‘नार्को टेररिस्ट' अमित गंभीर उर्फ ‘बॉबी' के खिलाफ पहला आरोपपत्र दाखिल !    सीतारमण ने एफएसडीसी बैठक में लिया अर्थव्यवस्था की स्थिति का जायजा !    ब्रिटेन में भारतीय मूल के 2 व्यक्तियों को ड्रग्स बरामदगी मामले में 34 साल की सजा !    बाबरी मस्जिद : 4 जून को भाजपा नेताओं के बयान होंगे दर्ज !    केरल में 2 महीने बाद शराब बिक्री शुरू, बेवक्यू ऐप से लेना होगा टोकन! !    आइसोलेशन सेंटरों में अलग से खाना-पानी मुहैया कराये दिल्ली सरकार : हाईकोर्ट !    सुप्रीमकोर्ट ने श्रमिक पलायन संकट पर केन्द्र से पूछे तीखे सवाल !    शराब कारोबारी ने पत्नी, बच्चों के लिये पूरा हवाई जहाज लिया किराये पर! !    दिल्ली के किसान ने श्रमिकों को विमान से भेजा पटना, प्रवासियों ने डर से बंद कर ली आंखें! !    चीनी अधिकारियों पर प्रतिबंधों को मंजूरी, अमेरिका करेगा रुख कड़ा !    

गेंद पर लार को बैन करना मुश्किल होगा : ली

Posted On May - 23 - 2020

मुंबई, 23 मई (एजेंसी)
आस्ट्रेलिया के पूर्व तेज गेंदबाज ब्रेट ली को लगता है कि कोविड-19 महामारी के कम होने के बाद गेंद पर लार के इस्तेमाल करने वाले अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) के ताजा दिशानिर्देशों को लागू करना मुश्किल होगा। अनिल कुंबले की अगुआई वाली आईसीसी की क्रिकेट समिति ने अपनी बैठक में महामारी के चलते गेंद पर लार के इस्तेमाल पर प्रतिबंध की सिफारिश की। आईसीसी ने शुक्रवार को जारी अपने दिशानिर्देशों में कहा कि गेंद को चमकाने के लिये लार का इस्तेमाल नहीं किया जाना चाहिए। ली ने स्टार स्पोर्ट्स के शो ‘क्रिेकेट कनेक्टिड’ पर कहा कि जब आपने आठ, नौ, 10 साल की उम्र से पूरी जिंदगी यही किया हो, जिसमें आप अपनी ऊंगली को चाटकर लार गेंद पर लगाते हो, तो रातोंरात इसके बदलना भी बहुत मुश्किल होगा। ली हालांकि उम्मीद करते हैं कि इस संबंध में विश्व क्रिकेट संस्था थोड़ी ढिलाई बरतेगी। उन्होंने कहा कि मुझे लगता है कि एक आध बार ऐसा होगा या आईसीसी को थोड़ी ढिलाई बरतनी होगी, क्योंकि ऐसा करने पर चेतावनी हो सकती है। यह अच्छी शुरुआत है, लेकिन इसे लागू करना बहुत मुश्किल हेागा। मुझे ऐसा लगता है क्योंकि क्रिकेटरों ने पूरी जिंदगी ऐसा ही किया है।


Comments Off on गेंद पर लार को बैन करना मुश्किल होगा : ली
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
Both comments and pings are currently closed.

Comments are closed.

Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.