जय मम्मी दी दर्शकों को हंसाना मुश्किल काम है !    एक-दूजे के वास्ते पहुंचे लद्दाख !    अब आपके वाहन पर रहेगी तीसरी नजर !    सैफ को यशराज का सहारा !    एकदा !    घूंघट !    जोक्विन पर्सन ऑफ द ईयर !    गैजेट्स !    मनोरंजन के लिये ही देखें फिल्में !    12वीं के बाद नौकरी दिलाएंगे ये कोर्स !    

परिणाम घोषित करने की मांग को लेकर प्रदर्शन

Posted On December - 3 - 2019

पंचकूला में सोमवार को हरियाणा लोक सेवा आयोग कार्यालय के बाहर प्रदर्शन करते सहायक प्रोफेसर अभ्यर्थी। -नितिन मित्तल

पंचकूला, 2 दिसंबर (ट्रिन्यू)
सहायक प्रोफेसर अभ्यर्थियों ने सोमवार काे हरियाणा लोक सेवा आयोग (एचपीएससी) कार्यालय पर धरना प्रदर्शन किया। प्रदेश भर से अभ्यर्थी पंचकूला पहुंचे। अभ्यर्थियों ने आरोप लगाया कि विगत 2 सालों से एचपीएससी द्वारा भूगोल विषय के 171 सहायक प्रोफेसर की भर्ती को लटकाया गया है। बीते 30 सितंबर को भर्ती संबंधी हाईकोर्ट एवं सुप्रीम कोर्ट में लंबित याचिकाएं भी समाप्त हो चुकी हैं। इसके बावजूद एचपीएससी द्वारा परिणाम घोषित नहीं किया जा रहा।
एचपीएससी के रवैये को देखते हुए सैकड़ों अभ्यर्थियों ने आज यहां स्थित एचपीएससी कार्यालय पर अनिश्चितकालीन धरना देने का ऐलान किया है। अभ्यर्थियों का कहना है कि जब तक एचपीएससी द्वारा अंतिम परिणाम घोषित नहीं किया जाएगा वे कार्यालय पर धरने पर डटे रहेंगे। अभ्यर्थियों ने शंका जाहिर की है कि एचपीएससी के अधिकारी जान बूझकर अंतिम परिणाम को लटका रहे हैं जिससे किसी बड़ी गड़बड़ी की संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता। इसलिए अभ्यर्थी अब आर-पार की लड़ाई करने के सिवा कोई दूसरा रास्ता नहीं चुनेंगे।
‘आश्वासन देकर नहीं की कार्रवाई’
इन अभ्यर्थियों का एक प्रतिनिधिमंडल 20 नवंबर को आयोग सेक्रेटरी से मिला था। आयोग सचिव ने प्रतिनिधिमंडल को 2 दिन में परिणाम घोषित करने का आश्वासन दिया था, परंतु ऐसा नहीं किया गया। उल्लेखनीय है कि एक विज्ञापन 2016 के तहत विज्ञापित 28 विषयों के सहायक प्रोफेसर की भर्ती दो वर्ष पहले ही संपूर्ण हो चुकी है। इसके अलावा एचपीएससी द्वारा 2019 में भी नई भर्ती निकाल कर प्रक्रिया को पूर्ण कर दिया गया है।


Comments Off on परिणाम घोषित करने की मांग को लेकर प्रदर्शन
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
Both comments and pings are currently closed.

Comments are closed.

Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.