अवैध संबंध का शक, पत्नी ने प्रेमी संग मिलकर की हत्या !    डीजीपी की नियुक्ति के खिलाफ याचिका पर विचार नहीं होगा !    विस सचिवालय में स्पीकर का छापा, 42 कर्मी मिले गैर-हाजिर !    सीएम, डिप्टी सीएम से होगी महिलाओं को 50 फीसदी आरक्षण की मांग !    चंडीगढ़ में 29, पंचकूला में 10 नये मरीज !    अम्बाला में सामने आये रिकॉर्ड 105 मामले !    केपीएके 10वीं में कनिका रही टाॅपर !    बद्दी की इंडस्ट्री में एकसाथ 21 कोरोना पॉजिटिव !    एकदा !    जनरल नरवणे ने किया अंतर्राष्ट्रीय सीमा के पास अग्रिम इलाकों का दौरा !    

महिला क्रिकेट अलग खेल, अनावश्यक बदलाव न करें : शिखा पांडे

Posted On June - 29 - 2020

नयी दिल्ली, 28 जून (एजेंसी)
भारत की सीनियर तेज गेंदबाज शिखा पांडे महिला क्रिकेट को अधिक लोकप्रिय बनाने के लिए छोटी गेंद और छोटी पिच जैसे सुझावों को ‘अनावश्यक’ मानती हैं और उन्होंने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) से अपील की कि अधिक दर्शकों को आकर्षित करने के लिए नियमों से ‘छेड़छाड़ नहीं’ करें। झूलन गोस्वामी के बाद नई गेंद की भारत की सबसे अच्छी गेंदबाजों में से एक शिखा ने न्यूजीलैंड की कप्तान सोफी डिवाइन और भारत की उभरती हुई खिलाड़ी जेमिमा रोड्रिग्ज की मौजूदगी वाले आईसीसी के हाल के वेबिनार के संदर्भ में कई ट्वीट किए। इसी वेबिनार के दौरान कई तरह के सुझाव सामने आए थे।
भारतीय वायुसेना की अधिकारी 31 साल की शिखा ने लिखा,‘महिला क्रिकेट की प्रगति/इसे अधिक लोकप्रिय बनाने के लिए विभिन्न कई तरह के सुझावों के बारे में पढ़/सुन रही हूं। मेरा निजी तौर पर मानना है कि अधिकांश सुझाव अनावश्यक हैं।’
भारत की ओर से 104 अंतरराष्ट्रीय मैचों में 113 विकेट चटकाने वाली शिखा ने हल्की गेंद और 20 गज की पिच की तुलना 100 मीटर फर्राटा दौड़ से करके चीजों को समझाया। उन्होंने लिखा, ‘ओलंपिक 100 मीटर फर्राटा महिला धाविका पहले स्थान का पदक हासिल करने और पुरुष समकक्षों के बराबर समय निकालने के लिए 80 मीटर नहीं दौड़तीं।’


Comments Off on महिला क्रिकेट अलग खेल, अनावश्यक बदलाव न करें : शिखा पांडे
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
Both comments and pings are currently closed.

Comments are closed.

Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.