रिश्वत लेने पर सेल्स टैक्स इंस्पेक्टर को 5 वर्ष की कैद !    तहसीलों को तहसीलदार का इंतज़ार !    9 लोगों को प्रापर्टी सील करने के नोटिस जारी !    5.5 फीसदी रह सकती है वृद्धि दर : इंडिया रेटिंग !    लोकतंत्र सूचकांक में 10 पायदान फिसला भारत !    कश्मीर में तीसरे पक्ष की मध्यस्थता मंजूर नहीं !    पॉलिथीन के खिलाफ नगर परिषद सड़क पर !    ई-गवर्नेंस के लिए हरियाणा को मुंबई में मिलेगा गोल्ड !    हवाई अड्डे पर बम लगाने के संदिग्ध का आत्मसमर्पण !    द. अफ्रीका में समलैंगिक शादी से इनकार !    

भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ियों का शानदार प्रदर्शन, 8 पदक पक्के

Posted On December - 5 - 2019

पोखरा, 4 दिसंबर (भाषा)
भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ियों ने 13वें दक्षिण एशियाई खेलों में अपना दबदबा बनाये रखा और चार व्यक्तिगत, 4 युगल वर्ग के सेमीफाइनल में प्रवेश करके पदक पक्के कर लिये। शीर्ष वरीयता प्राप्त सिरिल वर्मा ने पाकिस्तान के मुराद अली को 27-12, 21-17 से हराकर एकल क्वार्टर फाइनल में जगह बनाई। महिला एकल में 16 बरस की गायत्री गोपीचंद ने दूसरी वरीयता प्राप्त पाकिस्तान की माहूर शाहजाद को 21-15, 21-16 से मात दी। शीर्ष वरीयता प्राप्त अश्मिता चालिहा ने पाक की पलवाशा को 21-9, 21-7 से परास्त किया। आर्यमन टंडन ने श्रीलंका के रंतुष्का करूणातिलके को 21-17, 21-17 से हराकर पुरूष एकल सेमीफाइनल में जगह बनाई। महिला युगल में कुहू गर्ग और अनुष्का पारिख और मेघना जक्कमपुडी और एस. नीलाकुर्ती ने भी अंतिम 4 में प्रवेश किया। मिश्रित युगल में ध्रुव कपिला और जक्कमपुडी ने श्रीलंका के करूणातिलके और काविंदी सिरिमनागे को 21-14, 26-24 से हराया। पुरूष युगल में अरूण जार्ज और संयम शुक्ला को पराजय का सामना करना पड़ा लेकिन कृष्णा गरागा और कपिला ने भारत की उम्मीदें कायम रखीं।

ताइक्वांडो में 6 पदक जीते
भारत ने दक्षिण एशियाई खेलों की ताइक्वांडो स्पर्धा में भी दबदबा बनाते हुए 3 स्वर्ण सहित कुल 6 पदक अपने नाम किये। लैतिका भंडारी (अंडर 53 किग्रा), जरनेल (अंडर 74 किग्रा) और रूदाली बरूआ (ओवर 73 किग्रा) ने स्वर्ण पदक जीते। सौरव और गंगजोत ने पुरूषों की अंडर 63 किग्रा और महिलाओं की 62 किग्रा में रजत प्राप्त किये।

भारत को टेबल टेनिस पुरुष और महिला युगल में स्वर्ण
काठमांडू (भाषा) : भारत ने 13वें दक्षिण एशियाई खेलों की टेबल टेनिस प्रतियोगिता की पुरुष एवं महिला युगल स्पर्धाओं में बुधवार को यहां स्वर्ण और रजत पदक जीते। पुरुष युगल फाइनल में हरमीत देसाई और एंथनी अमलराज ने हमवतन सानिल शेट्टी और सुधांशु ग्रोवर को 8-11, 11-7, 11-7, 11-5, 8-11, 12-10 से हराया। नेपाल के सांतू श्रेष्ठ और विनेश खानिया ने कांस्य पदक जीता। महिला युगल फाइनल में मधुरिका पाटकर और श्रीजा अकुला ने सुत्रिता मुखर्जी और अयहिका मुखर्जी को 2-11, 11-8, 11-8, 11-6, 5-11, 11-5 से पराजित करके खिताब जता। श्रीलंका की विशाखा मधुरंगी और हंसिनी पुलिमा ने कांस्य पदक हासिल किया। मिश्रित युगल में हरमती और सुत्रिता मुखर्जी ने अमलराज और अयहिका को 11-6, 9-11, 11-6, 11-6, 11-8 से हराकर स्वर्ण पदक जीता।

भारतीय पुरुष, महिला खो-खो टीमों ने जीता सोना

काठमांडु : भारतीय पुरुष और महिला खो-खो टीमों ने बुधवार को यहां 13वें दक्षिण एशियाई खेलों में क्रमश: बांग्लादेश और नेपाल को हराकर स्वर्ण पदक अपनी झोली में डाले। वर्ष 2016 में स्वर्ण पदक जीतने वाली भारतीय पुरूष टीम ने बांग्लादेश को पारी और 7 अंक से जीत हासिल की और उनका स्कोर 16-9 रहा। दीपक माधव भारत के लिये शीर्ष स्कोरर रहे जिन्होंने टीम के लिये 5 अहम अंक लिये। महिलाओं के फाइनल में कप्तान नसरीन ने अगुवाई करते हुए 5 अंक जुटाये जबकि उनकी साथी काजल भोर ने भी 5 अंक जोड़कर अहम योगदान किया। भारतीय टीम ने 17-5 के स्कोर से एक पारी और 12 अंक से जीत हासिल की। भारत ने दोनों वर्गों में स्वर्ण जीते तो बांग्लादेश को पुरूष स्पर्धा में रजत पदक से संतोष करना पड़ा जबकि नेपाल तीसरे स्थान पर रहा। महिला वर्ग में नेपाल ने दूसरा स्थान हासिल किया जबकि बांग्लादेश ने अपना अभियान कांस्य पदक से समाप्त किया।


Comments Off on भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ियों का शानदार प्रदर्शन, 8 पदक पक्के
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
Both comments and pings are currently closed.

Comments are closed.

Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.