4 करोड़ की लागत से 16 जगह लगेंगे सीसीटीवी कैमरे !    इमीग्रेशन कंपनी में मिला महिला संचालक का शव !    हरियाणा में आर्गेनिक खेती की तैयारी, किसानों को देंगे प्रशिक्षण !    हरियाणा पुलिस में जल्द होगी जवानों की भर्ती : विज !    ट्रैवल एजेंट को 2 साल की कैद !    मनाली में होमगार्ड जवान पर कातिलाना हमला !    अंतरराज्यीय चोर गिरोह का सदस्य काबू !    एक दोषी की पुनर्विचार याचिका पर सुनवाई 17 को !    रूस के एकमात्र विमानवाहक पोत में आग !    पूर्वोत्तर के हिंसक प्रदर्शनों पर लोकसभा में हंगामा !    

चीनी उत्पादन में भारत अब नंबर वन

Posted On November - 15 - 2019

करनाल, 14 नवंबर (हप्र)

करनाल में बृहस्पतिवार को किसान मेले के दौरान मौजूद अधिकारी व विशेषज्ञ। -हप्र

भारत ब्राजील को पछाड़कर विश्व में प्रथम चीनी उत्पादक देश बन गया है। हिसार स्थित हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय (एचएयू) के कुलपति प्रोफेसर केपी सिंह ने आज क्षेत्रीय अनुसंधान केंद्र करनाल में गन्ना व मक्का किसान मेले का उद्घाटन करते हुए किसानों के समक्ष यह खुशी जाहिर की। कुलपति ने गन्ना किसानों की मुख्य समस्याओं गन्ना बिजाई, कटाई व ढुलाई के मशीनीकरण को विश्वविद्यालय व गन्ना मिलों की प्राथमिकता बताते हुए विश्वविद्यालय द्वारा 25 लाख टिश्यू कल्चर नर्सरी उत्पादन की सुविधा निर्माण की जानकारी दी। इस अवसर पर उन्होंने क्षेत्रीय मृदा जांच प्रयोगशाला का उद्घाटन भी किया ,जिससे इस क्षेत्र के किसानों को विशेष लाभ होगा। उन्होंने कहा कि गन्ना मिलों को चीनी के अलावा गुड़ व गुड़ से संबंधित उत्पाद, एथेनॉल व ऊर्जा उत्पादन करने की आवश्यकता है। धान उत्पादन की समस्याओं से उबरने के लिए उन्होंने मक्का विशेषत: उच्च क्वालिटी व स्पेशिलिटी मक्का उगाने पर बल दिया। अनुसंधान निदेशक डॉ. एसके सेहरावत ने धान-गेहूं फसल चक्र में बदलाव कर गन्ना, मक्का, सब्जी, दलहनी व तिलहनी फसलों को अपनाने का आग्रह किया। शुगरफेड के गन्ना सलाहकार डॉ. रोशन लाल ने इस केंद्र को अगेती किस्म सीओ 160 विकसित करने के लिए बधाई दी।
डॉ. धर्मबीर यादव, क्षेत्रीय निदेशक ने इस केंद्र की उपलब्धियों का उल्लेख करते हुए कहा कि गन्ने की 12 व मक्का की 16 उन्नत संकर किस्मों का विकास किया है, जिसके फलस्वरूप इस केंद्र को भारतीय कृषि अनुसन्धान परिषद द्वारा सर्वोत्तम शोध केंद्र के अवार्ड से नवाजा गया है । उन्होंने बताया कि मक्का की एचक्यूपीएम 1 किस्म को सर्वोत्तम संकर मक्का किस्म की मान्यता भी प्रदान की गयी है।

1000 किसानों और विशेषज्ञों ने लिया भाग
मेले में हरियाणा के विभिन्न जिलों से 1000 से अधिक किसानों,अधिकारियों एवं गन्ना विशेषज्ञों ने भाग लिया। इस अवसर पर विशेष अतिथियों में मुख्य अभियंता भूपेंद्र सिंह, डॉ. विजय कुमार, डॉ. आरएस पन्नू, डॉ. मेहर चंद, डॉ. राकेश मेहरा, डॉ. मेहर चंद कम्बोज, डॉ. रमेश कुमार, विभिन्न कृषि विज्ञान केंद्रों के संयोजक, भारतीय कृषि अनुसन्धान परिषद, विश्वविद्यालय व क्षेत्रीय अनुसंधान केंद्र के वैज्ञानिक, गन्ना मिलों के अधिकारी व प्रगतिशील किसान व महिला किसान उपस्थित थे।


Comments Off on चीनी उत्पादन में भारत अब नंबर वन
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
Both comments and pings are currently closed.

Comments are closed.

Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.