अश्लीलता फैलाने और राष्ट्रीय प्रतीकों के अपमान में एकता कपूर पर केस दर्ज !    भारत के लिए आयुष्मान भारत को आगे बढ़ाने का अवसर : डब्ल्यूएचओ !    पाक सेना ने एलओसी के पास ‘भारतीय जासूसी ड्रोन' को मार गिराने का किया दावा !    भारत-चीन अधिक जांच करें तो महामारी के ज्यादा मामले आएंगे : ट्रंप !    5 कर्मियों को कोरोना, ईडी का मुख्यालय सील !    भारत-चीन सीमा विवाद : दोनों देशों में हुई लेफ्टिनेंट जनरल स्तर की बातचीत !    लोगों को कैश न देकर अर्थव्यवस्था बर्बाद कर रही सरकार : राहुल !    अमरनाथ यात्रा 21 जुलाई से, 14 से कम और 55 से अधिक उम्र वाले नहीं हो पाएंगे शामिल !    अमेरिकी राष्ट्रपति की दौड़ में ट्रंप को चुनौती देंगे बाइडेन !    कुछ निजी अस्पताल मरीजों को भर्ती नहीं कर ‘बेड की कालाबाजारी' कर रहे : केजरीवाल !    

लॉकडाउन बिल भुगतान की परेशानी

Posted On May - 10 - 2020

मैं वरिष्ठ नागरिक हूं। अकेले रहता हूं। मैंने हमेशा अपने बिजली, पानी, लैंडलाइन और सेलफोन और यहां तक कि केबल टीवी और इंटरनेट के बिल का भुगतान चेक के माध्यम से किया है। कोविड-19 के कारण आवश्यक रूप से लगे लॉकडाउन के चलते मैं चेक से भुगतान करने में असमर्थ हूं और अब ऑनलाइन भुगतान के लिए सहायता की ज़रूरत है। मुझे कुछ गैर सरकारी संगठनों से मैसेज आते हैं जो मेरे जैसे लोगों को मदद की पेशकश करते हैं। क्या मैं उनसे मदद ले सकता हूं ?

पुष्पा गिरिमाजी

मैं इसके खिलाफ सलाह दूंगी क्योंकि आप नहीं जानते कि वे कौन हैं। आज आपके जैसे लोगों, जो अचानक खुद को ऐसी स्थिति में पा रहे हैं जहां वे मदद करने के लिए एक युवा नेटसेवी पड़ोसी को भी नहीं बुला सकते हैं, उनके साथ धोखाधड़ी करने वाले कई लोग हैं।
आपको इस बात की जानकारी होनी चाहिए कि ऐसे व्यक्तियों द्वारा सार्वजनिक सेवाओं के नाम पर कई ईमेल, टैक्स मैसेज भेजा जाना आम बात हो गयी है जो उपभोक्ताओं से उनके बिल भरने के नाम पर लिंक पर क्लिक कर उसमें क्रेडिट कार्ड डिटेल के साथ ही निजी जानकारी भरने के लिए कहते हैं। बहुत सारे उपभोक्ता इस जाल में फंस चुके हैं।
जालसाज उनसे संबंधी संस्थाओं से होने का दावा करते हुए फोन कॉल कर उपभोक्ताओं की गाढ़ी कमाई को लूटने का प्रयास करते हैं। भुगतान करने में सहायता की पेशकश करते हुए वे बेहद महत्वपूर्ण जानकारियां हासिल कर लेते हैं और जब तक उपभोक्ता को इसका अहसास होता है, तब तक वे अच्छी-खासी रकम का नुकसान उठा चुके होते हैं।
अपने टेलीकॉम सेवा प्रदाता से फोन आने का विश्वास कर एक बुजुर्ग महिला ने ऐसी ही कॉल रिसीव की और उन्हें 10 हज़ार का नुकसान हो गया। उनके अनुसार, बिल के भुगतान न करने के बारे में उन्हें अपने दूरसंचार सेवा प्रदाता से लगातार फोन आ रहे थे और सेवा प्रदाता की वेबसाइट के माध्यम से ऑनलाइन भुगतान करने के उनके प्रयास निरर्थक साबित हो रहे थे। उन्होंने अपने सेवा प्रदाता को ईमेल भेजे और हर बार उन्हें ऑटोमैटिक आधार पर जवाब मिले। इस प्रकार जब उन्हें एक फोन यह कहते हुए आया कि वह उनके दूरसंचार सेवा प्रदाता का एक्जिक्यूटिव है तो उन्होंने अंदाज़ा लगाया कि उनके ईमेल के बाद यह कॉल आयी और उन्होंने अपने क्रेडिट कार्ड की डिटेल दे दी और यहां तक कि फोन पर आया ओटीपी नंबर भी बता दिया। जब उन्हें 650 रुपये के बिल भुगतान की जगह 10 हज़ार रुपये खाते से कटने का मैसेज मिला तो उन्हें अहसास हुआ कि उनके साथ धोखा हुआ है।
धोखाधड़ी करने वाले न केवल भुगतान करने संबंधी मामले पर ही ऐसा कर रहे हैं, बल्कि वे कोरोना वायरस से उपजे खौफ का भय दिखाकर ‘शर्तिया उपचार’ के नाम पर भी शोषण कर रहे हैं। याद रखें कि वे किसी रिश्तेदार या मित्र के विदेशी भूमि में फंसे होने का हवाला देकर तत्काल पैसे की ज़रूरत भी बताते हैं और खाते में पैसा डालने का अनुरोध करते हैं।
अब किसी का रिश्तेदार बनकर जिसे कोविड-19 के कारण मदद की दरकार है, भी फर्जी कॉल करते हैं, इसके साथ ही एयरलाइंस के टिकट और कोरोना वायरस को कवर करने वाली बीमा को सामान्य रेट पर देने का झांसा देते हैं। इसके अलावा बच्चों को ऑन लाइन ट्यूशन, घर से काम कर रोजगार आदि नामों से भी धोखा देते हैं। रद्द किए गए टिकटों के रिफंड या होटल के ठहराव और थोक कीमतों पर किराने के सामानों की बिक्री के भी फोन पर ऑफर आते हैं। इसलिए, इन समय अतिरिक्त सावधानी बरतने की ज़रूरत है और किसी को भी व्यक्तिगत या वित्तीय जानकारी न दें या ईमेल या एसएमएस के माध्यम से भेजे गए किसी भी संदिग्ध लिंक पर क्लिक न करें।
मैं अपने ऑनलाइन भुगतान की सुरक्षा कैसे सुनिश्चित करूं?
ऑनलाइन भुगतान करना आसान और त्वरित कार्य है और यही समय इसे शुरू करने का सबसे अच्छा समय है। हालांकि, आपको थोड़ी सावधानी बरतने की ज़रूरत है। सबसे पहले और सबसे महत्वपूर्ण, सुनिश्चित करें कि आपके पास नवीनतम एंटी-वायरस सॉफ़्टवेयर, या एक सक्रिय एंटी-वायरस सॉफ़्टवेयर हो जिसमें नवीनतम सुरक्षा मानक हों, वह आपको काफी हद तक मालवेयर से बचाएगा।
अगला कदम भुगतान करने के लिए उपयोगिता पोर्टल पर जाना है। सुनिश्चित करें कि यह एक सही साइट है- आगे बढ़ने से पहले ध्यान से साइट पर जायें। अपने बिल, भुगतान के इतिहास और ऐसे अन्य विवरणों की जांच करें जो दिखाते हैं कि क्या यह एक वास्तविक साइट है। भुगतान पृष्ठ पर किसी भी क्रेडिट कार्ड का विवरण डालने से पहले, ब्राउज़र विंडो की जांच करें – हरे रंग के पैडलॉक से इंगित होने पर उसके सुरक्षित होने का पता चलता है, साथ ही https से एस यह दर्शाता है कि यह सुरक्षित है। यदि आपको यह नहीं दिख रहा हो तो आप उस पेज को छोड़ दें और उसे जारी न रखें।
आपके बैंक खाते से जुड़े डेबिट कार्ड की तुलना में कम क्रेडिट सीमा वाले क्रेडिट कार्ड का उपयोग करना अधिक सुरक्षित है। वेबसाइट पर अपने क्रेडिट कार्ड के किसी भी विवरण को कभी भी सेव करके नहीं रखें। संबंधित संस्थान से मिली रसीद को सेव करें और लॉगआउट कर दें। प्रिंटर है तो प्रिंट आउट भी ले सकते हैं।


Comments Off on लॉकडाउन बिल भुगतान की परेशानी
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
Both comments and pings are currently closed.

Comments are closed.

Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.