पाकिस्तान : ट्रेन-बस टक्कर में 29 की मौत, अधिकतर पाक सिख श्रद्धालु, ननकाना साहिब से लौट रही थी बस !    चीन से बिजली उपकरणों के आयात की नहीं दी जाएगी अनुमति : आरके सिंह !    फ्रांस के प्रधानमंत्री का इस्तीफा, सरकार में फेरबदल की संभावना !    भारत में एक दिन में कोविड-19 के रिकॉर्ड 20,903 नये केस !    धान के कटोरे में लगेगा मक्का और दलहन-तिलहन !    बॉलीवुड की मशहूर कोरियोग्राफर सरोज खान का निधन !    कानपुर में गैंगस्टर विकास दूबे से मुठभेड़ में डीएसपी समेत 8 पुलिसकर्मियों की मौत, 2 अपराधी ढेर !    चीन से विवाद : पीएम मोदी ने लद्दाख में लिया अग्रिम मोर्चों का जायज़ा !    श्रीनगर में मुठभेड़, सीआरपीएफ जवान शहीद, आतंकी भी ढेर !    कोविड मरीजों को सरकार देगी पल्स ऑक्सीमीटर, ठीक होने पर करने होंगे वापस! !    

‘पॉलिसी के चक्कर में मत पड़ो, ये धरी रह जाएंगी’

Posted On February - 13 - 2020

दिनेश भारद्वाज/ट्रिन्यू
चंडीगढ़, 12 फरवरी
दिल्ली विधानसभा चुनाव में लगातार तीसरी बार आम आदमी पार्टी की सरकार बनने और भाजपा के शर्मनाक प्रदर्शन के बाद अब हरियाणा के भाजपाइयों के सुर भी बदल गए हैं। भाजपा विधायकों ने मंत्रियों के निजी स्टाफ को ताने देने शुरू कर दिए हैं। यही नहीं, मंत्रियों को भी नसीहत दी जाने लगी है। कर्मचारियों के तबादलों में बताई जा रही मजबूरियों और पॉलिसी पर पार्टी पदाधिकारी ही नहीं, विधायक भी पूर्ववर्ती सरकारों के उदाहरण देने में लगे हैं।
बुधवार को हरियाणा सिविल सचिवालय में दो-तीन मंत्रियों के दफ्तरों में ऐसा ही नज़ारा देखने को मिला। हुआ कुछ यूं कि एनसीआर एरिया के आरक्षित हलके के एक भाजपा विधायक सचिवालय में पहुंचे। वे एक कैबिनेट मंत्री के पास किसी बदली को लेकर आए थे। मंत्रीजी मीटिंग में व्यस्त थे। सो, विधायक ने उनके स्टाफ से ही ट्रांसफर को लेकर बातचीत की। स्टाफ की ओर से जब बताया गया कि ट्रांसफर का वह केस पॉलिसी में नहीं आता। इसके लिए मुख्यमंत्री से मंजूरी लेनी होगी। इतना सुनना था कि विधायक बोले, ‘पॉलिसी के चक्कर में मत पड़ो। ये किसी काम नहीं आएंगी, चुनावों के समय धरी रह जाएंगी। अब ताऊ देवीलाल स्टाइल में काम करो तभी भला होगा। देखा नहीं दिल्ली में केजरीवाल ने क्या किया’। विधायक इतना कहके निकल लिए।
दूसरी घटना भी रोचक है। सचिवालय के गलियारों में जीटी रोड के एक विधायक से जब दिल्ली चुनाव नतीजों पर चर्चा की तो कहने लगे, ‘हमारे वाले अभी भी नहीं समझेंगे’। फिर कहा, ‘अब तो भजनलाल के समय वाली सरकार की तरह काम करना होगा। जब तक लोगों की सुनवाई नहीं होगी और उनके काम नहीं होंगे, नेताओं के साथ ऐसा ही होता रहेगा। दिल्ली से बड़ा उदाहरण कोई हो नहीं सकता।’
बोलता कोई नहीं
हैरानी की बात यह है कि दिल्ली चुनाव के नतीजों से भाजपा के अधिकांश नेता सहमे हुए हैं। उन्हें लगता है कि अब वर्किंग स्टाइल में बदलाव करना होगा, लेकिन कोई मुंह खोलने को राजी नहीं है। ऑफ-द-रिकार्ड कुछ भी बात कर लो, लेकिन ऑन-रिकार्ड कोई कुछ नहीं बोल रहा।
गब्बर बोले- अंडरग्राउंड था गठबंधन
उधर, गृह मंत्री अनिल विज ने कहा कि दिल्ली में कांग्रेस ने आप के साथ अंडरग्राउंड गठबंधन किया हुआ था। कांग्रेस ने अपने वोट आप को डलवाए।


Comments Off on ‘पॉलिसी के चक्कर में मत पड़ो, ये धरी रह जाएंगी’
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
Both comments and pings are currently closed.

Comments are closed.

Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.