किराये पर टैक्सी लेकर करते थे लूटपाट, गिरोह के 2 सदस्य काबू !    पूर्व सीएम हूड्डा के घर शोक जताने पहुंचे मुख्यमंत्री !    दुनिया के बेहतरीन म्यूजि़यम !    पार्टी दे रहे हैं तो रहें सजग !    चाय के साथ लें कुछ पौष्टिक !    आत्मविश्वास की जीत !    बुरी संगत से बचना  !    दस साल में क, ख, ग !    तकनीकी प्लेटफॉर्म्स ताकाझांकी नहीं !    ओंकार में जीना ही असली जागरण !    

कान्फ्रेंस में किशोर मानसिक स्वास्थ्य पर विचार

Posted On November - 11 - 2019

चंडीगढ़/पंचकूला, 10 नवंबर (नस)
गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल (जीएमसीएच), सेक्टर 32, चंडीगढ़ में ‘चाइल्ड एंड एडोलसेंट मेंटल हेल्थ : फ्रॉम इंटरवेंशन टू प्रिवेंशन’ थीम पर आधारित तीन दिवसीय कॉन्फ्रेंस का समापन हुआ। इंडियन एसोसिएशन ऑफ चाइल्ड एंड एडोलसेंट मेंटल हेल्थ (आईएसीएएम) की 15वीं द्विवार्षिक नेशनल कॉन्फ्रेंस के दौरान बंगलुरू से चाइल्ड एंड एडोलसेंट सचिव सीनियर कंसल्टेंट डॉ.शोबा श्रीनाथ मौजूद थे। कॉन्फ्रेंस के दौरान हुए सेशंस में से एक में, डॉ.सविता मल्होत्रा, चंडीगढ़ की जानी-मानी बाल मनोचिकित्सक ने गर्भाधान सहित शिशु अवस्था से ही प्रिवेंशन को लेकर अलग-अलग पहलुओं के बारे में बात की। डिपार्टमेंट ऑफ साइक्रेट्री, जीएमसीएच-32, चंडीगढ़ प्रो.बी.एस. चवन के नेतृत्व में नियमित रूप से चाइल्ड गाइडेंस क्लीनिक चला रहा है। कॉन्फ्रेंस की सचिव प्रो. प्रीति अरुण ने इस अवसर पर बोलते हुए कहा कि इस कॉन्फ्रेंस ने न केवल क्षेत्र में काम करने वाले मानसिक स्वास्थ्य विशेषज्ञों को सशक्त बनाया, बल्कि शिक्षकों के साथ-साथ अभिभावकों जैसे मल्टी-डिसप्लनरी प्रोफेशनल्स को भी शामिल किया। इस कॉन्फ्रेंस में भारत भर से लगभग 250 प्रतिनिधियों ने भाग लिया।


Comments Off on कान्फ्रेंस में किशोर मानसिक स्वास्थ्य पर विचार
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
Both comments and pings are currently closed.

Comments are closed.

Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.