शायद वे बिहारी 

कैसी कैसी बेगमें

Posted On April - 10 - 2011 Comments Off on कैसी कैसी बेगमें
कृष्ण प्रताप सिंह अवध के नवाबों का इतिहास उनकी बेगमों के बगैर पूरा नहीं होता। इसलिए कि जिस, अपनी तरह की अनूठी, तहजीब के कंधों पर उनकी पालकी ढोई जाती थी, उसमें बेगमें कहीं ज्यादा आन-बान व शान से मौजूद हैं। इस कदर कि उनसे जुड़े अनेक रोचक व रोमांचक और अच्छे व बुरे प्रसंग आज भी लोगों की जुबान पर रहते हैं। उनकी बेरहम तुनुकमिजाजी के लिए कोई उनको वानरों व चोरों के साथ अवध के तीन दुष्टों 
Manav Mangal Smart School