चुनाव आयोग की हिदायतों का असर : खट्टर सरकार ने बदले 14 शहरों के एसडीएम !    अस्पताल में भ्रूण लिंग जांच का भंडाफोड़ !    यमुना का सीना चीर नदी के बीचोंबीच हो रहा अवैध खनन !    जाकिर हुसैन समेत 4 हस्तियों को संगीत नाटक अकादमी फेलोशिप !    स्टोक्स को मिल सकती है ‘नाइटहुड’ की उपाधि !    ब्रिटेन में पहली बार 2 आदिवासी नृत्य !    मानहानि का मुकदमा जीते गेल !    शिमला में असुरक्षित भवनों का निरीक्षण शुरू !    पीओके में बाढ़ का कहर, 28 की मौत !    कांग्रेस ने लोकसभा से किया वाकआउट !    

फीचर › ›

खास खबर
धीरे-धीरे रे मना...

धीरे-धीरे रे मना...

साई वैद्यनाथन भले देर से हों, प्रभु के प्यारों के काम होते जरूर हैं। इसलिए भगवान के काम करते समय, धैर्य होना अत्यंत महत्वपूर्ण है। संत कबीर ने भी कहा है- धीरे-धीरे रे मना, धीरे सब कुछ होय, माली सींचे सौ घड़ा, ऋतु आए फल होय। साल 1893 में शिकागो में धर्म ...

Read More

कालका जी इतिहास और आस्था का संगम

कालका जी इतिहास और आस्था का संगम

तीर्थाटन अमिताभ स. मंदिर के नाम पर समूचे इलाके के नामकरण होने की मिसालें दिल्ली में एक-दो ही हैं। पहली है झंडेवालान, जिसका नाम झंडेवाला मंदिर से पड़ा है। दूसरी है कालका जी। मां दुर्गा के एक रूप काली माता का मंदिर ‘कालका जी’ पांडवों के समय का माना जाता है। बताते ...

Read More

चौमासा 12 से, मंगल कार्यों को विराम

चौमासा 12 से, मंगल कार्यों को विराम

भगवान विष्णु का विश्राम मदन गुप्ता सपाटू आषाढ़ शुक्ल पक्ष की एकादशी बेहद खास है। देवशयनी कहलाने वाली यह एकादशी इस बार 12 जुलाई को है। पुराणों में कहा गया है कि इस एकादशी की रात भगवान विष्णु क्षीरसागर व पाताल में 4 माह के विश्राम के लिए चले जाते हैं। ...

Read More

मायने रखता है मन का सरिता हो जाना

मायने रखता है मन का सरिता हो जाना

कृष्णलता यादव निरन्तर प्रवाहशीलता का नाम है– सरिता। किसी के लिए मात्र पानी का भंडार तो अन्य के लिए जीवन का आधार, ममत्व, वात्सल्य और त्याग की जीवनदायी त्रिवेणी-सी। इस भाव के वशीभूत सरिता जल में स्नान, उसके तट पर दान, पूजन-अर्चन, अर्पण-तर्पण व आचमन में मानव मन को पुण्यार्जन का ...

Read More

बजट उम्मीदों को मंदी की चुनौती

बजट उम्मीदों को मंदी की चुनौती

आलोक पुराणिक केंद्रीय वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण 5 जुलाई को वित्त वर्ष 2019-20 के लिए पूर्ण बजट पेश करेंगी। फरवरी में तत्कालीन वित्त मंत्री पीयूष गोयल 2019-20 के लिए अंतरिम बजट पेश कर चुके हैं, अब नये सिरे से बजट के गुणा-गणित तय होंगे। इस साल एक जून से 27 जून के ...

Read More

सोशल मीडिया जरा बचके

सोशल मीडिया जरा बचके

रेशू वर्मा कुछ समय पहले सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हुआ था, जिसमें एक महिला उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को शादी का प्रस्ताव भेजने की बात कर रही थी। इस वीडियो को एक स्वतंत्र पत्रकार प्रशांत कनौजिया ने अपने ट्विटर अकाउंट पर पोस्ट करते हुए योगी आदित्यनाथ का ...

Read More


जीवन का संदेश देता ऋतुराज

Posted On February - 4 - 2019 Comments Off on जीवन का संदेश देता ऋतुराज
वसंत कोमल भी है और कठोर भी। वसंत में फूलों के चटख रंगों का सम्मोहन है, तो पकी फसलों की परिपक्वता भी। कभी धूप से न हटने का आग्रह है, तो कभी धूप से बचने की बेचैनी। यही है वसंत का वास्तविक जादू, जिससे कोई बचाव नहीं। कोई करना भी नहीं चाहता बचाव। ....

अबूझ मुहूर्त है वसंत पंचमी

Posted On February - 4 - 2019 Comments Off on अबूझ मुहूर्त है वसंत पंचमी
‘वसंत पंचमी’ वैदिककालीन पर्व है। माघ महीने के शुक्ल पक्ष की पंचमी काे मनाया जाने वाला यह उल्लासमय पर्व समाज के विविध वर्गों में विविध रूपों में मनाया जाता है। विद्यार्थियों और शिक्षा प्रेमियों के लिए यह ‘सरस्वती पूजा’ का महान पर्व है। इसे ‘श्री पंचमी’ और ‘सरस्वती पंचमी’ भी कहा गया है। ....

व्रत-पर्व

Posted On February - 4 - 2019 Comments Off on व्रत-पर्व
4 फरवरी- माघ (मौनी) अमावस, सोमवती अमावस, मेला अर्ध कुम्भी पर्व (प्रयागराज), तीर्थस्थान महात्म्य, महोदय योग (सुबह 7.58 से सूर्यास्त तक)। त्रिवेणी अमावस। 5 फरवरी- गुप्त नवरात्र प्रारंभ 6 फरवरी- बाबा श्री लाल दयाल जयंती (ध्यानपुर) पंजाब। 7 फरवरी- जमादि उल्सानी (मुस्लिम) माह शुरू 8 फरवरी- गौरी तृतीया (गोंतरी) व्रत, श्री गणेश तिल चतुर्थी, वरद‍् (कुन्द) चतुर्थी। 9 फरवरी- वसंत-पंचमी (सरस्वती पूजन), श्री पंचमी, 

रामभक्त का अनूठा तीर्थ पंचमुखी हनुमान मंदिर

Posted On February - 4 - 2019 Comments Off on रामभक्त का अनूठा तीर्थ पंचमुखी हनुमान मंदिर
यमुनानगर जिला मुख्यालय से करीब 15 किलोमीटर दूर स्थित है श्री प्राचीन पंचमुखी हनुमान मंदिर, ढाका बसातियांवाला। इस मंदिर में हनुमान जी का अनोखा रूप दिखता है। यहां स्थापित प्रतिमा के चार दिशाओं में चार मुख हैं और पांचवां मुख आकाश की तरफ है। ....

स्नान-दान और मौन का दिन

Posted On February - 4 - 2019 Comments Off on स्नान-दान और मौन का दिन
आज माघ महीने की अमावस्या है। हिन्दू धर्म में बेहद खास माने जाने वाले इस दिन को मौनी अमावस्या भी कहा जाता है। मौनी अमावस्या के साथ-साथ सोमवती अमावस्या का संयोग बन रहा है। इसके अलावा इस दिन महोदय योग भी है। मान्यता है कि इस योग में गंगा स्नान और दान-पुण्य करने से राहु, केतु, शनि से संबंधित कष्टों से मुक्ति मिलती है। इस ....

राजनीति में फलता-फूलता परिवारवाद

Posted On February - 1 - 2019 Comments Off on राजनीति में फलता-फूलता परिवारवाद
परिवारवाद के खिलाफ पहले जो तीखे सुर सुनाई देते थे, अब प्रियंका गांधी के राजनीति में प्रवेश करने पर नहीं सुनाई दिए। कारण साफ है कि आज कश्मीर से कन्या कुमारी तक लगभग ज्यादातर दलों व सभी राज्यों में परिवारवाद गहरी जड़ें जमा चुका है। अभी वामदल ही इससे अछूते हैैं। ....

प्रियंका की परीक्षा

Posted On February - 1 - 2019 Comments Off on प्रियंका की परीक्षा
वे इंदिरा गांधी की तरह दिखती हैं। उनका चेहरा-मोहरा इंदिरा गांधी से काफी मिलता-जुलता है। बालों का स्टाइल भी लगभग वैसा ही है। आमतौर पर आधुनिक परिधान में रहने वाली प्रियंका वाड्रा को सामाजिक व राजनीतिक कार्यक्रमों में साड़ी में देखा जाता है। ....

व्रत-पर्व

Posted On January - 28 - 2019 Comments Off on व्रत-पर्व
28 जनवरी- अष्टका श्राद्ध, लाला लाजपतराय जयंती। 30 जनवरी- गांधी स्मृति दिवस, शहीद दिवस। 31 जनवरी- षट‍्तिला एकादशी 1 फरवरी- तिल द्वादशी 2 फरवरी- शनि प्रदोष व्रत, मास शिवरात्रि व्रत, मेरु त्रयोदशी। -सत्यव्रत बेंजवाल  

यहां माता पार्वती और महादेव के हैं अलग-अलग मंदिर

Posted On January - 28 - 2019 Comments Off on यहां माता पार्वती और महादेव के हैं अलग-अलग मंदिर
यमुनानगर के कलेसर गांव में यमुना नदी के पश्चिमी तट पर स्थित है पौराणिक श्री कालेश्वर महादेव मठ। यहां भगवान शंकर और मां पार्वती के अलग-अलग मंदिर हैं। पूरे देश में ऐसे तीर्थ बहुत कम हैं, जहां एक ही जगह पर मां पार्वती और शंकर जी के अलग-अलग मंदिर हों। दोनों ही मंदिरों में शिवलिंग हैं। ....

मृत्यु से अमरता की ओर…

Posted On January - 28 - 2019 Comments Off on मृत्यु से अमरता की ओर…
इन दिनों प्रयागराज में अर्धकुंभ मेला चल रहा है। मनुष्यों का यह सबसे बड़ा जमाव जुड़ा है देवताओं और राक्षसों द्वारा क्षीरसागर के मंथन से। अमरता प्राप्त करने के निरंतर प्रयासों का यह भी एक हिस्सा था। ....

घर में कछुआ करता है कमाल

Posted On January - 28 - 2019 Comments Off on घर में कछुआ करता है कमाल
घर में कछुआ रखना शुभ माना जाता है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, समुद्र मंथन के लिए भगवान विष्णु ने कच्छप अवतार लेकर मंद्रांचल पर्वत को अपने कवच पर थामा था। कहा जाता है कि जहां कछुआ होता है, वहां लक्ष्मी का आगमन होता है। फेंगशुई में भी कछुआ रखना बेहद शुभ माना गया है। इससे घर और ऑफिस में सकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह बना रहता ....

धन्य हैं वे जो खुद को खोजते हैं…

Posted On January - 28 - 2019 Comments Off on धन्य हैं वे जो खुद को खोजते हैं…
अध्यात्म की राह पर चलने में कई बाधाएं आती हैं। ये बाधाएं हमें भटकाती हैं। धर्म से दूर करती हैं। ऐसी ही एक बाधा है कि हम अपने लक्ष्य को ही पहचान नहीं पाते। उसे बहुत दूर समझते हैं। जबकि, हम खुद ही खुद के लक्ष्य हैं। ओशो का एक वचन है- ‘धन्य हैं वे जो स्वयं को खोजते, स्वयं को पाते और स्वयं ही ....

व्रत-पर्व

Posted On January - 21 - 2019 Comments Off on व्रत-पर्व
21 जनवरी- पौष पूर्णिमा, माघ स्नान प्रारंभ, शक माघ प्रारंभ, हेर-होरा, रोकड़िया हनुमान मेला-बुरहानपुर। 23 जनवरी- सौभाग्य सुन्दरी व्रत 24 जनवरी- श्री गणेश संकष्ट चतुर्थी व्रत, तिलकुटी चतुर्थी गौरी-वक्रतुंड चतुर्थी। 26 जनवरी- शीतला षष्ठी। 27 जनवरी- श्रीरामानन्दाचार्य जयन्ती, भानु सप्तमी पर्व। -सत्यव्रत बेंजवाल  

सुख-समृद्धि का हो प्रवेश

Posted On January - 21 - 2019 Comments Off on सुख-समृद्धि का हो प्रवेश
घर का प्रवेश द्वार जितना स्वच्छ होगा, लक्ष्मी आने की संभावना उतनी ही बढ़ जाती है। वास्तु शास्त्र के अनुसार प्रवेश द्वार पर स्वास्तिक या ऊँ की आकृति लगाने से परिवार में सुख-शांति बढ़ती है। ....

हरियाणा… जहां संग-संग चले पौराणिक तीर्थ

Posted On January - 21 - 2019 Comments Off on हरियाणा… जहां संग-संग चले पौराणिक तीर्थ
भारतीय संस्कृति में तीर्थों का विशेष महत्व है। ‘तीर्थ’ शब्द का प्रयोग सामान्य रूप में ‘पुण्य-स्थल’ के संदर्भ में किया जाता है। शास्त्रों में कहा गया है- ‘तरति पापादिक यस्मात‍् इति तीर्था:।’ यानी जिससे पापादि से मुक्ित मिले, वह तीर्थ है। एक अन्य कथन भी है- ‘तीर्यते अनेन इति तीर्था:।’ यानी जिससे तरा जा सके (भव-सागर पार करने का घाट या माध्यम)। ....

अध्यात्म का अर्थ

Posted On January - 21 - 2019 Comments Off on अध्यात्म का अर्थ
आध्यात्मिक प्रक्रिया जीवन और मृत्यु के बारे में नहीं होती। शरीर का जन्म व मृत्यु होती है, जबकि आध्यात्मिक प्रक्रिया आपके बारे में होती है, जो कि न तो जीवन है और न ही मृत्यु। अगर इसे आसान शब्दों में कहा जाए तो इस पूरी आध्यात्मिकता का मकसद उस चीज को हासिल करने की कोशिश है, जिसे यह धरती आपसे वापस नहीं ले सकती। ....
Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.