माओवादियों ने 12 इमारतों को उड़ाया, वाहन फूंके !    एश्वर्या राय बच्चन, बेटी अराध्या के कोरोना टेस्ट को लेकर असमंजस! !    गहलोत ने रविवार रात 9 बजे बुलाई विधायकों की बैठक ! !    राजस्थान संकट पर कपिल सिब्बल ने कहा, पार्टी नेतृत्व कब 'जागेगा'! !    दृष्टिबाधित दम्पति मेहनत की कमाई जमा करने बैंक गये तो पता चला, बंद हो चुके हैं नोट! !    मध्यप्रदेश में कांग्रेस विधायक प्रद्युम्न लोधी भाजपा में शामिल! !    कश्मीर के बारामूला में मुठभेड़ में आतंकवादी ढेर !    यूपी में हर शनि और रविवार को लॉकडाउन! !    कानपुर प्रकरण : जांच के लिए एसआईटी पहुंची बिकरू गांव !    अनुपम खेर की मां, भाई कोरोना वायरस से संक्रमित! !    

मन्नार की खाड़ी में मिली रंग बदलने वाली दुर्लभ मछली!

Posted On May - 31 - 2020

कोच्चि, 31 मई (एजेंसी)
भारतीय शोधकर्ताओं को मन्नार की खाड़ी में सेतुकराई तट पर रंग बदलने वाली एक दुर्लभ मछली मिली है। यह इलाका समुद्री जैवविविधता के मामले में दुनिया के सबसे धनी क्षेत्रों में से एक है। केन्द्रीय समुद्री मात्स्यिकी अनुसंधान संस्थान (सीएमएफआरआई) के वैज्ञानिकों ने बताया कि समुद्री घास में छिपकर रहने वाली ‘बैंडटेल स्कॉर्पियनफिश’ दुर्लभ प्रजाति है और यह जहरीले कांटे से लैस है एवं रंग बदलने में सक्षम है। समुद्री घास की पारिस्थितिकी का सर्वेक्षण करने के दौरान इस मछली का पता चला। कोच्चि स्थित सीएमएफआरआई ने रविवार को जारी बयान में कहा, ‘पहली बार भारतीय जलसीमा में यह प्रजाति जिंदा मिली है।’ बयान के मुताबिक यह बहुत ही दुर्लभ प्रजाति है और इसके कुछ गुण समुद्री वैज्ञानिकों का ध्यान आकर्षित करते हैं। यह रंग बदलने और शिकारियों से बचने के लिए आसपास के माहौल में छिपने में सक्षम है।
क्या कहते हैं वैज्ञानिक
सीएमएफआरआई के वरिष्ठ वैज्ञानिक डॉ. आर जयभास्करण ने कहा, ‘पानी के अंदर सर्वेक्षण के दौरान इस प्रजाति को कोरल कंकाल के रूप में देखा गया। पहली नजर में यह भ्रम पैदा हुआ कि यह मछली है या कोरल कंकाल का जीवाश्म।’ यूनेस्को के मुताबिक मन्नार की खाड़ी में 4,223 समुद्री प्रजातियों का वास है और जैव विविधता के मामले में भारत के सबसे संपन्न तटीय इलाकों में से एक है। सेतुकराई तमिलनाडु का प्रमुख तीर्थस्थल है। माना जाता है कि भगवान राम ने लंका तक जाने के लिए सेतुकराई से ही पुल का निर्माण किया था।


Comments Off on मन्नार की खाड़ी में मिली रंग बदलने वाली दुर्लभ मछली!
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
Both comments and pings are currently closed.

Comments are closed.

Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.