हिमाचल प्रदेश में हर्षोल्लास के साथ मनाया गया 71वां गणतंत्र दिवस !    राष्ट्रीय पर्व पर दिखी देश की आन, बान और शान !    71वें गणतन्त्र की चुनौतियां !    देखेगी दुनिया वायुसेना का दम !    स्कूली पाठ्यक्रम में विदेशी ज्ञान कोष !    जहां महर्षि वेद व्यास को दिये थे दर्शन !    व्रत-पर्व !    पंचमी पर सिद्धि और सर्वार्थ सिद्धि योग !    गणतन्त्र के परमवीर !    पिहोवा जल रूप में पूजी जाती हैं सरस्वती !    

हुड्डा बने विपक्ष के नेता, स्पीकर ने दी मंजूरी

Posted On September - 11 - 2019

ट्रिब्यून न्यूज सर्विस
चंडीगढ़, 10 सितंबर
हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा हरियाणा विधानसभा में विपक्ष के नेता बन गए हैं। कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष कुमारी सैलजा ने स्पीकर कंवरपाल गुर्जर को इस बारे में कांग्रेस की ओर से चिट्ठी लिखी थी। मंगलवार को सैलजा की चिट्ठी पर कार्यवाही करते हुए गुर्जर ने हुड्डा को विपक्ष का नेता घोषित कर दिया। प्रदेश के राजनीतिक इतिहास में यह पहला मौका है जब विधानसभा चुनाव की घोषणा से चंद रोज पूर्व विपक्ष का नेता बनाया गया है।
स्पीकर ने इस संदर्भ में राज्य सरकार को भी पत्र लिख दिया है। विपक्ष का नेता होने के नाते हुड्डा को कैबिनेट रैंक मिलेगा। उन्हें सरकार की ओर से गाड़ी, कोठी और स्टाफ मुहैया कराया जाएगा। यही नहीं, कैबिनेट मंत्रियों को मिलने वाली सुरक्षा भी हुड्डा को मुहैया होगी। विपक्ष के नेता पद को लेकर कांग्रेस में लम्बे समय से संग्राम छिड़ा हुआ था। दरअसल, 2014 के विधानसभा चुनावों में इनेलो के 19 विधायक थे। ऐसे में संख्याबल के हिसाब से अभय चौटाला विपक्ष के नेता चुने गए। कांग्रेस के 15 विधायक थे। बाद में हजकां सिम्बल पर आदमपुर से चुनाव जीते कुलदीप बिश्नोई तथा हांसी से विधायक रेणुका बिश्नोई ने हजकां का कांग्रेस में विलय कर दिया। ऐसे में कांग्रेस विधायकों की संख्या 17 हो गई। इनेलो व चौटाला परिवार में हुई टूट के चलते अभय चौटाला संख्याबल के मामले में कांग्रेस से काफी पिछड़ गए। स्पीकर ने उन्हें विपक्ष के नेता पद से हटा दिया था।
स्पीकर के इस फैसले के बाद उस समय कांग्रेस विधायक दल की नेता किरण चौधरी ने स्पीकर को पत्र लिखकर उन्हें विपक्ष का नेता बनाए जाने की मांग की थी। कांग्रेस के 13 विधायक पूर्व सीएम हुड्डा खेमे से थे और वे किरण को विपक्ष का नेता बनाए जाने के पक्ष में नहीं थे। ऐसे में स्पीकर ने कांग्रेस पार्टी को पत्र लिखकर स्पष्ट कर दिया था कि या तो सभी विधायक लिखकर दें या फिर पार्टी की ओर से विपक्ष के नेता का नाम आए। अब संगठन में बदलाव के बाद हुड्डा को सीएलपी लीडर बनाया गया है।

चुनाव की तैयारी को लेकर सैलजा, हुड्डा की बैठक
नयी दिल्ली (ट्रिन्यू) : हरियाणा कांग्रेस में बदलाव के बाद प्रदेश अध्यक्ष सैलजा और पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र हुड्डा भी विधानसभा चुनाव की तैयारी में जुट गए हैं। मंगलवार को हुड्डा यहां सैलजा के आवास पर उनसे मिले। दोनों नेताओं ने पार्टी संगठन और चुनाव के लिए रणनीति पर विचार-विमर्श किया। चुनाव के लिए प्रस्तावित कमेटियों को लेकर भी मंत्रणा हुई। बैठक के बाद हुड्डा ने कहा कि चुनावी तैयारी को लेकर चर्चा हुई। सैलजा को हाल में हरियाणा कांग्रेस की कमान मिली है, जबकि हुड्डा चुनाव प्रबंधन समिति के प्रमुख बनाए गए हैं। उधर, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी 12 सितंबर को उन राज्यों के पार्टी पदाधिकारियों के साथ महत्वपूर्ण बैठक करेंगी। बैठक में उन राज्यों के पार्टी महासचिवों, प्रभारियों, प्रदेश अध्यक्षों और विधायक दल के नेताओं से मंत्रणा होगी, जहां विधानसभा चुनाव प्रस्तावित हैं। इसमें हरियाणा, महाराष्ट्र, झारखंड व दिल्ली विधानसभा चुनाव की तैयारी, मौजूदा राजनीतिक हालात, पार्टी में अनुशासन समेत कई मुद्दों पर विचार-विमर्श किया जाएगा। बैठक में सैलजा और हुड्डा प्रदेश विधानसभा चुनाव को लेकर अपनी कार्ययोजना पेश करेंगे। इसके अलावा बैठक में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वीं जयंती से संबंधित कांग्रेस की रणनीति भी बनाई जाएगी। कांग्रेस 2 से 9 अक्तूबर तक विभिन्न कार्यक्रम करेगी।


Comments Off on हुड्डा बने विपक्ष के नेता, स्पीकर ने दी मंजूरी
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
Both comments and pings are currently closed.

Comments are closed.

Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.