लव मेरिज करने वाली युवती ने ससुराल में किया हंगामा! !    सेल्समैन को जिंदा जलाने के आरोपी काबू !    31 अध्यापकों को मिला उत्कृष्ट शिक्षक सम्मान !    पत्नी की हत्या का आरोपी एसडीओ गिरफ्तार !    गूगल मैप ने बेटी को पिता से मिलाया !    छत से फिसलकर पूर्व क्रिकेटर के ससुर की मौत !    ‘खट्टर सरकार ने किया हरियाणा से भाईचारा खत्म’ !    हिमाचल में 24 की मौत 800 से ज्यादा सड़कें बंद !    जूनियर विश्व कुश्ती में भारत को 3 पदक !    बड़ी स्क्रीनों पर गंगा आरती !    

लहरें › ›

खास खबर
गुस्से से मिली सीख

गुस्से से मिली सीख

वर्षा रानी हमारे समय में बच्चों का पांच वर्ष की उम्र में स्कूल में दाखिला होता था। मेरी बहन उस समय दूसरी कक्षा में पढ़ती थी। मां उसे रोज़ सुबह नहला-धुलाकर, साफ-सुथरे कपड़े पहनाकर स्कूल भेजती थी। मैं सोचती थी कि मेरे रोने-धोने की तो बात ही नहीं, क्योंकि मेरी बहन ...

Read More

'किसी कमज़ोर पर कभी मत हंसना'

'किसी कमज़ोर पर कभी मत हंसना'

विद्या बात तब की है जब मैं 10वीं की छात्रा थी। पढ़ाई में मन कम लगता तो खेल-कूद के लिये गली में बच्चों को तलाश शुरू हो जाती। पड़ोस में रहने वाले एक परिवार के बच्चों के साथ खासा मेलजोल और खेलना कूदना होता रहता था। एक अन्य घर में दो ...

Read More

किताबों से दोस्ती

किताबों से दोस्ती

ललित शौर्य मंगलवन के राजा शेर सिंह के तीन बच्चे थे। मोंटी, चिंटू और मिंटू। तीनों ही बड़े शरारती थे। मोंटी और चिंटू पढ़ने-लिखने में बहुत होशियार थे। दोनों नियमित स्कूल भी जाते थे लेकिन मिंटू अपनी ही दुनिया में खोया रहता था। उसे स्कूल से कोई मतलब नहीं था। पढ़ाई-लिखाई ...

Read More

बुज़ुर्गों के अधिकार

बुज़ुर्गों के अधिकार

मधु गोयल बुजुर्गों के प्रति आज की पीढ़ी असंवेदनशील होती जा रही है। ऐसे में बहुत ज़रूरी है कि बुज़ुर्गों के प्रति उनके अधिकारों के लिए जानकारी मुहैया कराई जाए। दिन-प्रतिदिन बुजुर्गों के प्रति लापरवाही के केस बढ़ते जा रहे हैं। बच्चे मां-बाप को संपत्ति से बेदखल कर दर-दर की ठोकरें ...

Read More

लज़्जत से भरपूर देसी ज़ायका

लज़्जत से भरपूर देसी ज़ायका

कृष्णलता यादव अगर बरसात के मौसम में बाहर कीचड़ व फिसलन की धमाचौकड़ी हो, घर में कोई सब्जी नहीं, सब्जीवाला भी नहीं आया, फिर ऐसे में कौन-सी सब्जी बनाई जाए? ऐसे में जवाब है— बेसन के गट्टे। सामग्री : तीन-चौथाई कप बेसन, नमक-मिर्च-हल्दी स्वादानुसार, आधा चम्मच गर्म मसाला, एक-चौथाई कप दही, दो ...

Read More

बच्चों को सिखायें डे टू डे मैनर्स

बच्चों को सिखायें डे टू डे मैनर्स

स्वाति गुप्ता हम सभी चाहते हैं कि हमारा बच्चा खाने के बाद अपनी प्लेट खुद उठाकर रखे, खिलौनों से खेलने के बाद उसे वापस अपनी जगह पर रख दें, दिन में दो बार ब्रश करे। लेकिन यह सब इतना आसान नहीं होता। बच्चों को ये सब बातें हमें छुटपन से ही ...

Read More

बाल कविता

बाल कविता

धरती के आभूषण पेड़ आओ मिलकर पेड़ लगाएं। पेड़ लगाकर धरा सजाएं॥ हरी-भरी तब होगी डाली। पौधों की जब हो रखवाली॥ पेड़ों-सा कोई न साथी। पेड़ हमारे बने हिमाती॥ धरती के आभूषण पेड़। प्रदूषण के दुश्मन पेड़॥ तरुवर ही है जीवन दाता। इनसे अपना पावन नाता॥ शुद्ध हवा हमको देते हैं। बदले में न कुछ लेते हैं॥ मेघ बुलाकर वर्षा करते। पोखर ताल-तलैया भरते॥ हम ...

Read More


  • आज़ादी से नौकरी
     Posted On August - 18 - 2019
    नौकरी अगर मनमाफिक नहीं है तो प्रचलित कहावतों और मुहावरों में हमेशा ही तुच्छ मानी गई है चाहे वह सरकारी....
  • सार्वजनिक स्थल पर शिष्टाचार
     Posted On August - 18 - 2019
    प्राचीन समय से बुजुर्ग हमें विनम्र और शालीन व्यवहार की शिक्षा देते आ रहे हैं। शिष्टाचारपूर्ण किया गया व्यवहार....
  • ओ रे… कन्हैया
     Posted On August - 18 - 2019
    अद‍्भुत था श्री कृष्ण का बाल्य जीवन। उनका मनमोहक चेहरा, अनुपम मुस्कान, बांसुरी और उनका नृत्य ऐसा था कि लोग....
  • नयी खोजों का दौर जारी
     Posted On August - 18 - 2019
    पॉकेट वीडियोगेम का भी एक ज़माना हुआ करता था। बाद में उसकी जगह मोबाइल फोन गेम्स ने ले ली और....

समाज के पथ प्रदर्शक तुलसीदास

Posted On August - 4 - 2019 Comments Off on समाज के पथ प्रदर्शक तुलसीदास
महाकवि तुलसीदास के जन्म से लेकर उनके रामभक्त बनने तक की कई कहानियां हैं। कठोरतम। तभी तो आग में तपे कुंदन की मानिंद तुलसीदास ने समाज को ऐसी राह दिखाई कि हर तरह के मामले में उनकी चौपाइयों, दोहों, सोरठों आदि का संदर्भ दिया जाता है। शैव और वैष्णव संप्रदाय के बीच भेद को दूर करने के लिए उन्होंने रामेश्वरम में भगवान श्रीराम द्वारा शिव ....

शिव ने खुद दिखाई बूढ़ा अमरनाथ की राह!

Posted On August - 4 - 2019 Comments Off on शिव ने खुद दिखाई बूढ़ा अमरनाथ की राह!
जम्मू-कश्मीर में बूढ़ा अमरनाथ यात्रा शुरू होने जा रही है। बूढ़ा अमरनाथ भगवान शिव का ही मंदिर है। बेहद खूबसूरत लोरन घाटी के पास पुंछ के राजपुरा मंडी में स्थित इस मंदिर तक पहुंचने के लिए अमरनाथ यात्रा की तरह कठिन पैदल चढ़ाई नहीं है। यह प्राचीन मंदिर और इसमें स्थापित शिवलिंग चकमक पत्थर का है। ....

व्रत-पर्व

Posted On August - 4 - 2019 Comments Off on व्रत-पर्व
4 अगस्त : दूर्वा गणपति व्रत, वरद‍् चतुर्थी 5 अगस्त : नाग-पंचमी, श्री कल्कि जयंती (सायाह‍्न-व्यापिनी), तक्षक पूजा, जाग्रत गौरी पूजा 7 अगस्त : गोस्वामी तुलसीदास जयंती, शीतला सप्तमी, पार्श्वनाथ निर्वाण दिवस, रविन्द्रनाथ टैगोर स्मृति दिवस 8 अगस्त : श्री दुर्गाष्टमी, मेला चिन्तपूर्णी-चामुण्डादेवी (हि.प्र.) समाप्त 10 अगस्त : झूलन यात्रा -सत्यव्रत बेंजवाल  

पार्श्वनाथ 9 जन्मों बाद बने तीर्थंकर

Posted On August - 4 - 2019 Comments Off on पार्श्वनाथ 9 जन्मों बाद बने तीर्थंकर
जैन धर्म के 23वें तीर्थंकर भगवान पार्श्वनाथ अज्ञान-अंधकार-आडम्बर के बीच क्रांति का बीज बनकर प्रकट हुए। लगभग 3 हजार वर्ष पूर्व वाराणसी में अश्वसेन नाम के इक्ष्वाकु वंशीय राजा थे। उनकी रानी वामा ने पौष कृष्ण एकादशी के दिन महातेजस्वी पुत्र को जन्म दिया, जिसके शरीर पर सर्पचिन्ह था। नाम रखा गया ‘पार्श्व’। ....

नागपंचमी पर कई शुभ संयोग

Posted On August - 4 - 2019 Comments Off on नागपंचमी पर कई शुभ संयोग
कल नागपंचमी है। सावन के महीने में सोमवार के दिन नागपंचमी का संयोग 20 साल बाद बना है। पंडित-ज्योतिषियों के अनुसार यह संयोग बेहद मंगलकारी है। नक्षत्र ज्योतिष अनुसंधान केंद्र जगाधरी के पंडित उदयवीर शास्त्री के अनुसार इससे पहले 16 अगस्त, 1999 को यह संयोग बना था। उन्होंने बताया कि इसके साथ ही करीब 25 साल बाद इस दिन संजीवनी योग भी बन रहा है। ....

अपने हुए बेगाने

Posted On August - 4 - 2019 Comments Off on अपने हुए बेगाने
हाल ही में देश की राजधानी दिल्ली से सटे गाजि़याबाद से एक बुजुर्ग दंपति की दारुण गाथा सोशल मीडिया पर वायरल हुई थी। इसके मुताबिक बुजुर्ग दंपति का बेटा-बहू उन्हें उनके ही बनाए घर से निकालने पर आमादा थे। उम्र के आखिरी पड़ाव पर पहुंचे इस दंपति को जब अपने परिवार के सहारे की जरूरत थी, ....

साइबर सुरक्षा का अधिकार

Posted On August - 3 - 2019 Comments Off on साइबर सुरक्षा का अधिकार
इंटरनेट पर सुरक्षा का अधिकार किस तरह काम करता है इस सवाल का जवाब हर कोई जानना चाहता है। भारत में हर दूसरे सेकेंड में एक महिला, साइबर अपराधों का शिकार होती है। ....

भक्ति और प्रेम से भरी हो कांवड़

Posted On July - 28 - 2019 Comments Off on भक्ति और प्रेम से भरी हो कांवड़
कंधे पर श्रद्धा की कांवड़। पैरों में घुंघरू। बदन पर केसरी वस्त्र। रमते जोगी की भांति हर श्वास में शिव भक्ति के स्वर। प्रकृति की लय के साथ बंधा यह अनुष्ठान जैसे शिवभक्त को भक्ति की पराकाष्ठा पर अपने ईष्ट से एकाकार कर देता है और गंगाजल के अभिषेक के साथ भोले बाबा की कृपा का अधिकारी बना देता है। ....

शादी बाद में…

Posted On July - 28 - 2019 Comments Off on शादी बाद में…
सड़कों, दफ्तरों, मेट्रो, घरों में बड़ी संख्या में युवा पीढ़ी दौड़ती-भागती नज़र आती है। कुल आबादी का पैंसठ प्रतिशत जो ठहरे। उन्हें जल्दी से जल्दी करिअर के टॉप पर पहुंचना है। भरपूर पैसे कमाने हैं और अपने हर दोस्त से पहले जीवन की हर सुविधा जुटानी है। ....

देवी पार्वती को 108 जन्मों बाद मिले थे शिव

Posted On July - 28 - 2019 Comments Off on देवी पार्वती को 108 जन्मों बाद मिले थे शिव
हरियाली तीज जहां आस्था का पर्व है, वहीं सौंदर्य और प्रेम का उत्सव भी है। शिव पुराण के अनुसार हरियाली तीज के दिन भगवान शिव और माता पार्वती का पुनर्मिलन हुआ था। पौराणिक मान्यता के अनुसार माता पार्वती ने भगवान शिव को पति के रूप में पाने के लिए कठोर तप किया था। ....

सावन में शंकरमय हो जाती है काशी

Posted On July - 28 - 2019 Comments Off on सावन में शंकरमय हो जाती है काशी
क्षितिज पर छाई लालिमा, शंख और घंटों की मधुर ध्वनि, कानों में रस घोलते वेद मंत्रों का उच्चारण, गंगा की आरती करते लोग, किनारों पर पंडे-पुजारियों से माथे पर चंदन का तिलक लगवाते श्रद्धालुओं की लंबी कतारें, सुगंधित वनस्पतियों और फूलों से उठने वाली भीनी-भीनी सुगंध। यह नजारा है देश की अाध्यात्मिक और सांस्कृतिक नगरी काशी (वाराणसी) का। सावन में काशी शंकरमय हो जाती है। ....

अनुशासन का पहला पाठ

Posted On July - 28 - 2019 Comments Off on अनुशासन का पहला पाठ
बात लगभग 1950 की है। तब मेरी उम्र लगभग 6 साल की होगी। उन दिनों लोगों का ध्यान पढ़ाई की तरफ कम ही हुआ करता था। मेरेे घरवालों ने मुझे भी स्कूल में दाखिल कराने का फैसला किया। ....

गर्भपात के लिए सहमति का अधिकार

Posted On July - 28 - 2019 Comments Off on गर्भपात के लिए सहमति का अधिकार
मधु गोयल कानून ने महिलाओं को बहुत से अधिकार दिए हैं। उन्हीं में से एक अधिकार है—अबॉर्शन के लिए महिला की सहमति का अधिकार, यानी कि महिला का गर्भपात करवाने के लिए उसकी सहमति होना बहुत अनिवार्य है। गर्भपात के लिए महिला की सहमति नहीं है तो कानून किस तरह की सख्ती से निपटता है? आईपीसी की धारा-312 के प्रावधान अनुसार महिला की सहमति के बिना जबरदस्ती उसका गर्भपात कराया जाता है तो ऐसी 

व्यापार की कामयाबी का शिष्टाचार

Posted On July - 28 - 2019 Comments Off on व्यापार की कामयाबी का शिष्टाचार
व्यापार में शिष्टाचार और अच्छा व्यवहार कामयाबी की बड़ी कुंजी माना जाता है। यह व्यवहार ही है, जो हमें अच्छा या बुरा व्यापारी या पेशेवर बनाता है। यहां हम बात करेंगे व्यापार संबंधी शिष्टाचार की। ....

घटा घनघोर

Posted On July - 28 - 2019 Comments Off on घटा घनघोर
सूरज दादा पड़ गये कमजोर घिर आयी काली घटा घनघोर। रौब अब तो पड़ गया कुछ ढीला रंग उतर गया अब पीला-पीला। पवन करने लगी कितना शोर सूरज दादा पड़ गये कमजोर। बादलों की चल पड़ी है टोलियां छोड़ती बौछारों की गोलियां। वन उपवनों में नाच रहे मोर सूरज दादा पड़ गये कमजोर। लहलहा उठी हैं क्यारी-क्यारी पुरवा चलती है कितनी प्यारी। नदी में उठने लगी है हिलौर सूरज दादा पड़ गये कमजोर। नील गगन में छाई अंधियारी चमके 

रोबोटिक्स के नये आयाम

Posted On July - 28 - 2019 Comments Off on रोबोटिक्स के नये आयाम
कुमार गौरव अजीतेन्दु रोबोट स्टार्टअप माइरा के हाउसकीपिंग रोबोट ‘उगो’ का अपग्रेडेड मॉडल आ चुका है। घर की सफाई से लेकर कपड़े धोने वाला यह रोबोट 20 हजार येन (करीब 12,800 रुपए) प्रति माह के किराए पर मिलेगा। ‘उगो’ इतने कम पैसे में घर के काम पूरी सावधानी और सुरक्षा से करता है। आमतौर पर जापान में हाउसकीपिंग सर्विस के लिए 30 से 40 हजार रुपए महीना चार्ज किए जाते हैं, ऐसे में यह काफी किफायती साबित 
Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.