प्रेस लिखे वाहन में यूपी से आए 3 लोग भेजे शेल्टर होम !    शेल्टर होम में रहने वालों को मिलेंगी सभी सुविधाएं !    द. अफ्रीका में जन्मे कॉनवे को न्यूजीलैंड से खेलने की छूट !    तबलीगी जमात के कार्यक्रम ने बढ़ाई चिंता !    ‘बढ़ाना चाहिए विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप का समय’ !    लंकाशर क्लब चेयरमैन हॉजकिस की कोरोना से मौत !    24 घंटे में बनायें सही सूचना देने वाला पोर्टल : सुप्रीम कोर्ट !    भारत-चीन को छोड़कर बाकी विश्व में मंदी का डर !    भारत में तय समय पर होगा अंडर-17 महिला विश्वकप !    हिमाचल में 14 तक बंद रहेंगे सरकारी कार्यालय !    

पहले दिन 40 पीजी को नोटिस जारी

Posted On February - 26 - 2020

चंडीगढ़ में मंगलवार को चल रहे अवैध पीजी का निरीक्षण करते यूटी प्रशासन के अफसर। -दैनिक ट्रिब्यून

चंडीगढ़, 25 फरवरी (ट्रिन्यू)
चंडीगढ़ सेक्टर 32 पीजी अग्निकांड में मारी गईं 3 लड़कियों के बाद आखरिकार प्रशासन जागा है। सोमवार को डीसी के निर्देश के बाद सभी संबंधित अधिकारियों ने कार्रवाई करते हुए मंगलवार शाम तक करीब 40 पीजी मालिकों को नोटिस जारी किए हैं।
जिला मजिस्ट्रेट मनदीप सिंह बराड़ ने आज सभी रेजिडेंट वेलफेयर एसोसिएशनों और चंडीगढ़ प्रशासन के अधिकारियों के साथ एक बैठक की। जिलामजिस्ट्रेट ने निर्देश दिया कि प्रत्येक पीजी को पंजीकृत होना चाहिए और ऐसा न करने वालो पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने बताया कि पीजी वार्षिक जांच के अधीन होंगे और इसके लिए फायर एनओसी की भी आवश्यकता होगी। पंजीकृत पीजी मालिकों ने आश्वासन दिया कि वे सभी मानदंडों के अनुसार अपने पीजी में सभी सुरक्षा मानकों को सुनिश्चित कर रहे हैं। बैठक में एडीसी सचिन राणा, एसडीएम सेंट्रल नाजुक कुमार, एसडीएम साउथ सतीश कुमार जैन, एसडीएम ईस्ट सुधांशु गौतम और सहायक एस्टेट अधिकारी, मनीष कुमार लोहान शामिल थे।
टोल फ्री नंबर पर दर्ज हुईं 17 शिकायतें
सोमवार को डीसी ने अवैध पीजी का संचालन होने पर 1860-1802067 नंबर पर शिकायत करने को लेकर जानकारी दी थी। जिलामजिस्ट्रेट ने बताया कि हेल्पलाइन नंबर पर शाम 6 बजे तक 17 शिकायतें मिली हैं। इनमें से दक्षिण हिस्से से 12, केंद्र से 3 और पूर्व से 2 शिकायतें दर्झ हुई हैं। एसडीएम द्वारा गठित टीमें नियमित रूप से जाँच कर रही हैं और कल से लगभग 40 नोटिस जारी किए गए हैं।
मालिक समेत 2 आरोपी पुलिस गिरफ्त से बाहर
चंडीगढ़/पंचकूला (नस) : सेक्टर-32 स्थित पीजी के मालिक और संचालकों की लापरवाही की वजह से हुई तीन छात्राओं रिया अरोड़ा, मुस्कान और पाक्षी ग्रोवर की मौत के मामले में पुलिस फरार हुए दो आरोपियों को अब तक गिरफ्तार नहीं कर पाई है। गत शनिवार शाम करीब चार बजे गर्ल्स पीजी में लैपटाॅप को चार्ज करते समय शार्ट सर्किट से अचानक आग लग गई जिसमें तीनों छात्राएं जिंदा जल गई जबकि दो छात्राओं ने बिल्डिंग की पहली मंजिल से छलांग लगा कर अपनी जान बचाई थी। मंगलवार को यूटी पुलिस ने पीजी के संचालक नीतेश बंसल को दो दिन के पुलिस रिमांड की अविध समाप्त होने के बाद जिला अदालत में पेश किया, जहां अदालत ने आरोपी को न्यायिक हिरासत में भेज दिया। पुलिस बंसल के दो दिन के रिमांड के दौरान कोठी के मालिक गौरव अनेजा और पीजी के संचालक नितीश पोपली का सुराग नहीं तलाश सकी। गौरतलब है कि बीते 30 नवंबर को सेक्टर-34 थाना पुलिस ने नियमों का उल्लंघन करने पर पीजी के संचालक नीतेश बंसल के खिलाफ आईपीसी की धारा 188 के तहत मामला दर्ज कर उसे गिरफ्तार किया था, इसके बाद नीतेश ने कोर्ट में 1000 रुपए जुर्माना भरा था। सेक्टर-32डी के इस अवैध पीजी में पिछले एक साल में आग की यह तीसरी घटना थी। पीजी में इससे पहले रूम ऐसी में और केबल में आग लगी थी।
अवैध निर्माण हटवाने के लिये एचएसवीपी, निगम और डीसी को पत्र
पंचकूला (ट्रिन्यू) : चंडीगढ़ के एक पीजी में बड़े हादसे के बाद स्थानीय हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण ने सबक नहीं लिया है। शहर के शोरूमों के टेरेस पर खुले बारों में कोई वेंटीलेशन नहीं है। यहां पर सिलेंडर आदि रखे होते हैं। शोरूमों की छतों पर अवैध निर्माण करने के खिलाफ दमकल विभाग की ओर से जिला उपायुक्त, हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण की संपदा अधिकारी और नगर निगम की आयुक्त को पत्र लिखा गया है।
पत्र में कहा गया है कि रेस्टोरेंट/बारों में में किसी भी समय अग्निकांड होने पर जान व माल की हानि होने की आशंका है। इसलिये रेस्टोरेंटों की छतों व बेसमेंट में बने अवैध अतिक्रमण को हटावाया जाए। हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण द्वारा अवैध निर्माण करने वालों पर कार्रवाई न होने के चलते बड़ा हादसा हो सकता है। सेक्टर 3, 5, 8, 9, 10 में चल रहे ऐसे रेस्टोरेंट पूरी तरह आफत बन चुके हैं। 25 से 30 हजार रुपये किराए पर लेकर उनमें रेस्टोरेंट खोल दिए गए हैं। इसी तरह बेसमेंट में जिसमें काम नहीं चलते, वहां पर भी रेस्टोरेंट बार खोले गए हैं। नियमानुसार बेसमेंट में सिलेंडर इत्यादि रखना गलत है, लेकिन लगातार नियमों की धज्जियां उड़ाते हुए रेस्टोरेंट बार मालिक शराब भी परोस रहे हैं। छतों पर लगातार अवैध तौर पर कंस्ट्रक्शन बढ़ती जा रही है और यदि कोई आगजनी की घटना हुई, तो दमकल विभाग को शोरुम में घुसने में बड़ी मशक्कत का सामना करना पड़ेगा। प्राधिकरण के नियम शोरूम की छतों पर निर्माण नहीं किया जा सकता और बेसमेंट में सिलेंडर इत्यादि का प्रयोग नहीं हो सकता।


Comments Off on पहले दिन 40 पीजी को नोटिस जारी
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
Both comments and pings are currently closed.

Comments are closed.

Manav Mangal Smart School
Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.