अश्लीलता फैलाने और राष्ट्रीय प्रतीकों के अपमान में एकता कपूर पर केस दर्ज !    भारत के लिए आयुष्मान भारत को आगे बढ़ाने का अवसर : डब्ल्यूएचओ !    पाक सेना ने एलओसी के पास ‘भारतीय जासूसी ड्रोन' को मार गिराने का किया दावा !    भारत-चीन अधिक जांच करें तो महामारी के ज्यादा मामले आएंगे : ट्रंप !    5 कर्मियों को कोरोना, ईडी का मुख्यालय सील !    भारत-चीन सीमा विवाद : दोनों देशों में हुई लेफ्टिनेंट जनरल स्तर की बातचीत !    लोगों को कैश न देकर अर्थव्यवस्था बर्बाद कर रही सरकार : राहुल !    अमरनाथ यात्रा 21 जुलाई से, 14 से कम और 55 से अधिक उम्र वाले नहीं हो पाएंगे शामिल !    अमेरिकी राष्ट्रपति की दौड़ में ट्रंप को चुनौती देंगे बाइडेन !    कुछ निजी अस्पताल मरीजों को भर्ती नहीं कर ‘बेड की कालाबाजारी' कर रहे : केजरीवाल !    

जय हो हरियाणा जय हो जनता रसोई, अब पहुंचेंगे अपने बिहार

Posted On May - 23 - 2020

अजय मल्होत्रा/ प्रदीप साहू
भिवानी/चरखी दादरी, 22 मई

भिवानी में शुक्रवार को बिहार जाने वाली श्रमिक ट्रेन में बच्चों के संग बैठा दंपति। -हप्र

जय हो हरियाणा सरकार, जय हो जनता रसोई। बस अब तो अपनी मंजिल पर पहुंच जाएंगे। प्रशासन का लाख-लाख शुक्रिया, आबाद रहो हरियाणा। यह कहना था कि श्रमिक स्पेशल ट्रेन में बैठे प्रवासियों का, जो बहुत ही जद्दोजहद के बाद आज बिहार के लिए रवाना हुए। ट्रेन में भिवानी से 750, चरखी दादरी से 250, हिसार से 318 और हांसी से 148 प्रवासी श्रमिक सवार हुए। सवार होने के दौरान प्रवासियों के मुंह से हरियाणा सरकार और प्रशासनिक अधिकारियों के लिए दुआएं निकल रही थीं। उनका कहना था कि वे अपने घर वापस जा रहे हैं और वो भी बिना किसी किराए के। यह ट्रेन करीब 1408 किलोमीटर की दूरी तक करके 22 घंटे में बिहार के कटिहार पहुंचेगी।
प्रवासी मजदूरों ने उन्हें बिहार भेजने की व्यवस्था करने के लिए हरियाणा सरकार का आभार व्यक्त किया। साथ ही उन्होंने कई दिन तक भिवानी में भोजन उपलब्ध करवाने के लिए और उन्हें ढांढस बंधवाने के लिए जनता रसोई का भी आभार जताया।
भिवानी के एडीसी डॉ. मनोज कुमार, दादरी के एडीसी इमरान रजा, एसीयूटी सचिन गुप्ता, भिवानी के एसडीएम महेश कुमार व बाढड़ा के एसडीएम प्रीतपाल ने प्रवासी श्रमिकों को गाड़ी में सवार करवाया। चरखी दादरी के डीसी शिव प्रसाद व एसपी बलवान सिंह राणा, डीएसपी बीरेंद्र सिंह व अन्य अधिकारियों ने पुष्प वर्षा के साथ गाड़ी को शाम तीन बजे रवाना करवाया। इस मौके पर श्रमिकों को जूस पिलाया गया और उनके सफर के लिए शुभकामनाएं भी दी गई।

असम, नगालैंड, सिक्कि म भी भेजे
झज्जर/बहादुरगढ़ (हप्र/निस) : झज्जर से असम, नगालैंड व सिक्किम के लिए कुल 47 प्रवासी श्रमिकों को गुरुग्राम व दिल्ली रेलवे स्टेशन के लिए रवाना किया गया। झज्जर एसडीएम शिखा ने बताया कि प्रवासी श्रमिक रोडवेज की दो बसों में गुरुग्राम रेलवे स्टेशन भेजे गए ,जहां से वे असम व नगालैंड को जाने वाली स्पेशल श्रमिक ट्रेन से अपने गृह जिलों में जाएंगे। बहादुरगढ़ उपमंडल मुख्यालय से शुक्रवार को कुल 589 प्रवासी लोगों को उनके गृह जिलों के लिए भेजा गया। 562 लोगों को रोडवेज बसों के माध्यम से उत्तरप्रदेश के विभिन्न कलस्टर में तथा 20 लोगों को गुरुग्राम से नार्थ इस्ट को जाने वाली स्पेशल ट्रेन के लिए भेजा गया। एसडीएम तरूण कुमार पावरिया ने बताया कि रोडवेज की 10 बसों में 354 प्रवासी श्रमिकों को बरेली कलस्टर के लिए, 144 प्रवासी श्रमिकों को 4 रोडवेज बसों में मुरादाबाद के लिए, 36 लोगों को एक बस में इटावा भेजा गया।

11715 प्रवासियों को भेजा घर

भिवानी रेलवे स्टेशन पर शुक्रवार को बिहार जाने वाली श्रमिक ट्रेन पर पुष्पवर्षा करते चरखी दादरी के अधिकारी। -निस

रोहतक (निस/हप्र) : लॉकडाउन के दौरान रोहतक में फंसे 11715 श्रमिकों व कामगारों को ट्रेन व बसों के माध्यम से घर भेजा गया। साथ ही प्रवासी श्रमिकों के ठहरने, खाने व अन्य मूलभूत सुविधाए उपलब्ध करवाने के पुख्ता प्रबंध किए गए। डीसी आरएस वर्मा ने बताया कि सरकार के निर्देशानुसार इन प्रवासी मजदूरों को उत्तरप्रदेश, मध्यप्रदेश, पंजाब, राजस्थान, बिहार, उत्तराखंड, जम्मू एंड कश्मीर व केरला में छुड़वाया गया है। इनमें से 9195 प्रवासी मजदूरों को बसों के माध्यम से जबकि 2520 प्रवासी मजदूरों को श्रमिक ट्रेन व विशेष ट्रेनों के माध्यम से उनके घर पहुंचाया गया है। इनमें से 8963 प्रवासी उत्तर प्रदेश, 1455 प्रवासी मध्यप्रदेश, 16-16 प्रवासी पंजाब एवं राजस्थान, 1112 प्रवासी बिहार, 134 प्रवासी उत्तराखंड, 18 प्रवासी जम्मू एंड कश्मीर तथा एक प्रवासी केरला का रहने वाला है। प्रवासी मजदूरों का पैदल पलायन जारी है। बृहस्पतिवार को करीब 50 मजदूर पैदल ही महम पहुंच गये। मजदूरों को पैदल जाते महम के रोहतक रोड स्थित रविदास मंदिर कमेटी के पदाधिकारी इन सभी को मंदिर ले आए व उनके खान-पान व रहने की व्यवस्था की गई। शक्रवार को एसडीएम अभिषेक मीणा ने उन्हें रोडवेज बस से रोहतक के गौड़ ब्राहम्मण आर्युवेदिक चिकित्सा संस्थान, ब्राहम्णवास के शैल्टर होम में भेज दिया।

फिर आने का किया वादा
बिहार के कटिहार जाने वाले कई श्रमिकों ने हाथ जोड़कर प्रशासन का आभार जताया और कोरोना संकट टलने पर फिर से इस क्षेत्र में काम करने के लिए आने का वादा किया। ट्रेन में सवार होने के दौरान प्रवासी श्रमिक खिले-खिले से नजर आए। उनके चेहरों पर खुशी साफ तौर ही झलक रही थी। ट्रेन में सवार होने के दौरान मधेपुरा निवासी कंचन ने बताया कि वे अपने पति मुकेश के साथ बैंक कॉलोनी में रह रहीं थी। वे यहां पर एक फैक्टरी में काम कर रहे थे, लेकिन लॉकडाउन होने के कारण वे अपने घर जा रहे हैं। इसके लिए हरियाणा सरकार का लाख-लाख शुक्र है। पूर्णिया निवासी रिंकू देवी ने बताया कि वे दादरी क्षेत्र में काम करते थे। वे अब मजबूरी में ही घर जा रहे हैं। सरकार ने यही किया जो उनका किराया भी नहीं लगा।


Comments Off on जय हो हरियाणा जय हो जनता रसोई, अब पहुंचेंगे अपने बिहार
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
Both comments and pings are currently closed.

Comments are closed.

Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.