ब्रैड पिट फिर परेशान !    दादी अम्मा, दादी अम्मा मान जाओ !    हम दोनों !    तलाक को सबसे बुरी चीज़ मानते हैंं सैफ! !    सिल्वर स्क्रीन !    स्ट्रीट डांसर्स थ्री-डी !    सपनों के लिए संघर्ष की कहानी है ‘पंगा’ !    एकदा !    2020 के ट्रेंडिंग मेकअप टिप्स !    बेजान ऑफिस में भरें जान !    

जानी विधायकों की राय, दिया गुरुमंत्र

Posted On November - 23 - 2019

गुरुग्राम स्थित पीडब्ल्यूडी रेस्ट हाउस में भाजपा के विधायकों के साथ बैठक के मौके पर मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर, राष्ट्रीय महासचिव बीएल संतोष, प्रदेश प्रभारी अनिल जैन व प्रदेश अध्यक्ष सुभाष बराला। -हप्र

नवीन पांचाल/हप्र
गुरुग्राम, 22 नवंबर
भारतीय जनता पार्टी की शनिवार को होने वाली विस्तारित प्रदेश कार्यसमिति की बैठक से पहले पार्टी के वरिष्ठ नेताओं ने 40 विधायकों के साथ मंत्रणा की। बेहद गोपनीय माहौल में आयोजित की गई इस बैठक में विधायकों व मंत्रियों के साथ संगठन के चुनींदा लोग ही मौजूद रहे। बैठक में विधायकों से गठबंधन की कठिन डगर पर आगे बढ़ने के लिए राय मांगी गई और उन्हें कैसे क्या करना है, इस बारे में गुरुमंत्र भी दिया।
युवा कल्याण मामलों के मंत्री संदीप सिंह व विधायक घनश्याम सर्राफ को छोड़कर शेष 38 विधायक बैठक में मौजूद रहे। होडल के विधायक जगदीश नैयर को परिवारिक कारणों से बैठक बीच में ही छोड़कर जाना पड़ा। बैठक की अध्यक्षता करते हुए मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने सभी विधायकों का भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव बीएल संतोष सहित सभी लोगों से परिचय करवाया। औपचरिक बातचीत के साथ शुरू हुई इस बैठक में मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर, राष्ट्रीय महासचिव बीएल संतोष व प्रदेश प्रभारी अनिल जैन ने पहली बार चुने गए विधायकों को सलाह दी कि अनुभवी विधायकों के साथ मिलकर काम करें और किसी विषय की जानकारी नहीं हो तो उनसे मार्गदर्शन लें। बीएल संतोष ने सभी विधायकों को सलाह दी कि वे अपने क्षेत्र में होने वाले विकास कार्यों पर नजर रखें तथा समय-समय पर अपडेट लेते रहें। सभी विधायकों को विशेष तौर पर कहा गया है कि पार्टी कार्यकर्ताओं का सम्मान करें और अपने स्तर पर होने वाले उनके कार्यों में भी सहयोग करें। सूत्र बताते हैं कि सभी विधायकों से उनके जीत के विषय में भी बातचीत की। इस मुद्दे पर पार्टी अधिकारी काफी गंभीर दिखे। बैठक में ही सभी विधायक को उनके जीत के कारणों के बारे में लिखकर देने के लिए कहा गया। सूत्र बताते हैं कि कुछ विधायकों ने यह भी लिखकर दिया कि पार्टी अलग-अलग धड़ों में बंट गई थी और उन्हें हराने के भी प्रयास किए गए। लेकिन मूल कॉडर की वजह से उन्हें मजबूती मिली और जीत दर्ज करवा पाए। बैठक के इस पहले चरण में जब पार्टी के वरिष्ठ नेता विधायकों के साथ वार्ता कर रहे थे तो हारे हुए 50 प्रत्याशी रेस्ट हाउस की कैंटीन में अपनी बारी का इंतजार करते हुए हंसी-ठिठोली में मस्त रहे।


Comments Off on जानी विधायकों की राय, दिया गुरुमंत्र
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
Both comments and pings are currently closed.

Comments are closed.

Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.