प्रेस लिखे वाहन में यूपी से आए 3 लोग भेजे शेल्टर होम !    शेल्टर होम में रहने वालों को मिलेंगी सभी सुविधाएं !    द. अफ्रीका में जन्मे कॉनवे को न्यूजीलैंड से खेलने की छूट !    तबलीगी जमात के कार्यक्रम ने बढ़ाई चिंता !    ‘बढ़ाना चाहिए विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप का समय’ !    लंकाशर क्लब चेयरमैन हॉजकिस की कोरोना से मौत !    24 घंटे में बनायें सही सूचना देने वाला पोर्टल : सुप्रीम कोर्ट !    भारत-चीन को छोड़कर बाकी विश्व में मंदी का डर !    भारत में तय समय पर होगा अंडर-17 महिला विश्वकप !    हिमाचल में 14 तक बंद रहेंगे सरकारी कार्यालय !    

प्रेमियों की आह करेगी स्वाह

Posted On March - 25 - 2020

तिरछी नज़र

कुमार विनोद

बात-बेबात किसी के भी गिरेबान को पलक झपकते ही पकड़ लेने वाले, दुनिया के सबसे ताकतवर कहे जाने वाले हाथ भी आज अपने ही चेहरे को छूने से कतरा रहे हैं। ऐसे में, सीएए के धुर-विरोधियों जैसी दादागीरी दिखाते हुए, नागरिकता संबंधी कागजों के बिना ही ‘घुसपैठिए’ चाइनीज़ कोरोना वायरस ने भी पूरे भारतवर्ष में जगह-जगह अपने गैर-कानूनी ठिकाने बनाने शुरू कर दिये हैं।
राह चलते लोगों को आपस में नमस्ते करता देखकर, दुनियाभर में बदनाम होने के बावजूद, मिस्टर कोरोना को यह देखकर अपने ऊपर गर्व हो आया कि चलो उसके डर से ही सही, यहां के लोग एक-दूसरे से हाथ मिलाकर, हैलो-हाय बोलकर अभिवादन करना छोड़, नमस्ते वाली अपनी पुरातन संस्कृति की ओर लौट रहे हैं और दुनिया के अन्य देशों को भी इसके लिए प्रेरित कर रहे हैं। दवाइयों की एक दुकान के सामने से गुजरते हुए अदृश्य कोरोना ने देखा कि दवा विक्रेता द्वारा मास्क के दाम एमआरपी से भी अधिक मांगे जाने पर ग्राहक गुस्से में बोला कि भाई साहब हो सकता है कि आने वाले समय में पूरी दुनिया ही कोरोना की चपेट में आकर नष्ट हो जाये, आप खुद ही बताइये ऐसे में आप गलत तरीके से पैसे कमाकर क्या करेंगे। यह सुनकर भी दुकानदार पूरी निर्लज्जता से बोला कि भाई साहब, जब सारी दुनिया नष्ट होने ही वाली है तो ऐसे में आप भी पैसे बचाकर क्या करोगे, रही बात मास्क की, वह तो इतने ही दाम में मिलेगा, लेना है तो लो, वैसे भी यह आखिरी पीस है और आप के पीछे भी कई लोग अपनी बारी के इंतज़ार में हैं। इससे पहले कि ग्राहक पलटकर कोई जवाब देता, कोरोना चुपचाप वहां से खिसक गया।
रास्ते में लोगों की आपसी बातचीत सुनकर उसे पता चला कि देश के नेताओं ने एहतियातन मिलने-जुलने के कार्यक्रमों में भाग लेने से मना कर दिया था। बात यहां तक होती तो भी ठीक था, लेकिन इसके चलते कई प्रेमिकाओं ने भी अपने-अपने प्रेमी संग ऑफलाइन बातचीत खेलने से मना कर दिया है, जिसके परिणामस्वरूप प्रेमियों के टूटे दिलों से निकली दर्द भरी आह सुनकर कोरोना को ऐसे लग रहा था कि जैसे उसके कान फट जाएंगे। भले ही पूरी दुनिया में उसका इलाज़ न ढूंढ़ा जा सका हो, लेकिन इन प्रेमियों के दिलों की अतल गहराइयों से निकली अनगिनत बददुआएं उसे अब जीने नहीं देंगी।


Comments Off on प्रेमियों की आह करेगी स्वाह
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
Both comments and pings are currently closed.

Comments are closed.

Manav Mangal Smart School
Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.