सफ़र में रखें औरों का ख्याल !    कंप्रेस्ड हवा से चलेंगे रोबोट के हाथ !    घर पर करें अचार तैयार !    मन को शांत, ग्रहों को संतुलित करता है तिलक !    धन्य कौन! !    सारंगनाथ महादेव : एक साथ पूजे जाते हैं दो शिवलिंग !    पापा का फैसला !    20 में चमकेंगे 19 के सिकंदर !    विनिर्माण दोष, आपको क्या पता होना चाहिये !    स्वच्छता का पुरस्कार !    

ऊना में प्रसव के बाद महिला की मौत पर बवाल

Posted On January - 20 - 2020

धर्मशाला, 19 जनवरी (निस)
क्षेत्रीय अस्पताल ऊना में प्रसव के बाद महिला की मौत को लेकर बबाल मचा हुआ है। रविवार को ऊना के विधायक सतपाल सिंह रायजादा ने इसके लिए राज्य सरकार को जिम्मेदार ठहराया है। विधायक रायजादा ने कहा कि विपिन परमार को स्वास्थ्य मंत्री बने दो वर्ष हो गए हैं, लेकिन वह क्षेत्रीय अस्पताल ऊना की व्यवस्था को सही करने में पूरी तरह से विफल रहे हैं। ऐसे में स्वास्थ्य मंत्री को अपने पद से इस्तीफा दे देना चाहिए।
विधायक राजयादा ने कहा कि भाजपा के 44 विधायक जीत कर आए हैं, ऐसे में किसी और को स्वास्थ्य मंत्री बनने का मौका देना चाहिए, ताकि अस्पताल की व्यवस्थाओं को सुधारा जा सके। रायजादा ने मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर से आग्रह किया कि स्वास्थ्य मंत्री को बर्खास्त कर क्षेत्रीय अस्पताल ऊना के हालात में सुधार करें। रायजादा ने कहा कि शिमला में मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के समक्ष क्षेत्रीय अस्पताल की अव्यवस्था को लेकर अवगत करवाया था। क्षेत्रीय अस्पताल में तैनात तीन चिकित्सक अपने घर व क्लीनिक पर काम करते हैं। दिन को क्लीनिक पर काम करते हैं और रात को डयूटी अस्पताल में देते हैं। क्लीनिक पर काम करते हुए अगर अस्पताल से एमरजेंसी कॉल आ जाए, तो वे अस्पताल नहीं आते हैं। लेकिन सरकार इस पर कोई कार्रवाई नहीं कर रही।

विधायक ने कहा कि मुख्यमंत्री ने उनकी बात पर विश्वास न करते हुए लिखित शिकायत देने की बात कही। विधायक ने कहा कि हालत यह है कि ऊना का क्षेत्रीय अस्पताल पीजीआई रैफर के नाम से मशहूर हो गया है। ताजा मामला पिछले कल का है, जहां डाक्टराें की लापरवाही के चलते डिलिवरी के बाद महिला की मौत हो गई।


Comments Off on ऊना में प्रसव के बाद महिला की मौत पर बवाल
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
Both comments and pings are currently closed.

Comments are closed.

Manav Mangal Smart School
Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.