सिल्वर स्क्रीन !    हेलो हाॅलीवुड !    साहित्यिक सिनेमा से मोहभंग !    एक्यूट इंसेफेलाइिटस सिंड्रोम से बच्चों को बचाएं !    चैनल चर्चा !    बेदम न कर दे दमा !    दिल को दुरुस्त रखेंगे ये योग !    कंट्रोवर्सी !    दुबला पतला रहना पसंद !    हिंदी फीचर फिल्म : फर्ज़ !    

लहरें › ›

खास खबर
आज़ादी का संघर्ष

आज़ादी का संघर्ष

ललित शौर्य कमल पांचवीं कक्षा में पढ़ता था। हर साल वह पन्द्रह अगस्त के कार्यक्रमों में बड़े उत्साह के साथ भाग लेता था। लेकिन उसको एक बात समझ में नहीं आती थी कि आखिर हर साल पंद्रह अगस्त क्यों मनाया जाता है। हर साल स्वतंत्रता दिवस मनाने से क्या लाभ है। ...

Read More

डंडे का कमाल

डंडे का कमाल

राजपाल सिंह गुलिया अतीत में झांकता हूं तो स्मृतिपटल पर न जाने कितनी ही तस्वीरें उभरने लगती हैं। स्कूल का वह दिन याद आ जाता है। एक दिन मास्टरजी ने सुबह की प्रार्थना सभा के बाद कड़क आवाज़ में कहा, ‘कच्ची पहली वाले सभी बच्चे खड़े हो जाएं, जिनका नाम नहीं ...

Read More

बात करने की कला

बात करने की कला

मोनिका अग्रवाल दरअसल, बात कह देना ही काफी नहीं होता। बात को ठीक प्रकार से कहना एक कला है। कहने का अभिप्राय है कि जितनी भी बात की जाए वह अर्थपूर्ण हो। पुरानी कहावत है कि निरर्थक बात से ज्यादा अच्छी अर्थपूर्ण चुप्पी है। बेसिर-पैर की बातें सिर्फ हंसी का पात्र ...

Read More

महिलाओं की गिरफ्तारी पर क्या हैं नियम

महिलाओं की गिरफ्तारी पर क्या हैं नियम

मधु गोयल कानून में महिलाओं को बहुत से अधिकार दिये हैं, जिनके बारे में उन्हें ज्यादा जानकारी नहीं है। ज़रूरी है कि महिलाएं जानें कि उन्हें कौन से कानूनी अधिकार मिले हैं ताकि वह अपने साथ हुए अत्याचार के खिलाफ आवाज़ उठा सकें। किसी भी महिला की गिरफ्तारी के नियम और ...

Read More

इतिहास के आईने से  प्रतिबंधित साहित्य

इतिहास के आईने से प्रतिबंधित साहित्य

राजवंती मान मुझको कौमी दर्द का बीमार रहने दीजिये। मुल्क की खातिर मुझे बेजार रहने दीजिये॥ (प्रतिबंधित लाहौर की फांसी’ उर्फ भगतसिंह का तराना, एन.एल.ए. ‘बमलट’, 1931, बनारस सिटी) अंग्रेजों के भारत में काबिज़ होते ही प्राच्य ज्ञान, संस्कृति और मूल्यों पर पाश्चात्य असर दृष्टिगोचर होने लगा। सभ्यताओं के बीच की खाई से जागरूक ...

Read More

आज से मार्गी होंगे बृहस्पति, सभी रािशयों पर असर

आज से मार्गी होंगे बृहस्पति, सभी रािशयों पर असर

मदन गुप्ता सपाटू ज्योतिष के अनुसार हमारे सौरमंडल में जब भी कोई बड़ा ग्रह राशि परिवर्तन करता है, वह वक्री या मार्गी होता है, उदय अथवा अस्त होता है या उसकी गति बदलती है, तो धरती के अलावा मानव जीवन पर विशेष प्रभाव पड़ते हैं। ज्योतिष में बृहस्पति ग्रह का महत्व ...

Read More

लोहागर्ल जहां पानी में गल गयी थी भीम की गदा

लोहागर्ल जहां पानी में गल गयी थी भीम की गदा

सुनील दीक्षित हरियाणा के साथ लगते राजस्थान में कई धार्मिक और ऐतिहासिक स्थान हैं, जहां श्रद्धालुओं व पर्यटकों का 12 माह आना-जाना लगा रहता है। ऐसा ही एक स्थान है लोहागर्ल। अब ‘लुहागरजी’ के नाम से प्रसिद्ध यह धार्मिक रमणीक स्थान झुंझुनू से 30 किलोमीटर की दूरी पर नवलगढ़ तहसील में ...

Read More


बाल कविता

Posted On August - 4 - 2019 Comments Off on बाल कविता
बादल पानी भर कर लाये बादल, फिरते हैं इतराए बादल। कितने हैं ये काले-काले, लगता नहीं नहाए बादल। बदल-बदल कर रंग रूप ये, हमको खूब डराएं बादल। बैठ गगन में पवन अश्व पर, कैसी दौड़ लगाएं बादल। गड़गड़ करके खूब गरजते, जब गुस्से में आएं बादल। दिन की रात करें ये पल में, जब सूरज पर छाएं बादल। दादुर झींगुर मोर सभी के, मन को हैं हर्षाएं बादल।                               राजपाल सिंह गुलिया  

बरकरार रहे दोस्ती

Posted On August - 4 - 2019 Comments Off on बरकरार रहे दोस्ती
फ्रेंडशिप-डे यानी दोस्तों के साथ मौज-मस्ती करने का दिन। उन्हें इस बात का अहसास दिलाने का दिन कि वह उनकी जि़ंदगी में काफी मायने रखते हैं और उनकी जि़ंदगी का महत्वपूर्ण हिस्सा हैं। लेकिन कई बार इस दोस्ती में किसी न किसी कारण से दरार पड़ जाती है और फिर उसे टूटने में ज़रा भी देरी नहीं लगती। कई बार शादी होने के बाद दोस्ती ....

समाज के पथ प्रदर्शक तुलसीदास

Posted On August - 4 - 2019 Comments Off on समाज के पथ प्रदर्शक तुलसीदास
महाकवि तुलसीदास के जन्म से लेकर उनके रामभक्त बनने तक की कई कहानियां हैं। कठोरतम। तभी तो आग में तपे कुंदन की मानिंद तुलसीदास ने समाज को ऐसी राह दिखाई कि हर तरह के मामले में उनकी चौपाइयों, दोहों, सोरठों आदि का संदर्भ दिया जाता है। शैव और वैष्णव संप्रदाय के बीच भेद को दूर करने के लिए उन्होंने रामेश्वरम में भगवान श्रीराम द्वारा शिव ....

शिव ने खुद दिखाई बूढ़ा अमरनाथ की राह!

Posted On August - 4 - 2019 Comments Off on शिव ने खुद दिखाई बूढ़ा अमरनाथ की राह!
जम्मू-कश्मीर में बूढ़ा अमरनाथ यात्रा शुरू होने जा रही है। बूढ़ा अमरनाथ भगवान शिव का ही मंदिर है। बेहद खूबसूरत लोरन घाटी के पास पुंछ के राजपुरा मंडी में स्थित इस मंदिर तक पहुंचने के लिए अमरनाथ यात्रा की तरह कठिन पैदल चढ़ाई नहीं है। यह प्राचीन मंदिर और इसमें स्थापित शिवलिंग चकमक पत्थर का है। ....

व्रत-पर्व

Posted On August - 4 - 2019 Comments Off on व्रत-पर्व
4 अगस्त : दूर्वा गणपति व्रत, वरद‍् चतुर्थी 5 अगस्त : नाग-पंचमी, श्री कल्कि जयंती (सायाह‍्न-व्यापिनी), तक्षक पूजा, जाग्रत गौरी पूजा 7 अगस्त : गोस्वामी तुलसीदास जयंती, शीतला सप्तमी, पार्श्वनाथ निर्वाण दिवस, रविन्द्रनाथ टैगोर स्मृति दिवस 8 अगस्त : श्री दुर्गाष्टमी, मेला चिन्तपूर्णी-चामुण्डादेवी (हि.प्र.) समाप्त 10 अगस्त : झूलन यात्रा -सत्यव्रत बेंजवाल  

पार्श्वनाथ 9 जन्मों बाद बने तीर्थंकर

Posted On August - 4 - 2019 Comments Off on पार्श्वनाथ 9 जन्मों बाद बने तीर्थंकर
जैन धर्म के 23वें तीर्थंकर भगवान पार्श्वनाथ अज्ञान-अंधकार-आडम्बर के बीच क्रांति का बीज बनकर प्रकट हुए। लगभग 3 हजार वर्ष पूर्व वाराणसी में अश्वसेन नाम के इक्ष्वाकु वंशीय राजा थे। उनकी रानी वामा ने पौष कृष्ण एकादशी के दिन महातेजस्वी पुत्र को जन्म दिया, जिसके शरीर पर सर्पचिन्ह था। नाम रखा गया ‘पार्श्व’। ....

नागपंचमी पर कई शुभ संयोग

Posted On August - 4 - 2019 Comments Off on नागपंचमी पर कई शुभ संयोग
कल नागपंचमी है। सावन के महीने में सोमवार के दिन नागपंचमी का संयोग 20 साल बाद बना है। पंडित-ज्योतिषियों के अनुसार यह संयोग बेहद मंगलकारी है। नक्षत्र ज्योतिष अनुसंधान केंद्र जगाधरी के पंडित उदयवीर शास्त्री के अनुसार इससे पहले 16 अगस्त, 1999 को यह संयोग बना था। उन्होंने बताया कि इसके साथ ही करीब 25 साल बाद इस दिन संजीवनी योग भी बन रहा है। ....

अपने हुए बेगाने

Posted On August - 4 - 2019 Comments Off on अपने हुए बेगाने
हाल ही में देश की राजधानी दिल्ली से सटे गाजि़याबाद से एक बुजुर्ग दंपति की दारुण गाथा सोशल मीडिया पर वायरल हुई थी। इसके मुताबिक बुजुर्ग दंपति का बेटा-बहू उन्हें उनके ही बनाए घर से निकालने पर आमादा थे। उम्र के आखिरी पड़ाव पर पहुंचे इस दंपति को जब अपने परिवार के सहारे की जरूरत थी, ....

साइबर सुरक्षा का अधिकार

Posted On August - 3 - 2019 Comments Off on साइबर सुरक्षा का अधिकार
इंटरनेट पर सुरक्षा का अधिकार किस तरह काम करता है इस सवाल का जवाब हर कोई जानना चाहता है। भारत में हर दूसरे सेकेंड में एक महिला, साइबर अपराधों का शिकार होती है। ....

भक्ति और प्रेम से भरी हो कांवड़

Posted On July - 28 - 2019 Comments Off on भक्ति और प्रेम से भरी हो कांवड़
कंधे पर श्रद्धा की कांवड़। पैरों में घुंघरू। बदन पर केसरी वस्त्र। रमते जोगी की भांति हर श्वास में शिव भक्ति के स्वर। प्रकृति की लय के साथ बंधा यह अनुष्ठान जैसे शिवभक्त को भक्ति की पराकाष्ठा पर अपने ईष्ट से एकाकार कर देता है और गंगाजल के अभिषेक के साथ भोले बाबा की कृपा का अधिकारी बना देता है। ....

शादी बाद में…

Posted On July - 28 - 2019 Comments Off on शादी बाद में…
सड़कों, दफ्तरों, मेट्रो, घरों में बड़ी संख्या में युवा पीढ़ी दौड़ती-भागती नज़र आती है। कुल आबादी का पैंसठ प्रतिशत जो ठहरे। उन्हें जल्दी से जल्दी करिअर के टॉप पर पहुंचना है। भरपूर पैसे कमाने हैं और अपने हर दोस्त से पहले जीवन की हर सुविधा जुटानी है। ....

देवी पार्वती को 108 जन्मों बाद मिले थे शिव

Posted On July - 28 - 2019 Comments Off on देवी पार्वती को 108 जन्मों बाद मिले थे शिव
हरियाली तीज जहां आस्था का पर्व है, वहीं सौंदर्य और प्रेम का उत्सव भी है। शिव पुराण के अनुसार हरियाली तीज के दिन भगवान शिव और माता पार्वती का पुनर्मिलन हुआ था। पौराणिक मान्यता के अनुसार माता पार्वती ने भगवान शिव को पति के रूप में पाने के लिए कठोर तप किया था। ....

सावन में शंकरमय हो जाती है काशी

Posted On July - 28 - 2019 Comments Off on सावन में शंकरमय हो जाती है काशी
क्षितिज पर छाई लालिमा, शंख और घंटों की मधुर ध्वनि, कानों में रस घोलते वेद मंत्रों का उच्चारण, गंगा की आरती करते लोग, किनारों पर पंडे-पुजारियों से माथे पर चंदन का तिलक लगवाते श्रद्धालुओं की लंबी कतारें, सुगंधित वनस्पतियों और फूलों से उठने वाली भीनी-भीनी सुगंध। यह नजारा है देश की अाध्यात्मिक और सांस्कृतिक नगरी काशी (वाराणसी) का। सावन में काशी शंकरमय हो जाती है। ....

अनुशासन का पहला पाठ

Posted On July - 28 - 2019 Comments Off on अनुशासन का पहला पाठ
बात लगभग 1950 की है। तब मेरी उम्र लगभग 6 साल की होगी। उन दिनों लोगों का ध्यान पढ़ाई की तरफ कम ही हुआ करता था। मेरेे घरवालों ने मुझे भी स्कूल में दाखिल कराने का फैसला किया। ....

गर्भपात के लिए सहमति का अधिकार

Posted On July - 28 - 2019 Comments Off on गर्भपात के लिए सहमति का अधिकार
मधु गोयल कानून ने महिलाओं को बहुत से अधिकार दिए हैं। उन्हीं में से एक अधिकार है—अबॉर्शन के लिए महिला की सहमति का अधिकार, यानी कि महिला का गर्भपात करवाने के लिए उसकी सहमति होना बहुत अनिवार्य है। गर्भपात के लिए महिला की सहमति नहीं है तो कानून किस तरह की सख्ती से निपटता है? आईपीसी की धारा-312 के प्रावधान अनुसार महिला की सहमति के बिना जबरदस्ती उसका गर्भपात कराया जाता है तो ऐसी 

व्यापार की कामयाबी का शिष्टाचार

Posted On July - 28 - 2019 Comments Off on व्यापार की कामयाबी का शिष्टाचार
व्यापार में शिष्टाचार और अच्छा व्यवहार कामयाबी की बड़ी कुंजी माना जाता है। यह व्यवहार ही है, जो हमें अच्छा या बुरा व्यापारी या पेशेवर बनाता है। यहां हम बात करेंगे व्यापार संबंधी शिष्टाचार की। ....
Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.