10 अंक का ही रहेगा मोबाइल नंबर, 11 की कोई योजना नहीं : ट्राई !    महाराष्ट्र, गुजरात के समुद्री तट से 3 जून को टकरा सकता है चक्रवात, अलर्ट जारी !    मन्नार की खाड़ी में मिली रंग बदलने वाली दुर्लभ मछली! !    भारत के साथ सीमा गतिरोध : नेपाल सरकार ने संसद में पेश किया संविधान संशोधन विधेयक !    किसी विपक्षी नेता को कोविड अस्पताल जाना पड़ता तो व्यवस्थाओं पर न उठाते सवाल : योगी !    ऑस्ट्रेलियाई पीएम मॉरिसन ने किया ट‍्वीट...मोदी के साथ समोसे खाना चाहूंगा! !    जानवरों में एंथ्रेक्स वायरस : कॉर्बेट टाइगर रिजर्व ने जारी किया अलर्ट !    आईसीएसई के परीक्षार्थियों को भी सेंटर बदलने की अनुमति !    पीओके में सभी शिविर, लांच पैड आतंकियों से भरे : ले.जन. राजू !    सेना ने पूर्वी लद्दाख में टकराव के कथित वीडियो को किया खारिज !    

आतंकियों को दिल्ली, चंडीगढ़ पहुंचाने की फिराक में था डीएसपी

Posted On January - 13 - 2020

जम्मू/ श्रीनगर, 12 जनवरी (हप्र/ एजेंसी)
जम्मू-कश्मीर पुलिस के एक डीएसपी को 2 आतंकवादियों के साथ गिरफ्तार किया गया है। श्रीनगर हवाईअड्डे पर एंटी हाईजैकिंग स्क्वॉड में तैनात व राष्ट्रपति पुलिस पदक से सम्मानित इस डीएसपी दविंदर सिंह पर आरोप है कि वह हिज्बुल मुजाहिदीन के अातंकवादी नवीद बाबू और अल्ताफ आसिफ डार को कार से कश्मीर घाटी के बाहर ले जा रहा था। पुलिस सूत्रों ने बताया कि आतंकवादी दिल्ली की ओर जा रहे थे और किसी बड़े हमले को अंजाम देने की फिराक में थे। यह बात भी सामने आ रही थी कि वह चंडीगढ़ जा रहे थे। शनिवार को कुलगाम के मीर बाजार में नाका लगाकर उन्हें पकड़ा गया। बताया जा रहा है कि कार से एके 47 राइफल, 3 पिस्टल और करीब डेढ़ लाख रुपये बरामद हुए हैं। वहीं, डीएसपी के घर से 3 एके 47 और 5 ग्रेनेड मिलने की बात सामने आयी है।
कश्मीर पुलिस के आईजी विजय कुमार ने कहा कि डीएसपी दविंदर ने कई आतंकवाद रोधी अभियानों पर काम किया है। शनिवार को उसे आतंकवादियों के साथ जम्मू की तरफ जाते हुए गिरफ्तार किया गया, यह घृणित अपराध है और उसके साथ आतंकवादियों जैसा ही सलूक किया जा रहा है। गैरकानूनी गतिविधि (रोकथाम) कानून और आर्म्स एक्ट के तहत केस दर्ज किया गया है। पुलिस के साथ आईबी और रॉ समेत अन्य एजेंसियां पूछताछ कर रही हैं।
आईजी ने कहा कि दक्षिण कश्मीर में जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर उनको हिरासत में लिए जाने की खबर फैलते ही, कुछ आतंकवादी शोपियां के अपने ठिकाने से भाग गए। आईजी ने रविवार को यहां संवाददाता सम्मेलन में बताया कि गिरफ्तार किए गये एक आतंकवादी की पहचान हिज्बुल के शोपियां जिला कमांडर नवीद के रूप में हुई है। वह 2017 में पुलिस कॉन्स्टेबल था और बडगाम से 4 राइफलों के साथ फरार हो गया था। वह पुलिसकर्मियों एवं नागरिकों की हत्या में शामिल रहा है। उसके खिलाफ 17 प्राथमिकियां दर्ज हैं। बताया गया कि दूसरा आतंकवादी अल्ताफ आसिफ डार भी शोपियां का रहने वाला है, वह मार्च 2019 से सक्रिय था।
आईजी ने बताया कि आतंकियों और डीएसपी के अलावा कार में एक स्थानीय व्यक्ति भी मौजूद था, जो पेशे से वकील और पुलिस रिकॉर्ड में आतंकवादी संगठनों के लिए काम करने वाला सक्रिय सदस्य है।
2001 में संसद पर हुए हमले में भी डीएसपी दविंदर का नाम उछला था। अफजल गुरु ने जेल से अपने वकील को लिखे पत्र में दविंदर सिंह का नाम लिया था। हालांकि, आईजी ने इसकी जानकारी होने से इनकार करते हुए कहा कि हमारे पास अभी ऐसा कोई रिकॉर्ड नहीं है।
पुलवामा में हिज्बुल के 3 आतंकी ढेर
जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले के त्राल में सुरक्षाबलों के साथ रविवार को हुई मुठभेड़ में हिज्बुल मुजाहिदीन के 3 मोस्ट वांटेड आतंकवादी मारे गए। पुलिस के एक प्रवक्ता ने कहा कि आतंकवादी- सीर गांव का उमर फयाज लोन उर्फ हमद खान, मंदूरा का फैजान हामिद और मोनघामा का आदिल बशीर मीर उर्फ अबु दुजाना कई मामलों में वांछित थे। सूचना मिली थी वह त्राल के गुजर बस्ती गुलशनपोरा में छिपे हैं। सुरक्षाबलों ने तलाशी शुरू की, इसी दौरान आतंकवादियों ने गोली चला दी।


Comments Off on आतंकियों को दिल्ली, चंडीगढ़ पहुंचाने की फिराक में था डीएसपी
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
Both comments and pings are currently closed.

Comments are closed.

Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.