पुलिस पर हमला, आईपीएस अफसर घायल !    गगनयान : अंतरिक्ष यात्रियों का प्रशिक्षण स्थगित !    14 माह और ढाई साल के मासूम भी चपेट में !    चीन में 39 नये मामले !    कोरोना रिलीफ फंड 9929 शिक्षक अंशदान से वंचित !    'इस साल टेनिस टूर्नामेंट होने की संभावना कम' !    24 घंटे में 28 नये कोरोना पॉजिटिव !    मोहाली में एक और कोरोना मरीज !    धड़ल्ले से हो रही जरूरी वस्तुओं की कालाबाजारी !    एकदा !    

परेशानी का सबब न बने प्यार

Posted On February - 16 - 2020

रिश्ते

शिखर चंद जैन
अपने पार्टनर से हर बात जानने की इच्छा ठीक हैै, लेकिन उन्हें थोड़े से स्पेस की भी दरकार है। अपने लिये जिस तरह हम थोड़ी आज़ादी, थोड़ी केयर और कुछ स्पेस चाहते हैं ठीक उसी तरह उनके लिये भी यह ज़रूरी है।
कॉल रिसीव न करने पर गुस्सा
कई बार आपका पार्टनर अपने किसी बिजनेस संबंधी काम में व्यस्त रहने, बस या ट्रेन में यात्रा के दौरान सीट ना मिल पाने, भीड़भाड़ वाले स्थान में मौजूद रहने के कारण फोन रिसीव नहीं कर पाता। ऐसे में उस पर गुस्सा करना या बार-बार फोन या मैसेज करके उन्हें परेशान करना अथवा झिड़कना उन्हें दुखी कर सकता है।
मित्रमंडली से दूर रहने की जिद
अगर आप ओवर पजेसिव नेचर की हैं और अपने नजदीकी मित्र या पति से उम्मीद करती हैं कि वह सिर्फ आपसे ही बातचीत करें, आपके ही साथ घूमे फिरे और सिर्फ आपके इर्द-गिर्द रहे तो आपकी यह बात उन्हें हरगिज पसंद नहीं आएगी। उन्हें उनके मित्रों या अपोजिट सेक्स के मित्रों से दूर रहने को कहकर आप धीरे-धीरे परोक्ष रूप से खुद ही उनसे दूर होती चली जाएंगी।
मैसेज के तुरंत जवाब की उम्मीद
आप अपना प्यार जताने या उनसे कोई क्वेरी करने के लिए टेक्स्ट मैसेज या व्हाट्सएप करें और उनसे तुरंत जवाब की उम्मीद करें तो यह प्रैक्टिकल हैबिट नहीं कही जाएगी। कई बार फोन जेब में रहता है या ऑफिस ड्रावर में रखा रहता है या फिर आपका पार्टनर बॉस के सामने अथवा किसी क्लाइंट के साथ रहता है तो मैसेज देख ही नहीं पाता। कभी-कभी मैसेज का जवाब देने के मूड में नहीं रहता या समय नहीं पाता तो ऐसे में मैसेज का उत्तर न देने पर उससे खटपट करना ठीक नहीं।
आपका जीपीएस जैसा नेचर
जीपीएस से किसी व्यक्ति की लोकेशन को कभी भी जाना जा सकता है। कहीं आप अपने नजदीकी मित्र के लिए जीपीएस तो नहीं बन रहीं। हर एक-दो घंटे में जासूसी के अंदाज में कहां हो -कहां हो की रट तो नहीं लगातीं?
आपका बार-बार ऐसे पूछना ठीक नहीं लगता और उनके जवाब पर विश्वास न करना तो और भी इरिटेट करने वाला व्यवहार है।
दिन भर का लेखा-जोखा
पार्टनर से हर सुबह या शाम हाल-चाल पूछना या दिन भर की गतिविधियों के बारे में एक मोटी जानकारी कैजुअल रूप में पूछना अलग बात है। लेकिन अगर आप उनसे मिनट-मिनट की खबर लेने की आदत पाल चुकी हैं तो यह ठीक नहीं। न ही कुरेद कुरेद कर पूछना ठीक है कि आज किस से मिले, क्यों मिले, कितनी देर मिले और कहां मिले
आदि।
दूसरों के सामने ओवरएक्टिंग
कई बार प्यार का इजहार करने के चक्कर में जब आप भरी सभा में या बड़े बुजुर्गों के बीच पार्टनर मित्र को अजीबोगरीब तरीके से संबोधित करते हैं या जरूरत से ज्यादा लाड़ दिखाते हैं यह सब न सिर्फ कृत्रिम लगता है बल्कि ऑकवर्ड भी लगता है। दुनिया के सामने प्यार जताने का भी एक शालीन और संतुलित तरीका होता है जो आपको जानना चाहिए।


Comments Off on परेशानी का सबब न बने प्यार
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
Both comments and pings are currently closed.

Comments are closed.

Manav Mangal Smart School
Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.