पीएम से मिलकर उचित मुआवजे की मांग करेंगे धरनारत किसान !    होटल के सेफ्टी टैंक में उतरे 2 कर्मियों की दम घुटने से मौत !    फादर एंथोनी मामले में 2 आरोपी भगोड़े करार !    काऊ सेस 4 करोड़, गौवंश फिर भी सड़क पर !    ‘हिन्दू पक्ष से नहीं सिर्फ हमसे किये जा रहे सवाल’ !    भारत में पांव पसारने की कोशिश में जेएमबी !    गांगुली, जय शाह, अरुण धूमल ने भरा नामांकन !    हादसा : हॉकी के 4 राष्ट्रीय खिलाड़ियों की मौत !    पाक की कई चौकियां, आतंकी कैंप तबाह !    5 साल में एक लाख करोड़ होगा टोल राजस्व : गडकरी !    

87वीं वर्षगांठ : आसमान में चमकी वायुसेना की ताकत

Posted On October - 9 - 2019

गाजियाबाद के हिंडन एयरबेस पर मंगलवार को परेड के दौरान वायुसेना की सारंग एयरोबैटिक्स टीम के एडवांस्ड लाइट हेलीकॉप्टर (एएलएच) अासमान में करतब दिखाते हुए। -मानस रंजन भुई

हिंडन, 8 अक्तूबर (एजेंसी)
87वीं वर्षगांठ पर भारतीय वायुसेना की ताकत आसमान में चमकी। इस मौके पर बालाकोट हवाई हमले में योगदान के लिए स्क्वाड्रन और एकल इकाई प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया। बालाकोट अभियान का हिस्सा रह चुके विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान तथा अन्य लड़ाकू पायलटों ने फ्लाईपास्ट में हिस्सा लिया। बता दें कि भारतीय वायुसेना की स्थापना 8 अक्तूबर, 1932 को हुई थी।
वायुसेना प्रमुख आरकेएस भदौरिया ने कहा कि भविष्य के सभी अभियानों की सफलता के लिए भारतीय वायुसेना को लड़ाकू उपकरणों और असाधारण प्रशिक्षण मानकों की उच्च सेवा क्षमता को बनाए रखना चाहिए। हिंडन एयरबेस में आयोजित कार्यक्रम में वायुसेना प्रमुख ने कहा, ‘इसकी रणनीतिक प्रासंगिकता आतंकवाद को अंजाम देने वालों को दंडित करने के लिए राजनीतिक नेतृत्व का संकल्प है और पाकिस्तान के अंदर आतंकवादियों के खिलाफ हमले को अंजाम देने की वायुसेना की क्षमता है। आतंकवादी हमलों से निपटने के सरकार के तरीके में यह एक बड़ा बदलाव है।’

हिंडन एयरबेस पर मंगलवार को आयोजित वायुसेना दिवस परेड के मौके पर पहुंचे वायुसेना प्रमुख राकेश कुमार सिंह भदौरिया, सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत, नौसेना प्रमुख एडमिरल कर्मबीर सिंह और ऑनरेरी ग्रुप कैप्टन सचिन तेंदुलकर। -मानस रंजन भुई

हाल ही में वायुसेना प्रमुख का पद संभालने वाले भदौरिया ने हिंडन एयरबेस पर अपने एक अलग संबोधन में यह भी बताया कि भू-राजनीतिक वातावरण तेजी से बदल रहा है और अनिश्चितताओं ने राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए कई चुनौतियां खड़ी कर दी हैं।
भदौरिया ने कहा कि भारतीय वायुसेना कमांडो, स्टेशनों और इकाइयों के सभी कर्मियों के योगदान को स्वीकार करती है जिन्होंने इस साल के शुरू में बालाकोट में आतंकवादी शिविरों पर हवाई हमलों की सफलता में योगदान दिया था।
हनुमान के साथ वायुसेना के वीरों को भी करें याद: मोदी
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दशहरे पर आयोजित कार्यक्रम में कहा, यह संयोग है कि इस साल दो कार्यक्रम एक ही दिन मनाए जा रहे हैं। मोदी ने कहा, ‘आज विजयादशमी का पावन पर्व है और साथ ही वायुसेना दिवस भी है। हमारे देश की वायुसेना पराक्रम की नयी-नयी ऊंचाइयां छू रही है। जब हम भगवान हनुमान को याद करते हैं, तब हमें विशेष रूप से वायुसेना और उसके वीर जवानों को याद करना चाहिए। हमें उन्हें उज्ज्वल भविष्य के लिए शुभकामनाएं देनी चाहिए।’
नीली वर्दी वाले आसमान छूने में सक्षम : राजनाथ
रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने वायुसेना की सराहना करते हुए मंगलवार को ट्वीट किया, ‘87वें वायुसेना दिवस के मौके पर वायुसेना के सभी कर्मियों और उनके परिवारों को बधाई। भारतीय वायुसेना अभूतपूर्व पराक्रम, धैर्य, दृढ़ निश्चय और राष्ट्र की उत्तम सेवा का चमकता उदाहरण है। नीली वार्दी वाले ये कर्मी आसमान छूने में सक्षम हैं।’


Comments Off on 87वीं वर्षगांठ : आसमान में चमकी वायुसेना की ताकत
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
Both comments and pings are currently closed.

Comments are closed.

Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.