घर बुलाएं माखनचोर !    बच्चों को ऐसे बनाएं राधा-कृष्ण !    करोगे याद तो ... !    घटता दबदबा  नायिकाओं का !    हेलो हाॅलीवुड !    चैनल चर्चा !     हिंदी फीचर फिल्म : फेरी !    सिल्वर स्क्रीन !    अनुष्का की फोटो पर बवाल !    हेयर कलर और कट से गॉर्जियस लुक !    

फोकस › ›

खास खबर
दलबदल से राजबल

दलबदल से राजबल

हरीश लखेड़ा विश्व की सबसे बड़ी सियासी पार्टी होने का दावा करने वाली भारतीय जनता पार्टी का कुनबा लगातार बढ़ रहा है। यह इसलिए कि भाजपा विभिन्न राज्यों में विपक्षी दलों के नेताओं को बड़ी संख्या में अपने में शामिल कराने के अभियान में जुटी है। एक ओर पार्टी अपनी सदस्यता ...

Read More

फिर सोनिया गांधी

फिर सोनिया गांधी

हरीश लखेड़ा कांग्रेस को फिर सोनिया गांधी की शरण लेनी पड़ी है। राहुल गांधी के ‘रणछोड़ जी’ बनने के बाद संकट में आई कांग्रेस के सामने सोनिया से बेहतर कोई विकल्प भी नहीं था। इसलिए राहुल के कांग्रेस का अगला अध्यक्ष नेहरू-गांधी परिवार से बाहर के व्यक्ति को बनाने के बयान ...

Read More

आजादी का अहसास

आजादी का अहसास

अनूप भटनागर हिन्दू समाज में व्याप्त सती प्रथा, देवदासी प्रथा और बाल विवाह जैसी कुरीतियों पर अंकुश लगाने के लिये कानून बनाने के बाद देश की संसद ने मुस्लिम समाज के सुन्नी समुदाय के एक वर्ग में प्रचलित एक बार में तीन तलाक देने की कुप्रथा को अब दंडनीय अपराध बनाकर ...

Read More

पीजीआई में अंगों की मांग अधिक, देने वाले कम

पीजीआई में अंगों की मांग अधिक, देने वाले कम

संदीप राणा एक व्यक्ति के अंगदान से 8 लोगों की जिंदगी बचाई जा सकती है। फिर भी हजारों लोग अंगों की कमी की वजह से मौत का ग्रास बन जाते हैं। इस बहुत बड़े अंतर के केंद्र में मुख्य कारण जागरूकता की कमी होना है। चंडीगढ़ स्थित पोस्ट ग्रेजुएट इंस्टीट्यूट ऑफ ...

Read More

अंगदान  जिंदगी का तोहफा

अंगदान  जिंदगी का तोहफा

अदिति टंडन भारतीय परिवार अंगदान को लेकर बनी अपनी अवधारणाएं तोड़ने लगे हैं, हालांकि इसकी दर पश्चिमी मुल्कों के मुकाबले शोचनीय रूप से कम है। इस तथ्य के बावजूद कि एक मृत देह से मिले अंग कम-से-कम 8 लोगों की जिंदगी बचाने में सहायक होते हैं, फिर भी यह महत्वपूर्ण बात ...

Read More

चांद पर 50 साल

चांद पर 50 साल

अभिषेक कुमार सिंह एक इंसान की जिंदगी में 50 साल का मतलब क्या होता है? 100 साल की उम्र के वैदिक आख्यानों को सही मानें तो यह आधी जिंदगी पार होने का मामला बनता है। लेकिन बात अगर किसी अंतरिक्षीय पिंड की खोज की हो तो यह एक दिलचस्प किस्से में ...

Read More

जागरूकता और सरकार की गंभीरता से मिलेंगे अच्छे परिणाम

जागरूकता और सरकार की गंभीरता से मिलेंगे अच्छे परिणाम

आफत बनती  आबादी योगेश कुमार गोयल भारत में वर्ष 1951 से जनसंख्या नियंत्रण के लिए परिवार नियोजन कार्यक्रम चल रहे हैं, लेकिन इसके बावजूद हम जनसंख्या पर नियंत्रण पाने के मामले में अन्य देशों के मुकाबले फिसड्डी साबित हुए हैं। हर साल विश्व जनसंख्या दिवस पर भारत में भी लंबे-चौड़े आश्वासनों का ...

Read More


  • दलबदल से राजबल
     Posted On August - 19 - 2019
    विश्व की सबसे बड़ी सियासी पार्टी होने का दावा करने वाली भारतीय जनता पार्टी का कुनबा लगातार बढ़ रहा है।....
  • फिर सोनिया गांधी
     Posted On August - 12 - 2019
    कांग्रेस को फिर सोनिया गांधी की शरण लेनी पड़ी है। राहुल गांधी के ‘रणछोड़ जी’ बनने के बाद संकट में....
  • आजादी का अहसास
     Posted On August - 5 - 2019
    हिन्दू समाज में व्याप्त सती प्रथा, देवदासी प्रथा और बाल विवाह जैसी कुरीतियों पर अंकुश लगाने के लिये कानून बनाने....
  • पीजीआई में अंगों की मांग अधिक, देने वाले कम
     Posted On July - 29 - 2019
    एक व्यक्ति के अंगदान से 8 लोगों की जिंदगी बचाई जा सकती है। फिर भी हजारों लोग अंगों की कमी....

परीक्षा से पूर्व परीक्षा की रिहर्सल

Posted On March - 17 - 2010 Comments Off on परीक्षा से पूर्व परीक्षा की रिहर्सल
-राज कुमार ‘दिनकर’ दरअसल परीक्षाओं के दिनों में न बहुत ज्यादा पढऩा चाहिए न ही बिल्कुल कम। सवाल उठता है आखिर परीक्षाओं के दिनों में कितना पढ़ें? कभी भी चालीस या पैंतालीस मिनट से ज्यादा नहीं पढऩा चाहिए, क्योंकि किसी भी इनसान की एकाग्रता क्षमता पैंतीस से चालीस मिनट से ज्यादा नहीं होती। इसलिए चालीस मिनट पर एक ब्रेक लें। कमरे से बाहर आयें, फ्रेश हो लें और नए सिरे से पढऩे के लिए बैठें। पढ़ते 

हर कोई दीवाना इलेक्ट्रोनिक मीडिया का

Posted On March - 17 - 2010 Comments Off on हर कोई दीवाना इलेक्ट्रोनिक मीडिया का
करिअर अनिल कुमार सूचना क्रांति के इस दौर में इलेक्ट्रानिक मीडिया का व्यापक प्रसार हो रहा है। विभिन्न चैनल्स के विस्तार से दूरदर्शन केंद्र में रिक्तियों की संख्या में काफी वृद्धि हुई है। वर्तमान में देश के अंदर दूरदर्शन के लगभग 560 केंद्र क्रियाशील हैं। विकास के अन्य आयामों के साथ दूरदर्शन प्रसारण केंद्रों में भी वृद्धि हुई है। इस क्षेत्र में उद्घोषक, समाचार वाचक, समाचार सम्पादक, 

पांच सवाल

Posted On March - 17 - 2010 Comments Off on पांच सवाल
1. मल्लिका साराभाई कौन है? 2. तमिल भाषा में रामायण की रचना किसने की? 3. ताजमहल का खाका किसने तैयार किया? 4. ‘मेपललीफ’ किस राष्ट्र का प्रतीक है? 5. खेल चैनल ईएसपीएन का पूरा नाम क्या है? सवालों के जवाब शिक्षा लोक के पिछले अंक में पूछे एक सवालों के जवाब इस प्रकार हैं : 1. जी.वी. मावलंकर 2. माखनलाल चतुर्वेदी 3. अंडमान निकोबार में 4. संस्कृत 5. सालिम अली को —प्रभारी  

आत्मविश्वास कराएगा परीक्षा में पास

Posted On March - 10 - 2010 Comments Off on आत्मविश्वास कराएगा परीक्षा में पास
सुरेन्द्र राणा शिक्षा-शास्त्री विलियम जेम्स का कथन है कि-‘परीक्षा के दौरान थोड़ा-सा आत्मविश्वास परीक्षा के पूर्व चिंतित होकर की गयी ढेरों तैयारी से  कहीं अच्छा परिणाम दे सकता है।’ परीक्षा में अच्छे एवं संतुलित प्रदर्शन के लिए विद्यार्थी में आत्मविश्वास का होना बहुत जरूरी है। यही एक ऐसा मौका होता है जब आपकी पूरे वर्ष की मेहनत का मूल्यांकन होता है। कभी-कभी देखा जाता है कि 

पौधों के साथ जिंदगी और रोजगार

Posted On March - 10 - 2010 Comments Off on पौधों के साथ जिंदगी और रोजगार
करिअर/प्लांट पैथालोजिस्ट कीर्ति शेखर पेड़-पौधे हमें भोजन के अलावा प्राणवायु यानी आक्सीजन भी देते हैं। आदिकाल से ही हम इनका उपभोग करते आए हैं। यह भी बिना कुछ  बोले चुपचाप सिर्फ हमें देते ही रहे हैं। लेकिन परोपकार में लगे रहने वाले पेड़-पौधे कभी-कभी बीमार भी हो जाते हैं। इनकी बीमारी का पता लगाना व इसका उचित इलाज करने के लिए विज्ञान की एक शाखा निर्धारित की गई है। इस शाखा को 

अंतिम तिथि

Posted On March - 10 - 2010 Comments Off on अंतिम तिथि
अशोक सिंह ०पाठ्यक्रम : एमएससी (जैव प्रौद्योगिकी), एमएससी (कृषि), एमवीएससी, एमटैक (जैव प्रौद्योगिकी)। संस्थान : संयुक्त जैव प्रौद्योगिकी प्रवेश परीक्षा, जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय, नई दिल्ली-110067. (वेबसाइट-www.jnu.ac.in) अवधि : दो-दो वर्ष प्रत्येक दाखिले : दिनांक 20 मई को आयोजित की जाने वाली चयन परीक्षा के आधार पर। प्रास्पेक्टस : ‘जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय’ 
Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.