चुनाव आयोग की हिदायतों का असर : खट्टर सरकार ने बदले 14 शहरों के एसडीएम !    अस्पताल में भ्रूण लिंग जांच का भंडाफोड़ !    यमुना का सीना चीर नदी के बीचोंबीच हो रहा अवैध खनन !    जाकिर हुसैन समेत 4 हस्तियों को संगीत नाटक अकादमी फेलोशिप !    स्टोक्स को मिल सकती है ‘नाइटहुड’ की उपाधि !    ब्रिटेन में पहली बार 2 आदिवासी नृत्य !    मानहानि का मुकदमा जीते गेल !    शिमला में असुरक्षित भवनों का निरीक्षण शुरू !    पीओके में बाढ़ का कहर, 28 की मौत !    कांग्रेस ने लोकसभा से किया वाकआउट !    

फोकस › ›

खास खबर
जागरूकता और सरकार की गंभीरता से मिलेंगे अच्छे परिणाम

जागरूकता और सरकार की गंभीरता से मिलेंगे अच्छे परिणाम

आफत बनती  आबादी योगेश कुमार गोयल भारत में वर्ष 1951 से जनसंख्या नियंत्रण के लिए परिवार नियोजन कार्यक्रम चल रहे हैं, लेकिन इसके बावजूद हम जनसंख्या पर नियंत्रण पाने के मामले में अन्य देशों के मुकाबले फिसड्डी साबित हुए हैं। हर साल विश्व जनसंख्या दिवस पर भारत में भी लंबे-चौड़े आश्वासनों का ...

Read More

गरीबी, भुखमरी, शिक्षा और स्वास्थ्य सबसे बड़ी चुनौती

गरीबी, भुखमरी, शिक्षा और स्वास्थ्य सबसे बड़ी चुनौती

आफत बनती  आबादी ज्ञानेन्द्र रावत आज बढ़ती आबादी का विकराल संकट समूची दुनिया के लिए चुनौती है। बढ़ती आबादी सीमित संसाधनों पर बोझ बनती जा रही है। 1987 में दुनिया की आबादी 5 अरब थी। 2018 में यह बढ़कर 7.8 अरब हो गई। इसमें हर साल अस्सी लाख की दर से बढ़ोतरी ...

Read More

व्यवसायीकरण रोकना होगा और परंपरागत जल-स्रोत बचाने होंगे

व्यवसायीकरण रोकना होगा और परंपरागत जल-स्रोत बचाने होंगे

वीणा भाटिया पृथ्वी की सतह का 70 फीसदी भाग पानी से भरा है। लेकिन इसमें से सिर्फ 2 फीसदी ही हमारे उपयोग के लायक है। काफी जल बर्फ के रूप में जमा हुआ है। नदियों, तालाबों और झरनों से मिलने वाला जल महज एक प्रतिशत है। लगातार बढ़ते प्रदूषण के कारण ...

Read More

बड़े संकट की आहट, अब नहीं चेते तो बहुत देर हो जाएगी

बड़े संकट की आहट, अब नहीं चेते तो बहुत देर हो जाएगी

कृष्ण प्रताप सिंह पिछले साल इन्हीं दिनों हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला का भीषण जल-संकट से सामना हुआ। इसके चलते वहां प्रस्तावित अंतर्राष्ट्रीय ग्रीष्मोत्सव स्थगित करना पड़ा। पर्यटकों से वहां न जाने की अपीलें की गईं। कई राज्यों में इस बार भी पेयजल को लेकर ऐसे ही हालात हैं। जानकारों ने ...

Read More

बजट उम्मीदों को मंदी की चुनौती

बजट उम्मीदों को मंदी की चुनौती

आलोक पुराणिक केंद्रीय वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण 5 जुलाई को वित्त वर्ष 2019-20 के लिए पूर्ण बजट पेश करेंगी। फरवरी में तत्कालीन वित्त मंत्री पीयूष गोयल 2019-20 के लिए अंतरिम बजट पेश कर चुके हैं, अब नये सिरे से बजट के गुणा-गणित तय होंगे। इस साल एक जून से 27 जून के ...

Read More

सोशल मीडिया जरा बचके

सोशल मीडिया जरा बचके

रेशू वर्मा कुछ समय पहले सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हुआ था, जिसमें एक महिला उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को शादी का प्रस्ताव भेजने की बात कर रही थी। इस वीडियो को एक स्वतंत्र पत्रकार प्रशांत कनौजिया ने अपने ट्विटर अकाउंट पर पोस्ट करते हुए योगी आदित्यनाथ का ...

Read More

मुफ्त की योजनाओं के लाभांश

मुफ्त की योजनाओं के लाभांश

दक्षिण के राज्यों में मुफ्तखोरी के अलग आयाम हैं। रंगीन टीवी से लेकर मंगलसूत्र तक की व्यवस्था की जाती रही है। पर स्मार्ट नेताओं ने यह भी चिन्हित किया कि मुफ्तखोरी अंतत संस्थानों को तबाह करती है, तो मुफ्तखोरी के बजाय आइटमों की कीमत सस्ती रखने पर विचार किया गया। ...

Read More


इस बार फिर न हो धुआं-धुआं

Posted On October - 5 - 2017 Comments Off on इस बार फिर न हो धुआं-धुआं
पंजाब और हरियाणा में खेतों से धान उठ चुका है। अब बारी है पराली को जलाने की। एनजीटी  के सख्त आदेश और राज्य सरकारों की कार्रवाई के डर से किसानों में असमंजस है, आखिर पराली का करें क्या?  समस्या के हल के लिए किसान प्रदर्शन कर रहे हैं, लेकिन समाधान  नहीं मिला है। इस बीच कुछ किसानों ने खेत में ही पराली जलानी शुरू कर दी है। अगर यह सिलसिला चल निकला तो ऐसा न हो कि पिछले साल की तरह इस बार भी दिल्ली 

कोरिया पर कोहराम

Posted On September - 28 - 2017 Comments Off on कोरिया पर कोहराम
आज अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर दो ही लोग सबसे ज्यादा सुर्खियों में हैं, एक उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन और दूसरे अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप। उत्तर कोरिया के मिसाइल परीक्षण और ट्रंप की धमकियों से कोरिया महाद्वीप ही नहीं, पूरी दुनिया सहमी हुई हैै। भय है भयावह परमाणु युद्ध का। परमाणु बम संपन्न उत्तर कोरिया हाईड्रोजन बम का परीक्षण भी कर चुका ....

असुरक्षित समाज

Posted On September - 21 - 2017 Comments Off on असुरक्षित समाज
8 सितंबर 2017 को गुरुग्राम के रेयान इंटरनेशनल स्कूल के बाथरूम में रहस्यमय परिस्थितियों में मासूम प्रद्युम्न की हत्या का मामला ठंडा भी नहीं पड़ा था कि हरियाणा के ही एक और नामी-गिरामी स्कूल में 9 साल की बच्ची से छेड़छाड़ और रेप की कोशिश का मामला सामने आ गया। ....

अनचाहे मेहमान रोहिंग्या

Posted On September - 16 - 2017 Comments Off on अनचाहे मेहमान रोहिंग्या
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का म्यांमार जाना ऐसे समय हुआ है, जब 40 हजार रोहिंग्या शरणार्थियों को भारत से बाहर निकालने का मुद्दा छाया हुआ है। ये रोहिंग्या तो म्यांमार जाने से रहे, क्योंकि पश्चिमी क्षेत्र के राखिन प्रांत में 25 अगस्त 2017 से घमासान मचा हुआ है। उस दिन सेना के एक काफिले पर हमला हुआ था। शक है कि ‘अराकान रोहिंग्या सेलवेशन आर्मी’ के ....

योगी राज

Posted On September - 7 - 2017 Comments Off on योगी राज
करीब छह महीने पहले यूपी के विधानसभा चुनाव में भाजपा की जीत के बाद यह कहा जाने लगा था कि उत्तर प्रदेश में योगीराज 2019 में बनने वाली केंद्र सरकार का भविष्य तय करेगा। किसी ने यह कल्पना तक नहीं की थी कि उत्तर प्रदेश लोकसभा चुनाव के बाद विधानसभा में भी भाजपा की झोली भर जायेगी। ....

न्याय के नायक

Posted On August - 31 - 2017 Comments Off on न्याय के नायक
डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम के साध्वियों से यौन शोषण मामले में 15 साल बाद फैसला आया। लड़ाई लंबी थी और राह मुश्किल, लेकिन कुछ लोग थे, जिन्होंने इसे मुकाम तक पहुंचाया। न्याय की इस लड़ाई की शुरुआत उस गुमनाम पत्र से हुई, जो एक साध्वी ने पीएम और हाईकोर्ट को लिखा था। ....

बड़ों के बिगड़ैल बच्चे

Posted On August - 17 - 2017 Comments Off on बड़ों के बिगड़ैल बच्चे
नेताओं के बिगड़ैल बेटे अकसर चर्चा में रहते हैं। इस बार हरियाणा के भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सुभाष बराला का बेटा विकास बराला मीडिया में छाया हुआ है। आरोप है कि विकास ने रात के समय एक आईएएस की बेटी से छेड़छाड़ की। वारदात के समय वह शराब पीये हुए था। यह पहला मौका नहीं है, जब नेतापुत्रों ने दबंगई की है। इससे पहले ....

आजादी में संघ की भूमिका

Posted On August - 10 - 2017 Comments Off on आजादी में संघ की भूमिका
भारत छोड़ो आंदोलन की 75वीं वर्षगांठ पर देश में नयी बहस छिड़ गयी है कि क्या स्वतंत्रता संग्राम में संघ की कोई भूमिका थी? यह सवाल तब उठा जब बुधवार को संसद में ‘अगस्त क्रांति’ चर्चा के दौरान कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने अप्रत्यक्ष रूप से कहा कि संघ स्वतंत्रता संग्राम के आंदोलन के खिलाफ था। आजादी में उसका कोई योगदान नहीं था। ....

‘साड्डी कुड़ी मरदी पई जे, तुसी वीजा क्यों नी देंदे’

Posted On August - 4 - 2017 Comments Off on ‘साड्डी कुड़ी मरदी पई जे, तुसी वीजा क्यों नी देंदे’
जबड़े के कैंसर से जूझ रही पाकिस्तानी छात्रा फाइजा तनवीर के समर्थन में अब गुहला के लाहौरिये उतर आए हैं। ....

निजता का आधार

Posted On August - 3 - 2017 Comments Off on निजता का आधार
सरकार जन-कल्याणकारी योजनाओं के नाम पर आधार को अनिवार्य करना चाहती है। आधार में लोगों की बायोमीट्रिक जानकारी है। इसमें उंगलियों के निशान, आखों की पुतलियों की तस्वीर और अन्य जैविक विशिष्टता वाले तथ्य हैं। ऐसी संवेदनशील जानकारियों के गलत इस्तेमाल की संभावना बढ़ जाती है, फिर चाहे ये सरकार के पास सुरक्षित ही क्यों न हों। ....

शह-मात

Posted On July - 27 - 2017 Comments Off on शह-मात
बुधवार की शाम तक नीतीश कुमार बिहार में जदयू-राजद-कांग्रेस महागठबंधन सरकार के मुख्यमंत्री थे, पर इस्तीफा देकर बृहस्पतिवार सुबह जदयू भाजपा सरकार के मुख्यमंत्री बन गये। ऐसे में 2015 के जनादेश तथा राजनीति में नीति, सिद्धांत, नैतिकता से संबंधित स्वाभाविक सवाल हमारी पूरी राजनीतिक व्यवस्था को ही कठघरे में खड़ा कर देता है। ....

महामहिम की महत्ता

Posted On July - 20 - 2017 Comments Off on महामहिम की महत्ता
रामनाथ कोविंद विश्व के सबसे बड़े लोकतंत्र के 14वें संवैधानिक प्रमुख होंगे। यह आम धारणा अर्ध सत्य ही है कि भारतीय शासन व्यवस्था में राष्ट्रपति ‘रबड़ स्टाम्प’ होता है। पूर्ण सत्य यह है कि वह ‘इमरजेंसी लाइट’ की तरह हैं, जो मुश्किल समय में मार्गदर्शक की भूिमका निभाते हैं। ....

दोस्ती, दुश्मनी, राजनीति

Posted On July - 13 - 2017 Comments Off on दोस्ती, दुश्मनी, राजनीति
अक्तूबर, 1980 में आयी हिंदी फिल्म 'दोस्ताना' का लोकप्रिय गीत : मेरे दोस्त किस्सा ये क्या हो गया, सुना है कि तू बेवफा हो गया—बिहार में महागठंधन की रार पर सटीक बैठता है। यह गीत फिल्म में अमिताभ बच्चन और शत्रुघ्न सिन्हा की दोस्ती पर फिल्माया गया था। ....

ड्रैगन की दादागीरी

Posted On July - 6 - 2017 Comments Off on ड्रैगन की दादागीरी
चीन सीमा पर विवाद कोई पहली घटना नहीं है। इससे पहले भी चीन भारत काे उकसाता रहा है। उसके सैनिक भारतीय क्षेत्र में घुसते रहे हैं और बाद में स्थिति सामान्य हो जाती है। ऐसे में डोकलाम में सीमा विवाद चीन की सोची समझी रणनीति का हिस्सा है। ....

सोने पर करम, बिस्कुट पर सितम

Posted On June - 29 - 2017 Comments Off on सोने पर करम, बिस्कुट पर सितम
देश में उच्च वर्ग यानी अमीरों को अपनी आर्थिक स्थिति के चलते करों में बढ़ोतरी चिंता करने की कोई जरूरत नहीं है जबकि निम्न आय वर्ग के लिए जीएसटी कोई खास परेशानी लाने वाला नहीं है। हां, मध्य वर्ग को जरूर अपनी जेब ज्यादा ढीली करवाने के लिए तैयार रहना चाहिए। गुड्स एंड सर्विस टैक्स या माल और सेवा कर दरअसल देश की महत्वपूर्ण सेवा ....

सियासी और आर्थिक हितों का गोरखालैंड

Posted On June - 22 - 2017 Comments Off on सियासी और आर्थिक हितों का गोरखालैंड
दार्जिलिंग में जून 1986 के वे दिन मुश्किल से बिसरते हैं, जब सुभाष घीसिंग से पहली मुलाक़ात हुई थी। और ’आखि़री मुलाक़ात’ 28 जनवरी 2015 को नयी दिल्ली के सर गंगाराम अस्पताल के आईसीयू में देखने भर की हुई थी। उसके दूसरे दिन घीसिंग अलग गोरखालैंड की अधूरी ख्वाहिश के साथ दुनिया से चले गये। ....