आस्ट्रेलियाई महिला टी20 टीम को पुरुष टीम के बराबर मिलेगी इनामी राशि !    पनामा लीक : दिल्ली हाईकोर्ट ने मांगी स्टेटस रिपोर्ट !    हादसे में परिवार के 3 सदस्यों समेत 5 की मौत !    पुलिस स्टेट नहीं बन रहा हांगकांग : कैरी लैम !    प्रदर्शन के बाद खाताधारक की हार्ट अटैक से मौत !    कुछ का भत्ता बढ़ा, 25 हजार होमगार्डों की सेवायें समाप्त !    मालविंदर, शिविंदर की पुलिस हिरासत 2 दिन बढ़ी !    भारत को सुल्तान जोहोर कप में जापान ने हराया !    बुकर पुरस्कार : एटवुड एवं एवरिस्टो संयुक्त विजेता !    पीएम से मिलकर उचित मुआवजे की मांग करेंगे धरनारत किसान !    

सिल्वर स्क्रीन

Posted On September - 14 - 2019

ए. चक्रवर्ती

बोल्डनेस से परहेज़ नहीं
इसमें कोई संदेह नहीं है कि कृति के स्टारडम में उनकी बोल्ड इमेज ने एक अहम रोल प्ले किया है। खुद कृति भी अपनी इस इमेज को लेकर ज़रा भी खफा नहीं है। अभी हाल में मुंबई में आयोजित एक इवेेंट में कृति मुख्य अतिथि थी। वहां उन्हें मंच पर बुलाने से पहले संचालक ने उन्हें अन्यतम सेक्सी नायिका के तौर पर संबोधित किया। वैसे अपने बारे में यह संबोधन सुनकर कृति ने कोई आपत्ति दर्ज नहीं की। पर उनकी एक मुश्किल यह है कि कैमरे के सामने जब भी वह अपना एक खास सेक्सी पोज़ देना चाहती हैं, वह बिल्कुल संभव नहीं हो पाता। उनके कुछ करीबी दोस्तों ने भी इस मामले में उन्हें टोका है। कृति का कहना है कि वह जब भी कोई सेक्सी पोज़ या मूड गढ़ना चाहती है तो उन्हें बेइंतहा हंसी आ जाती है। इसलिए जब भी कोई उनके लुक को सेक्सी कहता है, वह पूरी तरह से यकीन नहीं कर पातीं। कृति हंसकर बताती हैं-मुझे इस शब्द से बहुत प्यार है।

दलेर की नयी शर्त
अपने उम्दा और वर्सेटाइल अंदाज़ के चलते गायक दलेर मेहंदी ने संगीत रसिकों के बीच अपनी एक अलग छाप छोड़ी है। कभी कबूतरबाज़ी के आरोप से घिर चुके दलेर मेहंदी के सामाजिक कार्यों की भी लंबी फेहरिस्त है। जैसे कि इन दिनों वह पर्यावरण को लेकर बेहद सक्रिय हैं। इसी सिलसिले में उन्होंने अपने कुछ प्रायोजकों के सामने एक शर्त रखी हैै। कार्यक्रम के प्रायोजक यदि एक निर्दिष्ट संख्या में वृक्षारोपण नहीं करते तो वह उस कार्यक्रम में जाकर गाना ही नहीं गाएंगे। 1998 में अपने जमा धन से उन्होंने दिल्ली में 8 लाख पौधे लगाए थे। उल्लेखनीय है कि इसी जुलाई में इंदौर के एक वृक्षारोपण कार्यक्रम में उन्होंने हिस्सा लिया था, जिसमें 51000 हजार पौधे लगाए गए थे।

 

सलमान बने कॉलेज स्टूडेंट
सलमान इन दिनों अपनी फिल्म दबंग-3 की शूटिंग कर रहे हैं। हाल ही में इस फिल्म का एक बड़ा शूटिंग शेड्यूल उन्होंने पूना में पूरा किया है। इसमें बेहद अल्प समय के लिए वह कॉलेज के एक स्टूडेंट के तौर पर दिखाई देंगे। इस खास फेज में उन्हें विशेष लुक में देखा जा सकेगा। लेकिन सलमान का कड़ा निर्देश है कि फिल्म की रिलीज से पहले उनका यह लुक कहीं भी सामने न आए। इसलिए इस फिल्म के सेट पर हर समय सुरक्षाकर्मियों की एक बड़ी टीम मौजूद रहती है। सिर्फ यही नहीं पूरे सेट के आसपास जो ऊंची दीवार खड़ी की गई थी, उसकी ऊंचाई और बढ़ाई गई है। और हां फिल्म के सेट पर मोबाइल रखने की सख्त मनाही है, ताकि इसका कोई भी फ्रेम मोबाइल में कैद न हो सके।

बेटे को कुकिंग सिखा रहे हैं अक्षय
फिल्म इंडस्ट्री में आने से पहले अभिनेता अक्षय कुमार ने बहुत पापड़ बेले हैं। वह बैंकाक में वेटर और शेफ तक की नौकरी कर चुके हैं। यही वजह है कि इन दिनों जब भी फुर्सत मिलती है, वह बेटे आरव को घर पर पाक विज्ञान की भी जानकारी देते रहते हैं। पिता के प्रशिक्षण की वजह से ही इधर आरव भी काफी कुछ खाना बनाना सीख गए हैं। जैसे कि पिछले दिनों एक रविवार को आरव पर यह जिम्मेदारी आई कि वह पूरे परिवार के लिए लंच बनाएं। आरव ने भी उन्हें निराश नहीं किया। उस लंच के मेनू की तस्वीर खुद उनकी मां ट्विंकल ने सोशल मीडिया में पोस्ट की है।

टाइगर को डांस पसंद
अपने पिता जैकी श्राफ के उलट अभिनेता टाइगर के लाइफ स्टाइल में अनुशासन साफ झलकता है। एक फिटनेस फ्लिक के तौर पर वह खासे मशहूर हैं। जैसा कि उनकी नयी फिल्म ‘वार’ के टाइटल से स्पष्ट है, इसके लिए अपनी फिटनेस को लेकर उन्हें काफी मेहनत करनी पड़ी है। एक बातचीत के दौरान वह बताते हैं, ‘मैं बहुत अनुशासित जीवन जीता हूं। कुछ सालों से मैं रोज सुबह तीन घंटे डांस और मार्शल आर्टस की प्रेक्टिस करता हूं।’ डांस को वह एक बहुत अच्छी एक्सरसाइज मानते हैं। वे बताते हैं—वैसे मेरे गुरु ब्रूस ली हैं। जब मेरी उम्र चार साल की थी, एन्टर द ड्रेगन देखने के बाद ही मैंने तय कर लिया था कि ब्रूस ली जैसा अभिनेता बनूंगा। उस जैसा बनने के लिए आपको फिटनेस फ्लिक तो बनना ही पड़ेगा। वह अपनी नयी फिल्म वाॅर के बार में कुछ भी विस्तार से बताने से इनकार कर देते हैं। शायद ये वह फिल्म के बैनर यशराज की विशेष हिदायत पर ही कर रहे हैं।

बालाकोट पर फिल्म बनाना चाहते हैं विवेक
विवेक का फिल्मों के प्रति समर्पण बदस्तूर कायम है। अब जैसे कि इधर वह विंग कमांडर अभिनंदन को केंद्र में रखकर बालाकाेट एयर स्ट्राइक पर एक फिल्म बनाने के लिए दृढ़ हैं। इस मामले में वह प्रधानमंत्री मोदी के साथ अपने रैपो का पूरा इस्तेमाल करना चाहते हैं। अपने जन्मदिन के दिन भी वह समाज के लिए कुछ रचनात्मक कार्य करना चाहते हैं। वह बताते हैं, ‘लगता है मीडिया को मुझे लेकर कोई फोबिया है। मैं कुछ भी करूं, उसे लगता है कि मै यह सब प्रचार के लिए कर रहा हूं। अरे भाई अपनी फिल्मों और खुद को कौन स्टार प्रचार में नहीं रखना चाहेगा। मैं यदि थोड़ा बहुत ऐसा करता हूं तो इसमें गलत क्या है।’

राधिका को मेकअप नहीं पसंद
राधिका आप्टे को नई-नई बातें सीखने में मजा आता है। अभी हाल में उनके द्वारा अभिनीत दो फिल्मों ‘अंधाधुन’ और ‘पैडमैन’ को राष्ट्रीय पुरस्कार मिला है। पर उसे लेकर वह ज्यादा खुश नहीं है। उससे बहुत ज्यादा उत्सुक वह डीप-सी डाइविंग को लेकर है। पिछले साल मलेशिया में 60 फुट गहरे पानी तक उन्होंने यह डाइविंग की।
अभी हाल में मिस्र के डेड-सी में वह खासी मुसीबत में फंस गई थी। गहरे पानी में जाकर ऊपर आने की कोशिश में वह लहरों के दबाव के चलते और ज्यादा गहराई तक चली जा रही थी लेकिन प्रशिक्षित होने की वजह से वह उस विपत्ति से उबर आई। वह कहती है,‘कभी मुझे मेकअप से बहुत प्यार था, पर मगर आज उससे एक दूरी बनाने में अच्छा लगता है। आप अंधाधुन,पैडमैन जैसी फिल्मों की बात जाने दें।
मैंने तो ‘मांझी-द माउंटेन मैन’, ‘शोर-इन द सिटी’ जैसी कई आॅफ बीट फिल्मों में न के बराबर मेकअप किया है। असल में जब शूटिंग के बाद मेकअप उतारना पड़ता है तो बहुत चिढ़ लगती है। इसलिए शूटिंग न हो तो मेकअप के बिना रहना मुझे बहुत अच्छा।

 


Comments Off on सिल्वर स्क्रीन
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
Both comments and pings are currently closed.

Comments are closed.

Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.