इतिहास में पहली बार जम्मू में हुई अमरनाथ यात्रा की प्रथम पूजा !    आदेश कुमार गुप्ता ने संभाला दिल्ली भाजपा प्रदेश अध्यक्ष का पदभार !    सिर्फ बातों से देश आत्मनिर्भर नहीं बनता, आगे की आर्थिक नीति बताएं पीएम : कांग्रेस !    हाईकोर्ट ने दिये सैनिक फार्म इलाके में ‘अनधिकृत निर्माण’ की जांच के आदेश !    कांग्रेस ने खड़गे को कर्नाटक से राज्यसभा उम्मीदवार किया घोषित !    तबादले के बाद धूमधाम से विदाई जलूस निकालने वाला दरोगा निलंबित, जांच के आदेश !    महंगी गाड़ी का लालच, 18 वर्षीय बेटे की शादी 25 साल की तलाकशुदा से कराने को तैयार हुआ पिता! !    पोस्ट शेयर करके बुरी फंसी अभिनेत्री सारा अली !    क्या कोविड-19 मरीजों से ‘आयुष्मान भारत’ की दर से पैसा लेंगे निजी अस्पताल : सुप्रीमकोर्ट !    अमेरिका में जन्मे अपने बच्चों के लिए वीजा मांग कर रहे एच-1बी धारक भारतीय! !    

डेथ वारंट का अनुरोध न मानने पर निर्भया की मां ने जताया विरोध

Posted On February - 13 - 2020

नयी दिल्ली, 12 फरवरी (एजेंसी)
निर्भया की मां ने अपनी बेटी के सामूहिक बलात्कार एवं हत्या मामले में चार दोषियों को फांसी पर लटकाये जाने में देरी किये जाने को लेकर यहां एक निचली अदालत परिसर के बाहर बुधवार को विरोध प्रदर्शन किया। दिल्ली की एक अदालत ने निर्भया सामूहिक बलात्कार एवं हत्या मामले में मौत की सजा का इंतजार कर रहे चार दोषियों में से एक पवन गुप्ता को एक वकील उपलब्ध कराने की पेशकश की। अदालत ने कहा कि कोई भी दोषी अपनी अंतिम सांस तक कानूनी सहायता पाने का हकदार है। इसके बाद निर्भया की मां ने निचली अदालत परिसर के बाहर विरोध प्रदर्शन किया। अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश धर्मेंद्र राणा ने पवन की ओर से विलंब करने पर नाराजगी जताई जिसने कहा कि उसने अपने पहले वाले वकील को हटा दिया है और नया वकील करने के लिए उसे समय चाहिए। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण (डीएलएसए) ने पवन के पिता को वकील चुनने के लिए अपने पैनल में शामिल अधिवक्ताओं की एक सूची उपलब्ध कराई। निर्भया के माता-पिता और दिल्ली सरकार ने मंगलवार को अदालत का रुख कर दोषियों के खिलाफ नया डेथ वारंट जारी करने का अनुरोध किया था। पवन गुप्ता (25), विनय कुमार शर्मा (26), अक्षय कुमार (31) और मुकेश कुमार सिंह (32) को एक फरवरी को सुबह छह बजे फांसी दी जानी थी। दूसरी बार मृत्यु वारंट पर तामील टाली गई थी।
परिजनों से बदसलूकी की जांच के आदेश
बलिया : दिल्ली के निर्भया कांड की पीड़िता के परिजनों के साथ मुख्य चिकित्सा अधिकारी (सीएमओ) द्वारा कथित रूप से बदसलूकी के मामले में जिला प्रशासन ने बुधवार को जांच के आदेश दिये हैं। सोशल मीडिया पर वायरल एक वीडियो में मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. प्रीतम मिश्र का निर्भया को लेकर बेतुका बयान सामने आया है। वीडियो में मुख्य चिकित्सा अधिकारी बोलते दिखाई दे रहे हैं कि निर्भया दिल्ली क्यों गई। निर्भया के गांव में किसी ने भी डॉक्टर की पढ़ाई तो की नहीं और यहां के लोगों को डॉक्टर चाहिए।
वीडियो में उन्होंने कहा कि पहले डॉक्टर की पढ़ाई करें, फिर इसी अस्पताल में डॉक्टर बन जाएं। इस गांव में डॉक्टर तो बनाया नहीं तो अस्पताल क्यों खुलवाया। हम कहां से डॉक्टर लाएं, जितने पद हैं, उतने डॉक्टर हैं नहीं। जिलाधिकारी हरि प्रताप शाही ने मामले की जाँच के आदेश दिए हैं।


Comments Off on डेथ वारंट का अनुरोध न मानने पर निर्भया की मां ने जताया विरोध
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
Both comments and pings are currently closed.

Comments are closed.

Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.