4 करोड़ की लागत से 16 जगह लगेंगे सीसीटीवी कैमरे !    इमीग्रेशन कंपनी में मिला महिला संचालक का शव !    हरियाणा में आर्गेनिक खेती की तैयारी, किसानों को देंगे प्रशिक्षण !    हरियाणा पुलिस में जल्द होगी जवानों की भर्ती : विज !    ट्रैवल एजेंट को 2 साल की कैद !    मनाली में होमगार्ड जवान पर कातिलाना हमला !    अंतरराज्यीय चोर गिरोह का सदस्य काबू !    एक दोषी की पुनर्विचार याचिका पर सुनवाई 17 को !    रूस के एकमात्र विमानवाहक पोत में आग !    पूर्वोत्तर के हिंसक प्रदर्शनों पर लोकसभा में हंगामा !    

‘बुलबुल’ का कहर, 14 की मौत

Posted On November - 11 - 2019

पश्चिम बंगाल के फ्रेजरगंज में रविवार को चक्रवात बुलबुल की चपेट में आया मछुआरों का गांव। -प्रेट्र

कोलकाता/ ढाका, 10 नवंबर (एजेंसी)
चक्रवात ‘बुलबुल’ के कारण पश्चिम बंगाल के विभिन्न हिस्सों में 10 और बांग्लादेश में 2 लोगों की मौत हो गयी। बुलबुल के प्रभाव से तटीय ओडिशा के अधिकतर हिस्सों में भी भारी बारिश और तेज हवा के कारण हुए हादसों में 2 लोगों की जान चली गयी।
पश्चिम बंगाल में रविवार सुबह तक तेज हवाओं के साथ बारिश हुई। आंधी ने सैकड़ों पेड़ उखाड़ दिये। काेलकाता, उत्तर एवं दक्षिण 24 परगना और पूर्वी मिदनापुर जिलों में बिजली के तार टूट गये। जनजीवन थम-सा गया।
राज्य के आपदा प्रबंधन मंत्री जावेद खान ने बताया कि बंगाल की खाड़ी के पास तटीय जिलों में चक्रवात के कारण 2473 मकान क्षतिग्रस्त हुए हैं और अन्य 26 हजार मकान आंशिक रूप से क्षतिग्रस्त हुए हैं। मछली पालन वाले शहर बक्खाली और नामखाना सबसे बुरी तरह प्रभावित हुए हैं। उन्होंने कहा कि तूफान में 2.73 लाख परिवार प्रभावित हुए हैं, 1.78 लाख लोगों को राहत शिविरों में भेजा गया है। एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि दक्षिण 24 परगना में फ्रेजरगंज फिशिंग हार्बर में एक मछुआरे का शव बरामद हुआ है, जबकि 8 अन्य मछुआरे और मछली पकड़ने वाले 4 जहाज लापता हैं।
चक्रवात ने पश्चिम बंगाल में शनिवार मध्यरात्रि दस्तक दी थी। तटीय जिलों दक्षिण 24 परगना, पूर्वी मिदनापुर और उत्तर 24 परगना जिले के आसपास के इलाकों में 165 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से आंधी चली। सैकड़ों पेड़ों के उखड़ने से शहर के कई हिस्सों में सड़कें जाम रहीं, हालांकि मौसम में सुधार के बाद कई लोग रविवार दोपहर अपने-अपने घरों से निकले।
मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार सुंदरबन धानची वन के करीब पहुंचने से पहले बेहद गंभीर चक्रवातीय तूफान कमजोर होकर गंभीर चक्रवातीय तूफान में तब्दील हो गया।
इस बीच, मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बताया कि उन्होंने अगले सप्ताह उत्तर बंगाल की अपनी यात्रा रद्द करने का फैसला किया है। वह सोमवार को नामखाना और बक्खाली के आसपास प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वेक्षण करेंगी। वहीं, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ममता बनर्जी से बातचीत की और इस आपदा से निपटने के लिये राज्य को हर संभव मदद का आश्वासन दिया।
उधर, बांग्लादेश में चक्रवात से तबाही की आशंका के मद्देनजर 21 लाख लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया। तूफान ने पश्चिम बंगाल से लगती बांग्लादेश की दक्षिण पश्चिमी तटरेखाओं पर तबाही मचाई। कई मकान और कई हेक्टेयर फसल तबाह हो गई।


Comments Off on ‘बुलबुल’ का कहर, 14 की मौत
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
Both comments and pings are currently closed.

Comments are closed.

Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.