योगी आदित्यनाथ ने अपराध के आंकड़ों पर पर्दा डालने के अलावा किया ही क्या : प्रियंका !    इन्फोसिस के अमेरिका में फंसे 200 से अधिक कर्मचारी, उनके परिवार चार्टर्ड विमान से पहुंचे भारत !    आइडाहो झील के ऊपर 2 विमानों की टक्कर, 8 की मौत !    देश में कोविड-19 के मामलों की संख्या 7 लाख पार! !    राम मंदिर कार्यशाला में पत्थरों को चमकाने का काम जोरों पर, 3 माह में होगा पूरा !    पुलवामा में मुठभेड़ में आतंकी ढेर, एक जवान शहीद !    सेना में महिला अधिकारियों को स्थायी कमीशन देने के लिए केंद्र को मिला एक माह का समय !    कांवड़ियों को रोकने के लिए हरियाणा, उत्तराखंड से लगती सीमाएं सील ! !    नये दिशा-निर्देश : कक्षाएं ऑनलाइन होने पर विदेशी छात्रों को छोड़ना होगा अमेरिका! !    दुनिया के सबसे अधिक उम्र के शरीर से जुड़े जुड़वा भाइयों का निधन !    

स्कूलों के नोटिस की भाषा से अभिभावक नाराज

Posted On May - 29 - 2020

फरीदाबाद, 28 मई (हप्र)
प्राइवेट स्कूलों की मनमानी की अभिभावकों द्वारा एक महीने पहले की गई शिकायत पर एफएफआरसी चेयरमैन ने 21 स्कूल प्रबंधकों को नोटिस भेजा है और आग्रह किया है कि वे फीस मामले में सरकारी आदेशों का पालन करें। नोटिस की प्रति शिकायतकर्ता को भी भेजी गई है। अभिभावकों ने चेयरमैन एफएफआरसी के नोटिस की भाषा शैली पर नाराजगी प्रकट की है और कहा कि दोषी स्कूलों के खिलाफ कार्रवाई की जाये।
अभिभावक जितिन मंगला, अंकित सिंघल, आरपी सिंह, अर्चना अग्रवाल, गौरव सिंह, राजेश अग्रवाल और सुनील शर्मा ने कहा कि हमने शिकायत की थी कि स्कूल प्रबंधक बढ़ाई ट्यूशन फीस ले रहे हैं और ट्यूशन फीस का ब्रेकअप नहीं दे रहे हैं। ट्यूशन फीस में ही अनेक फंडों को मर्ज करके उसे ही ट्यूशन फीस बता रहे हैं। अभिभावकों की मांग थी कि इसकी जांच करके दोषी स्कूलों के खिलाफ कार्रवाई की जाये। अभिभावकों ने बताया कि एफएफआरसी ने अपने नोटिस में इन बातों का जिक्र ही नहीं किया है उल्टा अभिभावकों को हिदायत दी गई है कि वे स्कूलों के हित में फीस जमा करायें।
मंच के प्रदेश महासचिव कैलाश शर्मा ने कहा है कि 15 दिन बाद औपचारिकता निभाने के लिए नोटिस भेजना पंजाब एंड हरियाणा हाईकोर्ट की उस टिप्पणी को सच साबित करता है, जिसमें कहा गया था कि एफएफआरसी फरीदाबाद एक क्लर्क के रूप में कार्य कर रही है। मंच ने स्कूलों द्वारा नियमों का उल्लंघन करने के सबूत चेयरमैन एफएफआरसी को सौंपे थे, इसके बावजूद आज तक उस पर कोई भी कार्रवाई नहीं की गई है। मंच ने अभिभावकों से कहा है कि वे एफएफआरसी की कार्यशैली व स्कूलों की मनमानी की शिकायत सबूत के साथ पीएम, सीएम के पोर्टल, ट्विटर पर रजिस्टर्ड कराएं और उसकी एक कॉपी अतिरिक्त मुख्य सचिव शिक्षा डॉ महावीर सिंह को मेल करें व उसकी कापी मंच को भी भेजें।
दीपक यादव बने प्राइवेट स्कूल एसो. के प्रवक्ता
फरीदाबाद (हप्र) : प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन, हरियाणा एक जिम्मेदार और शहर की सबसे पुरानी संस्था है, जो हमेशा से ही शिक्षा के क्षेत्र में आने वाली चुनौतियों के समाधान के लिए प्रयासरत रही है। उक्त विचार दीपक यादव ने एसोसिएशन के प्रवक्ता नियुक्त किए जाने पर अपनी बात रखते हुए कहा कि यह सुनिश्चित करेंगे कि वे एसोसिएशन और अभिभावकों के बीच एक बेहतर तालमेल स्थापित कर सकें ताकि स्कूलों और अभिभावकों के बीच आपसी सहयोग से शिक्षा के स्तर को सुधारा जा सके।


Comments Off on स्कूलों के नोटिस की भाषा से अभिभावक नाराज
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
Both comments and pings are currently closed.

Comments are closed.

Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.