ॐ आकार के द्वीप पर विराजमान ओंकारेश्वर !    पार्वती का तप !    महाशिवरात्रि : 117 साल बाद दुर्लभ संयोग !    अनुभवों से बदलें आदतें !    शहद रखे आपको फिट !    मोर के पंख !    सृष्टि के विकास का सार अर्धनारीश्वर !    व्रत-पर्व !    अंजाम !    अनुशासन का पाठ !    

निर्भया केस के 2 मसलों पर ‘सुप्रीम व्यवस्था’ आज

Posted On February - 14 - 2020

नयी दिल्ली, 13 फरवरी (एजेंसी)

नयी दिल्ली स्थित पटियाला हाउस कोर्ट के बाहर बृहस्पतिवार को निर्भया के दोषियों को फांसी की मांग करतीं पीड़िता की मां एवं अन्य। – मुकेश अग्रवाल

सुप्रीम कोर्ट ने 2012 के निर्भया गैंगरेप और हत्या मामले के दोषियों में से एक विनय कुमार शर्मा की दया याचिका राष्ट्रपति द्वारा खारिज किए जाने के खिलाफ दायर याचिका पर बृहस्पतिवार को सुनवाई पूरी की। न्यायालय शुक्रवार को व्यवस्था देगा। इसके साथ ही मामले के चारों दोषियों को अलग-अलग फांसी देने की मांग कर रही केंद्र की याचिका पर सुनवाई शुक्रवार के लिए स्थगित कर दी।
सुप्रीम कोर्ट की पीठ ने बृहस्पतिवार को एक दोषी पवन कुमार गुप्ता का प्रतिनिधित्व करने के लिये वरिष्ठ अधिवक्ता अंजना प्रकाश को न्याय मित्र नियुक्त किया। पीठ ने कहा कि निचली अदालत द्वारा गुप्ता के बचाव के लिये वकील का चयन करने के लिये उसके पिता के अनुरोध पर दिल्ली विधिक सेवा प्राधिकरण से अधिवक्ताओं की सूची मांगे जाने के मद्देनजर केंद्र की याचिका पर सुनवाई शुक्रवार को अपराह्न दो बजे के लिये स्थगित की जा रही है।
उधर, दिल्ली की एक अदालत ने दोषियों के खिलाफ मौत का वारंट जारी किए जाने के अनुरोध वाली याचिकाओं पर सुनवाई सोमवार तक के लिए स्थगित की।
गौर हो कि विनय शर्मा ने अपनी याचिका में आरोप लगाया है कि उसकी दया याचिका विद्वेषपूर्ण तरीके से खारिज की गयी है। उसने अपनी मौत की सजा को उम्र कैद में तब्दील करने का अनुरोध किया है। जस्टिस आर भानुमति, जस्टिस अशोक भूषण और जस्टिस एएस बोपन्ना की पीठ ने विनय शर्मा की याचिका पर सुनवाई के बाद कहा कि इस पर शुक्रवार को अपराह्न दो बजे आदेश सुनाया जाएगा। विनय के वकील एपी सिंह ने कहा कि राष्ट्रपति ने विद्वेषपूर्ण तरीके से उनके मुवक्किल की दया याचिका खारिज की है। उधर, तिहाड़ जेल के अधिकारियों ने दिल्ली की एक अदालत को बताया कि निर्भया केस के चार दोषियों में से एक पवन गुप्ता ने वकील लेने से इनकार कर दिया है। पवन ने अब तक सुधारात्मक याचिका दायर नहीं की है। उसके पास दया याचिका का भी विकल्प है। इस बीच, निर्भया के माता-पिता ने चारों दोषियों की फांसी में देरी के खिलाफ और गुनहगारों के परिजनों ने मृत्युदंड के विरुद्ध बृहस्पतिवार को प्रदर्शन किया।


Comments Off on निर्भया केस के 2 मसलों पर ‘सुप्रीम व्यवस्था’ आज
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
Both comments and pings are currently closed.

Comments are closed.

Manav Mangal Smart School
Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.