मां भद्रकाली मंदिर में नड्डा ने की पूजा-अर्चना !    अब कैथल भी चटाएगा सुरजेवाला को धूल : दिग्विजय !    मानेसर जमीन घोटाला : हुड्डा नहीं हुए पेश, चार्ज पर बहस जारी !    प. बंगाल सचिवालय पहुंची सीबीआई !    कोलंबिया विमान हादसे में 7 की मौत !    विरोध के बीच पार्किंग दरों का एजेंडा पारित !    एकदा !    कांग्रेस करेगी मौजूदा न्यायाधीश से जांच की मांग !    ‘कमलनाथ के खिलाफ मामला सज्जन कुमार से ज्यादा मजबूत’ !    मोहाली मैच के लिये पहुंचीं भारत और दक्षिण अफ्रीका की टीमें !    

मोदी बोले- वह सर्वमित्र, सर्वप्रिय थे

Posted On September - 11 - 2019

नयी दिल्ली, 10 सितंबर (एजेंसी)

नयी दिल्ली में मंगलवार को पूर्व मंत्री अरुण जेटली के श्रद्धांजलि कार्यक्रम में उपस्थित भाजपा नेता लाल कृष्ण आडवाणी, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और दिवंगत जेटली की पत्नी संगीता जेटली। -प्रेट्र

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा सहित विभिन्न दलों के नेताओं ने दिवंगत अरुण जेटली को मंगलवार को श्रद्धांजलि दी। दिल्ली के जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम में आयोजित श्रद्धांजलि सभा में भाजपा नेता लालकृष्ण आडवाणी, अमित शाह, राजनाथ सिंह सहित कांग्रेस, सपा, तृणमूल, बसपा, राकांपा, अन्नाद्रमुक, द्रमुक के कई नेताओं एवं केंद्रीय मंत्रियों ने उन्हें एक प्रख्यात वक्ता, कुशल सांसद और व्यवहारकुशल नेता के रूप में याद किया।
इस मौके पर भावुक हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ‘कभी किसी की जिंदगी में ऐसे पल नहीं आने चाहिए कि उसे उम्र में छोटे अपने दोस्त को अंजली देना पड़े। कभी सोचा नहीं था कि ऐसा भी दिन आएगा कि मुझे मेरे दोस्त को श्रद्धांजलि देने के लिए आना पड़ेगा। इतने लंबे कालखंड तक अभिन्न मित्रता और फिर भी मैं उनके अंतिम दर्शन नहीं कर पाया, मेरे मन में इसका बोझ हमेशा बना रहेगा। वे सर्वमित्र थे, वे सर्वप्रिय थे। वे अपनी प्रतिभा, पुरुषार्थ के कारण जिसके लिए जहां भी उपयोगी हो सकते थे, हमेशा उपयोगी होते थे। उनके पास जानकारियों का भंडार था।’ रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा, ‘भारत की राजनीति में एक खालीपन आ गया है। सभी राजनीतिक दल भी यही महसूस करते है।’ कांग्रेस के अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा कि वे शानदार व्यक्तित्व थे, बड़े दिल के व्यक्ति थे। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि जेटली के असमय चले जाने से देश, संसद, भाजपा, उनके परिवार और उनकी निजी क्षति हुई है। भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कहा कि देश ने उच्चतम कोटि का नेता असमय खो दिया। उनकी कमी केवल भाजपा ही नहीं, बल्कि भारतीय राजनीति में सभी को खलेगी। अकाली दल के सुखवीर बादल ने कहा कि जेटली ऐसे सेतु थे, जो सरकार और सभी राजनीतिक दलों के बीच संपर्क का काम करते थे, भले ही सरकार किसी की हो।


Comments Off on मोदी बोले- वह सर्वमित्र, सर्वप्रिय थे
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
Both comments and pings are currently closed.

Comments are closed.

Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.