टालमटोल की आदत बुरी !    सच बोलने का इनाम !    बच्चों को भी बनाएं जागरूक !    आई दीवाली !    मन की भी हो मरम्मत !    इस दिवाली पुराने को नया बनाएं, खुशियां फैलाएं !    पर्सनल ट्रेनर का काम करेगा स्मार्ट मिरर !    मिठाई-फल डाल कर घर लायें नया बर्तन !    पढ़ाई में मददगार एप्स !    संतान की मंगलकामना का व्रत अहोई अष्टमी !    

आतंकित करने वाली न हो भारत की कर प्रणाली

Posted On October - 10 - 2019

पेरिस, 9 अक्तूबर (एजेंसी)
राफेल लड़ाकू जेट विमान का इंजन बनाने वाली फ्रांस की कंपनी सैफरन ने कहा है कि वह भारत में प्रशिक्षण और रखरखाव पर 15 करोड़ डॉलर निवेश करना चाहती है।

पेरिस में बुधवार को इंजन निर्माता कंपनी सैफरन की विनिर्माण इकाई में भारतीय मूल के इंजीनियरों से बातचीत करते रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह। – प्रेट्र

बुधवार को पेरिस के पास कंपनी का प्लांट देखने पहुंचे रक्षामंत्री राजनाथ सिंह को दी गयी प्रेजेंटशन के दौरान सैफरन एयरक्राफ्ट इंजंस के सीईओ ओलिवियर एंड्रीज ने कहा कि भारत विमानन के लिए तीसरा सबसे बड़ा वाणिज्यिक बाजार बनने वाला है। हम अपने ग्राहकों के लिए वहां एक मजबूत रखरखाव और मरम्मत व्यवस्था बनाना चाहते हैं। हालांकि, सीईओ ने कहा कि वह भारत से कर ढांचे पर अधिक समर्थन की उम्मीद करते हैं। एंड्रीज ने कहा, ‘हमें यह सुनिश्चित करना होगा कि भारत की कर और सीमा शुल्क प्रणाली आतंकित करने वाली नहीं हो।’ रक्षा मंत्री ने इस पर सीईओ से कहा कि भारत अपनी ‘मेक इन इंडिया’ पहल के तहत निवेश के लिए अनुकूल माहौल उपलब्ध कराने को प्रतिबद्ध है।
प्लांट के दौरे के बाद राजनाथ ने ट्वीट किया, ‘पेरिस के पास विलारोशे में सैफरन के इंजन विनिर्माण संयंत्र गया। सैफरन की पहचान इंजन बनाने की क्षमता को लेकर है। उन्होंने राफेल का इंजन भी बनाया है। संयंत्र में भारतीय मूल के कई युवा और प्रतिभावान इंजीनियरों से मिलने का मौका मिला। उनका तकनीकी ज्ञान और मेहनत प्रभावित करने वाली व प्रेरणादायक है।’

आतंकवाद के खिलाफ मिलकर लड़ेंगे भारत-फ्रांस
रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और फ्रांस की उनकी समकक्ष फ्लोरेंस पार्ली ने मंगलवार को दूसरी भारत-फ्रांस मंत्रिस्तरीय वार्षिक रक्षा वार्ता की। रक्षा मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि इस वार्ता के दौरान दोनों मंत्रियों ने द्विपक्षीय रक्षा सहयोग की व्यापक समीक्षा की। दोनों मंत्रियों ने आतंकवाद के खिलाफ द्विपक्षीय सहयोग और मजबूत बनाने की भी पुष्टि की। दोनों नेताओं ने क्षेत्रीय व अंतर्राष्ट्रीय मुद्दों पर भी विचार-विमर्श किया। बयान के अनुसार दोनों देशों ने यह स्वीकार किया कि हिंद महासागर क्षेत्र में भारत-फ्रांस साझेदारी रणनीतिक और सुरक्षा हितों को संरक्षित करने के लिए महत्वपूर्ण है।


Comments Off on आतंकित करने वाली न हो भारत की कर प्रणाली
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
Both comments and pings are currently closed.

Comments are closed.

Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.