हज्जाम व स्पा जाना है तो आधार कार्ड लेकर जाएं ! !    गन्ना भुगतान : सांसद प्रताप बाजवा ने अपनी ही सरकार पर साधा निशाना !    कठुआ में अंतर्राष्टूीय सीमा पर पाक ने की गोलीबारी !    एम्स प्रशासन ने सीनियर डॉक्टर को दिया ‘कारण बताओ’ नोटिस !    दिल्ली में एलजी आफिस के 13 लोगों को कोरोना !    जम्मू-कश्मीर में 15 जून से स्कूल खोलने की तैयारी! !    मनोज तिवारी की छुट्टी, आदेश गुप्ता दिल्ली भाजपा के नये अध्यक्ष !    जेसिका लाल हत्याकांड : 14 साल बाद मनु शर्मा की रिहाई ! !    कोविड-19 का राफेल की सप्लाई पर नहीं होगा कोई असर : फ्रांस !    चक्रवात का खतरा बढ़ा, मुंबई-गुजरात के तटीय इलाकों में रेड अलर्ट !    

लॉकडाउन में महिलाओं पर बढ़ी हिंसा, पर हरियाणा में कम हुए मामले

Posted On May - 22 - 2020

ट्रिब्यून न्यूज सर्विस
चंडीगढ़, 21 मई
एक तरफ जहां लॉकडाउन के दौरान पूरे देश में घरेलू हिंसा व महिला उत्पीड़न की घटनाओं में अचानक वृद्धि हुई है वहीं हरियाणा में हालात इसके एकदम उलट हैं। हरियाणा में लॉकडाउन के दौरान महिला उत्पीड़न व घरेलू हिंसा की घटनाओं में कमी आई है। हरियाणा पुलिस के पास आई शिकायतों को अगर गौर से देखा जाए तो हरियाणा की स्थिति पड़ोसी राज्यों के मुकाबले एकदम उलट है। हरियाणा में 22 मार्च को जनता कर्फ्यू के बाद 24 मार्च से चरणबद्ध लॉकडाउन शुरू हो गया था। लॉकडाउन में हर तरफ से ऐसी खबरें आई जिसमें कहा गया कि घरेलू हिंसा, महिलाओं के साथ मारपीट व उत्पीड़न की घटनाएं बढ़ रही हैं। हरियाणा में इस तरह की खबरें तो आई लेकिन पुलिस के पास आने वाली शिकायतों की अगर पिछले साल के साथ तुलना की जाए तो यह आंकड़ा कम है।
हरियाणा पुलिस द्वारा महिलाओं के लिए हेल्पलाइन नंबर 1091 चलाया गया है। इस हेल्पलाइन नंबर पर 25 मार्च से 17 मई तक घरेलू हिंसा से संबंधित कुल 5985 शिकायतें आई। इनमें ज्यादातर पति व ससुर के खिलाफ थी। इसमें महिलाओं ने मारपीट करने, अभद्र व्यवहार करने आदि जैसे आरोप लगाए थे। इसके अलावा कई मामले घरेलू बातों को लेकर नोक-झोंक बढ़ने के संबंध में भी दर्ज कराए गए।
पुलिस ने ज्यादातर मामलों को काउंसलिंग के माध्यम से सुलझाया। इसके बावजूद 26 मामलों में एफआईआर दर्ज की गई। दूसरी तरफ पिछले साल इसी अवधि के दौरान पुलिस के पास कुल 6060 शिकायतें आई थी। इनमें से 74 को एफआईआर के लिए भेजा गया। प्रदेश में लॉकडाउन की उपरोक्त अवधि के दौरान महिलाओं से छेड़छाड़, दुष्कर्म, अभद्रता आदि की कुल 12060 कॉल आई हैं। इनमें से 175 केसों में एफआईआर दर्ज की गई हैं।

अन्य अपराधों में भी आई कमी
पिछले साल इसी अवधि के दौरान 12 हजार 986 शिकायतें पुलिस के पास आई थी। इनमें से 587 में एफआईआर दर्ज करने के आदेश जारी किए गए थे। एसपी क्राइम अगेंस्ट वुमन कमलदीप गोयल के अनुसार अन्य राज्यों के मुकाबले प्रदेश में लॉकडाउन की अवधि के दौरान महिलाओं के खिलाफ होने वाली उत्पीड़न की घटनाओं में कमी आना बेहद सकारात्मक व सुखद पहलू है। देश के कई राज्यों से लॉकडाउन के दौरान महिला उत्पीड़न की घटनाएं बढ़ने की खबरें आ रही हैं, लेकिन हरियाणा इस मामले में अन्य राज्यों से अलग रहा है।

6060 गत वर्ष इसी अवधि में आई घरेलू हिंसा की शिकायतें

5985 इस वर्ष अभी तक आई घरेलू हिंसा की शिकायतें


Comments Off on लॉकडाउन में महिलाओं पर बढ़ी हिंसा, पर हरियाणा में कम हुए मामले
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
Both comments and pings are currently closed.

Comments are closed.

Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.