बीरेंद्र सिंह का इस्तीफा मंजूर, हरियाणा से राज्यसभा के लिए खाली हुई दो सीटें !    हरियाणा में अब 12वीं तक के विद्यार्थियों को मिलेंगी मुफ्त किताबें !    जेबीटी टीचर ने तैयार की पराली साफ करने की मशीन !    स्केनिंग मशीन से शवों की पहचान का प्रयास !    चीन से मशीन मंगवाने के नाम पर ठगे 6 लाख !    शिवसेना के जिला अध्यक्ष को फोन पर मारने की धमकी !    घर में घुसकर किसान को मारी गोली, गंभीर !    गोदाम से चोरी करने वाला मैनेजर गिरफ्तार !    पेशेवर कैदियों से अलग रखे जाएंगे सामान्य कैदी !    टीजीटी मेडिकल का नतीजा सिर्फ 5.12 फीसदी !    

चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों ने दिया धरना

Posted On January - 16 - 2020

करनाल में बुधवार को धरने पर बैठे चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी। -हप्र

करनाल, 15 जनवरी (हप्र)
हरियाणा राज्य चतुर्थ श्रेणी सरकारी कर्मचारी यूनियन ने आज जिला सचिवालय के सामने धरना दिया। इस दौरान दोपहर को जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी को ज्ञापन सौंपा गया।
धरने की अध्यक्षता जिला प्रधान ऋषिपाल शाहपुर ने की व संचालन जिला सह सचिव जयपाल बागड़ी ने किया। ऋषिपाल ने कहा कि यूनियन की मांगों में पार्ट टाइम कर्मचारियों व एजुसेट चौकीदारों का वेतन हर माह की 7 तारीख से पहले देना, 2003 के बाद लगे तमाम पार्ट टाइम कर्मचारियों की वरिष्ठता सूची बनाना, दो वर्ष की सेवा उपरांत चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों को कन्फर्म करना, कर्मचारियों को समय पर औजार उपलब्ध करवाना तथा प्राथमिक विद्यालयों में खाली पड़े स्वीपर व वाटर कैरियर के पदों का भरा जाना आदि शामिल है।
उन्होंने कहा कि शीघ्र मांगों को लागू नहीं किया गया तो बड़ा आंदोलन किया जाएगा। इस अवसर पर एसकेएस के जिला प्रधान मलकीत सिंह, सुशील गुर्जर, रोशनलाल गुप्ता, ओमप्रकाश माटा, इंद्री ब्लाक प्रधान सुभाष, नीलोखेड़ी प्रधान कृष्ण, रोशन, अंग्रेजो देवी, मीना देवी, सुमन, शिव कुमार, बलकार, संजय, राममेहर, कर्मबीर, कुलदीप व माईचंद आदि मौजूद रहे।
रैली में भीड़ जुटाने के लिए जबरन भेजे कर्मचारी

करनाल में बुधवार को धरने पर रोष जाहिर करते नगर निगम कर्मचारी। -हप्र

नगरपालिका कर्मचारी संघ ने निगम कमिश्नर व डीएमसी पर सरकार की पानीपत रैली में भीड़ जुटाने के लिए कर्मचारियों को जबरन रैली मेें भेजने के आरोप लगाए हैं। करनाल में चल रहे धरने के दौरान संघ के नेताओं ने आज कहा कि कमिश्नर को जनता और कर्मचारियों की परवाह नहीं है।
बुधवार को नगर निगम में धरना 52वें दिन भी जारी रहा। अध्यक्षता प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य रमेश चनालिया ने की व संचालन इकाई सदस्य सत्यवान अठवाल ने किया। कर्मचारी नेताओं ने कहा कि सरकार और निगम प्रशासन कर्मचारियों की सुनवाई नहीं कर रहे।
निगम अधिकारियों और ठेकेदारों की मिलीभगत कर्मचारियों पर भारी पड़ रही है। सफाई कर्मचारियों को प्रताड़ित किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि 24 मई 2018 को हुए समझौते को लागू न किए जाने की वजह से कर्मचारियों में भारी रोष है।

‘समाधान नहीं हुआ तो तेज करेंगे आंदोलन’
कैथल (हप्र) : हरियाणा राज्य चतुर्थ श्रेणी सरकारी कर्मचारी यूनियन संबंधित सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा ने राज्य कमेटी के आह्वान पर जिला प्रधान छज्जु राम की अध्यक्षता में जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी व जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय के समक्ष धरना देकर प्रदर्शन किया। इस अवसर पर जिला प्रधान छज्जु राम ने कहा कि काम करने के बावजूद चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों को समय पर वेतन नहीं मिल रहा। पार्ट टाइम कर्मचारी का वेतन 10-10 माह से रुका हुआ है। चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों की सीनियोरिटी लिस्ट बनाने, 2 वर्ष पूरे करने के उपरांत कंफर्मेशन पत्र जारी करने, महिला कर्मचारियों से चौकीदारों का काम न लेने, साप्ताहिक अवकाश का पत्र जारी करने आदि मांगों को लेकर आज जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी के माध्यम से निदेशक मौलिक शिक्षा हरियाणा को ज्ञापन प्रेषित किया गया। उन्होंने कहा कि यदि जल्द ही मांगों का समाधान नहीं होता तो आंदोलन को और तेज कर दिया जाएगा।


Comments Off on चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों ने दिया धरना
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
Both comments and pings are currently closed.

Comments are closed.

Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.