सनी देओल, करिश्मा ने रेलवे कोर्ट के फैसले को दी चुनौती !    मेट्रो की तारीफ पर अमिताभ के खिलाफ प्रदर्शन !    तेजस में रक्षा मंत्री की पहली उड़ान, 2 मिनट खुद उड़ाया !    अयोध्या पर चुप रहें बयान बहादुर !    पीएम के प्रति ‘अपमानजनक' शब्द राजद्रोह नहीं !    अस्त्र मिसाइल के 5 सफल परीक्षण !    एनडीआरएफ में अब महिलाएं भी !    जेल में न कुर्सी मिली, न तकिया ; कम हुआ वजन !    दिल्ली में नहीं चलीं टैक्सी, ऑटो रिक्शा !    सीएम पद के लिए चेहरा पेश नहीं करेगी कांग्रेस: कैप्टन यादव !    

फीचर › ›

खास खबर
फिर सोनिया गांधी

फिर सोनिया गांधी

हरीश लखेड़ा कांग्रेस को फिर सोनिया गांधी की शरण लेनी पड़ी है। राहुल गांधी के ‘रणछोड़ जी’ बनने के बाद संकट में आई कांग्रेस के सामने सोनिया से बेहतर कोई विकल्प भी नहीं था। इसलिए राहुल के कांग्रेस का अगला अध्यक्ष नेहरू-गांधी परिवार से बाहर के व्यक्ति को बनाने के बयान ...

Read More


  • फिर सोनिया गांधी
     Posted On August - 12 - 2019
    कांग्रेस को फिर सोनिया गांधी की शरण लेनी पड़ी है। राहुल गांधी के ‘रणछोड़ जी’ बनने के बाद संकट में....
  • चौमासा 12 से, मंगल कार्यों को विराम
     Posted On July - 7 - 2019
    आषाढ़ शुक्ल पक्ष की एकादशी बेहद खास है। देवशयनी कहलाने वाली यह एकादशी इस बार 12 जुलाई को है। पुराणों....
  • कालका जी इतिहास और आस्था का संगम
     Posted On July - 7 - 2019
    मंदिर के नाम पर समूचे इलाके के नामकरण होने की मिसालें दिल्ली में एक-दो ही हैं। पहली है झंडेवालान, जिसका....
  • धीरे-धीरे रे मना…
     Posted On July - 7 - 2019
    भले देर से हों, प्रभु के प्यारों के काम होते जरूर हैं। इसलिए भगवान के काम करते समय, धैर्य होना....

सुधारों के प्रणेता

Posted On February - 25 - 2019 Comments Off on सुधारों के प्रणेता
आर्यसमाज के संस्थापक और हिंदू पुनर्जागरण के प्रणेता स्वामी दयानंद सरस्वती का जन्म सन 1824 में फाल्गुन कृष्ण दशमी को हुआ। जन्म के समय मूल नक्षत्र होने से नाम मिला मूलशंकर। घर में पूजा-पाठ और शिव-भक्ति का वातावरण होने के कारण भगवान शिव के प्रति बचपन से ही उनके मन में गहरी श्रद्धा थी। ....

भीतर भी एक परिवार

Posted On February - 25 - 2019 Comments Off on भीतर भी एक परिवार
मनुष्य की बनावट परमात्मा ने कुछ इस तरह से की है कि इसकी कुछ दुनिया बाहर की है, कुछ अंदर की। जैसे शरीर के अंदर की पवन का बाहर की पवन के साथ संबंध जुड़ा हुआ है, शरीर के अंदर पड़े हुए पानी का बाहर के पानी के साथ संबंध जुड़ा है, शरीर की मिट्टी का बाहर की मिट्टी से संबंध है। ....

‘टेंशन’ में भाई साहब

Posted On February - 22 - 2019 Comments Off on ‘टेंशन’ में भाई साहब
इनेलो वाले ‘भाई साहब’ आजकल ‘टेंशन’ में नजर आ रहे हैं। जिन्हें भाई साहब ने बच्चा समझा था, वे बड़ा ‘गच्चा’ दे गए। विधायकों की संख्या भी घट रही है। ऊपर से भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के हिसार दौरे ने बेचैनी और बढ़ा दी है। बुधवार को बजट सत्र शुरू हुआ तो भाई साहब बार-बार विधायकों पर नजर डालते दिखे। ....

‘माननीयों’ का मर्ज

Posted On February - 22 - 2019 Comments Off on ‘माननीयों’ का मर्ज
हरियाणा को सेहतमंद और तंदरुस्ती वाले प्रदेशों में गिना जाता है, लेकिन उसी हरियाणा के लोग ‘माननीय’ विधायक बनने के बाद ‘बीमार’ हो रहे हैं। विधायक ही नहीं, उनके जीवनसाथी भी बीमार रहे हैं। ‘बीमारी’ भी ऐसी कि लगभग हर माह उन्हें हजारों रुपये की दवा खानी पड़ रही है। ....

व्रत-पर्व

Posted On February - 18 - 2019 Comments Off on व्रत-पर्व
19 फरवरी- माघ पूर्णिमा, माघ स्नान समाप्त, श्री गुरु रविदास जयंती, श्री सत्यनारायण व्रत, श्री ललिता जयन्ती, सोनकुण्ड मेला। ....

अनूठे प्रयोगों के साधक स्वामी रामकृष्ण परमहंस

Posted On February - 18 - 2019 Comments Off on अनूठे प्रयोगों के साधक स्वामी रामकृष्ण परमहंस
स्वामी विवेकानंद ने कहा है, ‘श्री रामकृष्ण क्या हैं, वे कितने पूर्व अवतारों के जमे हुए भाव राज्य के अधिराज्य हैं, इस बात को प्राणप्रण से तपस्या करके भी मैं रत्तीभर न समझ सका।’ वास्तव में स्वामी विवेकानंद का कथन बिल्कुल सही है। स्वामी रामकृष्ण परमहंस का जीवन अनोखी साधनाओं का अमूल्य, अद्भुत कोष है। ....

मोर पंख भरे खुशियों के रंग

Posted On February - 18 - 2019 Comments Off on मोर पंख भरे खुशियों के रंग
श्रीकृष्ण, कार्तिकेय, मां सरस्वती और मां लक्ष्मी- सभी को मोर व इसके पंख किसी न किसी रूप में प्रिय हैं। पौराणिक काल में महर्षियों ने मोरपंख की कलम बनाकर ग्रंथ लिखे। वहीं, बौद्ध दर्शन में, मोर ज्ञान का प्रतिनिधित्व करता है। वास्तु और ज्योतिष शास्त्र में मोर पंखों काे बेहद शुभ माना गया है। ....

रविदास जन्म के कारणे होत न कोऊ नीच…

Posted On February - 18 - 2019 Comments Off on रविदास जन्म के कारणे होत न कोऊ नीच…
गुरु रविदास की वाणी में परमात्मा से मिलने की आतुरता, कर्तव्य-परायणता, प्रेम और सत्य आदि मानव मूल्यों की प्रतिष्ठा को प्रमुख स्थान प्राप्त है। संत शब्द का प्रयोग प्राय: बुद्धिमान, सज्जन, परोपकारी एवं सदाचारी व्यक्ति के लिए किया जाता है। ‘संत’ शब्द ‘सत‍्’ शब्द का ही एक अन्यतम रूप है, जिसके अनुसार संत सत्य के प्रति पूर्ण आस्था रखते हैं। ....

बड़े चौधरी के बोल

Posted On February - 15 - 2019 Comments Off on बड़े चौधरी के बोल
इनेलो वाले बड़े चौधरी साहब यानी ओमप्रकाश चौटाला पार्टी और परिवार में बिखराव से हो रहे राजनीतिक नुकसान को कम करने की तमाम कोशिशें कर रहे हैं। अपने छोटे बेटे अभय चौटाला को मजबूत करने के लिए तिहाड़ से फरलो पर आते ही पूरे प्रदेश का दौरा कर रहे हैं। यही नहीं, इशारों-इशारों में अपने बड़े बेटे अजय चौटाला व उनके बेटों दुष्यंत व दिग्विजय चौटाला पर भी निशाना साध रहे हैं। बताने वालों का कहना है 

जानलेवा जाम

Posted On February - 15 - 2019 Comments Off on जानलेवा जाम
सुरा प्रेम में भारत का दर्जा दुनिया के अन्य कई देशों से बहुत ऊपर है। विश्व में हमारा खुशहाली सूचकांक गिर रहा है तो शराब की खपत के मामले में तेजी से आगे बढ़ रहा है। 2005 से 2016 के बीच यह खपत दोगुनी हो चुकी है। मनोवैज्ञानिक विश्लेषण बताता है कि आनंद-प्रमोद के व्यसन का रूप ले लेने से व्यक्ति को मानसिक तनाव, असंतोष ....

धर्म वाक्य

Posted On February - 13 - 2019 Comments Off on धर्म वाक्य
दुष्टों के मन, वचन एवं कर्म में और-और भाव होते हैं, परन्तु सज्जनों के मन, वचन एवं कर्म तीनों में एक ही भाव रहता है। ....

ईश्वर वहां भी, जहां सोचा नहीं

Posted On February - 13 - 2019 Comments Off on ईश्वर वहां भी, जहां सोचा नहीं
ईश्वर को सर्वव्यापी कहा गया है। तो फिर उन्हें ऐसी-ऐसी जगहों पर भी मिलना चाहिए, जहां इंसान उन्हें पाने की उम्मीद भी न करता हो। आइए देखें कि हमारे महाकाव्यों में इस बारे में क्या लिखा है... ....

सजा हो घर ऐसा, पति-पत्नी के प्यार जैसा

Posted On February - 13 - 2019 Comments Off on सजा हो घर ऐसा, पति-पत्नी के प्यार जैसा
एक-दूसरे के प्रति आदर, विश्वास और प्रेम। पति-पत्नी के मधुर रिश्ते का ये अाधार हैं। इनके साथ यदि घर और खासकर बेडरूम का वास्तु सही हो, तो आपसी प्यार लगातार बढ़ता है। ....

मुस्कान से बांटें खुशियां

Posted On February - 13 - 2019 Comments Off on मुस्कान से बांटें खुशियां
वर्तमान समस्याएं गंभीर चिंता का विषय हैं। यह ज्ारूरी है कि हम समस्याओं का कारण जानें और फिर उनका निदान करें। परंतु यह समझ लें कि परिवर्तन एक व्यक्ति से ही शुरू होता है। जब एक व्यक्ति सुधरता है, तो पूरे परिवार को¨ उसका लाभ मिलता है, पूरा समाज समृद्धð होता है। सबसे पहले हमें स्वयं को¨ सुधारने का प्रयास करना चाहिये। जब हम सुधरते ....

मिड्ढा की किस्मत

Posted On February - 8 - 2019 Comments Off on मिड्ढा की किस्मत
राजनीति में किस्मत हो तो जींद के नवनिर्वाचित विधायक कृष्ण मिड्ढा जैसी। छोटे मिड्ढा ने जींद का उपचुनाव क्या जीता, पूरी भाजपा उन्हें गोद में उठाए हुए है। 2014 में विधानसभा चुनाव जीतने वाले 47 विधायकों में से मंत्रियों को छोड़कर कम ही ऐसे विधायक होंगे, जिन्हें पीएम नरेंद्र मोदी से मुलाकात का मौका मिला हो। ....

सरकार का सियासी कदम

Posted On February - 8 - 2019 Comments Off on सरकार का सियासी कदम
पूर्वोत्तर राज्यों और बंगाल के लिए नागरिकता संशोधन विधेयक एक बड़ा राजनीतिक-सामाजिक मुद्दा बन गया है। भाजपा को इस विधेयक में अपना बड़ा सियासी फायदा दिखाई दे रहा है, जबकि राजनीतिक पर्यवेक्षक केंद्र सरकार की इस पहल को पूरी तरह संविधान की मूल भावना और चरित्र के विरुद्ध ठहरा रहे हैं। ....
Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.