पराली से धुआं नहीं अब बिजली बनेगी !    विवाद : पत्नी को पीट कर मार डाला !    हरियाणा : कांग्रेस पहुंची चुनाव आयोग !    बाबर की ऐतिहासिक भूल सुधारने की जरूरत : हिन्दू पक्ष !    आतंकियों की घुसपैठ कराने की कोशिश में पाकिस्तान !    आस्ट्रेलियाई महिला टी20 टीम को पुरुष टीम के बराबर मिलेगी इनामी राशि !    पनामा लीक : दिल्ली हाईकोर्ट ने मांगी स्टेटस रिपोर्ट !    हादसे में परिवार के 3 सदस्यों समेत 5 की मौत !    पुलिस स्टेट नहीं बन रहा हांगकांग : कैरी लैम !    प्रदर्शन के बाद खाताधारक की हार्ट अटैक से मौत !    

कन्या पूजन के साथ रक्षा का भी लें संकल्प

Posted On October - 6 - 2019

मदन गुप्ता सपाटू
आज दुर्गा अष्टमी सुबह 10:55 बजे तक रहेगी। इसके बाद नवमी शुरू हो जाएगी, जो सोमवार दोपहर 12:38 बजे तक रहेगी। मां दुर्गा का अष्टम स्वरूप महागौरी का है। इसीलिए आठवें नवरात्र को दुर्गाष्टमी कहा जाता है। भगवती का सुंदर, सौम्य, मोहक स्वरूप महागौरी में विद्यमान है। गौर वर्ण के कारण ही माता को महागौरी कहा गया है। अष्टमी पर महागौरी की आराधना के लिए चौकी पर सफेद रेशमी कपड़ा बिछाकर माता की प्रतिमा या चित्र रखें। घी का दीपक जलाकर नैवेद्य अर्पित करें। दूध से बना प्रसाद चढ़ाएं। इसके अलावा नारियल, पूरी, काले चने का भी भोग लगाएं। और इस मंत्र का जाप करें-
ॐ ऐं ह्रीं क्लीं चामुण्डायै विचे! ॐ महागौरी देव्यै नमः!! माता महागौरी की पूजा करते समय गुलाबी रंग का वस्त्र धारण करना शुभ माना जाता है।
कथा है कि माता जब 8 वर्ष की बालिका थीं, तब देव मुनि नारद ने उन्हें उनके वास्तविक स्वरूप से परिचित कराया। फिर माता ने शिवजी को पति के रूप में पाने के लिए तपस्या की। सिर्फ 8 साल की आयु में घोर तपस्या करने के कारण उनकी पूजा नवरात्रि के आठवें दिन की जाती है।
इस दिन कन्या पूजन का भी विधान है। अष्टमी पर 9 कन्याओं और एक बालक को अपने घर आमंत्रित करें। उनके चरण धोएं। मस्तक पर लाल टीका लगाएं, कलाई पर मौली बांधें। लाल पुष्पों की माला पहनाएं। उनका पूजन करके उन्हें हलवा, पूरी, काले चने का प्रसाद दें। चरण स्पर्श करके आशीर्वाद लें। उन्हें लाल चुनरी और उचित दक्षिणा व उपयोगी उपहार सहित विदा करें। आज कन्या रक्षा का भी संकल्प लें।


Comments Off on कन्या पूजन के साथ रक्षा का भी लें संकल्प
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
Both comments and pings are currently closed.

Comments are closed.

Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.