सनी देओल, करिश्मा ने रेलवे कोर्ट के फैसले को दी चुनौती !    मेट्रो की तारीफ पर अमिताभ के खिलाफ प्रदर्शन !    तेजस में रक्षा मंत्री की पहली उड़ान, 2 मिनट खुद उड़ाया !    अयोध्या पर चुप रहें बयान बहादुर !    पीएम के प्रति ‘अपमानजनक' शब्द राजद्रोह नहीं !    अस्त्र मिसाइल के 5 सफल परीक्षण !    एनडीआरएफ में अब महिलाएं भी !    जेल में न कुर्सी मिली, न तकिया ; कम हुआ वजन !    दिल्ली में नहीं चलीं टैक्सी, ऑटो रिक्शा !    सीएम पद के लिए चेहरा पेश नहीं करेगी कांग्रेस: कैप्टन यादव !    

राजरंग › ›

खास खबर

  • विधानसभा की रौनक
     Posted On March - 1 - 2019
    महेन्द्रगढ़ वाले पंडितजी अकेले ऐसे नेता हैं, जो विधानसभा में रौनक लगाए रखते हैं। पक्ष और विपक्ष में कितना भी....
  • आयुक्तों की सूचना
     Posted On March - 15 - 2019
    खट्टर काका की सरकार ने लोकसभा चुनाव की घोषणा से ठीक पहले राज्य सूचना आयोग में अपने तीन और खासमखास....
  • ‘टेंशन’ में भाई साहब
     Posted On February - 22 - 2019
    इनेलो वाले ‘भाई साहब’ आजकल ‘टेंशन’ में नजर आ रहे हैं। जिन्हें भाई साहब ने बच्चा समझा था, वे बड़ा....
  • काका का रोड-शो
     Posted On March - 29 - 2019
    'खट्टर काका’ लोकसभा चुनाव के लिए सड़कों पर उतर चुके हैं। बेशक, पार्टी ने अभी उम्मीदवारों का फैसला नहीं किया....

परिवार और पार्टी

Posted On December - 23 - 2016 Comments Off on परिवार और पार्टी
पंजाब में चुनावी बिसात बिछ चुकी है। पंजाब के चुनाव का असर देश की सियासत पर भी पड़ना तय है। लगातार चुनावी हार का सामना करती आ रही कांग्रेस को वापसी की उम्मीद पंजाब से ही है। ....

जनता के दरबार में, जनता के नाम पर, जनता के पैसे की बर्बादी

Posted On December - 16 - 2016 Comments Off on जनता के दरबार में, जनता के नाम पर, जनता के पैसे की बर्बादी
लोकतंत्र में जनता द्वारा, जनता के लिए, जनता का शासन होता है। जनता के प्रतिनिधि के रूप में सांसद जनता की आवाज संसद में उठाते हैं। लेकिन 16 नवंबर से 16 दिसंबर तक चले संसद सत्र में हंगामा तो हुआ पर काम नहीं। ....

‘जया’ के बाद किसकी ‘जय’

Posted On December - 9 - 2016 Comments Off on ‘जया’ के बाद किसकी ‘जय’
जयललिता के निधन के साथ ही तमिलनाडु की राजनीति में एक खालीपन आ गया है। करुणानिधि से बहुत आगे निकल चुकी जयललिता तमिलनाडु की राजनीति में करिश्माई व्यक्तित्व थीं। उनकी लोकप्रियता शिखर पर थी। बाकी नेता उनके साये में रह रहे थे। अब उनके जाने से एआईडीएमके में असमंजस की स्थिति है। ओ पनीरसेल्वम मुख्यमंत्री बन गए हैं। ....

आप में बगावती तेवर

Posted On December - 2 - 2016 Comments Off on आप में बगावती तेवर
पंजाब में विधानसभा चुनाव नजदीक हैं और आम आदमी पार्टी को अपने असंतुष्ट और बागी नेताओं कार्यकर्ताओं को संतुष्ट करना है। पार्टी के भीतर लगभग रोज़ाना ही विरोधियों के बगावती स्वर सुनाई पड़ जाते हैं। ....

गुजरात-महाराष्ट्र में रणनीति की जीत

Posted On December - 2 - 2016 Comments Off on गुजरात-महाराष्ट्र में रणनीति की जीत
नो टबंदी के 25 दिन बाद भी देश भले ही लाइन में खड़ा हो, लेकिन अब लोगों को यह एक ऐसा सच लगने लगा है, जिसे उन्हें न चाहते हुए भी अपने जीवन का हिस्सा बनाना पड़ रहा है। कतार में लगे लोगों में से ज्यादातर की प्रतिक्रिया अब कुछ नई उम्मीदों से भरी दिख रही है। ....

किसकी सुनेगी जनता

Posted On December - 2 - 2016 Comments Off on किसकी सुनेगी जनता
उत्तर प्रदेश में चुनावी डंका बज चुका है। राज्य में महागठबंधन बनाने की कोशिशें निरर्थक साबित हुईं। हर दल को लग रहा है कि जनता उनकी ओर आशा भरी निगाहों से देख रही है, लोग उसे वोट देने का इंतजार कर रहे हैं। ....

जीत का 4जी प्लान

Posted On November - 25 - 2016 Comments Off on जीत का 4जी प्लान
पंजाब के क्रांगेस अध्यक्ष कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कैप्टन स्मार्ट कनेक्ट स्कीम की शुरुआत की है, जिसके तहत पंजाब के युवाओं को 50 लाख फ्री 4जी स्मार्टफोन्स दिए जाएंगे। इन स्मार्टफोन्स के साथ 1 साल तक फ्री डाटा और कॉलिंग की सर्विस भी दी जाएगी। ....

दीदी की निगाहें दिल्ली पर

Posted On November - 25 - 2016 Comments Off on दीदी की निगाहें दिल्ली पर
अाजकल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नोटबंदी के फैसले का विरोध कर रहे विपक्षी दलों में से तृणमूल कांग्रेस अध्यक्ष ममता बनर्जी सबसे सक्रिय नजर आती हैं। उनके तेवर अचानक से बदल गये हैं। ऐसा लगता है कि उन्होंने पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में भारी जीत के बाद अपना लक्ष्य वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव जीतना तय कर लिया है। ....

एक दांव जीत का

Posted On November - 25 - 2016 Comments Off on एक दांव जीत का
पंजाब विधानसभा चुनाव का काउंटडाउन शुरू हो चु्का है। सभी दल एक-दूसरे के नेताओं को अपने पाले में लाकर और नये गठबंधन करके लहर बनाने के प्रयास कर रहे हैं। वादों पर सवार सभी दल दूसरों पर आरोपों के तीर चला रहे हैं। ....

आखिर किधर बहे जलधारा

Posted On November - 18 - 2016 Comments Off on आखिर किधर बहे जलधारा
पानी पर भी राजनीतिक रोटियां सेंकी जा सकती हैं, यह कोई राजनेताओं से सीखे। पंजाब के चुनाव को देखते हुए पंजाब और हरियाणा की सियासत का तापमान इतना बढ़ गया कि एसवाईएल के पानी में उबाल आ गया है। ....

खोया आधार पाने को कुछ भी करेगी भाजपा

Posted On November - 11 - 2016 Comments Off on खोया आधार पाने को कुछ भी करेगी भाजपा
पूरा देश जहां रातोंरात रद्दी में बदल दिए गए 500 और 1000 के नोटों के जंजाल में फंसा है, वहीं काले धन के नाम पर इतना बड़ा कदम उठाने वाले नरेंद्र मोदी के गुजरात में चुनावी हवा कुछ बदली-बदली सी है। ....

दीदी का तीसरा मोर्चा

Posted On November - 11 - 2016 Comments Off on दीदी का तीसरा मोर्चा
वर्ष 2019 के लोकसभा चुनावों को ध्यान में रखते हुए पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने एक बार फिर तीसरे मोर्चे के गठन की कवायद शुरू कर दी है। वैसे, दूसरी बार जीत कर सत्ता में आने के बाद शपथग्रहण के दिन ही उन्होंने इस दिशा में पहल कर दी थी। ....

पुरस्कारों के सहारे गढ़ बचाएंगे चंद्रशेखर

Posted On November - 11 - 2016 Comments Off on पुरस्कारों के सहारे गढ़ बचाएंगे चंद्रशेखर
तेलंगाना के मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव तेलुगू सिनेमा के लिए नंदी पुरस्कारों की जगह सिंह पुरस्कारों को स्थापित करने की तैयारी में हैं। इसके लिए उन्होंने पूर्व आईएएस अधिकारी केवी रमणाचारी के नेतृत्व में समिति का गठन किया गया था। ....

पानी के सहारे सत्ता का सपना

Posted On November - 11 - 2016 Comments Off on पानी के सहारे सत्ता का सपना
पंजाब जल समझौता रद्द करने सबंधी 2004 में बनाए कानून को अवैध करार देने के सुप्रीम कोर्ट के फैसले से सियासी माहौल गरमा गया है। सभी दल इस मुद्दे को लेकर अपनी-अपनी गोटियां फिट करने के लिए मैदान में उतर गये हैं। ....

प्रवासी किसके‍?

Posted On November - 4 - 2016 Comments Off on प्रवासी किसके‍?
असम रीता तिवारी पूर्वोत्तर राज्य असम में बांग्लादेशी शरणार्थियों के मुद्दे पर राजनीति गरमा गई है। नागरिकता संशोधन विधेयक के मुद्दे पर असम में जारी विवाद के बीच भाजपा नेता और शिक्षा मंत्री हिमंत विश्वशर्मा ने यह बयान देकर आग में घी डालने का काम किया है कि उक्त विधेयक हिंदू और मुस्लिम शरणार्थियों के बीच अंतर करने की भाजपा की नीति है। उन्होंने राज्य के लोगों से अपना दुश्मन 

सेवकाई से स्वामीगीरी तक

Posted On November - 4 - 2016 Comments Off on सेवकाई से स्वामीगीरी तक
पुडुचेरी विनय ठाकुर   पॉंडिचेरी (पुडुचेरी) के मुख्यमंत्री नारायणस्वामी (नारायण सामी) का समय राजनीतिक करिअर के हिसाब से अच्छा चल रहा है। वे सेवकाई के जरिए स्वामीगीरी की कला को सिद्ध करने वाले उन चुनींदा भारतीय नेताओं में हैं जिनकी शक्ति ‘ऊपर’ से आती है। आगामी विधानसभा उपचुनाव की अग्निपरीक्षा में उनकी राह कोई खास कठिन नहीं दिखती है। हालांकि झारखंड जैसे राज्य में मुख्यमंत्री 
Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.