अल-कायदा से जुड़े 3 आतंकवादी ढेर, जाकिर मूसा गिरोह का खात्मा !    एटीएम, रुपये छीनकर भाग रहे बदमाश को लड़की ने दबोचा !    दुष्कर्म के प्रयास में कोचिंग सेंटर का शिक्षक दोषी करार !    सिविल अस्पताल में तोड़फोड़ के बाद हड़ताल !    पीठासीन अधिकारी सहित 3 गिरफ्तार !    ‘या तो गोहाना छोड़ दे नहीं तो गोलियों से भून देंगे’ !    अमेरिका भारत-पाक के बीच सीधी वार्ता का समर्थक !    कुंडू ने की ज्यादा एजेंट बैठाने की मांग !    मनी लांड्रिंग : इकबाल मिर्ची का सहयोगी गिरफ्तार !    छात्रा की याचिका पर एसआईटी, चिन्मयानंद से जवाब तलब !    

रोष प्रदर्शन करने मोहाली पहुंचे कश्मीरी

Posted On September - 16 - 2019

मोहाली के फेज-8 में रविवार को पुलिस से भिड़ते प्रदर्शनकारी कश्मीरी। -विक्की

मोहाली, 15 सितंबर (निस)
धारा 370 व 35-ए के मुद्दे और कश्मीरी लोगों के आत्मनिर्णय के समर्थन में पंजाब के अलग-अलग संगठनों की ओर से 15 सितंबर काे शांतिपूर्ण प्रदर्शन का ऐलान किया गया था परंतु पंजाब सरकार व पुलिस प्रशासन ने इस पर पाबंदी लगा दी।
तय कार्यक्रम के मुताबिक इन संगठनों ने मोहाली फेज-8 के दशहरा ग्राउंड में इकठ्ठा होकर चंडीगढ़ के लिए कूच करना था परंतु पाबंदी के चलते पुलिस की ओर से मोहाली जिले की सीमाओं और दशहरा ग्राउंड फेज-8 में भारी पुलिस फोर्स तैनात कर दी गई। इसके चलते मोहाली के डीसी गिरीश दयालन और एसएसपी कुलदीप सिंह चाहल खुद दशहरा ग्राउंड में डटे रहे। नारेबाजी कर रहे प्रदर्शनकारियों को पुलिस ने शांति बनाए रखने का हवाला देते हुए वहीं घेर लिया। प्रदर्शनकारियों को पुलिस चार बसों में बिठाकर अपने साथ पहले खरड़ थाने ले गई और वहां उनकी वैरिफिकेशन के बाद उन्हें सरहिंद रेलवे स्टेशन पर छोड़ दिया।
कश्मीर मामले पर झूठा प्रचार कर रही केन्द्र सरकार
कश्मीर के मुद्दे को लेकर कुछ संगठनों ने प्रेस कॉन्फ्रेंस का सहारा लेकर अपनी आवाज लोगों तक पहुंचाने का प्रयास किया। गांधीवादी नेता तथा कबायली हकों के पैरोकार हिमांशु कुमार ने पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा कि भारत सरकार ने संसद में कश्मीर बारे जो फैसला किया है, वह भारतीय संविधान का घोर उल्लंघन है। उन्होंने कहा कि कश्मीरी लोगों को गैर-संवैधानिक तौर पर पिछले 40 दिन से घरों में बंद कर दूसरे राज्यों में खुशियां मनाई जा रही हैं।
उन्होंने कहा कि कश्मीर कश्मीरियों का है लेकिन उन्हें पूछे बिना ही प्रचार किया जा रहा है कि कश्मीरी खुश हैं जबकि कश्मीर में 40 दिन से अखबार तथा इंटरनेट सेवाएं बंद हैं। यह एमरजेंसी से भी बड़ा हमला है। उन्होंने कहा कि कश्मीर में जमीन खरीदने तथा शादी करवाने के अधिकार को इस ढंग से प्रचार किया जा रहा है जैसे यह किसी अन्य राज्य में न होकर कश्मीर में ही हो। जबकि सभी पहाड़ी राज्यों के साथ-साथ राजस्थान में भी भारतीयों के जमीन खरीदने पर पाबंदी है। पंजाब लोक सभ्याचारक मंच के प्रधान कामरेड अमोलक सिंह ने कहा कि वे कश्मीर मुद्दे पर बात करना चाहते हैं लेकिन पंजाब में सरकार ने कई जगह पर रोक लगाकर अपना लोक विरोधी चेहरा पेश किया।

मोहाली के फेज-8 में प्रदर्शनकारियों को बसों में भरकर ले जाती पुलिस।-विक्की

दोपहर बाद रेलवे स्टेशन पहुंचे प्रदर्शनकारी
किसी तरह की कोई वायलेशन न हो, इसलिए प्रशासन ने पहले ही बलौंगी-मोहाली आउटर, एयरपोर्ट रोड व जीरकपुर से मोहाली में प्रवेश के सभी रास्ते सील करवा दिए और चप्पे-चप्पे पर पुलिस तैनात कर दी। सख्त पहरा होने के बावजूद कश्मीरी कौमी संघर्ष हिमायत कमेटी पंजाब के लोग मोहाली रेलवे स्टेशन पहुंच गये। इनमें महिलाएं भी शामिल थीं। रविवार दोपहर करीब साढ़े 12 बजे मोहाली रेलवे स्टेशन पहुंचे 100 के करीब लोगों के काफिले ने रेलवे स्टेशन पर ही नारेबाजी शुरू की। प्रदर्शनकारियों की मांग थी कि कश्मीर में हर तरह के दहशत के दबावभरे माहौल को खत्म किया जाए और कश्मीरियों को आत्मनिर्णय की अनुमति दी जाए। उनकी यह भी मांग थी कि धारा 370 व 35ए को खत्म करने और जम्मू-कश्मीर को बांटकर केंद्र शासित प्रदेश बनाने के फैसले तुरंत वापस लिए जाएं और कारोबारियों को वहां लूट मचाने की दी गई खूल को रद्द किया जाए। उनकी यह भी मांग थी कि कश्मीर में जबरन लागू की गई पाबंदियां हटाई जाए और गिरफ्तार कार्यकर्ताओं को रिहा किया जाए। इसके अलावा वहां तैनात आर्मी को वापस बुलाया जाए।


Comments Off on रोष प्रदर्शन करने मोहाली पहुंचे कश्मीरी
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
Both comments and pings are currently closed.

Comments are closed.

Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.