ब्रैड पिट फिर परेशान !    दादी अम्मा, दादी अम्मा मान जाओ !    हम दोनों !    तलाक को सबसे बुरी चीज़ मानते हैंं सैफ! !    सिल्वर स्क्रीन !    स्ट्रीट डांसर्स थ्री-डी !    सपनों के लिए संघर्ष की कहानी है ‘पंगा’ !    एकदा !    2020 के ट्रेंडिंग मेकअप टिप्स !    बेजान ऑफिस में भरें जान !    

होमगार्ड घोटाला : फाइलें जलाने के मामले में प्लाटून कमांडर गिरफ्तार

Posted On November - 27 - 2019

नोएडा, 26 नवंबर (एजेंसी)
गौतमबुद्ध नगर जिले में होमगार्डों की ड्यूटी लगाने को लेकर हुए करोड़ों रुपये के कथित घोटाला मामले से संबंधित फाइलों में आग लगाने की घटना के सिलसिले में पुलिस ने मंगलवार को होमगार्ड विभाग के एक प्लाटून कमांडर को गिरफ्तार किया। गौतमबुद्ध नगर के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) वैभव कृष्ण ने बताया कि जिला गौतमबुद्ध नगर में होमगार्डों की ड्यूटी लगाने को लेकर ‘मस्टररोल’ में हेरफेर कर करोड़ों का घोटाला हुआ है। इस मामले में थाना सूरजपुर में मुकदमा दर्ज कर पुलिस ने होमगार्ड विभाग के मंडलीय कमांडेंट राम नारायण चौरसिया सहित पांच लोगों को गिरफ्तार किया था।
उन्होंने बताया कि इस घोटाले से जुड़ी फाइलों को नष्ट करने के उद्देश्य से 18 नवंबर को जिला होमगार्ड कमांडेंट कार्यालय में आग लगा दी गई जिसमें इस घोटाले से जुड़ी महत्वपूर्ण फाइलें जलकर नष्ट हो गई। उन्होंने बताया आगजनी की घटना की जांच कर रही सूरजपुर थाना पुलिस ने आज होमगार्ड विभाग के प्लाटून कमांडर राजीव कुमार को गिरफ्तार किया। राजीव ने ही इस घोटाले की शिकायत की थी। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने बताया कि पूछताछ के दौरान गिरफ्तार राजीव ने पुलिस को बताया है कि उसे आशंका थी कि वेतन घोटाले में छोटे कर्मचारियों को फंसाया जाएगा जबकि बड़े लोगों को छोड़ दिया जाएगा। इसी डर से उसने इस घोटाले से संबंधित फाइलों में आग लगा दी थी। उन्होंने बताया कि राजीव ने जिला होमगार्ड कमांडेंट कार्यालय में खड़ी एक मोटरसाइकिल से पेट्रोल निकालकर आग लगाई थी। घटना सीसीटीवी कैमरे में भी कैद हुई है। एसएसपी ने बताया कि इस मामले में जल्द ही कुछ अन्य लोगों की गिरफ्तारी हो सकती है।


Comments Off on होमगार्ड घोटाला : फाइलें जलाने के मामले में प्लाटून कमांडर गिरफ्तार
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
Both comments and pings are currently closed.

Comments are closed.

Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.