भारत, ऑस्ट्रेलिया ने मोदी-मॉरिसन बैठक के बाद किये महत्वपूर्ण रक्षा समझौते !    कश्मीर में 2 ‘कार बम’ , तलाश के लिये बनाया विशेष दल !    वाशिंगटन में गांधी की प्रतिमा पर किया स्प्रे, भारत ने की शिकायत, अमेरिकी राजदूत ने मांगी माफी !    मोदी-मोरिसन आभासी शिखर सम्मेलन ‘समोसा-खिचड़ी’ डिप्लोमेसी !    श्रमिकों को पूरा मेहनताना देने में असमर्थ नियोक्ता कोर्ट में बैलेंस शीट करें पेश : केन्द्र !    राज्यसभा चुनाव से पहले हलचल शुरु, गुजरात में 2 कांग्रेस विधायकों का इस्तीफा !    विधानसभा कमेटियों पर सियासत हावी, नहीं बनी विशेषाधिकार हनन कमेटी !    चीन के प्राइमरी स्कूल में सुरक्षाकर्मी ने 40 छात्रों, शिक्षकों पर किया चाकू से हमला !    कठोर लॉकडाउन से जीडीपी गिरी औंधे मुंह, अर्थव्यवस्था तबाह !    ऑस्ट्रेलिया के साथ संबंध बढ़ाने के लिए प्रतिबद्ध : मोदी !    

परिजनों ने डाक्टर की लापरवाही बताकर काटा बवाल

Posted On November - 9 - 2019

पंचकूला/चडीगढ़, 8 नवंबर (नस)
पंचकूला के जनरल अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती करवाए गए एक युवक की इलाज के दौरान अचानक मौत हो गई जिसके बाद परिजनों ने अस्पताल में इसे डाक्टर की लापरवाही बताते हुए खूब बवाल काटा। परिवार का आरोप है कि बेटा सिर्फ खांसी-जुकाम की दवाई लेने के लिए अस्पताल में आया था लेकिन वहां महिला डाक्टर ने उसे गलत इंजेक्शन लगा दिया, जिससे 21 वर्षीय बेटे की मौत हो गई।
मृतक की पहचान सकेतड़ी के निवासी तरुण (22) के रूप में हुई। परिजनों और रिश्तेदारों का अस्पताल में रो-रोकर बुरा हाल था। अस्पताल परिसर में किए जा रहे हंगामे की सूचना मिलते ही पुलिस बल ने मौके पर पहुंच कर हालात पर काबू पाया। कई घंटे चले इस विवाद के दौरान परिवार बेटे का अस्पताल की मोर्चरी में पोस्टमार्टम करवाने के लिए राजी नहीं हुए। परिवार ने इमरजेंसी के डाक्टरों को शिकायत दी कि जिस महिला डाक्टर ने बेटे को इंजेक्शन लगाया, वह बाद में वहां से भाग गई।
इंजेक्शन लगाते ही बिगड़ी तबीयत
सुबह के समय तरुण को उसके परिजन अस्पताल लेकर आए। परिजनों ने अपनी शिकायत में कहा है कि बेटे का स्वास्थ्य बिल्कुल ठीक था लेकिन डाक्टर ने जैसे ही टीका लगाया तो बेटे की तबीयत बिगड़ गई और उसने दम तोड़ दिया। पुलिस अधिकारियों को परिजनों ने दोषी डाक्टर पर सख्त कार्रवाई करने की मांग की। यह भी कहा कि बेटे तरुण के शव का पोस्टमार्टम पीजीआई या किसी प्राइवेट अस्पताल में करवाया जाए क्योंकि उन्हें जनरल अस्पताल की कार्यप्रणाली पर जरा भी भरोसा नहीं।


Comments Off on परिजनों ने डाक्टर की लापरवाही बताकर काटा बवाल
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
Both comments and pings are currently closed.

Comments are closed.

Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.